बृहस्पतिवार व्रत उद्यापन की विधि हिंदी में बताये?...


user

NARGIS RAHMAN

Professor

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है बृहस्पतिवार के व्रत का उद्यापन की विधि हिंदी में बताए थे इसका जवाब दीजिए बृहस्पतिवार के व्रत किताब है उसकी विधि है उसमें हर एक चीज पीले रंग की होनी चाहिए आपका वस्तु को पीला होना चाहिए खाने में जो खाएंगे चावल भी आपका पीला रंग का होता है अब आप जो भी दान करेंगे वह भी आपका पीले रखा होता है तो इसका मान्यता माना जाता धन्यवाद

aapka sawaal hai brehaspativar ke vrat ka udyaapan ki vidhi hindi me bataye the iska jawab dijiye brehaspativar ke vrat kitab hai uski vidhi hai usme har ek cheez peele rang ki honi chahiye aapka vastu ko peela hona chahiye khane me jo khayenge chawal bhi aapka peela rang ka hota hai ab aap jo bhi daan karenge vaah bhi aapka peele rakha hota hai toh iska manyata mana jata dhanyavad

आपका सवाल है बृहस्पतिवार के व्रत का उद्यापन की विधि हिंदी में बताए थे इसका जवाब दीजिए बृहस

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  753
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां बृहस्पतिवार व्रत रखते हैं उस दिन आपको पीली वस्तु दान में देनी होती है अगर आप उसका उद्यापन करते हैं पर कन्याओं को भोजन करवाकर और पीली वस्तु ही आपने पहननी होती रिप्लाई आपने खाना होता

haan brehaspativar vrat rakhte hain us din aapko pili vastu daan me deni hoti hai agar aap uska udyaapan karte hain par kanyaon ko bhojan karvakar aur pili vastu hi aapne pahananee hoti reply aapne khana hota

हां बृहस्पतिवार व्रत रखते हैं उस दिन आपको पीली वस्तु दान में देनी होती है अगर आप उसका उद्य

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  826
WhatsApp_icon
user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पर्सनल बस पति वार व्रत उद्यापन की विधि हिंदी में बताए तो मैं आपको बताना चाहता हूं इस व्रत का उद्यापन करने के लिए सुबह समय से उठकर तैयार हो जाएं और पूजा घर में गंगाजल को छिड़ककर अच्छे से साफ कर लें और ध्यान रखें कि पीली ही बस्ती रे बस्ती पहने पूजा कर को साफ करने के बाद या अलग से आसन लगाकर उस पर भगवान विष्णु की प्रतिमा को स्थापित करते हो उसके बाद आप महिमा व्रत कथा आरती और उद्यापन कर सकते हैं

namaskar aapka personal bus pati war vrat udyaapan ki vidhi hindi me bataye toh main aapko batana chahta hoon is vrat ka udyaapan karne ke liye subah samay se uthakar taiyar ho jayen aur puja ghar me gangajal ko chidakakar acche se saaf kar le aur dhyan rakhen ki pili hi basti ray basti pehne puja kar ko saaf karne ke baad ya alag se aasan lagakar us par bhagwan vishnu ki pratima ko sthapit karte ho uske baad aap mahima vrat katha aarti aur udyaapan kar sakte hain

नमस्कार आपका पर्सनल बस पति वार व्रत उद्यापन की विधि हिंदी में बताए तो मैं आपको बताना चाहता

Romanized Version
Likes  112  Dislikes    views  976
WhatsApp_icon
user

Sunil

Teacher

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो बृहस्पति के व्रत होते हैं वह भगवान सत्यनारायण जी के होते हैं और इसका उद्यापन जो है वह आप कर सकते हैं इसके लिए जो है आपको किसी पंडित या किसी जो है महाराज से सलाह लेनी होगी और आपको पूरे विधि-विधान के साथ वह आपका अध्यापन करवा देंगे

likhe jo brihaspati ke vrat hote hain vaah bhagwan satyanarayana ji ke hote hain aur iska udyaapan jo hai vaah aap kar sakte hain iske liye jo hai aapko kisi pandit ya kisi jo hai maharaj se salah leni hogi aur aapko poore vidhi vidhan ke saath vaah aapka adhyapan karva denge

लिखे जो बृहस्पति के व्रत होते हैं वह भगवान सत्यनारायण जी के होते हैं और इसका उद्यापन जो है

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  541
WhatsApp_icon
user
0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुजरात पति वार व्रत उद्यापन की विधि इस प्रकार है एक लोटे में जल रख लीजिए उसमें थोड़ा हल्दी डालकर विष्णु भगवान जी आज केले के पेड़ की जड़ को अदनान कर आइए अब उसी लौट में गुड़ एवं चने की दाल दाल के रख लीजिए और अगर आप केले के पेड़ की पूजा कर रहे हैं तो उसी पर चढ़ा दीजिए सी लकड़ी है भगवान का हल्दी या चंदन से पीला चावल जरुर चढ़ाएं घी का दीपक जलाएं तथा पढ़िए

gujarat pati war vrat udyaapan ki vidhi is prakar hai ek lote me jal rakh lijiye usme thoda haldi dalkar vishnu bhagwan ji aaj kele ke ped ki jad ko adnan kar aaiye ab usi lot me good evam chane ki daal daal ke rakh lijiye aur agar aap kele ke ped ki puja kar rahe hain toh usi par chadha dijiye si lakdi hai bhagwan ka haldi ya chandan se peela chawal zaroor chadhaen ghee ka deepak jalaen tatha padhiye

गुजरात पति वार व्रत उद्यापन की विधि इस प्रकार है एक लोटे में जल रख लीजिए उसमें थोड़ा हल्दी

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  560
WhatsApp_icon
user
0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सस्ता वनस्पति वर्धापन के विधि आपने पूछा था ससुरा में आपको बता दो बस पति वार का व्रत का उद्यापन का मतलब होता है उसको आप खत्म करना है तो आपको इसके लिए केले के पेड़ के पास जाकर पीले कपड़े में आपसे अर्चना बकरा बांध के उसके आदेश का पूजन करें उसके दूसरे दिन आप नमक खा ले धन्यवाद

sasta vanaspati vardhapan ke vidhi aapne poocha tha sasura me aapko bata do bus pati war ka vrat ka udyaapan ka matlab hota hai usko aap khatam karna hai toh aapko iske liye kele ke ped ke paas jaakar peele kapde me aapse archna bakara bandh ke uske aadesh ka pujan kare uske dusre din aap namak kha le dhanyavad

सस्ता वनस्पति वर्धापन के विधि आपने पूछा था ससुरा में आपको बता दो बस पति वार का व्रत का उद्

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  403
WhatsApp_icon
play
user
0:19

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका जवाब होगा बृहस्पति व्रत कथा के बाद उपले पर हवन करें गाय के उपले पर घी डालकर अग्नि प्रज्वलित कर ले उस पर हवन सामग्री डाले और गुरु वचनों की आहुति दें

aapka jawab hoga brihaspati vrat katha ke baad upale par hawan kare gaay ke upale par ghee dalkar agni prajwalit kar le us par hawan samagri dale aur guru vachano ki aahutee de

आपका जवाब होगा बृहस्पति व्रत कथा के बाद उपले पर हवन करें गाय के उपले पर घी डालकर अग्नि प्र

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  767
WhatsApp_icon
user

Pushpanjali

Teacher & Carrier Cunsultancy

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तो आपने मुझसे पूछा है बृहस्पति व्रत का उद्यापन की विधि हिंदी में बताइए तब आपको बताना चाहूंगी दोस्तों बृहस्पति की व्रत की उद्यापन कैसे होती है अब आप क्या कीजिए केला का केले के पत्ते केला का पेड़ होता है उसमें क्या करना है आपको कि पीला कपड़ा में चावल चना का दाल और मीठा गोरिया बता चावल चना का दाल गोरख इसको लेकर बांध के एमएलए पुतली देसी बनाकर और इच्छा और केले के पेड़ में उसको बांध बना है फिर क्या करना है व्याख्या बांध देंगे वहीं पर बैठकर आपको कथा कहनी है बस पति भगवान की कथा कहकर भगवान् से आशीर्वाद लेकर उसके बाद उस दिन आप नमक खा लीजिए इस तरह का बस पति भगवान की प्रतिमा की भर्ती जो होती है उसका उद्यापन हो जाता है धन्यवाद

hello doston aapne mujhse poocha hai brihaspati vrat ka udyaapan ki vidhi hindi me bataiye tab aapko batana chahungi doston brihaspati ki vrat ki udyaapan kaise hoti hai ab aap kya kijiye kela ka kele ke patte kela ka ped hota hai usme kya karna hai aapko ki peela kapda me chawal chana ka daal aur meetha goriya bata chawal chana ka daal gorakh isko lekar bandh ke mla putali desi banakar aur iccha aur kele ke ped me usko bandh bana hai phir kya karna hai vyakhya bandh denge wahi par baithkar aapko katha kahani hai bus pati bhagwan ki katha kehkar bhagwan se ashirvaad lekar uske baad us din aap namak kha lijiye is tarah ka bus pati bhagwan ki pratima ki bharti jo hoti hai uska udyaapan ho jata hai dhanyavad

हेलो दोस्तो आपने मुझसे पूछा है बृहस्पति व्रत का उद्यापन की विधि हिंदी में बताइए तब आपको बत

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  725
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
गुरुवार व्रत उद्यापन विधि ; बृहस्पतिवार व्रत कथा उद्यापन ; बृहस्पतिवार व्रत उद्यापन विधि इन हिंदी ; बृहस्पति व्रत उद्यापन विधि इन हिंदी ; गुरुवार का उद्यापन कब करना चाहिए ; guruvar vrat ka udyapan kaise karen ; बृहस्पतिवार व्रत का उद्यापन कैसे करें ; brihaspati vrat udyapan vidhi in hindi ; गुरुवार व्रत के उद्यापन की विधि ; brihaspativar udyapan vidhi ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!