विज्ञानं की आवश्यकता और महत्व क्या है?...


user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि के हमें विज्ञान की आवश्यकता आज का युग विज्ञान का युग है विज्ञान की सहायता से मानव ने प्रकृति की अनेक शक्तियों को नियंत्रित करके अपना 10 बना लिया है इसने मानव जीवन को बढ़ा सुगम और आराम से बना दिया है

aadi ke hamein vigyan ki avashyakta aaj ka yug vigyan ka yug hai vigyan ki sahayta se manav ne prakriti ki anek shaktiyon ko niyantrit karke apna 10 bana liya hai isne manav jeevan ko badha sugam aur aaram se bana diya hai

आदि के हमें विज्ञान की आवश्यकता आज का युग विज्ञान का युग है विज्ञान की सहायता से मानव ने प

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  1624
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने विज्ञान की आवश्यकता क्या है और महत्व क्या है तनाव पर दोस्तों विज्ञान तो है वह किसी भी चीज को अपने स्तर से साथ कुछ कर बताने में विश्वास होता है अर्थात अगर कहा जाए कि हां हवा कैसे बनी हवा में कि पानी कैसे बनी तो पानी दो हाइड्रोजन केवल एक ही ऑक्सीजन के मालिकों को मिलाने के बाद पानी का निर्माण होता है इस तरह से हम सबका सकते हैं कि विज्ञान जो है हमें किसी चीज को प्रयोग के माध्यम से सिद्ध करने का अवसर प्रदान करते हैं

apne vigyan ki avashyakta kya hai aur mahatva kya hai tanaav par doston vigyan toh hai vaah kisi bhi cheez ko apne sthar se saath kuch kar batane mein vishwas hota hai arthat agar kaha jaaye ki haan hawa kaise bani hawa mein ki paani kaise bani toh paani do hydrogen keval ek hi oxygen ke maalikon ko milaane ke baad paani ka nirmaan hota hai is tarah se hum sabka sakte hain ki vigyan jo hai hamein kisi cheez ko prayog ke madhyam se siddh karne ka avsar pradan karte hain

अपने विज्ञान की आवश्यकता क्या है और महत्व क्या है तनाव पर दोस्तों विज्ञान तो है वह किसी भी

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  917
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है विज्ञान की आवश्यकता और महत्व क्या है इसका आंसर है विज्ञान की सहायता से मानव ने प्रकृति की अनेक शक्तियों को नियंत्रित करने करके अपना दास बना लिया है विज्ञान के सहायता से मानव ने प्रकृति के अनेक शक्तियों को नियंत्रित करके अपना दास बना लिया है इसमें मानव जीवन को बढ़ा सुगम और आरामदेह बना दिया है

prashna hai vigyan ki avashyakta aur mahatva kya hai iska answer hai vigyan ki sahayta se manav ne prakriti ki anek shaktiyon ko niyantrit karne karke apna das bana liya hai vigyan ke sahayta se manav ne prakriti ke anek shaktiyon ko niyantrit karke apna das bana liya hai isme manav jeevan ko badha sugam aur aramdeh bana diya hai

प्रश्न है विज्ञान की आवश्यकता और महत्व क्या है इसका आंसर है विज्ञान की सहायता से मानव ने प

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  733
WhatsApp_icon
user

Prem

Teacher

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न के विज्ञान से आवश्यकता और महत्व सुना दो आज का जो भी होगा कोई भी कार्य हो रहा है तो चाहे कुछ भी हो जाए अब आप छोटी सी पेंसिल ही बना लेना कहीं ना कहीं विज्ञान का युग है विज्ञान होता है प्रयोग और प्रयोग अगर होगा तो कहीं ना कहीं कोई ना कोई अविष्कार होगा और आविष्कार होगा तो वह लोगों के लिए मदद करेगा किसी भी चीज की जैसे मोबाइल का आविष्कार हुआ तो लोगों को कमली कम्युनिकेशन करने के लिए बात की उसने सवेरा विज्ञान का महत्व इसलिए बढ़ जाता है क्योंकि अगर हमारे जीवन से विज्ञान को निकाल दिया जाए तो हम कहीं भी आदिमानव वाला व्यक्ति रहता था उसको यह भी नहीं पता क्या खाना है क्या पीना है क्या बोलना है तो सही कराने का विज्ञान को मनुष्य के जीवन से निकाल दिया जाएगा धन्यवाद

aapka prashna ke vigyan se avashyakta aur mahatva suna do aaj ka jo bhi hoga koi bhi karya ho raha hai toh chahen kuch bhi ho jaaye ab aap choti si pencil hi bana lena kahin na kahin vigyan ka yug hai vigyan hota hai prayog aur prayog agar hoga toh kahin na kahin koi na koi avishkar hoga aur avishkar hoga toh vaah logo ke liye madad karega kisi bhi cheez ki jaise mobile ka avishkar hua toh logo ko kamli communication karne ke liye baat ki usne savera vigyan ka mahatva isliye badh jata hai kyonki agar hamare jeevan se vigyan ko nikaal diya jaaye toh hum kahin bhi adimanav vala vyakti rehta tha usko yah bhi nahi pata kya khana hai kya peena hai kya bolna hai toh sahi karane ka vigyan ko manushya ke jeevan se nikaal diya jaega dhanyavad

आपका प्रश्न के विज्ञान से आवश्यकता और महत्व सुना दो आज का जो भी होगा कोई भी कार्य हो रहा ह

Romanized Version
Likes  78  Dislikes    views  1366
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!