जीवन में भाषा का महत्व क्या है?...


play
user

Neha

Teacher

0:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाषा

bhasha

भाषा

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  711
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में भाषा का महत्व क्या है जीवन में भाषा का बहुत बड़ा महत्व है क्योंकि अगर आपको जीवन में किसी प्रकार की भाषा का विशेष जानकारी आपको नहीं होगी तो आप किसी भी लोगों को ना तो समझ पाएंगे ना उनको समझा पाएंगे चाहे आपको जिस तरह की भाषा आती हो हिंदी हो उर्दू हो अंग्रेजी हो मैथिली हो पारसी हो आप जिस तरह की भाषा जानते हो आप के क्षेत्र में जो मशहूर है आप उस भाषा का को पूरा पूरा ज्ञान होना चाहिए और यह भाषा तीन तरह के होती है पहला तो है लिखित भाषा दूसरा है मौखिक भाषा और लिखित और मौखिक और इन तीनों में दोनों में एक और है खासियत इसका नाम है संकेतिक भाषा इन दोनों काम सांकेतिक रूप में ही प्रयोग कर सकते हैं धन्यवाद

jeevan me bhasha ka mahatva kya hai jeevan me bhasha ka bahut bada mahatva hai kyonki agar aapko jeevan me kisi prakar ki bhasha ka vishesh jaankari aapko nahi hogi toh aap kisi bhi logo ko na toh samajh payenge na unko samjha payenge chahen aapko jis tarah ki bhasha aati ho hindi ho urdu ho angrezi ho maithali ho parasi ho aap jis tarah ki bhasha jante ho aap ke kshetra me jo mashoor hai aap us bhasha ka ko pura pura gyaan hona chahiye aur yah bhasha teen tarah ke hoti hai pehla toh hai likhit bhasha doosra hai maukhik bhasha aur likhit aur maukhik aur in tatvo me dono me ek aur hai khasiyat iska naam hai saanketik bhasha in dono kaam sanketik roop me hi prayog kar sakte hain dhanyavad

जीवन में भाषा का महत्व क्या है जीवन में भाषा का बहुत बड़ा महत्व है क्योंकि अगर आपको जीवन म

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  541
WhatsApp_icon
user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इटावा प्रश्न की भाषा भाषा हिंदी भाषा मराठी कोई कुछ भी भाषा बोल सकता है

itawa prashna ki bhasha bhasha hindi bhasha marathi koi kuch bhi bhasha bol sakta hai

इटावा प्रश्न की भाषा भाषा हिंदी भाषा मराठी कोई कुछ भी भाषा बोल सकता है

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  2098
WhatsApp_icon
user
0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने जीवन में भाषा का महत्व क्या है तो मैं आपको बता दूं भाषा भाषा भाषा में एक साधन है भावों की अभिव्यक्ति की परिभाषा को जन्म दिया इसके माध्यम से मानव अपने विचारों अपने सुख-दुख कोई दूसरे व्यक्ति से कहता है तथा सुनता है दूसरा मानव मानव विकास का मूल दार है आशा की शक्ति के माध्यम से मनुष्य प्रगति के पथ पर अग्रसर हुआ वैसे तो संसार के अन्य प्राणियों के पास भी अपनी भाषा है परंतु विचार प्रधान भाषा मनुष्य के पास है तीसरा विचार शक्ति का विकास भाषा के बिना विचारों को याद रखना असंभव है मानव शक्ति शक्ति का विकास संभव है ज्ञान प्राप्ति का प्रमुख साधन भाषा के माध्यम से पुरानी पीढ़ी नई पीढ़ी को सामाजिक विरासत के रूप में अब तक का समय संक्षिप्त ज्ञान बीवीपी भावी पीढ़ी को सौंप दिया और यही क्रम निरंतर चलता रहता है तथा भाषा का विकास होता रहता है

apne jeevan me bhasha ka mahatva kya hai toh main aapko bata doon bhasha bhasha bhasha me ek sadhan hai bhavon ki abhivyakti ki paribhasha ko janam diya iske madhyam se manav apne vicharon apne sukh dukh koi dusre vyakti se kahata hai tatha sunta hai doosra manav manav vikas ka mul daar hai asha ki shakti ke madhyam se manushya pragati ke path par agrasar hua waise toh sansar ke anya praniyo ke paas bhi apni bhasha hai parantu vichar pradhan bhasha manushya ke paas hai teesra vichar shakti ka vikas bhasha ke bina vicharon ko yaad rakhna asambhav hai manav shakti shakti ka vikas sambhav hai gyaan prapti ka pramukh sadhan bhasha ke madhyam se purani peedhi nayi peedhi ko samajik virasat ke roop me ab tak ka samay sanshipta gyaan BVP bhave peedhi ko saunp diya aur yahi kram nirantar chalta rehta hai tatha bhasha ka vikas hota rehta hai

अपने जीवन में भाषा का महत्व क्या है तो मैं आपको बता दूं भाषा भाषा भाषा में एक साधन है भावो

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  987
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सभी के जीवन में भाषा का बहुत ज्यादा महत्व है क्योंकि भाषाएं कैसे चीज होता है जिसके तो उसे हमें कम्युनिकेशन कन्वर्सेशन करने के लिए मौका मिलता है तो जिसे इंग्लिश हिंदी एक ऑफिशियल लैंग्वेज होता है तो उसकी तरह से हमें जो भी मिल जाता है तो भाषा एक बहुत ही इंपॉर्टेंट है

sabhi ke jeevan me bhasha ka bahut zyada mahatva hai kyonki bhashayen kaise cheez hota hai jiske toh use hamein communication conversation karne ke liye mauka milta hai toh jise english hindi ek official language hota hai toh uski tarah se hamein jo bhi mil jata hai toh bhasha ek bahut hi important hai

सभी के जीवन में भाषा का बहुत ज्यादा महत्व है क्योंकि भाषाएं कैसे चीज होता है जिसके तो उसे

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  689
WhatsApp_icon
user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

1:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीना भाषा का महत्व है भाषा विचारों को व्यक्त करने का एक प्रमुख साधन है भाषा मुख से उच्चारित होने वाले शब्दों और वाक्यों आदि का समूह है जिनके द्वारा मन की बताई बताई जाती है भाषा की सहायता से किसी समाज विशेष या देश के लोग अपने मनोगत भावता विचार दूसरों को प्रकट करते हैं दुनिया में हजारों खुदा की भाषाएं बोली जाती है हर व्यक्ति बचपन से अपनी मातृभाषा देखने के बाद सब उपस्थित होती है लेकिन दूसरा देश या समाज की भाषा से नहीं जुड़ पाता भाषा विज्ञान के जानकारों ने यह तो भाषा के विभिन्न वर्ग स्थापित करके उन्हें प्रत्यक्ष के अलग-अलग सकने बनाई है हमारी हिंदी हमारी भाषा विज्ञान की दृष्टि से भारतीय शाखा के भाषा है वजह से यदि बदन खंडी इत्यादि बताए हैं जो आसपास में बोली जाती है मानव समाज के साथ ही भाषा का भी बराबर विकास होता है इस विकास के कारण भाषा में सदा परिवर्तन होता रहता भाषा के वैचारिक आदान-प्रदान माध्यम कहा जा सकता है साईं भक्ति का सर्वाधिक विश्वसनीय माध्यम है कि नहीं हमारे समाज के निर्माण विकास विकास सामाजिक और सांस्कृतिक पहचान कारी महत्वपूर्ण साधन है भाषा के बिना मनुष्य पूर्ण इतिहास व परंपरा के भाषा और लिपि भाव व्यक्ति करण के दो विन्नपालु है एक भाषा किस लिपि में लिखी जा सकती है भाषा के महत्व को मनुष्य में लाखों साल पहले पहचान काम कर निरंतर विकास किया भाषण नहीं हमारे गांव राजमार्ग जाता था और प्रांतीय ताकि झलकती है

jeena bhasha ka mahatva hai bhasha vicharon ko vyakt karne ka ek pramukh sadhan hai bhasha mukh se uchcharit hone waale shabdon aur vaakyon aadi ka samuh hai jinke dwara man ki batai batai jaati hai bhasha ki sahayta se kisi samaj vishesh ya desh ke log apne manogat vichar dusro ko prakat karte hain duniya me hazaro khuda ki bhashayen boli jaati hai har vyakti bachpan se apni matrubhasha dekhne ke baad sab upasthit hoti hai lekin doosra desh ya samaj ki bhasha se nahi jud pata bhasha vigyan ke jankaron ne yah toh bhasha ke vibhinn varg sthapit karke unhe pratyaksh ke alag alag sakne banai hai hamari hindi hamari bhasha vigyan ki drishti se bharatiya shakha ke bhasha hai wajah se yadi badan khandi ityadi bataye hain jo aaspass me boli jaati hai manav samaj ke saath hi bhasha ka bhi barabar vikas hota hai is vikas ke karan bhasha me sada parivartan hota rehta bhasha ke vaicharik aadaan pradan madhyam kaha ja sakta hai sai bhakti ka sarvadhik viswasniya madhyam hai ki nahi hamare samaj ke nirmaan vikas vikas samajik aur sanskritik pehchaan kaari mahatvapurna sadhan hai bhasha ke bina manushya purn itihas va parampara ke bhasha aur lipi bhav vyakti karan ke do vinnapalu hai ek bhasha kis lipi me likhi ja sakti hai bhasha ke mahatva ko manushya me laakhon saal pehle pehchaan kaam kar nirantar vikas kiya bhashan nahi hamare gaon rajmarg jata tha aur prantiya taki jhalkati hai

जीना भाषा का महत्व है भाषा विचारों को व्यक्त करने का एक प्रमुख साधन है भाषा मुख से उच्चारि

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  679
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!