स्वाध्याय का महत्व क्या है?...


user

Pushpanjali

Teacher & Carrier Cunsultancy

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आपने मुझसे पूछा 100 अध्याय का महत्व क्या है तो मेरे को बताना चाहूंगी स्वाध्याय का मतलब होता है स्वयं का स्वयं के द्वारा अध्ययन संध्या का शाब्दिक अर्थ होता है स्वयं का अध्ययन करना जो खुद का अध्ययन करना स्वाध्याय कहलाता है सुबह को बताना चाहूंगी दोस्तों हमारा स्वाध्याय में यह होता है कि हम खुद का अध्ययन करते हैं तो खुद का दिन में हम यह पाते कि मेरे अंदर क्या अच्छा है क्या वह तो जो भी बुराई है उससे हम खुद ही ढूंढ कर खुद ही दूर करते हैं उसको हम स्वाध्याय कहते तो स्वाध्याय कमर जीवन में बहुत महत्व दिया सेव अपने आप को सुधार सकते हैं स्वाध्याय से हो अपने आपको और भी ज्यादा विकसित कर सकते हैं धन्यवाद

hello doston aapne mujhse poocha 100 adhyay ka mahatva kya hai toh mere ko batana chahungi swaadhyaay ka matlab hota hai swayam ka swayam ke dwara adhyayan sandhya ka shabdik arth hota hai swayam ka adhyayan karna jo khud ka adhyayan karna swaadhyaay kehlata hai subah ko batana chahungi doston hamara swaadhyaay me yah hota hai ki hum khud ka adhyayan karte hain toh khud ka din me hum yah paate ki mere andar kya accha hai kya vaah toh jo bhi burayi hai usse hum khud hi dhundh kar khud hi dur karte hain usko hum swaadhyaay kehte toh swaadhyaay kamar jeevan me bahut mahatva diya save apne aap ko sudhaar sakte hain swaadhyaay se ho apne aapko aur bhi zyada viksit kar sakte hain dhanyavad

हेलो दोस्तों आपने मुझसे पूछा 100 अध्याय का महत्व क्या है तो मेरे को बताना चाहूंगी स्वाध्या

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि स्वाध्याय का महत्व क्या है तो दोस्तों स्वाध्याय का अर्थ स्वयं अध्ययन करना तथा वेद एवं अन्य साहित्य का पाठ करना भी है जीवन निर्माण और सुधार संबंधी पुस्तकों को पढ़ना परमात्मा और मुक्ति की ओर ले जाने वाले ग्रंथ का अध्ययन श्रवण मनन चिंतन आदि करना स्वाध्याय कहलाता है स्वाध्याय से व्यक्ति का जीवन व्यवहार सोच और स्वभाव बदलने लगता है

aapne poocha hai ki swaadhyaay ka mahatva kya hai toh doston swaadhyaay ka arth swayam adhyayan karna tatha ved evam anya sahitya ka path karna bhi hai jeevan nirmaan aur sudhaar sambandhi pustakon ko padhna paramatma aur mukti ki aur le jaane waale granth ka adhyayan shravan manan chintan aadi karna swaadhyaay kehlata hai swaadhyaay se vyakti ka jeevan vyavhar soch aur swabhav badalne lagta hai

आपने पूछा है कि स्वाध्याय का महत्व क्या है तो दोस्तों स्वाध्याय का अर्थ स्वयं अध्ययन करना

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  1121
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप कोई विषय कोई किताब बगैर दूसरे की मदद से खुद ही अध्ययन करते हैं खुद ही पढ़ते हैं और समझते हैं उसे स्वाध्याय कहा जाता है अंग्रेजी में इसे self-study बोलते हैं

agar aap koi vishay koi kitab bagair dusre ki madad se khud hi adhyayan karte hain khud hi padhte hain aur samajhte hain use swaadhyaay kaha jata hai angrezi me ise self study bolte hain

अगर आप कोई विषय कोई किताब बगैर दूसरे की मदद से खुद ही अध्ययन करते हैं खुद ही पढ़ते हैं और

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  1365
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

Likes  27  Dislikes    views  1211
WhatsApp_icon
user

suman

Teacher

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों जैसा कि आप का सवाल है कि तो अध्याय का महत्व क्या है तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूंगा उपाध्याय का मतलब होता है खुद तो पढ़ना कुत्ते अध्ययन करना और स्वाध्याय का बड़ा ही महत्व है अगर आप अपने कोचिंग में जाकर पढ़ाई कर लेते हैं और घर पर ना आकर पढ़ते हैं तो यह बिल्कुल गलत बात है इससे आपको ज्ञान अर्जित नहीं होगी अगर आप कौन सी पढ़ाई करते हैं आपको वह सारी प्रॉब्लम का सलूशन खुद से मिल जाएगा आपको भी बहुत-बहुत धन्यवाद

namaskar doston jaisa ki aap ka sawaal hai ki toh adhyay ka mahatva kya hai toh main aapki jaankari ke liye bata dunga upadhyay ka matlab hota hai khud toh padhna kutte adhyayan karna aur swaadhyaay ka bada hi mahatva hai agar aap apne coaching me jaakar padhai kar lete hain aur ghar par na aakar padhte hain toh yah bilkul galat baat hai isse aapko gyaan arjit nahi hogi agar aap kaun si padhai karte hain aapko vaah saari problem ka salution khud se mil jaega aapko bhi bahut bahut dhanyavad

नमस्कार दोस्तों जैसा कि आप का सवाल है कि तो अध्याय का महत्व क्या है तो मैं आपकी जानकारी के

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  690
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!