पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताये?...


play
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:33

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आप उसने पटवों की हवेली की बात बारे में विस्तार से बताइए किस का निर्माण करवाया था जो भेजे हैं इनको बनाने में लगभग 50 वर्ष का समय लगा था यह पांच अलग-अलग है भाइयों के लिए बनाई गई थी मंचन पटवा और उनका परिवार है ब्रोकरेज का काम करता था खासतौर से हैं तारों का सोने चांदी के तारों का इसे उन्होंने कहा कि कैसे कमाए थे

namaskar aap usne patvon ki haweli ki baat bare mein vistaar se bataye kis ka nirmaan karvaya tha jo bheje hain inko banane mein lagbhag 50 varsh ka samay laga tha yah paanch alag alag hai bhaiyo ke liye banai gayi thi manchan patawa aur unka parivar hai brokerage ka kaam karta tha khaasataur se hain taaron ka sone chaandi ke taaron ka ise unhone kaha ki kaise kamaye the

नमस्कार आप उसने पटवों की हवेली की बात बारे में विस्तार से बताइए किस का निर्माण करवाया था ज

Romanized Version
Likes  90  Dislikes    views  1284
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने प्रश्न पूछा कि पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं तो फ्रेंड्स मैं आपको बता दूं कि पटवों की हवेली बहुत ही अच्छी हवेली है बहुत ही बड़ी है बहुत जगह में बनी हुई है और उस हवेली में बहुत सारे रूम है बहुत सारे कमरे बहुत सुंदर सुंदर बने हुए हैं और उस अपील की देखभाल के लिए दो-तीन केयरटेकर भी रखे हुए क्योंकि इतनी बड़ी हवेली की देखभाल अकेले करना

apne prashna poocha ki patvon ki haweli ke bare me vistaar se bataye toh friends main aapko bata doon ki patvon ki haweli bahut hi achi haweli hai bahut hi badi hai bahut jagah me bani hui hai aur us haweli me bahut saare room hai bahut saare kamre bahut sundar sundar bane hue hain aur us appeal ki dekhbhal ke liye do teen keyaratekar bhi rakhe hue kyonki itni badi haweli ki dekhbhal akele karna

अपने प्रश्न पूछा कि पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं तो फ्रेंड्स मैं आपको बता द

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  919
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पटवों की हवेली पटवा परिसर के पास स्थित है और जैसलमेर की पहली हवेली है पूरे परिसर में पांच हवेलिया है जी ने गुमान चंद पटवा द्वारा 18 से 5 ईसवी में अपने पांच बच्चों के लिए बनवाया गया था इस पीले बलुआ पत्थर की इमारत के निर्माण में 50 साल लग गए पर्यटक जैसलमेर शहर में एक के द्वारा स्मार्ट तक पहुंच सकते हैं

patvon ki haweli patawa parisar ke paas sthit hai aur jaisalmer ki pehli haweli hai poore parisar me paanch haveliya hai ji ne gumaan chand patawa dwara 18 se 5 isvi me apne paanch baccho ke liye banwaya gaya tha is peele balaua patthar ki imarat ke nirmaan me 50 saal lag gaye paryatak jaisalmer shehar me ek ke dwara smart tak pohch sakte hain

पटवों की हवेली पटवा परिसर के पास स्थित है और जैसलमेर की पहली हवेली है पूरे परिसर में पांच

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

AMAN KUMAR

TEACHER | UPSC ASPIRANT | UNACADEMY

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताने के पटवों की हवेली नागौर राजस्थान के जैसलमेर स्थापना वर्ष

aapka prashna patvon ki haweli ke bare me vistaar se batane ke patvon ki haweli nagaur rajasthan ke jaisalmer sthapna varsh

आपका प्रश्न पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताने के पटवों की हवेली नागौर राजस्थान क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि आपने पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं तो मैं आपको बताना चाहूंगा पटवों की हवेली पटवा परिसर के पास स्थित है और जैसलमेर की पहली हवेली है पूरे परिसर में पांचवे लिया है जिन्हें वुमन चंद पटवा धारा 18 से 5 ईसवी में अपने पांच बेटों के लिए बनवाया गया था इस पीले बलुआ पत्थर की इमारत के निर्माण में 50 साल लग गए पर्यटक जैसलमेर शहर से एक विशेष से एक रिक्शे के द्वारा इस स्मरण तक पहुंच सकते हैं धन्यवाद

jaisa ki aapne patvon ki haweli ke bare me vistaar se bataye toh main aapko batana chahunga patvon ki haweli patawa parisar ke paas sthit hai aur jaisalmer ki pehli haweli hai poore parisar me paanchve liya hai jinhen woman chand patawa dhara 18 se 5 isvi me apne paanch beto ke liye banwaya gaya tha is peele balaua patthar ki imarat ke nirmaan me 50 saal lag gaye paryatak jaisalmer shehar se ek vishesh se ek rikshe ke dwara is smaran tak pohch sakte hain dhanyavad

जैसा कि आपने पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं तो मैं आपको बताना चाहूंगा पटवों क

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  945
WhatsApp_icon
user
0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नदी है जो आपने प्लस क्या है पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं तो बिल्कुल मैं आपको बताना चाहूंगा फ्रेंड की है जब पटवों की हवेली होती है यह बहुत ही ऐतिहासिक हवेली है जो कि राजस्थान में रिश्ता जोड़ इंजीनियरिंग और जो इसमें नक्काशी की गई वह बहुत नायाब और बहुत बेहतरीन है जो कि आज के डेट में भी ऐसा बना पाना नामुमकिन है क्योंकि आज के डेट में नहीं जो इसके नक्काशी किया गया है जो इसके आर्थिक बनाए गए हैं वह देखने में बिल्कुल ही नए और नए आप लगते हैं फ्रेंड इसके इतनी ज्यादा आकर्षण शक्ति है कि हम इसे देखते ही रह जाते हैं धन्यवाद

nadi hai jo aapne plus kya hai patvon ki haweli ke bare me vistaar se bataye toh bilkul main aapko batana chahunga friend ki hai jab patvon ki haweli hoti hai yah bahut hi etihasik haweli hai jo ki rajasthan me rishta jod Engineering aur jo isme nakkashi ki gayi vaah bahut naayaab aur bahut behtareen hai jo ki aaj ke date me bhi aisa bana paana namumkin hai kyonki aaj ke date me nahi jo iske nakkashi kiya gaya hai jo iske aarthik banaye gaye hain vaah dekhne me bilkul hi naye aur naye aap lagte hain friend iske itni zyada aakarshan shakti hai ki hum ise dekhte hi reh jaate hain dhanyavad

नदी है जो आपने प्लस क्या है पटवों की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं तो बिल्कुल मैं आपक

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  956
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!