बद्रीनाथ धाम का महत्व क्या है?...


user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम स्टाफ को पर्सनल बद्रीनाथ धाम का महत्व क्या तुम आपको बताना चाहता हूं बद्रीनाथ धाम हमारे छोटे चार धामों में से आता है इसमें भगवान बद्री का साक्षात रूप में विराजमान है उनकी पूजा की जाती जानू में बद्रीनाथ में बहुत बर्फ गिरती है अब हां पर जाना पॉसिबल नहीं हो पाता है पति नाथ काफी ऊंचाई पर स्थित है और एक कहावत है कि जो भी जाए बद्री कभी ना हो जाए

hum staff ko personal badrinath dhaam ka mahatva kya tum aapko batana chahta hoon badrinath dhaam hamare chote char dhamo me se aata hai isme bhagwan badri ka sakshat roop me viraajamaan hai unki puja ki jaati janu me badrinath me bahut barf girti hai ab haan par jana possible nahi ho pata hai pati nath kaafi unchai par sthit hai aur ek kahaavat hai ki jo bhi jaaye badri kabhi na ho jaaye

हम स्टाफ को पर्सनल बद्रीनाथ धाम का महत्व क्या तुम आपको बताना चाहता हूं बद्रीनाथ धाम हमारे

Romanized Version
Likes  110  Dislikes    views  1401
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Gautam

Teacher

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब प्रश्न यह है कि बद्रीनाथ धाम का महत्व क्या तो जियान देखिए हिंदू धर्म का एक महत्वपूर्ण था में बद्रीनाथ जो उत्तराखंड में देवभूमि नाम का जाना जाता है इसका कारण है कि मंदिर और भाभी साल में छोटी चार धाम यात्रा 7 मई शुरू से हो चुकी है उनकी हां दोस्तों पुरानी पुरानी कथाओं के अनुसार जब ऋषि भागीरथ की तपस्या के फलस्वरूप स्वर्ग की नदी मां गंगा का पृथ्वी पर अवतरण अवतरण होना था तो उनका विवेक बहुत अधिक था इस व्यक्ति प्रीति कासना सो सकती थी इस क्रम में के लिए भगवान शिव ने गंगा को अपनी जटा में स्थान दिया लेकिन तब भी इसका वेग अधिक था इस पर गंगा 12 अलग-अलग धाराओं में विचार / हुई और इन नदियों को अलग-अलग नाम दिए गए जी हां यही बद्रीनाथ की विशेष महत्व है

ab prashna yah hai ki badrinath dhaam ka mahatva kya toh jiyan dekhiye hindu dharm ka ek mahatvapurna tha me badrinath jo uttarakhand me devbhumi naam ka jana jata hai iska karan hai ki mandir aur bhabhi saal me choti char dhaam yatra 7 may shuru se ho chuki hai unki haan doston purani purani kathao ke anusaar jab rishi bhagirath ki tapasya ke phalswarup swarg ki nadi maa ganga ka prithvi par avataran avataran hona tha toh unka vivek bahut adhik tha is vyakti preeti kasana so sakti thi is kram me ke liye bhagwan shiv ne ganga ko apni jata me sthan diya lekin tab bhi iska veg adhik tha is par ganga 12 alag alag dharaon me vichar hui aur in nadiyon ko alag alag naam diye gaye ji haan yahi badrinath ki vishesh mahatva hai

अब प्रश्न यह है कि बद्रीनाथ धाम का महत्व क्या तो जियान देखिए हिंदू धर्म का एक महत्वपूर्ण थ

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
user
0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बद्रीनाथ धाम का पौराणिक महत्व है स्वैग से पृथ्वी तहस-नहस हो सकती थी इस काम करने के लिए भगवान शिव ने गंगा को अपनी जटाओं में स्थान दिया लेकिन तब भी इसकी बैग अधिक था इस पर गंगा 12 अलग-अलग धाराओं / हुई और इन नदियों को अलग-अलग नाम दिए गए अलकनंदा भी इन्हीं में से एक नदी है

badrinath dhaam ka pouranik mahatva hai swag se prithvi tahas nahas ho sakti thi is kaam karne ke liye bhagwan shiv ne ganga ko apni jataon me sthan diya lekin tab bhi iski bag adhik tha is par ganga 12 alag alag dharaon hui aur in nadiyon ko alag alag naam diye gaye alaknanda bhi inhin me se ek nadi hai

बद्रीनाथ धाम का पौराणिक महत्व है स्वैग से पृथ्वी तहस-नहस हो सकती थी इस काम करने के लिए भगव

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  250
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस बैक से पृथ्वी तहत नहीं हो सकती कि इसे कम करने के लिए भगवान शिव ने गंगा को अपनी जटाओं में स्थान दिया लेकिन तभी इसका बैग अधिकता इस पर गंगा 12 अलग-अलग धाराओं / हुई और इन नदियों को अलग-अलग नाम दिया गया अलका नंदा भी इन्हीं में से एक नदी है

is back se prithvi tahat nahi ho sakti ki ise kam karne ke liye bhagwan shiv ne ganga ko apni jataon me sthan diya lekin tabhi iska bag adhikata is par ganga 12 alag alag dharaon hui aur in nadiyon ko alag alag naam diya gaya alka nanda bhi inhin me se ek nadi hai

इस बैक से पृथ्वी तहत नहीं हो सकती कि इसे कम करने के लिए भगवान शिव ने गंगा को अपनी जटाओं मे

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  770
WhatsApp_icon
play
user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

0:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्न पत्र रामधाम का क्या महत्व है नमस्ते दोस्तों क्षमा चाहूंगा बदनाम हमारी हिंदू में भगवान भोलेनाथ का एक महत्वपूर्ण धाम है जो ऋषिकेश में उत्तराखंड में बद्रीनाथ धाम भगवान भोलेनाथ का एक प्रसिद्ध आम आदमी एक साल में लगभग 300 शर्मा ठंडी कर्म बंद रहता है और जब भारत दिया महादेव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक प्रमुख लेंगे

aapke prashna patra ramdham ka kya mahatva hai namaste doston kshama chahunga badnaam hamari hindu me bhagwan bholenaath ka ek mahatvapurna dhaam hai jo rishikesh me uttarakhand me badrinath dhaam bhagwan bholenaath ka ek prasiddh aam aadmi ek saal me lagbhag 300 sharma thandi karm band rehta hai aur jab bharat diya mahadev ke 12 jyotirlingon me se ek pramukh lenge

आपके प्रश्न पत्र रामधाम का क्या महत्व है नमस्ते दोस्तों क्षमा चाहूंगा बदनाम हमारी हिंदू मे

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1112
WhatsApp_icon
user

vikash

Teacher

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बद्रीनाथ धाम का महत्त्व

badrinath dhaam ka mahatva

बद्रीनाथ धाम का महत्त्व

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  745
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!