भारतेन्दु युग की विशेषता इन हिंदी बताये?...


user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दस मसाले भारतेंदु युग की विशेषता इन हिंदी का प्रश्न पूछ सकती और श्रृंगार पर रचनाएं होती थी और लक्षण ग्रंथ में भी लिखे जाते थे

das masale bharatendu yug ki visheshata in hindi ka prashna puch sakti aur shringar par rachnaye hoti thi aur lakshan granth me bhi likhe jaate the

दस मसाले भारतेंदु युग की विशेषता इन हिंदी का प्रश्न पूछ सकती और श्रृंगार पर रचनाएं होती थी

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  1265
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी साहित्य के इतिहास में आधुनिक काल के प्रथम चरण को भारतीय की संज्ञा प्रदान की गई और भारतेंदु हरिश्चंद्र को हिंदी साहित्य के आधुनिक युग का प्रतिनिधि माना जाता है भारतीय का व्यक्तित्व प्रभावशाली था के संपादक और संगठन करता था और वे सरकारों की नेता और समाज को दिशा देने वाले दृश्य दिखाएं दिशा देने वाले सुधारवादी विचारक थे अब अगर हम बात करें इस काल में हिंदी के प्रचार में जिन पत्र-पत्रिकाओं ने विशेष योगदान उनमें उद्यान मर्दन कवि वचन सुधा हरिश्चंद्र मैगजीन अग्रणी है

hindi sahitya ke itihas me aadhunik kaal ke pratham charan ko bharatiya ki sangya pradan ki gayi aur bharatendu harishchandra ko hindi sahitya ke aadhunik yug ka pratinidhi mana jata hai bharatiya ka vyaktitva prabhavshali tha ke sampadak aur sangathan karta tha aur ve sarkaro ki neta aur samaj ko disha dene waale drishya dikhaen disha dene waale sudharvadi vicharak the ab agar hum baat kare is kaal me hindi ke prachar me jin patra patrikaon ne vishesh yogdan unmen udyan mardan kavi vachan sudha harishchandra magazine agranee hai

हिंदी साहित्य के इतिहास में आधुनिक काल के प्रथम चरण को भारतीय की संज्ञा प्रदान की गई और भा

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  965
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतेंदु युग की विशेषता विशेषताएं हैं प्रकृति के रूपों का वर्णन और कानून प्रस्तुत अभिव्यक्ति की प्रवृत्ति प्रबंध है किंतु इस काल का सिंगार रीतिकाल के सिंगार जैसा नाम जानना होगा प्रस्तुति का सिंगार है धन्यवाद

bharatendu yug ki visheshata visheshtayen hain prakriti ke roopon ka varnan aur kanoon prastut abhivyakti ki pravritti prabandh hai kintu is kaal ka shingar ritikal ke shingar jaisa naam janana hoga prastuti ka shingar hai dhanyavad

भारतेंदु युग की विशेषता विशेषताएं हैं प्रकृति के रूपों का वर्णन और कानून प्रस्तुत अभिव्यक्

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  962
WhatsApp_icon
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार गुड इवनिंग में अपने एक प्रश्न किया है आपने पूछा है भारतेंदु युग की विशेषताएं बताएं आधुनिक काल की गई है भारतेंदु हरिश्चंद्र को हिंदी साहित्य के आधुनिक युग की प्रतिनिधि माना जाता है भारतेंदु का व्यक्तित्व भाग्य प्रभावशाली थे संपादक और संगठन करते थे साहित्यकारों के नेता और समाज के दिशा देने वाले सुधारवादी विचारक थी

namaskar good evening me apne ek prashna kiya hai aapne poocha hai bharatendu yug ki visheshtayen bataye aadhunik kaal ki gayi hai bharatendu harishchandra ko hindi sahitya ke aadhunik yug ki pratinidhi mana jata hai bharatendu ka vyaktitva bhagya prabhavshali the sampadak aur sangathan karte the sahityakaron ke neta aur samaj ke disha dene waale sudharvadi vicharak thi

नमस्कार गुड इवनिंग में अपने एक प्रश्न किया है आपने पूछा है भारतेंदु युग की विशेषताएं बताएं

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  471
WhatsApp_icon
user
0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछा गया प्रश्न भारतेंदु युग की विशेषता इन हिंदी में बताएं तो बता दे दोस्तों प्रारंभ के 25 वर्ष 1843 से 869 साहित्य पर यह प्रभाव बहुत कम परंतु सन 18 सो 68 के बाद नवजागरण के लक्षण अधिक स्पष्ट रूप से देखने दिखाई देने लगे थे विचारों में इस परिवर्तन का श्रेय भारतेंदु हरिश्चंद्र को है इसलिए इस युग को भारतेंदु युग कहते हैं

aapka poocha gaya prashna bharatendu yug ki visheshata in hindi me bataye toh bata de doston prarambh ke 25 varsh 1843 se 869 sahitya par yah prabhav bahut kam parantu san 18 so 68 ke baad navjagran ke lakshan adhik spasht roop se dekhne dikhai dene lage the vicharon me is parivartan ka shrey bharatendu harishchandra ko hai isliye is yug ko bharatendu yug kehte hain

आपका पूछा गया प्रश्न भारतेंदु युग की विशेषता इन हिंदी में बताएं तो बता दे दोस्तों प्रारंभ

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1631
WhatsApp_icon
play
user
0:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ने पूछा कि भारतेंदु युग की विशेषता क्या है तो दोस्तों तत्कालीन परिवर्तनशील सामाजिक मूल्यों का भी उन पर प्रभाव पड़ रहा है इस युग की अधिकांश कविता वस्तुनिष्ठ एवं वर्णनात्मक है छंद भाषा एवं अभिव्यंजना प्रतिनिधि में प्राचीनता अधिक है नवीनता कम खड़ी बोली का आंदोलन प्रारंभ हो चुका था किंतु कविता के क्षेत्र में ब्रज ही सर्वमान्य भाषा रही थी

ne poocha ki bharatendu yug ki visheshata kya hai toh doston tatkalin parivartanshil samajik mulyon ka bhi un par prabhav pad raha hai is yug ki adhikaansh kavita vastunisth evam varnanaatmak hai chhand bhasha evam abhivyanjana pratinidhi me praachinata adhik hai navinata kam khadi boli ka andolan prarambh ho chuka tha kintu kavita ke kshetra me braj hi sarvmanya bhasha rahi thi

ने पूछा कि भारतेंदु युग की विशेषता क्या है तो दोस्तों तत्कालीन परिवर्तनशील सामाजिक मूल्यों

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  2636
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
bhartendu yug ki visheshtaen ; भारतेन्दु युग की विशेषता ; bhartendu yug ki visheshta ; bhartendu yug ki visheshtaye ; भारतेंदु युग की विशेषताएं लिखिए ; भारतेंदु युग की प्रमुख विशेषताएं ; भारतेंदु युग की प्रमुख विशेषताएं बताइए ; bhartendu yug ki visheshta bataye ; भारतेंदु युग की विशेषताएं बताइए ; bhartendu yug ki sahityik visheshta ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!