play
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धन हमेशा से जोड़ता है इंसान से जोड़ता है हमें मानव कल्याण के लिए हमेशा धर्म से जुड़े रहना चाहिए धर्म के प्रति प्रीति होना चाहिए इंसान होने के नाते हमें हैं अच्छा कार्य करना चाहिए अच्छे गुणों को अपनाना चाहिए सभा समाज के में ज्ञान करना चाहिए देश में क्यों यार कन्नौज सच्चे मार्ग पर चलना चाहिए इंसानों की मदद करना हमारा धर्म है कर्तव्य

dhan hamesha se Jodta hai insaan se Jodta hai hamein manav kalyan ke liye hamesha dharam se jude rehna chahiye dharam ke prati preeti hona chahiye insaan hone ke naate hamein hain accha karya karna chahiye acche gunon ko apnana chahiye sabha samaaj ke mein gyaan karna chahiye desh mein kyon yaar kannauj sacche marg par chalna chahiye insanon ki madad karna hamara dharam hai kartavya

धन हमेशा से जोड़ता है इंसान से जोड़ता है हमें मानव कल्याण के लिए हमेशा धर्म से जुड़े रहना

Romanized Version
Likes  191  Dislikes    views  1804
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार ऑफिस में धर्म का महत्व क्या है तो देखिए धर्म का महत्व यह होता है कि धर्म हुए यह सिखाता है कि किस प्रकार से हम परोपकार से हैं जी सकते हैं लोगों की सेवा कर सकते हैं और एक दूसरे के लिए जी सकते हैं किसने कहा कि धर्म के बिना विज्ञान अंदर है और विज्ञान की बिना है धर्म और लंगड़ा है यानी धर्म है वह दिशानिर्देश करता है कि वास्तव में हमें किस ओर चलना चाहिए धन्यवाद

namaskar office me dharm ka mahatva kya hai toh dekhiye dharm ka mahatva yah hota hai ki dharm hue yah sikhata hai ki kis prakar se hum paropkaar se hain ji sakte hain logo ki seva kar sakte hain aur ek dusre ke liye ji sakte hain kisne kaha ki dharm ke bina vigyan andar hai aur vigyan ki bina hai dharm aur langda hai yani dharm hai vaah dishanirdesh karta hai ki vaastav me hamein kis aur chalna chahiye dhanyavad

नमस्कार ऑफिस में धर्म का महत्व क्या है तो देखिए धर्म का महत्व यह होता है कि धर्म हुए यह सि

Romanized Version
Likes  101  Dislikes    views  1029
WhatsApp_icon
user

Sunil

Teacher

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन किसी भी व्यक्ति के लिए उसके धर्म का बहुत महत्व होता है लेकिन जिस धर्म में वह जन्म लेता है उसे ही आगे चलकर अपने परिवार और अपनी आने वाली पीढ़ी के पीढ़ी को इसकी पास ना देनी होती है और बताया जाता है कि इस धर्म में आप जन में हो और इसके लिए आप आगे बढ़ते रहो गे

lekin kisi bhi vyakti ke liye uske dharm ka bahut mahatva hota hai lekin jis dharm me vaah janam leta hai use hi aage chalkar apne parivar aur apni aane wali peedhi ke peedhi ko iski paas na deni hoti hai aur bataya jata hai ki is dharm me aap jan me ho aur iske liye aap aage badhte raho gay

लेकिन किसी भी व्यक्ति के लिए उसके धर्म का बहुत महत्व होता है लेकिन जिस धर्म में वह जन्म ले

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  621
WhatsApp_icon
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धर्म का महत्व धर्म मात्र बौद्धिक उपलब्धि ही नहीं है वह मनुष्य की स्वाभाविक आत्मा है परंतु वह शरीर और कल के आवेश रखी हुई है इसलिए वह अज्ञात है आवरण से जगन ने लिखा हुआ है पर उसका अस्तित्व नहीं है

dharm ka mahatva dharm matra baudhik upalabdhi hi nahi hai vaah manushya ki swabhavik aatma hai parantu vaah sharir aur kal ke aavesh rakhi hui hai isliye vaah agyaat hai aavaran se jagan ne likha hua hai par uska astitva nahi hai

धर्म का महत्व धर्म मात्र बौद्धिक उपलब्धि ही नहीं है वह मनुष्य की स्वाभाविक आत्मा है परंतु

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  1973
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्मा माता वैदिक उपलब्धि ही नहीं है वह मनुष्य की स्वाभाविक आत्मा है परंतु वह शरीर और कर्म के आवरण से रखी हुई है इसीलिए अज्ञात आवरण से ढका हुआ है पर उसका अस्तित्व विस्तृत नहीं है

karma mata vaidik upalabdhi hi nahi hai vaah manushya ki swabhavik aatma hai parantu vaah sharir aur karm ke aavaran se rakhi hui hai isliye agyaat aavaran se dhaka hua hai par uska astitva vistrit nahi hai

कर्मा माता वैदिक उपलब्धि ही नहीं है वह मनुष्य की स्वाभाविक आत्मा है परंतु वह शरीर और कर्म

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  2319
WhatsApp_icon
user

MD MUSHTAK

Teacher

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धर्म इंसान की जिंदगी में बहुत महत्व है क्योंकि धर्म हमें सभ्य तरीके से जीने की शिक्षा देता है धर्म हमें सिखाता है कि बड़ों का आदर गड़े धर्म हमें सिखाता है हमारा आचरण कैसा धर्मा में यह पक्षी खाता है यह क्या सही है क्या गलत है धर्म हमें यह सिखाता है कि मैं कैसे गरीबों की सहायता करनी चाहिए इसलिए धर्म का इंसानों की जिंदगी में बहुत ज्यादा मजबूर

dharm insaan ki zindagi me bahut mahatva hai kyonki dharm hamein sabhya tarike se jeene ki shiksha deta hai dharm hamein sikhata hai ki badon ka aadar gade dharm hamein sikhata hai hamara aacharan kaisa dharma me yah pakshi khaata hai yah kya sahi hai kya galat hai dharm hamein yah sikhata hai ki main kaise garibon ki sahayta karni chahiye isliye dharm ka insano ki zindagi me bahut zyada majboor

धर्म इंसान की जिंदगी में बहुत महत्व है क्योंकि धर्म हमें सभ्य तरीके से जीने की शिक्षा देता

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  199
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धर्म का क्या महत्व भारतीय संस्कृति और भारतीय दर्शन का प्रमुख संकल्पना धर्म शब्द का पश्चिमी भाषाओं में किसी समतुल्य शब्द का मिल पाना बहुत कठिन है साधारण शब्दों में धर्म के बहुत से अर्थ हैं इनमें कुछ यह है कर्तव्य सदाचरण सद्गुण धर्म का महत्व जीवन में बहुत अधिक है धार्मिक व्यक्ति जीवन पर्यंत कर्तव्य अहिंसा न्याय और सदाचरण जैसे गुणों का पालन करता है

dharm ka kya mahatva bharatiya sanskriti aur bharatiya darshan ka pramukh sankalpana dharm shabd ka pashchimi bhashaon me kisi samatulya shabd ka mil paana bahut kathin hai sadhaaran shabdon me dharm ke bahut se arth hain inmein kuch yah hai kartavya sadacharan sadgun dharm ka mahatva jeevan me bahut adhik hai dharmik vyakti jeevan paryant kartavya ahinsa nyay aur sadacharan jaise gunon ka palan karta hai

धर्म का क्या महत्व भारतीय संस्कृति और भारतीय दर्शन का प्रमुख संकल्पना धर्म शब्द का पश्चिमी

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  640
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण धर्म का महत्व क्या है आंसर है धर्म का महत्व मात्र बौद्धिक उपलब्धि ही नहीं वह मनुष्य के स्वभाव एक आत्मा है परंतु वह शरीर और धर्म के आवरण से ढकी हुई है इसलिए हुआ अज्ञात है आवरण से चैतन्य ढका हुआ है और उसका अस्तित्व विस्मृत नहीं है

krishna dharm ka mahatva kya hai answer hai dharm ka mahatva matra baudhik upalabdhi hi nahi vaah manushya ke swabhav ek aatma hai parantu vaah sharir aur dharm ke aavaran se dhaki hui hai isliye hua agyaat hai aavaran se chaitanya dhaka hua hai aur uska astitva vismrit nahi hai

कृष्ण धर्म का महत्व क्या है आंसर है धर्म का महत्व मात्र बौद्धिक उपलब्धि ही नहीं वह मनुष्य

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  780
WhatsApp_icon
user

Anil sarswat

College Lect.,Business Owner

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न धर्म का महत्व क्या है आपको बता दें भ्रम मात्र भौतिक उपलब्धि ही नहीं है वह मनुष्य की स्वाभाविक आत्मा है परंतु अश्लील और परंपराओं से ढकी हुई है इसलिए वह अज्ञात है आम के चटनी ढका हुआ है पर उसका अस्तित्व विस्मृत नहीं है सूर्य बादलों से ढका हुआ है पर वह आज तक नहीं है मनुष्य प्रत्येक प्रवृत्ति के उपरांत विराम जाता है शरीर वाणी और मन के प्रति मनुष्य को भाई यह जगत में ले जाती है वाणी मोहन होना चाहती है और शरीर शरीर की शीतलता वाणी का मौन और मन का अंत में विलीन हो ना ध्यान है और यही आत्मा का संभावित रूप है यही धर्म है धर्म का अर्थ है आत्मा से आत्मा को देखना आत्मा से आत्मा को जानना और आत्मा से आत्मा में स्थित हो जाना जो आत्मा का स्वभाव नहीं है वह धर्म नहीं है धार्मिकता अंतःकरण की पवित्रता है वह धर्म की रुचि होने मात्र से प्राप्त नहीं होती उसके साथ नाच साधना करने वाले धार्मिक बहुत कम है अधिकतर धार्मिक सिद्धि प्राप्त करने वाले लोग हैं आज का धर्म से इतना आसान है कि त्याग और वो के मध्य को रेखा निजामपुर दी धन्यवाद जय हिंद जय भारत

aapka prashna dharm ka mahatva kya hai aapko bata de bharam matra bhautik upalabdhi hi nahi hai vaah manushya ki swabhavik aatma hai parantu ashleel aur paramparaon se dhaki hui hai isliye vaah agyaat hai aam ke chatni dhaka hua hai par uska astitva vismrit nahi hai surya badalon se dhaka hua hai par vaah aaj tak nahi hai manushya pratyek pravritti ke uprant viraam jata hai sharir vani aur man ke prati manushya ko bhai yah jagat me le jaati hai vani mohan hona chahti hai aur sharir sharir ki shitalata vani ka maun aur man ka ant me vileen ho na dhyan hai aur yahi aatma ka sambhavit roop hai yahi dharm hai dharm ka arth hai aatma se aatma ko dekhna aatma se aatma ko janana aur aatma se aatma me sthit ho jana jo aatma ka swabhav nahi hai vaah dharm nahi hai dharmikata antahkaran ki pavitrata hai vaah dharm ki ruchi hone matra se prapt nahi hoti uske saath nach sadhna karne waale dharmik bahut kam hai adhiktar dharmik siddhi prapt karne waale log hain aaj ka dharm se itna aasaan hai ki tyag aur vo ke madhya ko rekha nijampur di dhanyavad jai hind jai bharat

आपका प्रश्न धर्म का महत्व क्या है आपको बता दें भ्रम मात्र भौतिक उपलब्धि ही नहीं है वह मनुष

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  612
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!