अवधी भाषा की विशेषता क्या है बताये?...


user

Sunil

Teacher

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखिए अब दी जो है वह हिंदी क्षेत्र की एक उपभाषा है यह उत्तर प्रदेश के अवध क्षेत्र में बोली जाती है जैसे लखनऊ रायबरेली उन्नाव सुल्तानपुर हरदोई लखीमपुर खीरी अयोध्या आदि जगह यह अवधि भाषा बोली जाती है

likhiye ab di jo hai vaah hindi kshetra ki ek upbhasa hai yah uttar pradesh ke awadh kshetra me boli jaati hai jaise lucknow raebareli unnaav sultanpur hardoi lakhimpur Kheeri ayodhya aadi jagah yah awadhi bhasha boli jaati hai

लिखिए अब दी जो है वह हिंदी क्षेत्र की एक उपभाषा है यह उत्तर प्रदेश के अवध क्षेत्र में बोली

Romanized Version
Likes  151  Dislikes    views  2828
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अवधी हिंदी चित्र की एक उपभाषा है या उत्तर प्रदेश के अवध क्षेत्र लखनऊ रायबरेली से सुल्तानपुर बाराबंकी उन्नाव हरदोई सीतापुर अलीमपुर अयोध्या जौनपुर प्रतापगढ़ प्रयागराज कौशांबी अंबेडकर नगर गोंडा बस्ती बहराइच बलरामपुर सिद्धार्थनगर आश्रम श्रावस्ती तथा फतेहपुर में बोली जाती है इसके अतिरिक्त इसकी एक शाखा बघेलखंड में बघेली नाम से प्रचलित है अवध की अयोध्या से है इस नाम का एक सुबह के राज्य काल में तुलसीदास ने अपने मानस में अयोध्या को अवधपुरी कहा है इसी क्षेत्र का पुराना नाम कौशल भी था जिसकी महत्ता प्राचीन का से चली आ रही है

awadhi hindi chitra ki ek upbhasa hai ya uttar pradesh ke awadh kshetra lucknow raebareli se sultanpur barabanki unnaav hardoi sitapur alimpur ayodhya jaunpur pratapgadh prayagraj kaushambi ambedkar nagar gonda basti bahraich balrampur Siddharthnagar ashram Shravasti tatha fatehpur me boli jaati hai iske atirikt iski ek shakha baghelakhand me bagheli naam se prachalit hai awadh ki ayodhya se hai is naam ka ek subah ke rajya kaal me tulsidas ne apne manas me ayodhya ko avadhpuri kaha hai isi kshetra ka purana naam kaushal bhi tha jiski mahatta prachin ka se chali aa rahi hai

अवधी हिंदी चित्र की एक उपभाषा है या उत्तर प्रदेश के अवध क्षेत्र लखनऊ रायबरेली से सुल्तानपु

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  393
WhatsApp_icon
play
user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

1:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी खासा हिंदी क्षेत्र की भाषा है उत्तर प्रदेश में जौनपुर लखनऊ सुलतानपुर उन्नाव हरदोई सीतापुर लखीमपुर फैजाबाद प्रतापगढ़ फतेहपुर मिर्जापुर आदि स्थानों पर अवधी भाषा का प्रयोग होता है भाषा हिंदी की भाषा है तथा अभिनाम क्षेत्र के कारण परिभाषा भक्ति काल में अपने प्रकाश पर पहुंची जब तुलसीदास का रामचरितमानस मलिक मोहम्मद जायसी का पद्मावत अमीर खुसरो के दोहे कबीर के दोहे कोविड-19 जी की दादी की रचना हुई नेपाल में भी अभिभाषक एचडी थोड़ा दुनिया के अंदर से मारे जाते ना घटे रे गोरी जी रामा श्री नाम सहित ऑस्ट्रेलिया न्यूजीलैंड व हॉल में भी लाखों की संख्या में अभी बोलने वाले लोग हैं जो रामायण में धारावाहिक से प्रीत रामायण का अंकन किया गया है तुलसीदास कृत रामचरितमानस सबसे सुंदर खंड सुंदरकांड एरिया बिपाशा का खूबसूरती से दिखाया गया

abhi khasa hindi kshetra ki bhasha hai uttar pradesh me jaunpur lucknow sulatanpur unnaav hardoi sitapur lakhimpur faizabad pratapgadh fatehpur mirzapur aadi sthano par awadhi bhasha ka prayog hota hai bhasha hindi ki bhasha hai tatha abhinam kshetra ke karan paribhasha bhakti kaal me apne prakash par pahuchi jab tulsidas ka ramcharitmanas malik muhammad jayasi ka padmavat amir khusro ke dohe kabir ke dohe kovid 19 ji ki dadi ki rachna hui nepal me bhi abhibhashak hd thoda duniya ke andar se maare jaate na ghate ray gori ji rama shri naam sahit austrailia new zealand va hall me bhi laakhon ki sankhya me abhi bolne waale log hain jo ramayana me dharawahik se prateet ramayana ka ankan kiya gaya hai tulsidas krit ramcharitmanas sabse sundar khand sundarakand area bipasha ka khoobsoorti se dikhaya gaya

अभी खासा हिंदी क्षेत्र की भाषा है उत्तर प्रदेश में जौनपुर लखनऊ सुलतानपुर उन्नाव हरदोई सीता

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1071
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!