मृत्यु का कारन क्या है और उस से कैसे बचा जाये?...


user

RAZIBUL ISLAM KHAN

Teacher- 10 Years experience in colleges as a assistant professor

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए देखेगी तो कोई शब्द नहीं बल्कि हिंदू धर्मा में महासागर कौन था के आंसर मित्र एक पारंपरिक मूवी प्रमुख ओंकारी देवी है सामान्य भाषा में किसी भी कीमत माता रानी आपके जीवन के अंत आम तो उम्मीद तो आ जाते हैं मैं तो समझना तो वृद्धावस्था लावस्मोहन ओक ओक ओक ओक ऑन के परिणाम स्वरुप होती है मित्रता मृत्यु के 101 हलचल होती हैं लेकिन मूर्खों आठ प्रकार की होती है जिसे बुढ़ापा रोड दुर्घटना आकाश आकाश मोती आगत शोक सिद्धा और वास्तु के मुख्य

mrityu ka karan kya hai aur usse kaise bacha jaaye dekhenge toh koi shabd nahi balki hindu dharma me mahasagar kaun tha ke answer mitra ek paramparik movie pramukh onkari devi hai samanya bhasha me kisi bhi kimat mata rani aapke jeevan ke ant aam toh ummid toh aa jaate hain main toh samajhna toh vriddhavastha lavasmohan oak oak oak oak on ke parinam swarup hoti hai mitrata mrityu ke 101 hulchul hoti hain lekin murkhon aath prakar ki hoti hai jise budhapa road durghatna akash akash moti agat shok siddha aur vastu ke mukhya

मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए देखेगी तो कोई शब्द नहीं बल्कि हिंदू धर्मा में

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  896
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों आप ने सवाल किया है मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए जी हां दोस्तों नीतू के कारण क्या है उसे कैसे बचा जाए तो दोस्तों आपको बता दें कि मृत्यु के कारण है वह सबसे पहले जो कार्य नहीं की इंसान की दोस्त हड्डियां और जो बुरे होते हैं जिसे स्किन कहते हैं त्वचा कहते हैं उसमें उसमें आपको बता दें कि कमजोरी आने लगती है जी हां दोस्तों हड्डी में कमजोरी आने लगती है और जो आपके चमड़े होते हैं उसमें झुरिया आने लगती है जैसे कि आपका जो हड्डी और झुरिया है वह पुराण होने लगी है जी हां दोस्तों और पूरा ना होने लगी वह पूरा ना होने के कारण आपकी जो अंदर की जो ताकत से वो धीरे धीरे कम हो नहीं हो जाती है और आप नीतू की बगल जाने लगते हैं जी हां दोस्तों लेकिन नीतू के कारण सिर्फ एक ही नहीं है बहुत से आदमी एक्सीडेंट हो गए मरते जी हां दोस्तों बहुत से आदमी एक्सीडेंट होकर मरते हैं बहुत से आदमी बीमारियों के कारण मैं उससे बहुत से आदमी खुद खुशी करते हैं जी हां दोस्तों खुदकुशी करते हैं नीतू से कैसे बचे दी है उसके कैसे बचाता है इससे बचने का कोई उपाय नहीं है जी हां दोस्तों मिट्ठू से अब तक कोई नहीं बच पाया है दुनिया का सबसे बड़ा सच यही है कि जो आया है उसे एक न एक दिन जाना है तो दोस्तों इस से बचा नहीं जा सकता है मृत्यु से बचने का कोई उपाय नहीं है

doston aap ne sawaal kiya hai mrityu ka karan kya hai aur usse kaise bacha jaaye ji haan doston neetu ke karan kya hai use kaise bacha jaaye toh doston aapko bata de ki mrityu ke karan hai vaah sabse pehle jo karya nahi ki insaan ki dost haddiyan aur jo bure hote hain jise skin kehte hain twacha kehte hain usme usme aapko bata de ki kamzori aane lagti hai ji haan doston haddi mein kamzori aane lagti hai aur jo aapke chamde hote hain usme jhuriya aane lagti hai jaise ki aapka jo haddi aur jhuriya hai vaah puran hone lagi hai ji haan doston aur pura na hone lagi vaah pura na hone ke karan aapki jo andar ki jo takat se vo dhire dhire kam ho nahi ho jaati hai aur aap neetu ki bagal jaane lagte hain ji haan doston lekin neetu ke karan sirf ek hi nahi hai bahut se aadmi accident ho gaye marte ji haan doston bahut se aadmi accident hokar marte hain bahut se aadmi bimariyon ke karan main usse bahut se aadmi khud khushi karte hain ji haan doston khudkhushi karte hain neetu se kaise bache di hai uske kaise bachata hai isse bachne ka koi upay nahi hai ji haan doston mitthu se ab tak koi nahi bach paya hai duniya ka sabse bada sach yahi hai ki jo aaya hai use ek na ek din jana hai toh doston is se bacha nahi ja sakta hai mrityu se bachne ka koi upay nahi hai

दोस्तों आप ने सवाल किया है मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए जी हां दोस्तों नीतू

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  930
WhatsApp_icon
user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न की मृत्यु का कारण क्या आप से कैसे बचा जाए तो मैं आपको बताना चाहता हूं मैं तो बिजली हर व्यक्ति को आनी है अगर कोई व्यक्ति इस दुनिया में आया है तो उसको जाना मुझे जीवन के साथ मैं तो जुड़ी हुई है इसको टाला नहीं जा सकता मृत्यु से बचने का एक ही उपाय है कि हम अपने कार्य को अच्छा रखें और हम अपने जीवन में एक अच्छी छाप छोड़ हो जाए

prashna ki mrityu ka karan kya aap se kaise bacha jaaye toh main aapko batana chahta hoon main toh bijli har vyakti ko aani hai agar koi vyakti is duniya me aaya hai toh usko jana mujhe jeevan ke saath main toh judi hui hai isko talla nahi ja sakta mrityu se bachne ka ek hi upay hai ki hum apne karya ko accha rakhen aur hum apne jeevan me ek achi chhaap chhod ho jaaye

प्रश्न की मृत्यु का कारण क्या आप से कैसे बचा जाए तो मैं आपको बताना चाहता हूं मैं तो बिजली

Romanized Version
Likes  246  Dislikes    views  2101
WhatsApp_icon
user

Sunil

Teacher

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मृत्यु का कोई भी कारण हो सकता है अगर आप बीमार हो गए हैं और ज्यादा बीमार है तो मुझको कारण हो सकता है और देखिए एक्सीडेंट हो इत्यादि चोट लगने के कारण मृत्यु बहुत से कारणों से मृत्यु हो सकती है

mrityu ka koi bhi karan ho sakta hai agar aap bimar ho gaye hain aur zyada bimar hai toh mujhko karan ho sakta hai aur dekhiye accident ho ityadi chot lagne ke karan mrityu bahut se karanon se mrityu ho sakti hai

मृत्यु का कोई भी कारण हो सकता है अगर आप बीमार हो गए हैं और ज्यादा बीमार है तो मुझको कारण ह

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1011
WhatsApp_icon
user

Masoom

Teacher

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने प्रश्न किया है मृत्यु का कारण क्या है और इससे कैसे बचा जाए दे की मृत्यु का कारण अनेक है क्योंकि शरीर नश्वर है इसे एक ना एक दिन नष्ट होना है और इससे बचने का कोई उपाय नहीं है

aapne prashna kiya hai mrityu ka karan kya hai aur isse kaise bacha jaaye de ki mrityu ka karan anek hai kyonki sharir nashwar hai ise ek na ek din nasht hona hai aur isse bachne ka koi upay nahi hai

आपने प्रश्न किया है मृत्यु का कारण क्या है और इससे कैसे बचा जाए दे की मृत्यु का कारण अनेक

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1290
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए दोस्त मृत्यु से को बचा नहीं जा सकता है मृत्यु तो जो है कि वह एकमात्र सत्य है दुनिया का इस इंसानी जीवन का एक मात्र शक्ति मिलती है बाकी सब मिथ्या है लेकिन मृत्यु के अनचाहे कारणों से बच सकते हैं तो उसके लिए हम को अपने शरीर को स्वस्थ रखना है हमें ऐसा काम नहीं करना है जो हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक हो हमें साफ सफाई करना है मैं चलाना है में व्यायाम करना है मैं शरीर को स्वस्थ बना के रखना

dekhiye dost mrityu se ko bacha nahi ja sakta hai mrityu toh jo hai ki vaah ekmatra satya hai duniya ka is insani jeevan ka ek matra shakti milti hai baki sab mithya hai lekin mrityu ke anchahe karanon se bach sakte hain toh uske liye hum ko apne sharir ko swasth rakhna hai hamein aisa kaam nahi karna hai jo hamare sharir ke liye nukasanadayak ho hamein saaf safaai karna hai main chalana hai me vyayam karna hai main sharir ko swasth bana ke rakhna

देखिए दोस्त मृत्यु से को बचा नहीं जा सकता है मृत्यु तो जो है कि वह एकमात्र सत्य है दुनिया

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  871
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अकबर की मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए देखे बिट्टू जो है जो भी चीज इस धरती पर जन्म लिया है इसका भी जन्म हुआ है उसका मृत्यु होना अनिवार्य है कोई भी मिट्ठू से भाग नहीं सकता और आपने पूछा है कि इससे कैसे बचा जाए इससे बचने का कोई भी तरीका नहीं है आज तक की साइंस में ऐसा कोई चीज अविष्कार नहीं किया कि मृत्यु से किसी को बचाया जाए

akbar ki mrityu ka karan kya hai aur usse kaise bacha jaaye dekhe bittu jo hai jo bhi cheez is dharti par janam liya hai iska bhi janam hua hai uska mrityu hona anivarya hai koi bhi mitthu se bhag nahi sakta aur aapne poocha hai ki isse kaise bacha jaaye isse bachne ka koi bhi tarika nahi hai aaj tak ki science me aisa koi cheez avishkar nahi kiya ki mrityu se kisi ko bachaya jaaye

अकबर की मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए देखे बिट्टू जो है जो भी चीज इस धरती पर

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  246
WhatsApp_icon
play
user
1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप ने प्रश्न किया है मृत्यु का क्या कारण है और उससे कैसे बचा जाए तो देखिए आज तक बहुत प्रतापी बहुत ज्ञानी ज्ञानी मनुष्य हुए पैदा है बहुत महान पुरुष भी हुए लेकिन विद्युत से कोई भी नहीं बच पाए हैं मृत्यु एक अटल सत्य है जो कभी ना कभी व्यक्ति के जीवन में घटित होना है जिसने जन्म लिया है उसे मृत्यु उसकी मृत्यु होना निश्चित है तुमने जो सत्य है मृत्यु किस कारण से होती है कारण मुख्य कारण यह आध्यात्मिक रूप से देखते हैं तो कि जिस वक्त जिस वस्तु ने जिस वस्तु या व्यक्ति का जन्म हुआ जो पैदा हुआ है उसका नष्ट होना भी उसी के साथ तय किया गया यह भी मृत्यु नहीं होगी किसी की तो फिर से बहुत ज्यादा जनसंख्या बढ़ जाएगी समझते होना आवश्यक होता है तू के कारण और वैसे अगर हम भौतिक दृष्टि से देखते हैं तो मृत्यु के बहुत सारे कारण होती है सुबह भी बहुत सारे कारण है ज्यादा खुशी कारण है जैसे किसी का एक्सीडेंट हो सकता है किसी का बीमारी से किसी की मृत्यु हो सकती है लेकिन आपको मैं बता दूं कि उसे कोई नहीं बच पाया है और ना ही कोई बच पाएगा

dekhiye aap ne prashna kiya hai mrityu ka kya karan hai aur usse kaise bacha jaaye toh dekhiye aaj tak bahut prataapee bahut gyani gyani manushya hue paida hai bahut mahaan purush bhi hue lekin vidyut se koi bhi nahi bach paye hain mrityu ek atal satya hai jo kabhi na kabhi vyakti ke jeevan mein ghatit hona hai jisne janam liya hai use mrityu uski mrityu hona nishchit hai tumne jo satya hai mrityu kis karan se hoti hai karan mukhya karan yah aadhyatmik roop se dekhte hain toh ki jis waqt jis vastu ne jis vastu ya vyakti ka janam hua jo paida hua hai uska nasht hona bhi usi ke saath tay kiya gaya yah bhi mrityu nahi hogi kisi ki toh phir se bahut zyada jansankhya badh jayegi samajhte hona aavashyak hota hai tu ke karan aur waise agar hum bhautik drishti se dekhte hain toh mrityu ke bahut saare karan hoti hai subah bhi bahut saare karan hai zyada khushi karan hai jaise kisi ka accident ho sakta hai kisi ka bimari se kisi ki mrityu ho sakti hai lekin aapko main bata doon ki use koi nahi bach paya hai aur na hi koi bach payega

देखिए आप ने प्रश्न किया है मृत्यु का क्या कारण है और उससे कैसे बचा जाए तो देखिए आज तक बहुत

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  613
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए लिखित साधारण सा मौत तीन प्रकार से होती है भौतिक मानसिक तथा आध्यात्मिक किसी दुर्घटना या बीमारी से मृत्यु होना भौतिक कारण की श्रेणी में आता है इस समय भौतिक तरंग अचानक मानसिक तरंगों का साथ छोड़ देती है और शरीर प्राण त्याग देता है

aapka prashna mrityu ka karan kya hai aur usse kaise bacha jaaye likhit sadhaaran sa maut teen prakar se hoti hai bhautik mansik tatha aadhyatmik kisi durghatna ya bimari se mrityu hona bhautik karan ki shreni me aata hai is samay bhautik tarang achanak mansik tarango ka saath chhod deti hai aur sharir praan tyag deta hai

आपका प्रश्न मृत्यु का कारण क्या है और उससे कैसे बचा जाए लिखित साधारण सा मौत तीन प्रकार से

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  660
WhatsApp_icon
user

AMIT KUMAR

Teacher

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न मृत्यु का कारण क्या है और उसे कैसे बचाएं देखिए दोस्त मृत्यु जो होती है बीमारी से होती है क्या कभी होता नहीं जा सकता है और व्यक्ति का मानना एक दिन का है ठीक है तो आप इतने दिन दुनिया में कर्म करिए दूसरों की मदद करते रहिए

aapka prashna mrityu ka karan kya hai aur use kaise bachaen dekhiye dost mrityu jo hoti hai bimari se hoti hai kya kabhi hota nahi ja sakta hai aur vyakti ka manana ek din ka hai theek hai toh aap itne din duniya me karm kariye dusro ki madad karte rahiye

आपका प्रश्न मृत्यु का कारण क्या है और उसे कैसे बचाएं देखिए दोस्त मृत्यु जो होती है बीमारी

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  1024
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नमस्कार आपने पूछा मृत्यु का कारण क्या है उससे कैसे बचा जाए तो दोस्त आपको बता दें कि हर चीज की एक आयु होती है चाहे वह इंसान होकर पौधा हो जब जानवर हो जंतुओं कोई भी चीज हर चीज की एक निश्चित आयु होती है उस आयु के बाद जो है वह मृत्यु को प्राप्त हो जाता है या यूं कहें कि उसकी जो है आयु समाप्त हो जाती है और वह पंचतत्व में विलीन हो जाता तो दोस्त मनुष्य की भी मृत्यु विभिन्न कारणों से होती है कोई एक्सीडेंट करके मरता है तो कोई अपनी आयु पूरा करने के पश्चात मरता है तो कोई आत्महत्या करता है तो दोस्त इसके प्रकार के कारण हो सकते हैं कोई असामयिक मृत्यु को प्राप्त हो जाता है जैसे किसी बड़े बीमारी के कारण हुआ समय की मृत्यु को प्राप्त हो जाता है तो इससे बचने के लिए जो है हम एक निश्चित सीमा तक ही बच सकते हैं था जो आयु फिक्स होती है उसके अनुसार ही हम जीवित रह सकते हैं उसके पश्चात जाए हमारा हड्डी हमारा मांस पेशिया और हमारे स्किन सारे के सारे कब्ज थोड़ी लगते हैं जिसके कारण हमारा हमारे शरीर का जो इम्यूनिटी पावर है अर्थात रोग प्रतिरोधक क्षमता है वह कब होने लगता है जिसके पश्चात किस तरह की बीमारियां शरीर में आने लगती है और यही कारण है कि हम अपने आप को बचा नहीं पाते तो एक निश्चित समय तक हम अपने शरीर को बचा सकते हैं देखभाल कर सकते हैं वह अच्छे खान-पान के द्वारा संभा

ji namaskar aapne poocha mrityu ka karan kya hai usse kaise bacha jaaye toh dost aapko bata de ki har cheez ki ek aayu hoti hai chahen vaah insaan hokar paudha ho jab janwar ho jantuon koi bhi cheez har cheez ki ek nishchit aayu hoti hai us aayu ke baad jo hai vaah mrityu ko prapt ho jata hai ya yun kahein ki uski jo hai aayu samapt ho jaati hai aur vaah panchatatwa me vileen ho jata toh dost manushya ki bhi mrityu vibhinn karanon se hoti hai koi accident karke marta hai toh koi apni aayu pura karne ke pashchat marta hai toh koi atmahatya karta hai toh dost iske prakar ke karan ho sakte hain koi asamayik mrityu ko prapt ho jata hai jaise kisi bade bimari ke karan hua samay ki mrityu ko prapt ho jata hai toh isse bachne ke liye jo hai hum ek nishchit seema tak hi bach sakte hain tha jo aayu fix hoti hai uske anusaar hi hum jeevit reh sakte hain uske pashchat jaaye hamara haddi hamara maas peshiya aur hamare skin saare ke saare kabz thodi lagte hain jiske karan hamara hamare sharir ka jo immunity power hai arthat rog pratirodhak kshamta hai vaah kab hone lagta hai jiske pashchat kis tarah ki bimariyan sharir me aane lagti hai aur yahi karan hai ki hum apne aap ko bacha nahi paate toh ek nishchit samay tak hum apne sharir ko bacha sakte hain dekhbhal kar sakte hain vaah acche khan pan ke dwara sambha

जी नमस्कार आपने पूछा मृत्यु का कारण क्या है उससे कैसे बचा जाए तो दोस्त आपको बता दें कि हर

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  949
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!