ॐ क्या है विस्तार में बताये?...


user

Akhil

Yoga Expert

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम ब्रह्मांड की ध्वनि है ओ मां ओ मां से मिलकर बना है और सबसे पहला स्वर है और मां सबसे आखरी व्यंजन है इसलिए ओम में सभी ध्वनियां आ जाती हैं और इसलिए सभी मंत्रों से पहले ओम को रखा जाता है ओम में और जागृत अवस्था से संबंधित स्वप्न अवस्था से संबंधित है और मां शिवशक्ति से संबंधित है ओम जाप के बाद जो मोहन आता है वह तुरिया अवस्था का प्रतीक है यानी आत्मा अवस्था का ओम का जाप करने से मन में स्थिरता और शांति आते हैं यह हमें अपनी वास्तविक प्रकृति के करीब लाता है और हमारे शुद्ध रूप से परिचित कराता है पतंजलि योग सूत्र में ओम को ईश्वर बताया गया है जो सर्वोच्च है किसी बीमारी क्रिया कार्यों के फल या इच्छाओं के किसी भी आंतरिक छाप से प्रभावित है ओम का जाप और ध्यान करने से सभी बाधाएं गायब हो जाती है और खुद को समझना आसान हो जाता है

om brahmaand ki dhwani hai O maa O maa se milkar bana hai aur sabse pehla swar hai aur maa sabse aakhri vyanjan hai isliye om me sabhi dhwaniyan aa jaati hain aur isliye sabhi mantron se pehle om ko rakha jata hai om me aur jagrit avastha se sambandhit swapn avastha se sambandhit hai aur maa shivshakti se sambandhit hai om jaap ke baad jo mohan aata hai vaah tureya avastha ka prateek hai yani aatma avastha ka om ka jaap karne se man me sthirta aur shanti aate hain yah hamein apni vastavik prakriti ke kareeb lata hai aur hamare shudh roop se parichit karata hai patanjali yog sutra me om ko ishwar bataya gaya hai jo sarvoch hai kisi bimari kriya karyo ke fal ya ikchao ke kisi bhi aantarik chhaap se prabhavit hai om ka jaap aur dhyan karne se sabhi baadhayain gayab ho jaati hai aur khud ko samajhna aasaan ho jata hai

ओम ब्रह्मांड की ध्वनि है ओ मां ओ मां से मिलकर बना है और सबसे पहला स्वर है और मां सबसे आखरी

Romanized Version
Likes  282  Dislikes    views  1058
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ने पूछा है ओम क्या है विस्तार में बताएं ओमकार का नामांतरण है ईश्वर का वाचक है ईश्वर के साथ ओम का बादशाह बादशाह का भाव संबंधित है धन्यवाद

ne poocha hai om kya hai vistaar mein bataye omkar ka naamantaran hai ishwar ka vachak hai ishwar ke saath om ka badshah badshah ka bhav sambandhit hai dhanyavad

ने पूछा है ओम क्या है विस्तार में बताएं ओमकार का नामांतरण है ईश्वर का वाचक है ईश्वर के साथ

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  769
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम या ओमकार का निरंतर प्रणव है सृष्टि के आदि में सर्वप्रथम ओमकार रूपी प्रणव का ही असुरन होता है तरनतारन 7 करोड़ मंत्रों का आविर्भाव होता है इन मंत्रों के वाक्य आत्मा के देवता रूप में प्रसिद्ध है

om ya omkar ka nirantar pranav hai shrishti ke aadi me sarvapratham omkar rupee pranav ka hi asuran hota hai taranataran 7 crore mantron ka avirbhaav hota hai in mantron ke vakya aatma ke devta roop me prasiddh hai

ओम या ओमकार का निरंतर प्रणव है सृष्टि के आदि में सर्वप्रथम ओमकार रूपी प्रणव का ही असुरन हो

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  490
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है वह क्या है शब्द तीन अक्षरों से ॐ शब्द तीन अक्षरों के मिलाकर बनाया है और मौकों का मतलब होता है बंद होना उसका मतलब होता है उठना यानी विकास और मां का मतलब होता है मन हो जाना यानी कि ब्रह्मलीन हो जाना

aapka prashna hai vaah kya hai shabd teen aksharon se om shabd teen aksharon ke milakar banaya hai aur maukon ka matlab hota hai band hona uska matlab hota hai uthna yani vikas aur maa ka matlab hota hai man ho jana yani ki brahmalin ho jana

आपका प्रश्न है वह क्या है शब्द तीन अक्षरों से ॐ शब्द तीन अक्षरों के मिलाकर बनाया है और मौक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  287
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि आपने क्वेश्चन पूछा ओम क्या है विस्तार में होता है तो मैं आपको बताना चाहूंगा मां का मतलब होता है बंद होना का मतलब होता है उठना यानी विकास और मां का मतलब होता है मोहन हो जाना यानी कि ब्रह्मलीन हो जाना ओम शब्द के उच्चारण से कई शारीरिक मानसिक और आत्मिक लाभ मिलते हैं धन्यवाद

jaisa ki aapne question poocha om kya hai vistaar me hota hai toh main aapko batana chahunga maa ka matlab hota hai band hona ka matlab hota hai uthna yani vikas aur maa ka matlab hota hai mohan ho jana yani ki brahmalin ho jana om shabd ke ucharan se kai sharirik mansik aur atmik labh milte hain dhanyavad

जैसा कि आपने क्वेश्चन पूछा ओम क्या है विस्तार में होता है तो मैं आपको बताना चाहूंगा मां का

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  557
WhatsApp_icon
user

Pushpanjali

Teacher & Carrier Cunsultancy

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तो आपने मुझसे पूछा ओम क्या है विस्तार में बताइए तो मेरे को बताना चाहिए दोस्तों जो है वह एक मंत्र है ओम बोलने से हमारे शरीर के अंदर एक अजीब सी उर्जा का प्रधान प्रदीप से उर्जा प्रदान होती है ओम जो हिंदू हिंदू धर्म का एक बहुत ही पवित्र मंत्र है धन्यवाद

hello doston aapne mujhse poocha om kya hai vistaar me bataiye toh mere ko batana chahiye doston jo hai vaah ek mantra hai om bolne se hamare sharir ke andar ek ajib si urja ka pradhan pradeep se urja pradan hoti hai om jo hindu hindu dharm ka ek bahut hi pavitra mantra hai dhanyavad

हेलो दोस्तो आपने मुझसे पूछा ओम क्या है विस्तार में बताइए तो मेरे को बताना चाहिए दोस्तों जो

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  1016
WhatsApp_icon
user
0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम क्या है विस्तार में बताएं तो दोस्तों ओम जो है यह ओमकार का नामांतरण प्रणव है यह ईश्वर का वाचक है ईश्वर के साथ ओमकार का वाक्य वाचक भाव संबंध नित्य संकेतिक नहीं और ओम के उच्चारण में शांति प्रदान होती है ओमपुरा व्योम है एवं पूरा संसार है और आप योग करते हुए ओम का उच्चारण करते हैं तो आपको एक अलग ही शांति की अनुभूति होती है थैंक यू

om kya hai vistaar me bataye toh doston om jo hai yah omkar ka naamantaran pranav hai yah ishwar ka vachak hai ishwar ke saath omkar ka vakya vachak bhav sambandh nitya saanketik nahi aur om ke ucharan me shanti pradan hoti hai ompura vyom hai evam pura sansar hai aur aap yog karte hue om ka ucharan karte hain toh aapko ek alag hi shanti ki anubhuti hoti hai thank you

ओम क्या है विस्तार में बताएं तो दोस्तों ओम जो है यह ओमकार का नामांतरण प्रणव है यह ईश्वर का

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  773
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!