पथलगड़ी क्या है विस्तार में बताये?...


play
user
0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों आप ने सवाल किया है कि पत्थर गाड़ी क्या है विस्तार में मजा जी हां दोस्तों आप का सवाल है पत्थलगड़ी क्या है विस्तार में बताएं तो दोस्तों बता दे पत्थलगड़ी उन पत्थर स्मारकों को कहा जाता है जिनकी शुरुआत इंसान समाज ने हजारों साल पहले की थी यह एक पाषाण कालीन परंपरा है जो आदिवासियों में आज भी प्रचलित है

doston aap ne sawaal kiya hai ki patthar gaadi kya hai vistaar mein maza ji haan doston aap ka sawaal hai patthalagadi kya hai vistaar mein batayen toh doston bata de patthalagadi un patthar smaarakon ko kaha jata hai jinki shuruaat insaan samaaj ne hazaron saal pehle ki thi yah ek pashan kaleen parampara hai jo adivasiyon mein aaj bhi prachalit hai

दोस्तों आप ने सवाल किया है कि पत्थर गाड़ी क्या है विस्तार में मजा जी हां दोस्तों आप का सवा

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  374
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

AMAN KUMAR

TEACHER | UPSC ASPIRANT | UNACADEMY

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पत्थलगड़ी क्या है विस्तार से बताएं नहीं तो मैं आपको बताना चाहूंगा पत्थलगड़ी आदिमानव के पत्थर गाड़ी कहा जाता है धन्यवाद

patthalagadi kya hai vistaar se bataye nahi toh main aapko batana chahunga patthalagadi adimanav ke patthar gaadi kaha jata hai dhanyavad

पत्थलगड़ी क्या है विस्तार से बताएं नहीं तो मैं आपको बताना चाहूंगा पत्थलगड़ी आदिमानव के पत्

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  1479
WhatsApp_icon
user
1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पत्थलगड़ी क्या पत्थर पत्थर को कहा जाता है कि शुरुआत में हजारों साल पहले की थी कालीन परंपरा है जो आदिवासियों में आज भी प्रचलित है माना जाता है कि मचको को यादों में खगोल विज्ञान को समझ में तमिलों के अधिकार क्षेत्र के सीमांकन को दर्शाने बसाहट ओ को सूचना देने सामूहिक मान्यताओं को सार्वजनिक करने आदि देशों की पूर्ति के लिए प्रगति हासिक मानव समाज में पत्थर स्मारकों की रचना के पत्थर गाड़ी की इस आदिवासी परंपरा को पुरातत्व विज्ञान शब्दावली में महापात्र तिलावत और मेघा लिखा जाता है दुनिया भर में विभिन्न आदिवासी समाज में पत्थर गाड़ी की यह परंपरा मौजूद समय में मृत रहा है झारखंड के मुंडा आदिवासी समुदाय इसका सबसे बड़ा कारण है जिनमें कई अवसरों पर पत्थलगड़ी करने की प्रवृत्ति आशिक और प्रसार कार्यक्रम पर आज भी प्रचलित है धन्यवाद

patthalagadi kya patthar patthar ko kaha jata hai ki shuruat me hazaro saal pehle ki thi kaleen parampara hai jo adivasiyon me aaj bhi prachalit hai mana jata hai ki machako ko yaadon me khagol vigyan ko samajh me tamilon ke adhikaar kshetra ke simankan ko darshane basahat O ko soochna dene samuhik manyataon ko sarvajanik karne aadi deshon ki purti ke liye pragati hasik manav samaj me patthar smaarakon ki rachna ke patthar gaadi ki is adiwasi parampara ko puratatva vigyan shabdavli me mahapatra tilawat aur megha likha jata hai duniya bhar me vibhinn adiwasi samaj me patthar gaadi ki yah parampara maujud samay me mrit raha hai jharkhand ke munda adiwasi samuday iska sabse bada karan hai jinmein kai avasaron par patthalagadi karne ki pravritti aashik aur prasaar karyakram par aaj bhi prachalit hai dhanyavad

पत्थलगड़ी क्या पत्थर पत्थर को कहा जाता है कि शुरुआत में हजारों साल पहले की थी कालीन परंपरा

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  1024
WhatsApp_icon
user
0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग फ्रेंड आपके द्वारा क्या-क्या प्रश्न के पत्थलगड़ी क्या है विस्तार में बताएं तो बिल्कुल मैं आपको बताना चाहूंगा कि पत्थलगड़ी एक ऐसी व्यवस्था है जो कि हमारे जो आदिमानव उसी टाइम से आप आदिवासी लोगों के लिए बहुत ज्यादा प्रचलित है और इसमें ऐसा होता है जो कि पत्थर के ऊपर एक संदेश लेकर के पत्थर को गाड़ दिया जाता है या खासकर किसी स्पेशल तोहार भी किया जाता है और ऐसा ऐसा जब कोई नया नियम जयपुर के आज नया संदेश जा जाना होता है तब ऐसा पत्थर पर कुछ वह संदेश लिखकर चाहिए नियम लिखकर उसे जमीन में गाड़ दिया जाता है आधा और आधा जमीन के ऊपर आता है जिससे कि उसे वह कि वह संदेश मिले कि आखिर नया संदेश और नया नियम क्या आया है धन्यवाद

good morning friend aapke dwara kya kya prashna ke patthalagadi kya hai vistaar me bataye toh bilkul main aapko batana chahunga ki patthalagadi ek aisi vyavastha hai jo ki hamare jo adimanav usi time se aap adiwasi logo ke liye bahut zyada prachalit hai aur isme aisa hota hai jo ki patthar ke upar ek sandesh lekar ke patthar ko gad diya jata hai ya khaskar kisi special tohar bhi kiya jata hai aur aisa aisa jab koi naya niyam jaipur ke aaj naya sandesh ja jana hota hai tab aisa patthar par kuch vaah sandesh likhkar chahiye niyam likhkar use jameen me gad diya jata hai aadha aur aadha jameen ke upar aata hai jisse ki use vaah ki vaah sandesh mile ki aakhir naya sandesh aur naya niyam kya aaya hai dhanyavad

गुड मॉर्निंग फ्रेंड आपके द्वारा क्या-क्या प्रश्न के पत्थलगड़ी क्या है विस्तार में बताएं तो

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  1101
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!