गणेश जी का जनम कैसे हुआ विस्तार से बताये?...


user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वाले की गणेश जी का जन्म कैसे हुआ विस्तार में बताइए तो गणेश जी का जन्म एक बार देवी पार्वती ने शिवजी के गंदी उनकी आज्ञा पालन में त्रुटि के कारण अपने शरीर के उपचार से एक बालक का निर्माण कर उसमें प्राण डालकर कहा कि तुम मेरे पुत्र हो तुम मेरी ही आज्ञा का पालन करना और किसी का नहीं इस तरह से भगवान गणेश जी का जन्म हुआ था

waale ki ganesh ji ka janam kaise hua vistaar me bataiye toh ganesh ji ka janam ek baar devi parvati ne shivaji ke gandi unki aagya palan me truti ke karan apne sharir ke upchaar se ek balak ka nirmaan kar usme praan dalkar kaha ki tum mere putra ho tum meri hi aagya ka palan karna aur kisi ka nahi is tarah se bhagwan ganesh ji ka janam hua tha

वाले की गणेश जी का जन्म कैसे हुआ विस्तार में बताइए तो गणेश जी का जन्म एक बार देवी पार्वती

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  776
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

RANJAN KUMAR

Teacher, Technical Trainer

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है गणेश जी का जन्म कैसे हुआ विस्तार से बताएं तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि गणेश जी की माता जी जब स्नान कर रही थी होटल लगा कर रही थी अपने भोजन में तो वह बटन की उत्पत्ति से उनका जन्म हुआ था धन्यवाद

namaskar aapka sawaal hai ganesh ji ka janam kaise hua vistaar se bataye toh main aapko batana chahta hoon ki ganesh ji ki mata ji jab snan kar rahi thi hotel laga kar rahi thi apne bhojan me toh vaah button ki utpatti se unka janam hua tha dhanyavad

नमस्कार आपका सवाल है गणेश जी का जन्म कैसे हुआ विस्तार से बताएं तो मैं आपको बताना चाहता हूं

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  353
WhatsApp_icon
play
user

Prabhat Kumar

Teacher at Oxford English High School 7 year experience

1:10

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पुराने ग्रंथों में गणेश जी के जन्म के बारे में अलग-अलग ध्यान दिया है अलग-अलग कहानियां हैं किसी ग्रंथ में लिखा हुआ है कि गणेश जी का जन्म माता पार्वती के उबटन से हुआ था एक और कहानी के अनुसार जब माता पार्वती स्नान करने जा रही थी तो उन्होंने अपने बल से एक बच्चे को प्रकट किया और उसको अपनी रक्षा में लगा दिया उसको बोला कि तुम द्वार पर खड़े रहकर रक्षा करो किसी आदमी को अंदर नहीं आने दो मैं स्नान करने जा रही हूं जब माता पार्वती स्नान करने लगी तो बाल पर गणेश जी खड़े होकर पहरा देने लगे इतने में ही वहां शंकर जी पहुंच गए शंकर जी अंदर जाने की जिद करने लगे लेकिन गणेश जी उन्हें जाने नहीं दे रहे थे इस कारण शिव जी ने क्रोध में आकर गणेश जी के गर्दन को काट डाला इसे देखकर माता पार्वती बहुत क्रोधित हो गई उनकी क्रोध की ज्वाला से पूरा संसार जलने लगा इसको देखकर सभी ने माता पार्वती की स्तुति की और शिव के कहने पर भगवान विष्णु ने उनके सिर पर हाथी का मस्तक लगा दिया

dekhiye purane granthon me ganesh ji ke janam ke bare me alag alag dhyan diya hai alag alag kahaniya hain kisi granth me likha hua hai ki ganesh ji ka janam mata parvati ke ubatan se hua tha ek aur kahani ke anusaar jab mata parvati snan karne ja rahi thi toh unhone apne bal se ek bacche ko prakat kiya aur usko apni raksha me laga diya usko bola ki tum dwar par khade rahkar raksha karo kisi aadmi ko andar nahi aane do main snan karne ja rahi hoon jab mata parvati snan karne lagi toh baal par ganesh ji khade hokar pahara dene lage itne me hi wahan shankar ji pohch gaye shankar ji andar jaane ki jid karne lage lekin ganesh ji unhe jaane nahi de rahe the is karan shiv ji ne krodh me aakar ganesh ji ke gardan ko kaat dala ise dekhkar mata parvati bahut krodhit ho gayi unki krodh ki jwala se pura sansar jalne laga isko dekhkar sabhi ne mata parvati ki stuti ki aur shiv ke kehne par bhagwan vishnu ne unke sir par haathi ka mastak laga diya

देखिए पुराने ग्रंथों में गणेश जी के जन्म के बारे में अलग-अलग ध्यान दिया है अलग-अलग कहानिया

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  1021
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!