दोहे ों परिश्रम का महत्व क्या है?...


user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार ऑफिस में दोहे परिश्रम का महत्व क्या है तो देखिए शताब्दी की बात कर रहे हैं दोनों का महत्व के दोहे सरल भाषा में लिखे होते हैं इसलिए कम पढ़े लिखे लोग और है ना पढ़े लिखे लोग भी हैं इसे आसानी से समझ जाते हैं और जागरूक होते हैं संजय दास जी के दोहे है हर आदमी की जबान पर आते हैं कि वह सरल और सुनते हैं धन्यवाद

namaskar office me dohe parishram ka mahatva kya hai toh dekhiye shatabdi ki baat kar rahe hain dono ka mahatva ke dohe saral bhasha me likhe hote hain isliye kam padhe likhe log aur hai na padhe likhe log bhi hain ise aasani se samajh jaate hain aur jagruk hote hain sanjay das ji ke dohe hai har aadmi ki jaban par aate hain ki vaah saral aur sunte hain dhanyavad

नमस्कार ऑफिस में दोहे परिश्रम का महत्व क्या है तो देखिए शताब्दी की बात कर रहे हैं दोनों का

Romanized Version
Likes  101  Dislikes    views  1132
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनोज परिश्रम करने से अपने जीवन की हर समस्या का छुटकारा पा सकते हैं सूरज और रोज निकलता है विश्व का उपाय करता है वही किस कभी भी अपने नियम का उल्लंघन नहीं करता है वह पर्वतों को काटकर सड़क बना सकते हैं नदिया पर पुल बना सकता है जिस रास्ते प्रकार के होते उसे शुभम बना सकता है परिश्रम का मतलब यही हुआ

manoj parishram karne se apne jeevan ki har samasya ka chhutkara paa sakte hain suraj aur roj nikalta hai vishwa ka upay karta hai wahi kis kabhi bhi apne niyam ka ullanghan nahi karta hai vaah parwaton ko katkar sadak bana sakte hain nadiya par pool bana sakta hai jis raste prakar ke hote use subham bana sakta hai parishram ka matlab yahi hua

मनोज परिश्रम करने से अपने जीवन की हर समस्या का छुटकारा पा सकते हैं सूरज और रोज निकलता है व

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  785
WhatsApp_icon
user

Pushpanjali

Teacher & Carrier Cunsultancy

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आपने मुझसे पूछा है परिश्रम का महत्व क्या है तो मैं आपको बताना चाहूंगी दोस्तों हमारे जीवन में परिश्रम का बहुत ज्यादा महत्व क्योंकि अगर हम कम बुद्धिजीवी है तब भी परिश्रम करने से हम अपने लक्ष्य को साथ दे सकते हो पर लक्ष्य को पा सकते हैं कि मैं आपको इसके उदाहरण के तौर पर बताना चाहूंगी कि एक बालक था वह बुद्धिजीवी बिल्कुल भी नहीं हुआ था बिल्कुल नासमझ बालक था तो एक बार वह पढ़ाई लिखाई छोड़ कर भाग गया एक-एक इंडा पर बैठा उसको कहते हैं जहां से लोग पहले पानी निकाल देते कुआं से वहां बैठा उसके बाद

hello doston aapne mujhse poocha hai parishram ka mahatva kya hai toh main aapko batana chahungi doston hamare jeevan me parishram ka bahut zyada mahatva kyonki agar hum kam buddhijeevi hai tab bhi parishram karne se hum apne lakshya ko saath de sakte ho par lakshya ko paa sakte hain ki main aapko iske udaharan ke taur par batana chahungi ki ek balak tha vaah buddhijeevi bilkul bhi nahi hua tha bilkul nasamajh balak tha toh ek baar vaah padhai likhai chhod kar bhag gaya ek ek inda par baitha usko kehte hain jaha se log pehle paani nikaal dete kuan se wahan baitha uske baad

हेलो दोस्तों आपने मुझसे पूछा है परिश्रम का महत्व क्या है तो मैं आपको बताना चाहूंगी दोस्तों

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  796
WhatsApp_icon
play
user
0:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

परिश्रम का महत्व आपने पूछा है कि क्या है तो दोस्तों भाग्य का हमारे जीवन में बहुत महत्व होता है लेकिन आलसी बनकर बैठे हुए और सफलता के लिए भगवान को घोषणा ठीक बात नहीं आलसी हमेशा दूसरे के भरोसे पर जीवन यापन करता है वह अपने हर काम को भाग्य पर छोड़ देता है जब मनुष्य के जीवन में परिश्रम खत्म हो जाता है तो उसके जीवन की गाड़ी रुक जाती है

parishram ka mahatva aapne poocha hai ki kya hai toh doston bhagya ka hamare jeevan me bahut mahatva hota hai lekin aalsi bankar baithe hue aur safalta ke liye bhagwan ko ghoshana theek baat nahi aalsi hamesha dusre ke bharose par jeevan yaapan karta hai vaah apne har kaam ko bhagya par chhod deta hai jab manushya ke jeevan me parishram khatam ho jata hai toh uske jeevan ki gaadi ruk jaati hai

परिश्रम का महत्व आपने पूछा है कि क्या है तो दोस्तों भाग्य का हमारे जीवन में बहुत महत्व होत

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  695
WhatsApp_icon
user

MD MUSHTAK

Teacher

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

परिश्रम का बहुत अधिक माधव होता है जब मनुष्य के जीवन में परिश्रम खत्म हो जाता है तो उसके जीवन की गाड़ी रुक जाती है अगर हम परेशान ना करें तो हमारा खुद का खाना पीना उठना बैठना में संभव भी नहीं हो पाएगा अगर मनुष्य प्रगति और विकास की कभी कल्पना ही नहीं की जा सकती

parishram ka bahut adhik madhav hota hai jab manushya ke jeevan me parishram khatam ho jata hai toh uske jeevan ki gaadi ruk jaati hai agar hum pareshan na kare toh hamara khud ka khana peena uthna baithana me sambhav bhi nahi ho payega agar manushya pragati aur vikas ki kabhi kalpana hi nahi ki ja sakti

परिश्रम का बहुत अधिक माधव होता है जब मनुष्य के जीवन में परिश्रम खत्म हो जाता है तो उसके जी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!