धारा 497 क्या है विस्तार में बताये?...


user

RAZIBUL ISLAM KHAN

Teacher- 10 Years experience in colleges as a assistant professor

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धारा 497 क्या है विस्तार में बताएं देखें स्त्री पुरुष के विवाहेतर संबंध के संबंध से जुड़ी भारतीय दंड संहिता आईपीसी की धारा 497 पर सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने फैसला सुनाया सुप्रीम कोर्ट के 5 सदस्य पेट ने एकमत से फैसला सुनाया कि बेबी सर अपराध नहीं है

dhara 497 kya hai vistaar me bataye dekhen stree purush ke vivahetar sambandh ke sambandh se judi bharatiya dand sanhita ipc ki dhara 497 par supreme court ki samvidhan peeth ne faisla sunaya supreme court ke 5 sadasya pet ne ekamat se faisla sunaya ki baby sir apradh nahi hai

धारा 497 क्या है विस्तार में बताएं देखें स्त्री पुरुष के विवाहेतर संबंध के संबंध से जुड़ी

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  790
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत दंड संहिता की धारा 497 के अनुसार जो भी कोई ऐसी महिला के साथ जो किसी अन्य पुरुष की पत्नी है और इसका किसी अन्य पुरुष की पत्नी होना यह विश्वास पूर्वक जानता है बिना उसके पति की सहमति अपेक्षा की शारीरिक संबंध बनाता है जो कि बलात्कार के अपराध की श्रेणी में नहीं आता वह व्यभिचार के अपराध का दोषी होगा उसे किसी कवि के लिए कारावास की सजा से 5 वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है या आर्थिक दंड या दोनों से दंडित किया जाएगा ऐसे मामले में पत्नी है तो उस प्रेरक के रूप में धनिया नहीं होगी यह निरस्त कर दी गई है धन्यवाद

bharat dand sanhita ki dhara 497 ke anusaar jo bhi koi aisi mahila ke saath jo kisi anya purush ki patni hai aur iska kisi anya purush ki patni hona yah vishwas purvak jaanta hai bina uske pati ki sahmati apeksha ki sharirik sambandh banata hai jo ki balatkar ke apradh ki shreni mein nahi aata vaah vyabhichaar ke apradh ka doshi hoga use kisi kavi ke liye karavas ki saza se 5 varsh tak badhaya ja sakta hai ya aarthik dand ya dono se dandit kiya jaega aise mamle mein patni hai toh us prerak ke roop mein dhania nahi hogi yah nirast kar di gayi hai dhanyavad

भारत दंड संहिता की धारा 497 के अनुसार जो भी कोई ऐसी महिला के साथ जो किसी अन्य पुरुष की पत्

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  652
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईपीसी की धारा 497 में इसे परिभाषित करते हुए कहा गया है अगर कोई मर्द किसी दूसरी शादी शुदा औरत के साथ उसकी सहमति से शारीरिक संबंध बनाता है तो पति की शिकायत पर इस मामले में पुरुष को अदालती कानून के तहत आरोप लगाकर मुकदमा चलाया जा सकता था

ipc ki dhara 497 me ise paribhashit karte hue kaha gaya hai agar koi mard kisi dusri shaadi shuda aurat ke saath uski sahmati se sharirik sambandh banata hai toh pati ki shikayat par is mamle me purush ko adalati kanoon ke tahat aarop lagakar mukadma chalaya ja sakta tha

आईपीसी की धारा 497 में इसे परिभाषित करते हुए कहा गया है अगर कोई मर्द किसी दूसरी शादी शुदा

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  433
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!