द्विवेदी युगीन साहित्य की विशेषता क्या है बताये?...


play
user

Prem

Teacher

0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रसाद द्विवेदी इन हिंदी साहित्य की विशेषताएं क्या है तो मैं आपको बता दूं द्विवेदी युगीन चेतना राष्ट्रीय प्रेम सामाजिक चेतना भक्ति प्रकृति और भाषा सभी स्तरों पर प्रखर दिखाई पड़ती हैं यहां राष्ट्रपति राष्ट्रपति के आवरण में लिपटी नहीं है ना ही शिव के रचनाकारों ने का विषय के रूप में विदेशी सत्ता को कहीं व रीता दी है धन्यवाद

aapka prasad dwivedi in hindi sahitya ki visheshtayen kya hai toh main aapko bata doon dwivedi yugin chetna rashtriya prem samajik chetna bhakti prakriti aur bhasha sabhi staron par prakhar dikhai padti hain yahan rashtrapati rashtrapati ke aavaran me lipti nahi hai na hi shiv ke rachanakaron ne ka vishay ke roop me videshi satta ko kahin va rita di hai dhanyavad

आपका प्रसाद द्विवेदी इन हिंदी साहित्य की विशेषताएं क्या है तो मैं आपको बता दूं द्विवेदी यु

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  896
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आपका सवाल है तो योगी जी शाहिद की विशेषता क्या है बताएं तो आपका जवाब होगा दोस्तों तो योगेश शाहिद की दो विशेषताएं होती है वह अधिकार की विशेषता होती है जो साहित्य में बुलबुल का बच्चा जो होता है उसको निपुण किया जाता है किसी भी व्यक्ति को चाहे तू पुणे करण से यह प्रदर्शित किया जाता है दोस्तों नमस्कार

namaskar doston aapka sawaal hai toh yogi ji shahid ki visheshata kya hai bataye toh aapka jawab hoga doston toh Yogesh shahid ki do visheshtayen hoti hai vaah adhikaar ki visheshata hoti hai jo sahitya me bulbul ka baccha jo hota hai usko nipun kiya jata hai kisi bhi vyakti ko chahen tu pune karan se yah pradarshit kiya jata hai doston namaskar

नमस्कार दोस्तों आपका सवाल है तो योगी जी शाहिद की विशेषता क्या है बताएं तो आपका जवाब होगा द

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  736
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि द्विवेदी युगीन साहित्य की विशेषता क्या है तो दोस्तों द्विवेदी युगीन काव्य आदर्शवादी एवं नीति पक्ष है आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी नैतिकता एवं आदर्श के प्रबल पक्षधर थे

aapne poocha hai ki dwivedi yugin sahitya ki visheshata kya hai toh doston dwivedi yugin kavya aadarshvaadi evam niti paksh hai aacharya mahavir prasad dwivedi naitikta evam adarsh ke prabal pakshadhar the

आपने पूछा है कि द्विवेदी युगीन साहित्य की विशेषता क्या है तो दोस्तों द्विवेदी युगीन काव्य

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  539
WhatsApp_icon
user
0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार महावीर प्रसाद द्विवेदी का साहित्यिक साहित्य आधुनिक हिंदी साहित्य इतिहास का अधिकार है इसका पहला चरण भारतेंदु युग है एवं दूसरा चरण दुबे दी योग्य महावीर प्रसाद द्विवेदी एक ऐसे साहित्यकार थे जो बहुभाषी होने का साथ ही साहित्य के इधर विषयों में भी समान रुचि रखते थे

namaskar mahavir prasad dwivedi ka sahityik sahitya aadhunik hindi sahitya itihas ka adhikaar hai iska pehla charan bharatendu yug hai evam doosra charan dubey di yogya mahavir prasad dwivedi ek aise sahityakaar the jo bahubhashi hone ka saath hi sahitya ke idhar vishyon me bhi saman ruchi rakhte the

नमस्कार महावीर प्रसाद द्विवेदी का साहित्यिक साहित्य आधुनिक हिंदी साहित्य इतिहास का अधिकार

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  1204
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

द्विवेदी युगीन साहित्य की विशेषता क्या है उसका उत्तर होगा द्विवेदी साहित्य की विशेषताएं और प्रेम की भावना से समस्याओं का विशेष रूप से चित्रण किया है और उनमें नैतिकता और आदर्शवाद का भाव साफ झलकता था इसके अलावा उनका रचना के रूपों में विशेषकर प्रयोग किया गया और उन्हें भाषा परिवर्तन और क्षण में विविधता भी एक द्विवेदी युग की विशेषता थी

dwivedi yugin sahitya ki visheshata kya hai uska uttar hoga dwivedi sahitya ki visheshtayen aur prem ki bhavna se samasyaon ka vishesh roop se chitran kiya hai aur unmen naitikta aur adarshwad ka bhav saaf jhalkata tha iske alava unka rachna ke roopon me visheshkar prayog kiya gaya aur unhe bhasha parivartan aur kshan me vividhata bhi ek dwivedi yug ki visheshata thi

द्विवेदी युगीन साहित्य की विशेषता क्या है उसका उत्तर होगा द्विवेदी साहित्य की विशेषताएं औ

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  680
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!