पत्रों का महत्व क्या है?...


play
user
0:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा कि पत्रों का महत्व क्या है तो आपके प्रश्न का उत्तर है कि इस तरह के हुए छात्रों को बता सकते हैं जैसे कि प्रस्तुतीकरण समाज और वास्तविक जीवन को प्रभावित करता है समाचारों को विद्यार्थियों के लिए एक उदाहरण के रूप में उपयोग करने के लाभ यह है कि वे अखबार में अपने भविष्य के बारे में बेहतर ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि यह समाचार जिस तरह से आगे बढ़ रहा है

aapne poocha ki patron ka mahatva kya hai toh aapke prashna ka uttar hai ki is tarah ke hue chhatro ko bata sakte hain jaise ki prastutikaran samaj aur vastavik jeevan ko prabhavit karta hai samaachaaron ko vidyarthiyon ke liye ek udaharan ke roop mein upyog karne ke labh yah hai ki ve akhbaar mein apne bhavishya ke bare mein behtar gyaan prapt kar sakte hain kyonki yah samachar jis tarah se aage badh raha hai

आपने पूछा कि पत्रों का महत्व क्या है तो आपके प्रश्न का उत्तर है कि इस तरह के हुए छात्रों क

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  673
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत शुरू से ही पत्र ही हमारे संवाद का माध्यम रहा है दूरदराज के सगे संबंधियों के बीच पत्राचार से ही हम उनके कुशल सिम के बारे में जान पाते थे पत्र लेखन एक कला के रूप में उभरा हुआ चीज था यह एक लिखित विद्या में कला का बहुत ही उत्तम उदाहरण है

bahut shuru se hi patra hi hamare samvaad ka madhyam raha hai durdaraj ke sage sambandhiyon ke beech patrachar se hi hum unke kushal sim ke bare me jaan paate the patra lekhan ek kala ke roop me ubhra hua cheez tha yah ek likhit vidya me kala ka bahut hi uttam udaharan hai

बहुत शुरू से ही पत्र ही हमारे संवाद का माध्यम रहा है दूरदराज के सगे संबंधियों के बीच पत्रा

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  1201
WhatsApp_icon
user
0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार पत्र का महत्व निश्चल भाव और विचारों का आदान-प्रदान पत्रों द्वारा संभव है पत्र लेखन दो व्यक्तियों के बीच होता है इसके दौरान दो फिर से संबंधित दृष्ट होता है अतः प्रचार ही एक ऐसा साधन है जो दुरस्त व्यक्तियों को भावना की एक संघ भूमि पर ला खड़ा करता है और दोनों के आत्मीय संबंध स्थापित करता है धन्यवाद

namaskar patra ka mahatva nishchal bhav aur vicharon ka aadaan pradan patron dwara sambhav hai patra lekhan do vyaktiyon ke beech hota hai iske dauran do phir se sambandhit drist hota hai atah prachar hi ek aisa sadhan hai jo durast vyaktiyon ko bhavna ki ek sangh bhoomi par la khada karta hai aur dono ke atmiya sambandh sthapit karta hai dhanyavad

नमस्कार पत्र का महत्व निश्चल भाव और विचारों का आदान-प्रदान पत्रों द्वारा संभव है पत्र लेखन

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1791
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!