अपठित गद्यांश का महत्व क्या है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपठित गद्यांश का महत्व क्या है तू उसके बारे में तो मैं यह कहना चाहूंगा कि दिए गए पाठ अपठित गद्यांश जो पढ़ाना गया होता है उसी को गद्यांश कहते हैं और अपठित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर उसको समझना ही उसका अपठित गद्यांश कहा जाता है अपठित गद्यांश मतलब जो पढ़ा ना होता है उसी का नूर सर उसको गद्यांश अकासाका जाता है और गद्यांश का महत्व होता कि जो गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर हमको सोच समझकर उसका पक्ष जानने के प्रयास करना चाहिए हमको उसका परिणाम मिलता है तो उसी प्रकार आम अपठित गद्यांश का महत्व भी निकाल सकते हैं तो यह मैं तेनु चांद के बारे में

aapthit gadhyansh ka mahatva kya hai tu uske bare me toh main yah kehna chahunga ki diye gaye path aapthit gadhyansh jo padhana gaya hota hai usi ko gadhyansh kehte hain aur aapthit gadhyansh ko dhyanapurvak padhakar usko samajhna hi uska aapthit gadhyansh kaha jata hai aapthit gadhyansh matlab jo padha na hota hai usi ka noor sir usko gadhyansh akasaka jata hai aur gadhyansh ka mahatva hota ki jo gadhyansh ko dhyanapurvak padhakar hamko soch samajhkar uska paksh jaanne ke prayas karna chahiye hamko uska parinam milta hai toh usi prakar aam aapthit gadhyansh ka mahatva bhi nikaal sakte hain toh yah main tenu chand ke bare me

अपठित गद्यांश का महत्व क्या है तू उसके बारे में तो मैं यह कहना चाहूंगा कि दिए गए पाठ अपठित

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:22

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों अपठित पद्यांश का अर्थ है वह कविता का अंश या कविता जोक्स पहले पड़ी ना गई हो अपठित पर दांत में किसी कविता का यह कम दिया जाता है तथा उस पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं इसे पढ़कर संबंधित पूछे गए प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं इससे छात्रों को कविता पढ़ने और समझने में क्षमता का विकास होता है

doston aapthit padyansh ka arth hai vaah kavita ka ansh ya kavita jokes pehle padi na gayi ho aapthit par dant me kisi kavita ka yah kam diya jata hai tatha us par aadharit prashna pooche jaate hain ise padhakar sambandhit pooche gaye prashnon ke uttar dene hote hain isse chhatro ko kavita padhne aur samjhne me kshamta ka vikas hota hai

दोस्तों अपठित पद्यांश का अर्थ है वह कविता का अंश या कविता जोक्स पहले पड़ी ना गई हो अपठित प

Romanized Version
Likes  176  Dislikes    views  3978
WhatsApp_icon
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है अपठित गद्यांश का महत्व क्या है अपठित गद्यांश यानी जिसे हम नहीं पढ़ते हैं वैसा गधा जिसे हम नहीं पढ़ते हैं और हमें वह चीजें समझ आ जाते हैं उसे अपठित गद्यांश का महत्व कहा जाता है

aapka prashna hai aapthit gadhyansh ka mahatva kya hai aapthit gadhyansh yani jise hum nahi padhte hain waisa gadha jise hum nahi padhte hain aur hamein vaah cheezen samajh aa jaate hain use aapthit gadhyansh ka mahatva kaha jata hai

आपका प्रश्न है अपठित गद्यांश का महत्व क्या है अपठित गद्यांश यानी जिसे हम नहीं पढ़ते हैं वै

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  33
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!