थार्नडाइक का प्रयोग कैसे करे विस्तार से बताये?...


user

Sunil

Teacher

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस प्रयास में त्रुटि का सिद्धांत भी कहते हैं एरोनडाइट ने इसके प्रयोग के बारे में बताते हुए कहा कि जब व्यक्ति कोई कार्य सीखता है तब उसके सामने एक विशेष स्थिति या उद्दीपक होता है जो उसे विशेष प्रकार की प्रक्रिया कराने के लिए उत्तेजित करता है इस प्रकार एक विशिष्ट उद्दीपक से एक विशिष्ट अनुक्रिया से संबंध स्थापित हो जाता है

dekhiye is prayas me truti ka siddhant bhi kehte hain erondait ne iske prayog ke bare me batatey hue kaha ki jab vyakti koi karya sikhata hai tab uske saamne ek vishesh sthiti ya uddipak hota hai jo use vishesh prakar ki prakriya karane ke liye uttejit karta hai is prakar ek vishisht uddipak se ek vishisht anukriya se sambandh sthapit ho jata hai

देखिए इस प्रयास में त्रुटि का सिद्धांत भी कहते हैं एरोनडाइट ने इसके प्रयोग के बारे में बता

Romanized Version
Likes  136  Dislikes    views  2570
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Prem

Teacher

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको पसंद ठंडाई का प्रयोग कैसे करें तो देख मैं पहले आपको छोड़ने के बारे में बताता ढूंढा एक का जो प्रयोग एवं त्रुटि और भूल का सिद्धांत है उसमें क्या है कि उसने बिल्ली पर प्रयोग किया था जिसमें ढूंढने बिल्ली को लिया और उसने बिल्ली को पिंजरे में बंद कर दिया बाहर उसका खाना रख दिया खाने ने उसका उद्दीपक का कार्य क्या फिर बिल्ली खाने को पाने के लिए इधर-उधर भागते रही छात्रा घूमती रही और अचानक ही उसका पर उसका असर पड़ गया जिससे कि पिंजरे का दरवाजा खुलता है और जैसे ही दरवाजा खोला बिल्ले ने जो है एकदम से खाने को खा लिया यह द्वारा द्वारा उसने किया तो यही जो है थोड़ा का प्रयोग था धन्यवाद

aapko pasand thandai ka prayog kaise kare toh dekh main pehle aapko chodne ke bare me batata dhundha ek ka jo prayog evam truti aur bhool ka siddhant hai usme kya hai ki usne billi par prayog kiya tha jisme dhundhne billi ko liya aur usne billi ko pinjare me band kar diya bahar uska khana rakh diya khane ne uska uddipak ka karya kya phir billi khane ko paane ke liye idhar udhar bhagte rahi chatra ghoomti rahi aur achanak hi uska par uska asar pad gaya jisse ki pinjare ka darwaja khulta hai aur jaise hi darwaja khola bille ne jo hai ekdam se khane ko kha liya yah dwara dwara usne kiya toh yahi jo hai thoda ka prayog tha dhanyavad

आपको पसंद ठंडाई का प्रयोग कैसे करें तो देख मैं पहले आपको छोड़ने के बारे में बताता ढूंढा एक

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  970
WhatsApp_icon
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्ली प्रयोग किया था और उत्तल अनुक्रिया का सिद्धांत आगे पर होगा बिस्तर के प्रभाव का नियम तत्परता का नियम इन्होंने दिया था धन्यवाद

billi prayog kiya tha aur uttal anukriya ka siddhant aage par hoga bistar ke prabhav ka niyam tatparata ka niyam inhone diya tha dhanyavad

बिल्ली प्रयोग किया था और उत्तल अनुक्रिया का सिद्धांत आगे पर होगा बिस्तर के प्रभाव का नियम

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  458
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!