परासरण क्या है विस्तार में बताये?...


user

RAZIBUL ISLAM KHAN

Teacher- 10 Years experience in colleges as a assistant professor

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

परासरण क्या है विस्तार में बताया देखिए पाराशुराम 2 सप्ताह में फोटो संता बिलियन में होने वाले विशेष प्रकार की प्रक्रिया है जिसमें एक आदत आप पर गम रिचिल्ले के धारा यह क्रिया होती है और इसमें काम करने वाले विलियम अधिक सामने वाले विलियम को और गति करते हैं जैसे हम अंगूर के चीनी के घोल में खतरे हैं तो अंगूर पीछे जाता है उसके आदमी आंखों में चले जाते हैं लेकिन जब हम किस्मत को पानी में रखते हैं वह भूल जाता है वही आशिया और परासरण क्रिया है

parasaran kya hai vistaar me bataya dekhiye parashuram 2 saptah me photo santa billion me hone waale vishesh prakar ki prakriya hai jisme ek aadat aap par gum richille ke dhara yah kriya hoti hai aur isme kaam karne waale william adhik saamne waale william ko aur gati karte hain jaise hum angoor ke chini ke ghol me khatre hain toh angoor peeche jata hai uske aadmi aakhon me chale jaate hain lekin jab hum kismat ko paani me rakhte hain vaah bhool jata hai wahi ashiya aur parasaran kriya hai

परासरण क्या है विस्तार में बताया देखिए पाराशुराम 2 सप्ताह में फोटो संता बिलियन में होने वा

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1104
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

परासरण क्या है जब भी विभिन्न सांता के दो विमानों को अर्ध पारगम्य झिल्ली से अलग किया जाता है तो बिल आया कि बिल आया कि कल अखबार जल्दी से होकर की अति सांता के गुजरते हैं इस घटना को प्राप्त होता जाता है

parasaran kya hai jab bhi vibhinn santa ke do vimaano ko ardh paragamya jhilli se alag kiya jata hai toh bill aaya ki bill aaya ki kal akhbaar jaldi se hokar ki ati santa ke gujarate hain is ghatna ko prapt hota jata hai

परासरण क्या है जब भी विभिन्न सांता के दो विमानों को अर्ध पारगम्य झिल्ली से अलग किया जाता ह

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  819
WhatsApp_icon
user
0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

परासरण क्या है विस्तार में बताएं इसका आंसर है प्रार्थना राशन दो भिन्न सांद्रता वाले घोड़ों के बीच होने वाले एक विशेष प्रकार की विसरण क्रिया है जो एक अर्ध पारगम्य झिल्ली के द्वारा होती है इसमें विलायक के अनु कम सांद्रता वाले बोलते अधिकतम दृढ़ता वाले घोल की और गति करते हैं

parasaran kya hai vistaar me bataye iska answer hai prarthna raashan do bhinn saandrata waale ghodon ke beech hone waale ek vishesh prakar ki visran kriya hai jo ek ardh paragamya jhilli ke dwara hoti hai isme vilaayak ke anu kam saandrata waale bolte adhiktam dridhta waale ghol ki aur gati karte hain

परासरण क्या है विस्तार में बताएं इसका आंसर है प्रार्थना राशन दो भिन्न सांद्रता वाले घोड़ों

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  964
WhatsApp_icon
user

Dhiraj Kumar

Teacher & Advisor

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों का पूछा गया प्रश्न है कि प्लान क्या है विस्तार में बताएं तो दोस्तों मैं बताना चाहूंगा दो विभिन्न स्थान तथा वाले फूलों के बीच होने वाली एक विशेष प्रकार के बीच प्रक्रिया है जो एक और दो पारगम्य झिल्ली के द्वारा होती है इसमें विलायक के अनुपम 15th वाले गोल से अधिक अंधता वाले की ओर गति करते हैं

doston ka poocha gaya prashna hai ki plan kya hai vistaar me bataye toh doston main batana chahunga do vibhinn sthan tatha waale fulo ke beech hone wali ek vishesh prakar ke beech prakriya hai jo ek aur do paragamya jhilli ke dwara hoti hai isme vilaayak ke anupam 15th waale gol se adhik andhata waale ki aur gati karte hain

दोस्तों का पूछा गया प्रश्न है कि प्लान क्या है विस्तार में बताएं तो दोस्तों मैं बताना चाहू

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  1282
WhatsApp_icon
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने क्वेश्चन पूछा है परासरण क्या है तो बताना चाहता हूं पूरा करो को इंग्लिश में उस मोसेस कहते हैं 2 दिन सांद्रता वाले घोड़ों के बीच होने वाली एक विशेष प्रकार के विष्णुप्रिया है जो एक अर्ध पारगम्य झिल्ली के द्वारा होती है विलय मतलब कुल्लू के अनूप गति नहीं करते हैं क्योंकि वे दोनों घोड़ों के अलग करने वाली अद्भुत रागम चिल्ली को पार नहीं कर सकते हैं धन्यवाद

aapne question poocha hai parasaran kya hai toh batana chahta hoon pura karo ko english mein us moses kehte hain 2 din saandrata waale ghodon ke beech hone wali ek vishesh prakar ke vishnupriya hai jo ek ardh paragamya jhilli ke dwara hoti hai vilay matlab kullu ke anup gati nahi karte hain kyonki ve dono ghodon ke alag karne wali adbhut ragam Chilly ko par nahi kar sakte hain dhanyavad

आपने क्वेश्चन पूछा है परासरण क्या है तो बताना चाहता हूं पूरा करो को इंग्लिश में उस मोसेस क

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  805
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दो भिन्न सांद्रता वाले हैं दोनों के बीच होने वाली एक विशेष प्रकार की विसरण क्रिया को जो एक अर्ध पर आश्रम दिल्ली के द्वारा होती है यह एक भौतिक क्रिया है जिसमें भोला के अनु बिना किसी भाई उर्जा के प्रयोग के अर्थ परागम में दिल्ली से होकर गति करते हैं ऐसी ही क्रिया को पर आश्रम कहते हैं

do bhinn saandrata waale hain dono ke beech hone wali ek vishesh prakar ki visran kriya ko jo ek ardh par ashram delhi ke dwara hoti hai yah ek bhautik kriya hai jisme bhola ke anu bina kisi bhai urja ke prayog ke arth paragam me delhi se hokar gati karte hain aisi hi kriya ko par ashram kehte hain

दो भिन्न सांद्रता वाले हैं दोनों के बीच होने वाली एक विशेष प्रकार की विसरण क्रिया को जो एक

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  202
WhatsApp_icon
user

MD AARIF

Teacher

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

परासरण दो भिन्न सांद्रता वाले गोलू के बीच होने वाली एक विशेष प्रकार की विसरण क्रिया है जो एक अर्ध पारगम्य झिल्ली के द्वारा होती है यह एक भौतिक क्रिया है जिसमें गोलक के अनु बिना किसी बाहरी ऊर्जा के प्रयोग के अर्ध पारगम्य झिल्ली से होकर गति करते हैं

parasaran do bhinn saandrata waale golu ke beech hone wali ek vishesh prakar ki visran kriya hai jo ek ardh paragamya jhilli ke dwara hoti hai yah ek bhautik kriya hai jisme golak ke anu bina kisi bahri urja ke prayog ke ardh paragamya jhilli se hokar gati karte hain

परासरण दो भिन्न सांद्रता वाले गोलू के बीच होने वाली एक विशेष प्रकार की विसरण क्रिया है जो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!