कांचनार गुग्गुल का प्रयोग कैसे करे विस्तार से बताये?...


play
user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:19

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमिताभ बच्चन अरे कांचना गूगल का प्रयोग कैसे करें विस्तार से बताएं आपको बताना चमक खासतौर पर इस को पेट की गैस सूजन दर्द पथरी बवासीर रानी का संक्षिप्त में बढ़ोतरी तमा जोड़ों का दर्द को दूर करने के लिए किया जाता है यह बीमारी मां शारदे डायबिटीज के मरीजों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है

amitabh bachchan are kanchana google ka prayog kaise kare vistaar se bataye aapko batana chamak khaasataur par is ko pet ki gas sujan dard pathari bawasir rani ka sanshipta me badhotari tama jodo ka dard ko dur karne ke liye kiya jata hai yah bimari maa sharde diabetes ke marizon ke liye bhi kaafi faydemand hota hai

अमिताभ बच्चन अरे कांचना गूगल का प्रयोग कैसे करें विस्तार से बताएं आपको बताना चमक खासतौर पर

Romanized Version
Likes  111  Dislikes    views  2025
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा देश नाना प्रकार की जड़ी बूटियों और वनस्पतियों का भंडार है और प्रत्येक जड़ी-बूटी तथा वनस्पति उपयोगी होती है हम जड़ी बूटियों एवं बने सचिव के गुण और उपयोग का विवरण उनके परिचय के साथ प्रकाशित करते हैं इसी कड़ी में एक बहुत ही गुणकारी वनस्पति कचनार का परिचय दिया जा रहा है मात्रा और सेवन की विधि बता रहे हैं ना कचनार की छाल का महीन पीता हुआ अभी सा छना हुआ चूर्ण 3 से 4 ग्राम आधा से एक चम्मच ठंडे पानी के साथ सुबह-शाम ले इसका काढ़ा बनाकर भी सुबह शाम चार चम्मच मात्रा में ठंडा करके एक चम्मच शहद मिला लेना मिला कर ले सकते हैं उपयोग आयुर्वेदिक औषधियों में ज्यादातर कचनार की छाल का ही उपयोग किया जाता है इसका उपयोग शरीर के किसी भी भाग में ग्रंथि का गांठ को गलाने के लिए किया जाता है इसके अलावा रक्त विकार व त्वचा रोग जैसे दाद खाज खुजली एक्जिमा फोड़े फुंसी आदि के लिए भी कचनार की छाल का उपयोग किया जाता है अत इन हिंदी विद रविंद्र रविंद्र धीमे मासिक धर्म में अति राजस्व रक्तपित्त और खून खूनी बवासीर में रख आवाज को रोकने के लिए इसका उपयोग किया जाता है जिन रोगों में जब 20 आम आदि धातुओं में मिल जाते हैं तब धीरे-धीरे निर्बलता बढ़ने लगती है कंठमाला रोग के रोगी को मंद मंद ज्वर रहता है किसी किसी को रक्त विकार हो होकर त्वचा पर फोड़े फुंसियां होती रहती है ऐसे रोगी के लिए कचनार का सेवन अमृत के साथ अमृत के समान गुणकारी शुद्ध होता है

hamara desh nana prakar ki jadi butiyon aur vanaspatiyon ka bhandar hai aur pratyek jadi buti tatha vanaspati upyogi hoti hai hum jadi butiyon evam bane sachiv ke gun aur upyog ka vivran unke parichay ke saath prakashit karte hain isi kadi me ek bahut hi gunkari vanaspati kachnar ka parichay diya ja raha hai matra aur seven ki vidhi bata rahe hain na kachnar ki chaal ka mahin pita hua abhi sa chana hua churn 3 se 4 gram aadha se ek chammach thande paani ke saath subah shaam le iska kadha banakar bhi subah shaam char chammach matra me thanda karke ek chammach shehed mila lena mila kar le sakte hain upyog ayurvedic aushadhiyon me jyadatar kachnar ki chaal ka hi upyog kiya jata hai iska upyog sharir ke kisi bhi bhag me granthi ka ganth ko galane ke liye kiya jata hai iske alava rakt vikar va twacha rog jaise dad khaj khujli eczema phoden phunsi aadi ke liye bhi kachnar ki chaal ka upyog kiya jata hai at in hindi with ravindra ravindra dhime maasik dharm me ati rajaswa raktapitt aur khoon khuni bawasir me rakh awaaz ko rokne ke liye iska upyog kiya jata hai jin rogo me jab 20 aam aadi dhatuon me mil jaate hain tab dhire dhire nirbalata badhne lagti hai kanthamala rog ke rogi ko mand mand jvar rehta hai kisi kisi ko rakt vikar ho hokar twacha par phoden phunsiyaan hoti rehti hai aise rogi ke liye kachnar ka seven amrit ke saath amrit ke saman gunkari shudh hota hai

हमारा देश नाना प्रकार की जड़ी बूटियों और वनस्पतियों का भंडार है और प्रत्येक जड़ी-बूटी तथा

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  261
WhatsApp_icon
user

Afran Khan

Teacher

0:23
Play

Likes  52  Dislikes    views  632
WhatsApp_icon
user

Masoom

Teacher

0:29
Play

Likes  35  Dislikes    views  906
WhatsApp_icon
user
0:28
Play

Likes  27  Dislikes    views  792
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!