धारा 170 क्या है विस्तार में बताये?...


user
0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार भारतीय दंड संहिता संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पद को लोक सेवक की नाते धारण करने का उपदेश यह जानते हुए करेगा कि वह ऐसा पद धारण नहीं करता है या ऐसा पद धारण करने वाले किसी अन्य व्यक्ति का फोटो प्रति रोपण करेगा और ऐसे बनावटी रूप में ऐसे पदार्थ से कोई कार्य करेगा या करने का प्रयत्न करेगा तो उसे किसी एक अवधि

bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar bharatiya dand sanhita sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishisht pad ko lok sevak ki naate dharan karne ka updesh yah jante hue karega ki vaah aisa pad dharan nahi karta hai ya aisa pad dharan karne waale kisi anya vyakti ka photo prati ropan karega aur aise banavati roop me aise padarth se koi karya karega ya karne ka prayatn karega toh use kisi ek awadhi

भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार भारतीय दंड संहिता संहिता की धारा 170 के अनुसार जो

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  242
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि धारा 170 क्या है तो मैं आपको बता दूं कि भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पद को लोक सेवक के नाते धारण करने का उपदेश यह जानते हुए करेगा कि वह ऐसा पद धारण नहीं करता है ऐसा प्रदान करने वाले किसी अन्य व्यक्ति का कोट प्रतिरूपण करेगा और ऐसे बनावटी रूप में ऐसे पदार्थ से कोई कार्य करेगा या करने का प्रयत्न करेगा तो उसे किसी एक कारावास जिसे 2 वर्षों तक बढ़ाया जा सकता है या आर्थिक दंड या दोनों से दंडित किया जाएगा

aapne poocha hai ki dhara 170 kya hai toh main aapko bata doon ki bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishisht pad ko lok sevak ke naate dharan karne ka updesh yah jante hue karega ki vaah aisa pad dharan nahi karta hai aisa pradan karne waale kisi anya vyakti ka coat pratiroopan karega aur aise banavati roop me aise padarth se koi karya karega ya karne ka prayatn karega toh use kisi ek karavas jise 2 varshon tak badhaya ja sakta hai ya aarthik dand ya dono se dandit kiya jaega

आपने पूछा है कि धारा 170 क्या है तो मैं आपको बता दूं कि भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अ

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  424
WhatsApp_icon
user

Afran Khan

Teacher

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न धारा 170 क्या है विस्तार में बताएं भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पद को लेकर लोक सेवक के नाते धारण करने का उपदेश जानते हुए करेगा कि वह ऐसा साथ धारण ना कर नहीं करता है यह सा पद धारण है जिसके करने वाले किसी अन्य व्यक्ति का पुटपरती रोपण करेगा और ऐसे बनाती रूप में ऐसे पद आभास से कोई कार्य करेगा या कटने का प्रथम करेगा तो उसे किसी एक और थी है

aapka prashna dhara 170 kya hai vistaar me bataye bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishisht pad ko lekar lok sevak ke naate dharan karne ka updesh jante hue karega ki vaah aisa saath dharan na kar nahi karta hai yah sa pad dharan hai jiske karne waale kisi anya vyakti ka putaprati ropan karega aur aise banati roop me aise pad aabhas se koi karya karega ya katane ka pratham karega toh use kisi ek aur thi hai

आपका प्रश्न धारा 170 क्या है विस्तार में बताएं भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  487
WhatsApp_icon
user
0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी इस इस पद को लोक सेवक के नाते धारण करने का उपदेश यह जानते हुए करेगा कि वह ऐसा पद धारण नहीं करता है या ऐसा पद धारण करने वाले किसी अन्य व्यक्ति का कूट प्रतिरूपण करेगा और ऐसे बनाती ग्रुप में ऐसे प्रभात से कोई कार्य करेगा या करने का प्रयत्न करेगा तो उसे किसी एक अवधि के लिए हटाया जा सकता है यह धारा 170

bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi is is pad ko lok sevak ke naate dharan karne ka updesh yah jante hue karega ki vaah aisa pad dharan nahi karta hai ya aisa pad dharan karne waale kisi anya vyakti ka kut pratiroopan karega aur aise banati group me aise prabhat se koi karya karega ya karne ka prayatn karega toh use kisi ek awadhi ke liye hataya ja sakta hai yah dhara 170

भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी इस इस पद को लोक सेवक के नाते धारण क

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  980
WhatsApp_icon
user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धारा 170 क्या है तो मैं आपको बताना चाहता हूं भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पद को लोक सेवक के नाते धारण करने का आदेश यह जानते हुए करेगा कि वह इसका फायदा नहीं करता है तो यह ऐसा प्रदान करने वाले किसी अन्य व्यक्ति का कूट प्रतिरूपण करेगा और ऐसे बनावटी रूप से कैसे पधारे बाद से कोई कार्य करेगा परित करेगा तो उसे किसी भी एक अवधि के लिए दंड दिया जाएगा

dhara 170 kya hai toh main aapko batana chahta hoon bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishisht pad ko lok sevak ke naate dharan karne ka aadesh yah jante hue karega ki vaah iska fayda nahi karta hai toh yah aisa pradan karne waale kisi anya vyakti ka kut pratiroopan karega aur aise banavati roop se kaise padhare baad se koi karya karega parit karega toh use kisi bhi ek awadhi ke liye dand diya jaega

धारा 170 क्या है तो मैं आपको बताना चाहता हूं भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1892
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धारा 170 क्या है विस्तार में बताएं आईपीसी की धारा 170 प्रदान किया गया है कि कोई भी व्यक्ति जो लोकसभा के पद पर नहीं है आज का भेष बनाकर समाज में कोई ऐसा काम करता है जिस जिस में वह नहीं है और यह बताता कि मैं इस सेवा में हूं और लोग उठ सकता है लोगों को परेशान करता है उसके विरोध या काले धारा लगाई जाती है यह एक संगे अपराध इसमें जमानत नहीं होती

dhara 170 kya hai vistaar me bataye ipc ki dhara 170 pradan kiya gaya hai ki koi bhi vyakti jo lok sabha ke pad par nahi hai aaj ka bhesh banakar samaj me koi aisa kaam karta hai jis jis me vaah nahi hai aur yah batata ki main is seva me hoon aur log uth sakta hai logo ko pareshan karta hai uske virodh ya kaale dhara lagayi jaati hai yah ek SANGE apradh isme jamanat nahi hoti

धारा 170 क्या है विस्तार में बताएं आईपीसी की धारा 170 प्रदान किया गया है कि कोई भी व्यक्ति

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  1015
WhatsApp_icon
user

MD MUSHTAK

Teacher

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धारा 170 में यह बताया गया है कि किसी भी राज्य की विधानसभा में 500 से ज्यादा सदस्य नहीं हो सकता उसी तरह से कम सदस्य भी नहीं हो सकते

dhara 170 me yah bataya gaya hai ki kisi bhi rajya ki vidhan sabha me 500 se zyada sadasya nahi ho sakta usi tarah se kam sadasya bhi nahi ho sakte

धारा 170 में यह बताया गया है कि किसी भी राज्य की विधानसभा में 500 से ज्यादा सदस्य नहीं हो

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  79
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पद को लोकपाल के नाते धारण करने का उद्देश्य जानते हुए करेगा कि वह ऐसा बहुत धारण नहीं करता है यह सब बहुत धारण करने वाला किसी अन्य व्यक्ति का कुलपति रोपण करेगा और इसे बनावती रूप में ऐसे दवा से कोई कार्य करेगा या करने का प्रयत्न करेगा तो उसे किसी एक अवधि दिया जाएगा

bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishisht pad ko lokpal ke naate dharan karne ka uddeshya jante hue karega ki vaah aisa bahut dharan nahi karta hai yah sab bahut dharan karne vala kisi anya vyakti ka kulapati ropan karega aur ise banavati roop me aise dawa se koi karya karega ya karne ka prayatn karega toh use kisi ek awadhi diya jaega

भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पद को लोकपाल के नाते धारण क

Romanized Version
Likes  49  Dislikes    views  1399
WhatsApp_icon
user
0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धारा 170 क्या है का आंसर है भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पौधे को लोक सेवक के नीति धारण करने का आदेश या जानते हुए करेगा कि वह ऐसा पद धारण नहीं करता है या ऐसा पद धारण करने वाले किसी अन्य व्यक्ति को खुद प्रतिरूपण करेगा और ऐसे बनाती रूप में ऐसे पद आभास से कोई कार्य करेगा या करने का प्रयत्न करेगा तो उसे किसी एक अवधि के लिए दंड दिया जाएगा

dhara 170 kya hai ka answer hai bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishisht paudhe ko lok sevak ke niti dharan karne ka aadesh ya jante hue karega ki vaah aisa pad dharan nahi karta hai ya aisa pad dharan karne waale kisi anya vyakti ko khud pratiroopan karega aur aise banati roop me aise pad aabhas se koi karya karega ya karne ka prayatn karega toh use kisi ek awadhi ke liye dand diya jaega

धारा 170 क्या है का आंसर है भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  915
WhatsApp_icon
user

Ami sarswat

College Lect.,Business Owner

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न धारा 170 क्या है विस्तार से बताइए भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशिष्ट पद को लोक सेवक के नाते धारण करने का उपदेश यह जानते हुए करेगा कि वह सा पद धारण नहीं करता है या ऐसा प्रदान करने वाले किसी अन्य व्यक्ति का कूट प्रतिरूपण करेगा और ऐसे बनावटी रूप में ऐसे पदार्थ से कोई कार्य करेगा या करने का प्रयत्न करेगा तो उसे किसी एक अवधि के लिए कारावास जिसे 2 वर्ष तक बढ़ाया जा सकता है या आर्थिक दंड या दोनों से दंडित किया जा सकता है धन्यवाद जय हिंद जय भारत

aapka prashna dhara 170 kya hai vistaar se bataiye bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishisht pad ko lok sevak ke naate dharan karne ka updesh yah jante hue karega ki vaah sa pad dharan nahi karta hai ya aisa pradan karne waale kisi anya vyakti ka kut pratiroopan karega aur aise banavati roop me aise padarth se koi karya karega ya karne ka prayatn karega toh use kisi ek awadhi ke liye karavas jise 2 varsh tak badhaya ja sakta hai ya aarthik dand ya dono se dandit kiya ja sakta hai dhanyavad jai hind jai bharat

आपका प्रश्न धारा 170 क्या है विस्तार से बताइए भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भ

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  549
WhatsApp_icon
play
user
0:22

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका जवाब होगा भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशेष पद को लोक सेवक ने नाते धारण करने का आदेश यह जानते हुए करेगा कि वह ऐसा पधारे नहीं करता उस पर धारा 170 लगाया जाता है

aapka jawab hoga bharatiya dand sanhita ki dhara 170 ke anusaar jo bhi koi kisi vishesh pad ko lok sevak ne naate dharan karne ka aadesh yah jante hue karega ki vaah aisa padhare nahi karta us par dhara 170 lagaya jata hai

आपका जवाब होगा भारतीय दंड संहिता की धारा 170 के अनुसार जो भी कोई किसी विशेष पद को लोक सेवक

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  1035
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!