नवजात शिशु में वेन्स न मिलने का कारन क्या है और उस से कैसे बचा जाये?...


user

TANMAY KR.

Teacher

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऑफिस में काम करने के लिए दूर करने के लिए आग माता का सही समय पर करवाएं

office me kaam karne ke liye dur karne ke liye aag mata ka sahi samay par karvaaein

ऑफिस में काम करने के लिए दूर करने के लिए आग माता का सही समय पर करवाएं

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1009
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

न मिलने के कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए तुम्हें बताना चाहूंगा कि नवजात शिशु को भी नहीं मिल रही है कोई परेशानी की बात नहीं है इसके लिए आप डॉक्टर से मिलकर उनके द्वारा बताए गए ट्रीटमेंट को और बच्चे को खाना अच्छी तरह दूध पिलाएं इससे वह बच्चा आपका ही होगा और वह सही ढंग से कार्य कर पाएगा और उसका नाश मिल पाएगा

na milne ke karan kya hai aur usse kaise bacha jaaye tumhe batana chahunga ki navjat shishu ko bhi nahi mil rahi hai koi pareshani ki baat nahi hai iske liye aap doctor se milkar unke dwara bataye gaye treatment ko aur bacche ko khana achi tarah doodh pilaayen isse vaah baccha aapka hi hoga aur vaah sahi dhang se karya kar payega aur uska naash mil payega

न मिलने के कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए तुम्हें बताना चाहूंगा कि नवजात शिशु को भी नही

Romanized Version
Likes  126  Dislikes    views  1524
WhatsApp_icon
play
user
0:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछा गया प्रश्न है कि नवजात शिशु में भैंस न मिलने का कारण क्या है उससे कैसे बचा जाए तो मैं बता दूं कि किसी भी नवजात शिशु की जो हथेली देखेंगे अभी उनको बॉडी में इसकी संख्या बहुत कम होती है और होती भी है तो वह जल्दी पकड़ में नहीं आती अगर आपको कोई इंजेक्शन देना है तो इसमें बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है इसके लिए एक्सपोर्ट जो जो कंपाउंडर्स होते हैं डॉक्टर से उनकी जरूरत होती है

aapka poocha gaya prashna hai ki navjat shishu me bhains na milne ka karan kya hai usse kaise bacha jaaye toh main bata doon ki kisi bhi navjat shishu ki jo hatheli dekhenge abhi unko body me iski sankhya bahut kam hoti hai aur hoti bhi hai toh vaah jaldi pakad me nahi aati agar aapko koi injection dena hai toh isme bahut pareshaniyo ka samana karna padta hai iske liye export jo jo kampaundars hote hain doctor se unki zarurat hoti hai

आपका पूछा गया प्रश्न है कि नवजात शिशु में भैंस न मिलने का कारण क्या है उससे कैसे बचा जाए त

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  1134
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी आपने कहा कि नवजात शिशु में बहस ना मिलने का कारण क्या है और उस से कैसे बचा जाए तो आपको बता दें कि ट्रीटमेंट के दौरान नवजात शिशु के शरीर का जो ना सोता है वह काफी पतला होता है और बहुत कम संख्या में होता है तो काफी पतला होने के कारण जो है वह जल्दी पकड़ में नहीं आता है और इस को पकड़ने के लिए एक्सपीरियंस होना जरूरी है और साथ ही साथ इसका उपाय है कि अगर आप हाथ की नस को देखना चाहते हैं तो हाथ के अगले हिस्से को अब बंद कर दें ताकि उस में ब्लड का सरकुलेशन ना हो जब बिगड़ता सरकुलेशन नहीं होगा तो 90 फूलने लगेगा अर्थात वह मोटा हो जाएगा तो आसानी से पकड़ में आ जाए

ji aapne kaha ki navjat shishu me bahas na milne ka karan kya hai aur us se kaise bacha jaaye toh aapko bata de ki treatment ke dauran navjat shishu ke sharir ka jo na sota hai vaah kaafi patla hota hai aur bahut kam sankhya me hota hai toh kaafi patla hone ke karan jo hai vaah jaldi pakad me nahi aata hai aur is ko pakadane ke liye experience hona zaroori hai aur saath hi saath iska upay hai ki agar aap hath ki nas ko dekhna chahte hain toh hath ke agle hisse ko ab band kar de taki us me blood ka sarakuleshan na ho jab bigadta sarakuleshan nahi hoga toh 90 phulne lagega arthat vaah mota ho jaega toh aasani se pakad me aa jaaye

जी आपने कहा कि नवजात शिशु में बहस ना मिलने का कारण क्या है और उस से कैसे बचा जाए तो आपको ब

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  1068
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!