रासो काव्य की विशेषता क्या है बताये?...


user
0:31
Play

Likes  31  Dislikes    views  689
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sunil

Teacher

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए रासो काव्य जो है वह आदिकालीन कविताओं की मुख्यधारा है मेरा सारा शो काव्य के लेखक राजाओं की वीरता की प्रशंसा दरबार में रहकर करते थे

dekhiye raaso kavya jo hai vaah adikalin kavitao ki mukhyadhara hai mera saara show kavya ke lekhak rajaon ki veerta ki prashansa darbaar me rahkar karte the

देखिए रासो काव्य जो है वह आदिकालीन कविताओं की मुख्यधारा है मेरा सारा शो काव्य के लेखक राजा

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1061
WhatsApp_icon
user

Amit Kumar

Teacher

0:24
Play

Likes  40  Dislikes    views  1202
WhatsApp_icon
user
0:30
Play

Likes  18  Dislikes    views  267
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

Likes  60  Dislikes    views  1038
WhatsApp_icon
user

Masoom

Teacher

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रासो काव्य की विशेषता क्या है बताएं देखिए रासो काव्य जो है या पुराने जमाने के भक्ति धारा में जो काव्य थे 10 काव्य उसे रासो काव्य कहा गया है इसमें विभिन्न भक्त और भक्ति भावना के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है

raaso kavya ki visheshata kya hai bataye dekhiye raaso kavya jo hai ya purane jamane ke bhakti dhara me jo kavya the 10 kavya use raaso kavya kaha gaya hai isme vibhinn bhakt aur bhakti bhavna ke bare me vistrit jaankari di gayi hai

रासो काव्य की विशेषता क्या है बताएं देखिए रासो काव्य जो है या पुराने जमाने के भक्ति धारा म

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  668
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फ्रेंड आपने प्लस चाहिए रासो काव्य की विशेषता क्या बताएं तो बिल्कुल मैं आपको बताना चाहूंगा कि जो रासो काव्य उसकी विशेषता है कि यह राजाओं के जो उस राजाओं के द्वारा जितने वीरता के वीर रस के बारे में लिखा गया है धन्यवाद

friend aapne plus chahiye raaso kavya ki visheshata kya bataye toh bilkul main aapko batana chahunga ki jo raaso kavya uski visheshata hai ki yah rajaon ke jo us rajaon ke dwara jitne veerta ke veer ras ke bare me likha gaya hai dhanyavad

फ्रेंड आपने प्लस चाहिए रासो काव्य की विशेषता क्या बताएं तो बिल्कुल मैं आपको बताना चाहूंगा

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  1057
WhatsApp_icon
user

Rani

Government Teacher

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड जैसा कि आप का सवाल है रासो काव्य की विशेषता क्या है मैं बताना चाहती हूं रासो काव्य की विशेषताएं अशोक का आदिकालीन कविता की मुख्यधारा है इस युग के महत्वपूर्ण रासो काव्य पृथ्वीराज रासो खुमान रासो बीसलदेव रासो परमाल रासो प्रमुख है रासो काव्य के लेखक राजाओं की वीरता की प्रशंसा राज्य दरबार में रहकर करते थे तथा अपने काव्य के माध्यम से उन्हें प्रेरित किया करते थे धन्यवाद

hello friend jaisa ki aap ka sawaal hai raaso kavya ki visheshata kya hai main batana chahti hoon raaso kavya ki visheshtayen ashok ka adikalin kavita ki mukhyadhara hai is yug ke mahatvapurna raaso kavya prithviraj raaso khuman raaso bisaldev raaso parmal raaso pramukh hai raaso kavya ke lekhak rajaon ki veerta ki prashansa rajya darbaar me rahkar karte the tatha apne kavya ke madhyam se unhe prerit kiya karte the dhanyavad

हेलो फ्रेंड जैसा कि आप का सवाल है रासो काव्य की विशेषता क्या है मैं बताना चाहती हूं रासो क

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1911
WhatsApp_icon
play
user
0:21

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रासो काव्य में ऐतिहासिक राजाओं का वर्णन मिलता है इसमें वीर रस तथा श्रृंगार श्रृंगार रस की प्रधानता पाई जाती है रासो काव्य चारण कवियों द्वारा राजा के प्रशंसा में लिखा गया काव्य है

raaso kavya me etihasik rajaon ka varnan milta hai isme veer ras tatha shringar shringar ras ki pradhanta payi jaati hai raaso kavya charan kaviyon dwara raja ke prashansa me likha gaya kavya hai

रासो काव्य में ऐतिहासिक राजाओं का वर्णन मिलता है इसमें वीर रस तथा श्रृंगार श्रृंगार रस की

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1797
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  9  Dislikes    views  207
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

की राशि का काव्य की विशेषता क्या है कि राष्ट्रकवि की चार विशेषताएं इस प्रकार हैं वीरता एवं श्रृंगार रस की प्रधानता रासो काव्य में वीरता एवं श्रृंगार रस की प्रधानता रही है ऐतिहासिकता राष्ट्र महाकाव्य ऐतिहासिकता भरपूर है जो चार कवियों द्वारा अपनी राजाओं के सॉरी और ऐश्वर्य का अतिशयोक्ति वर्णन करते हैं

ki rashi ka kavya ki visheshata kya hai ki rashtrya kavi ki char visheshtayen is prakar hain veerta evam shringar ras ki pradhanta raaso kavya me veerta evam shringar ras ki pradhanta rahi hai aitihasikta rashtra mahakavya aitihasikta bharpur hai jo char kaviyon dwara apni rajaon ke sorry aur aishwarya ka atishayokti varnan karte hain

की राशि का काव्य की विशेषता क्या है कि राष्ट्रकवि की चार विशेषताएं इस प्रकार हैं वीरता एवं

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  868
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

Likes  31  Dislikes    views  1269
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!