सोलह सोमवार की विधि हिंदी में बताये?...


user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिवजी की पूजा करती है और मैंने तो व्रत चलता है इसमें हमको जान से प्यारा में करनी चाहिए

shivaji ki puja karti hai aur maine toh vrat chalta hai isme hamko jaan se pyara me karni chahiye

शिवजी की पूजा करती है और मैंने तो व्रत चलता है इसमें हमको जान से प्यारा में करनी चाहिए

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  1702
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो आपको और आप चालीसा शिव जी की आरती करके आप पूजा आराधना करते हैं और भोग लगाइए उनका और खाना नहीं खाया

jo aapko aur aap chalisa shiv ji ki aarti karke aap puja aradhana karte hain aur bhog lagaaiye unka aur khana nahi khaya

जो आपको और आप चालीसा शिव जी की आरती करके आप पूजा आराधना करते हैं और भोग लगाइए उनका और खाना

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  484
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि मैं आपको बताना चाहता हूं जैसे आपने प्रश्न पूछा है सोलह सोमवार की विधि हिंदी में बताइए सोलह सोमवार की विधि पूजा करने से पहले नित्य क्रिया से निर्णय कर स्नान करना चाहिए स्नान के दौरान पानी में दंगा जनता तक काला तिल डालकर नहाना चाहिए तथा पहली बार शरीर पर जल डालते समय नेट मंत्र का जाप करना चाहिए

ki main aapko batana chahta hoon jaise aapne prashna poocha hai solah somwar ki vidhi hindi me bataiye solah somwar ki vidhi puja karne se pehle nitya kriya se nirnay kar snan karna chahiye snan ke dauran paani me danga janta tak kaala til dalkar nahaana chahiye tatha pehli baar sharir par jal daalte samay net mantra ka jaap karna chahiye

कि मैं आपको बताना चाहता हूं जैसे आपने प्रश्न पूछा है सोलह सोमवार की विधि हिंदी में बताइए स

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  1155
WhatsApp_icon
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न सोलह सोमवार करने की विधि बताएं तो मैं आपको बताना चाहूंगा सोलह सोमवार में हम भगवान भोले शंकर की पूजा करते हैं और 16 सोलह सोमवार उन्हीं को प्रसन्न करने के लिए की जाती हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि कुंवारी लड़की जब यह व्रत करती है तो उसे मनचाहा पति मिलता है 16 सोमवार व्रत करने के से शुरू करने से पहले साबुन चैत वैशाख कातिक मार्कशीट की सीमा में कि सोमवार से आप आरंभ कर कर सकते हैं उसकी सोलह सोमवार है पूजा करने की विधि है कि आप को सूर्योदय से पहले उठना है नित्य क्रिया कर्म करके आप स्नान सूर्योदय से पहले स्थान स्नान कर लीजिएगा स्नान में विशेष रूप से गंगाजल और तिल डालकर कीजिएगा उसके बाद पूजन भगवान शंकर की पूजा कीजिए उस में सफेद फूल चंदन अक्षत पंचामृत पान सुपारी फल गंगाजल बेलपत्र झाड़ छतरी पल भर देती उनके साथ पूजा प्रारंभ कीजिएगा सोलह सोमवार में सबसे खास बात होती है किस-किस में जो पूजा की जाती है वह तीसरे पहर में अर्थात सन संध्या के 4:00 बजे के आसपास की जाती है उस दिन केवल हम लोग एक सांझा करते हैं कन्या का तात्पर्य होता है केवल एग्जाम का ही भोजन करते हैं अर्थात दिन भर में एक बार भोजन करते हैं और शंकर जी की पूजा अर्चना मन लगाकर करते हैं और शंकर जी अपने भक्तों के सहारे भी होते हैं

aapka prashna solah somwar karne ki vidhi bataye toh main aapko batana chahunga solah somwar me hum bhagwan bhole shankar ki puja karte hain aur 16 solah somwar unhi ko prasann karne ke liye ki jaati hindu dharm me aisi manyata hai ki kuwaari ladki jab yah vrat karti hai toh use manchaha pati milta hai 16 somwar vrat karne ke se shuru karne se pehle sabun chait VAISHAKH katik marksheet ki seema me ki somwar se aap aarambh kar kar sakte hain uski solah somwar hai puja karne ki vidhi hai ki aap ko suryoday se pehle uthna hai nitya kriya karm karke aap snan suryoday se pehle sthan snan kar lijiega snan me vishesh roop se gangajal aur til dalkar kijiega uske baad pujan bhagwan shankar ki puja kijiye us me safed fool chandan akshat panchamrut pan supari fal gangajal bailpatra jhad chatri pal bhar deti unke saath puja prarambh kijiega solah somwar me sabse khas baat hoti hai kis kis me jo puja ki jaati hai vaah teesre pahar me arthat san sandhya ke 4 00 baje ke aaspass ki jaati hai us din keval hum log ek sanjha karte hain kanya ka tatparya hota hai keval exam ka hi bhojan karte hain arthat din bhar me ek baar bhojan karte hain aur shankar ji ki puja archna man lagakar karte hain aur shankar ji apne bhakton ke sahare bhi hote hain

आपका प्रश्न सोलह सोमवार करने की विधि बताएं तो मैं आपको बताना चाहूंगा सोलह सोमवार में हम भग

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  710
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सावन के सबसे लोकप्रिय प्रथम सोलह सोमवार का व्रत है अविवाहित है इस व्रत से मनचाहा वर पा सकते हैं वैसे यावरुम और हर वर्ग के व्यक्ति कर सकते हैं लेकिन नियम दीपावली चलते हैं वही लोग इसमें से करें जो क्षमता रखते हैं विवाहिता इसे करने से पहले व्यवसाय नहीं होगा ध्यान रखें दोस्त विशेष नियम है यह प्रदेश बुलंदशहर फैसलाबाद से पहला सूर्य देव से पहले उठकर पानी में कुछ काले तिल डालकर नहाना चाहिए दूसरा इस दिन सुनिश्चित जलवा चढ़ाई तीसरा अब भगवान शिव प्रसन्न करें सबसे पहले तांबे के पात्र में रखे हैं चौथा भगवान शिव का जलाभिषेक या गंगाजल से होता है परंतु विशेष मनोकामना की पूर्ति के लिए दूध आएगी उसे सुनने चना की दाल संसद पर काले तिल आदि कई समग्र अभिषेक की विधि प्रचलित है पांचवा इसके बाद ओम नमः शिवाय मंत्र के द्वारा सुरेश फूल सफेद चंदन चौहान पंचामृत सुपारी फल और गंगा जरिया स्वच्छ पानी से भगवान शिव और पद्य पूजन करना चाहिए छठा अभिषेक के दौरान पूजन विधि के साथ-साथ मंत्रों का जाप भी बेहद आवश्यक माना गया है महामृत्युंजय मंत्र भगवान शिव का पंचारी मंत्र या अन्य मंत्र को कंठस्थ हो गया तो सातवां शिव पर्वती पूजा के भाषण की व्रत कथा करें आठवीं आरती करने के बाद भोग लगाएं और घर परिवार में बात करना मना कर रही प्रसाद ग्रहण करें 10 महीने में सजा न करें यह 11वां प्रति सोमवार पूजन समय निश्चित रखें बार-बार प्रति सही समय की प्रसाद ग्रहण करें एवं साथ में गंगाजल तुलसीराम चूर्ण खीर और लड्डू में से अपनी क्षमता अनुसार किसी एक का चयन करें 14164 वार्ता जो खत समग्र ग्राम पर है उसे एक स्थान पर बैठकर ग्रहण करें चलते-फिरते नहीं 15 माह प्रति सोमवार एक विवाहित जोड़े को उपहार देवरिया मिठाई सुनवा सोलह सोमवार तक प्रसाद उपलब्धियों को सम्मानित किया उसे खंडित ना होने दें

sawan ke sabse lokpriya pratham solah somwar ka vrat hai avivahit hai is vrat se manchaha var paa sakte hain waise yavarum aur har varg ke vyakti kar sakte hain lekin niyam deepawali chalte hain wahi log isme se kare jo kshamta rakhte hain vivahita ise karne se pehle vyavasaya nahi hoga dhyan rakhen dost vishesh niyam hai yah pradesh bulandshahr faislabad se pehla surya dev se pehle uthakar paani me kuch kaale til dalkar nahaana chahiye doosra is din sunishchit jalwa chadhai teesra ab bhagwan shiv prasann kare sabse pehle tambe ke patra me rakhe hain chautha bhagwan shiv ka jalabhishek ya gangajal se hota hai parantu vishesh manokamana ki purti ke liye doodh aayegi use sunne chana ki daal sansad par kaale til aadi kai samagra abhishek ki vidhi prachalit hai panchava iske baad om namah shivay mantra ke dwara suresh fool safed chandan Chauhan panchamrut supari fal aur ganga zariya swachh paani se bhagwan shiv aur padya pujan karna chahiye chhata abhishek ke dauran pujan vidhi ke saath saath mantron ka jaap bhi behad aavashyak mana gaya hai mahamrityunjay mantra bhagwan shiv ka panchari mantra ya anya mantra ko kanthasth ho gaya toh satvaan shiv parvati puja ke bhashan ki vrat katha kare aatthvi aarti karne ke baad bhog lagaye aur ghar parivar me baat karna mana kar rahi prasad grahan kare 10 mahine me saza na kare yah va prati somwar pujan samay nishchit rakhen baar baar prati sahi samay ki prasad grahan kare evam saath me gangajal tulsiram churn kheer aur laddu me se apni kshamta anusaar kisi ek ka chayan kare 14164 varta jo khat samagra gram par hai use ek sthan par baithkar grahan kare chalte phirte nahi 15 mah prati somwar ek vivaahit jode ko upahar devariya mithai sunva solah somwar tak prasad uplabdhiyon ko sammanit kiya use khandit na hone de

सावन के सबसे लोकप्रिय प्रथम सोलह सोमवार का व्रत है अविवाहित है इस व्रत से मनचाहा वर पा सकत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!