आदि काल की विशेषता इन हिंदी बताये?...


user

RAZIBUL ISLAM KHAN

Teacher- 10 Years experience in colleges as a assistant professor

0:38
Play

Likes  70  Dislikes    views  758
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने सवाल के आदिकाल की विशेषताएं इन हिंदी में बताएं तो देखी मैं आपको बता दूं हिंदी साहित्य के इतिहास में लगभग आठवीं सदी से लेकर चौधरी सदी के मध्य तक के काल को आदि काल कहा जाता है इस युग का नाम डॉ हजारी प्रसाद द्विवेदी से मिला है आचार्य रामचंद्र शुक्ल ने से वीरगाथा काल तथा विश्वनाथ प्रसाद मिश्र ने सेबी काल भी कहा है इस समय का साहित्य मुख्यत आचार्य को मिलता है सिद्ध साहित्य नाथ साहित्य जैन साहित्य चारणी साहित्य पर करण साहित्य

apne sawaal ke aadikaal ki visheshtayen in hindi me bataye toh dekhi main aapko bata doon hindi sahitya ke itihas me lagbhag aatthvi sadi se lekar choudhary sadi ke madhya tak ke kaal ko aadi kaal kaha jata hai is yug ka naam Dr. hazari prasad dwivedi se mila hai aacharya ramachandra shukla ne se veergatha kaal tatha vishwanath prasad mishra ne Sebi kaal bhi kaha hai is samay ka sahitya mukhyat aacharya ko milta hai siddh sahitya nath sahitya jain sahitya charni sahitya par karan sahitya

अपने सवाल के आदिकाल की विशेषताएं इन हिंदी में बताएं तो देखी मैं आपको बता दूं हिंदी साहित्य

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  1206
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

Likes  37  Dislikes    views  626
WhatsApp_icon
user

shreyansh

Teacher

1:01
Play

Likes  16  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:24
Play

Likes  340  Dislikes    views  2933
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  12  Dislikes    views  427
WhatsApp_icon
user

Prabhat Verma

primary teacher government of bihar

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि काल के साहित्य की विशेषता है कि आश्रय दाताओं की प्रशंसा होती थी इसका में कैबिनेट ने अपने आपदाओं के बढ़ा चढ़ाकर प्रशंसक की ऐतिहासिकता का भाव इन रचनाओं में इतिहास प्रसिद्ध चरित्र नायकों को दिया रिंगटोन कव्वाली ऐतिहासिक नहीं है इसके कार्यकलाप के चिट्टियां इतिहास से मेल नहीं खाते हैं और प्रमाणिक रचना है इस काल के रचनाओं की प्रमाणिकता संदिग्ध है 12 का सजीव वर्णन किस ग्रंथ में विश्व युद्ध और वीरता का वर्णन है कहीं वर्णन अत्यंत सजीव है क्योंकि वे कभी राजाओं के साथ युद्ध भूमि में एक सैनिक कितना भाग लेने वाले होते हैं संकुचित राष्ट्रीयता इस काल में रचना में राष्ट्रीयता का पूर्ण अभाव होता है तथा श्रृंगार रस का सिंह राशि का अच्छा समय में दिखाई पड़ता है

aadi kaal ke sahitya ki visheshata hai ki asray dataon ki prashansa hoti thi iska me cabinet ne apne apadao ke badha chadhakar prasanshak ki aitihasikta ka bhav in rachnaon me itihas prasiddh charitra nayakon ko diya ringtone qawwali etihasik nahi hai iske karyakalap ke chittiyan itihas se male nahi khate hain aur pramanik rachna hai is kaal ke rachnaon ki pramanikata sandigdh hai 12 ka sajeev varnan kis granth me vishwa yudh aur veerta ka varnan hai kahin varnan atyant sajeev hai kyonki ve kabhi rajaon ke saath yudh bhoomi me ek sainik kitna bhag lene waale hote hain sankuchit rastriyata is kaal me rachna me rastriyata ka purn abhaav hota hai tatha shringar ras ka Singh rashi ka accha samay me dikhai padta hai

आदि काल के साहित्य की विशेषता है कि आश्रय दाताओं की प्रशंसा होती थी इसका में कैबिनेट ने अप

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  1010
WhatsApp_icon
user

Rani

Government Teacher

0:29
Play

Likes  40  Dislikes    views  1209
WhatsApp_icon
user
0:18
Play

Likes  28  Dislikes    views  403
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  27  Dislikes    views  780
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!