UPSC तैयारी में छात्रों द्वारा की जाने वाली सबसे आम गलतियों क्या हैं?...


user

Jignesh Gadhiya

Director of UPSC/GPSC Ins..

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी तैयारी में छात्रों द्वारा की जाने वाली सबसे आम गलतियों की जो हम बात करें तो सबसे पहले जो छात्रा वगैरह है वह सिलेबस नहीं पड़ते अब सिलेबस अगर अच्छी तरह से नहीं देखेंगे तो उनको पता कैसे चलेगा कि कौन सा टॉपिक पूछा जा रहा है और कौन से टॉपिक पर हमें ध्यान देना है दूसरी बात तैयारी शुरू करने के बाद दूसरी चीज आपको देखनी है वह है उसके पिछले साल के पेपर पिछले साल के पेपर का अगर एनालिसिस करेंगे तो आपको पता चलेगा कि प्रिलिमनरी एग्जामिनेशन है तो उसमें ज्योग्राफी में से कितने क्वेश्चन आए इतिहास में से कितने क्वेश्चन आया है संविधान है उसमें से कितने क्वेश्चन है यार 17 11 करंट अफेयर से उसमें से कितने क्वेश्चन आए हैं अगर आप इसका एनालिसिस नहीं करेंगे तो आपको पता कैसे चलेगा कि वह हमें पढ़ना क्या है और किस पर कितना वेट एज देना है तो दूसरी चीज के पिछले साल के पेपर नहीं पढ़ना तीसरी चीज है के बहुत सारे लोग सिर्फ बड़ी-बड़ी किताबें पढ़ते हैं और जब बेसिक एनसीईआरटी की किताबें है वह छोड़ देते हैं तो आईएएस की प्रिपरेशन करने वालों को यही राय है कि पहले आप बेसिक एनसीईआरटी की किताबें है वह अच्छी तरह से पढ़िए क्योंकि उसमें से आपको ज्यादातर जो 20 पार्ट हैं वह मिल जाएगा और अच्छी तरह से आपका बेसिक भी क्लियर हो जाएगा तो यह कैसी बातें चौथी बात है कि लोग न्यूज़ पेपर पढ़ना टाल देते हैं और सिर्फ मैगज़ीन के आधार पर ही तैयारी करते हैं तो मेरी आपसे रिक्वेस्ट है कि आपको प्लीज एक न्यूजपेपर या जो हिंदू हो या इंडियन एक्सप्रेस उसमें सब कोई भी एक न्यूज़ पेपर अच्छा सा पढ़ सकते हैं और उसमें जो भी एडिटोरियल्स वगैरह आ रहे उसकी आप अच्छी तरह से प्रिपरेशन कीजिए तो यह सारी चीजों पर आपको ध्यान देना होगा

upsc taiyari mein chhatro dwara ki jaane wali sabse aam galatiyon ki jo hum baat kare toh sabse pehle jo chatra vagera hai vaah syllabus nahi padte ab syllabus agar achi tarah se nahi dekhenge toh unko pata kaise chalega ki kaun sa topic poocha ja raha hai aur kaunsi topic par hamein dhyan dena hai dusri baat taiyari shuru karne ke baad dusri cheez aapko dekhni hai vaah hai uske pichle saal ke paper pichle saal ke paper ka agar analysis karenge toh aapko pata chalega ki preliminary examination hai toh usme geography mein se kitne question aaye itihas mein se kitne question aaya hai samvidhan hai usme se kitne question hai yaar 17 11 current affair se usme se kitne question aaye hai agar aap iska analysis nahi karenge toh aapko pata kaise chalega ki vaah hamein padhna kya hai aur kis par kitna wait age dena hai toh dusri cheez ke pichle saal ke paper nahi padhna teesri cheez hai ke bahut saare log sirf baadi badi kitaben padhte hai aur jab basic ncert ki kitaben hai vaah chod dete hai toh IAS ki preparation karne walon ko yahi rai hai ki pehle aap basic ncert ki kitaben hai vaah achi tarah se padhiye kyonki usme se aapko jyadatar jo 20 part hai vaah mil jaega aur achi tarah se aapka basic bhi clear ho jaega toh yah kaisi batein chauthi baat hai ki log news paper padhna tal dete hai aur sirf magazine ke aadhaar par hi taiyari karte hai toh meri aapse request hai ki aapko please ek newspaper ya jo hindu ho ya indian express usme sab koi bhi ek news paper accha sa padh sakte hai aur usme jo bhi editorials vagera aa rahe uski aap achi tarah se preparation kijiye toh yah saree chijon par aapko dhyan dena hoga

यूपीएससी तैयारी में छात्रों द्वारा की जाने वाली सबसे आम गलतियों की जो हम बात करें तो सबसे

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  483
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समानता यूपीएससी की तैयारी करते हैं जो छात्र कुछ लोग गलतियां करते हैं सबसे पहली और सबसे बड़ी जो गलती होती है कि वह सिलेबस से अगर नहीं होती है मैं बहुत बड़ी संख्या में ऐसे छात्रों को जानता हूं जो 6 महीने से तैयारी कर रहे हैं लेकिन अभी भी वह प्री और मेंस की सिलेबस को बहुत अच्छे से नहीं जानते हैं उनको एक चीज उनके दिमाग में नहीं है सबसे पहली बात आप कर सकती इंपॉर्टेंट चीजें क्योंकि आपको सही ट्रैक पर रखेगा वही आपके लिए गाइड का काम करेगा दूसरी की तैयारी चल रही है पेपर की तैयारी कैसे करें तैयारी होनी चाहिए दूसरी एक बहुत बड़ी गलती करते हैं शुरू से ही करना चाहिए बहुत कम समय बहुत ज्यादा स्टडी मैटेरियल इकट्ठा ना करें स्टडी मैटेरियल कम हो लेकिन अच्छी क्वालिटी का हो और समग्र हो या पूरा हो ज्यादा स्टडी मैटेरियल आपको बहुत ज्यादा भ्रम में डाल सकते हैं इसका पूरा कलर भी नहीं करते

samanata upsc ki taiyari karte hain jo chatra kuch log galtiya karte hain sabse pehli aur sabse badi jo galti hoti hai ki vaah syllabus se agar nahi hoti hai bahut badi sankhya mein aise chhatro ko jaanta hoon jo 6 mahine se taiyari kar rahe hain lekin abhi bhi vaah pri aur mains ki syllabus ko bahut acche se nahi jante hain unko ek cheez unke dimag mein nahi hai sabse pehli baat aap kar sakti important cheezen kyonki aapko sahi track par rakhega wahi aapke liye guide ka kaam karega dusri ki taiyari chal rahi hai paper ki taiyari kaise kare taiyari honi chahiye dusri ek bahut badi galti karte hain shuru se hi karna chahiye bahut kam samay bahut zyada study material ikattha na kare study material kam ho lekin achi quality ka ho aur samagra ho ya pura ho zyada study material aapko bahut zyada bharam mein daal sakte hain iska pura color bhi nahi karte

समानता यूपीएससी की तैयारी करते हैं जो छात्र कुछ लोग गलतियां करते हैं सबसे पहली और सबसे बड़

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1265
WhatsApp_icon
user

Saurabh Akhouri

UPSC Faculty

5:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी के जो सामान्य अध्ययन के सवाल है ना वह बड़े यूनिक किस्म के होते हैं अब इतिहास से पूछा तो ऐसा नाम पूछ लेगा कि आपको शायद पुस्तक के किसी कोने में मिलेगा और जनरल ई क्या होता है जो छात्र होते हैं वह गहराई से अध्ययन नहीं करते हैं और अध्ययन नहीं करते हैं यह बहुत बड़ी गलती है यानी आप अगर इतिहास को ले लो या भूगोल भूगोल के ले लो तो आपका जो कांसेप्ट है ना भूगोल में तो कांसेप्ट है स्मरण शक्ति की कम जरूरत पड़ती है इतिहास में आपका अगर इसवी सन हो गया या योद्धा हो गया यार आजा हो गया यार आजा की कार्यप्रणाली होगी अर्थ प्रणाली हो गई समझो इतिहास एक मल्टीडिसीप्लिनरी सब्जेक्ट है जिसमें अर्थशास्त्र पुराना अर्थशास्त्र आ जाएगा पुरानी राजनीति आ जाएगी पुरानी युद्ध कला जाएगी पुरानी स्थापत्य कला जाएगी पुरानी वास्तुकला जाएगी पुराने सिक्के आ जाए कहां से प्रश्न आएगा पता नहीं है तो बहुत ही जैसे सूक्ष्म अध्ययन की जरूरत पड़ती है वह गलती तो करते ही करते हैं तो या तो रूटिंग करते हैं और बिना समझे हुए याद करना बहुत बड़ी गलती है रूटिंग एजब्बर्ड फैक्ट भूल जाओगे आप परीक्षा में और खास करके मैंने देखा इतिहास में बहुत बड़ी गलती होती है तो समझने में आसान होता है अगर आप का रिजनिंग सही नहीं है शुरू से जनरली मैंने देखा है कि जो यूपी में दो तरह के छात्र भाग लेते एक तो पहले ही वह बहुत ब्रिलियंट होते हैं वह आईआईटी आईआईएम या अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज से पास करके अपना लक्ष्य रखते हैं कि मैं यूपीएससी में जाऊंगा उनकी स्टडी भी क्लियर रहती है उनका आईक्यू बहुत हाई होता है आइक्यू हाई होने से वह प्लानिंग भी बहुत अच्छी तरह से कर लेते हैं दूसरे एवरेज स्टूडेंट होते हैं वह बड़े-बड़े उनको मेहनत करनी पड़ती है अभी जैसे कला स्नातक हो गया 8 में किसने किया कॉमर्स का हो गया तो अगर कॉमर्स टॉपर ग्रेड का स्टूडेंट है तो उसकी बुद्धि जो है बस कॉमर्स के सब्जेक्ट में ही रहेगी जनरल स्टडीज में को बहुत मेहनत करना पड़ेगा यह गलती हो जाती है जनरल स्टडीज लोड हो जाता है जनरल ए लास्ट में होता नहीं और जो आईडी के टॉपर सोते हैं आईडी से जो पास करता है जिनका लक्ष्य आईटी हो या नेशनल इंस्टिट्यूट अभी तो एनआईटी से भी कर रहे हैं लोग अभी को प्राइवेट कॉलेज से भी कर रहे हो एक रणनीति बना लेते हैं कि थोड़ी और ऑन वर्ड वह पढ़ाई करेंगे थर्ड ईयर से वो किताबे खरीदना शुरू कर देते हैं और वह स्टेप बाय स्टेप क्योंकि उन्होंने शुरू से जो आईडी या किसी भी कॉलेज में जाने के लिए वैसी ही समय बद्ध रणनीति बनाई है वैसी रणनीतियों यूपीएससी के लिए भी बनाते हैं तो गलतियां यही होती है कि योजना पद की तैयारी नहीं होती योजना बनाना दूसरा क्या होता है योजना बना करके उसको आत्मसात करना मुझे लगता है कि इसमें बहुत डिस्कनेक्ट हेल्प लोग रेंडम पढ़ते हैं कैजुअल पढ़ते हैं क्लास में क्या करेंगे मॉडल क्वेश्चन पिछले चार-पांच साल का देखने को उसके क्वेश्चन आएगा ही नहीं कहीं और से आ जाएगा एक-दो लड़ा तो लड़ाई नहीं लड़ेगा कई बार क्या होता है कोचिंग घुमा कर पूछ लिया जाता है यह तो प्रिलिम्स का मैं बता रहा हूं मेंस में तो और ज्यादा गहराई चाहिए स्पेशली उसमें आपको जो लिखना है आंसर उसमें भाषा शैली के साथ-साथ तथ्यात्मक जो संवाद है वह सही होना चाहिए कांटेक्ट तो सारा खेल भाई साहब कॉन्सेप्टका है मेमोरी पावर का है और रिजनिंग का है कि उनका क्यों भाई होता है कोई-कोई एवरेज स्टूडेंट होता हमको मेहनत करनी पड़ती है लड़ना पड़ता है तो यह सारी बातें हैं इस आधार पर आप सेंड कीजिए कि यूपीएससी में आप कहां से शुरू कर रहे हैं कोई एक्स वाई ग्राफ में जीरो लेवल से शुरू करता है तो उसको टाइम लगता है लर्निंग कर्म में कोई एक्स वाई ग्रुप में थोड़ा इंटरसेप्ट हाई रखकर वाई एक्स इससे वहां से शुरू करता है तो कहां पर आप हैं पहले आपको अपना आत्म चिंतन करना जरूरी है पहले तो आप सेल्फी वैल्यूएशन करो कि मेरे इन सब्जेक्ट में पकड़ क्या है कितनी है यह कोई आम ग्रेजुएशन पास करने का परीक्षा नहीं है यह बहुत ज्ञान प्रतियोगिता परीक्षा है और इसमें अव्वल होना है यह जस्ट लाइक आपका मैथमेटिक्स समझ लीजिए एक सेकेंड से भी आप विनर होने से छूट सकते हो धन्यवाद

upsc ke jo samanya adhyayan ke sawaal hai na vaah bade Unique kism ke hote hai ab itihas se poocha toh aisa naam puch lega ki aapko shayad pustak ke kisi kone mein milega aur general ee kya hota hai jo chatra hote hai vaah gehrai se adhyayan nahi karte hai aur adhyayan nahi karte hai yah bahut baadi galti hai yani aap agar itihas ko le lo ya bhugol bhugol ke le lo toh aapka jo concept hai na bhugol mein toh concept hai smaran shakti ki kam zarurat padti hai itihas mein aapka agar iswi san ho gaya ya yodha ho gaya yaar aajad ho gaya yaar aajad ki Karya Pranali hogi arth pranali ho gayi samjho itihas ek maltidisiplinari subject hai jisme arthashastra purana arthashastra aa jaega purani raajneeti aa jayegi purani yudh kala jayegi purani sthaapaty kala jayegi purani vastukala jayegi purane sikke aa jaaye kahaan se prashna aayega pata nahi hai toh bahut hi jaise sukshm adhyayan ki zarurat padti hai vaah galti toh karte hi karte hai toh ya toh routing karte hai aur bina samjhe hue yaad karna bahut baadi galti hai routing ejabbard fact bhool jaoge aap pariksha mein aur khaas karke maine dekha itihas mein bahut baadi galti hoti hai toh samjhne mein aasaan hota hai agar aap ka reasoning sahi nahi hai shuru se generally maine dekha hai ki jo up mein do tarah ke chatra bhag lete ek toh pehle hi vaah bahut brilliant hote hai vaah IIT IIM ya acche Engineering college se paas karke apna lakshya rakhte hai ki main upsc mein jaunga unki study bhi clear rehti hai unka IQ bahut high hota hai IQ high hone se vaah planning bhi bahut achi tarah se kar lete hai dusre average student hote hai vaah bade bade unko mehnat karni padti hai abhi jaise kala snatak ho gaya 8 mein kisne kiya commerce ka ho gaya toh agar commerce topper grade ka student hai toh uski buddhi jo hai bus commerce ke subject mein hi rahegi general studies mein ko bahut mehnat karna padega yah galti ho jaati hai general studies load ho jata hai general a last mein hota nahi aur jo id ke topper sote hai id se jo paas karta hai jinka lakshya it ho ya national institute abhi toh NIT se bhi kar rahe hai log abhi ko private college se bhi kar rahe ho ek rananiti bana lete hai ki thodi aur on word vaah padhai karenge third year se vo kitabe kharidna shuru kar dete hai aur vaah step bye step kyonki unhone shuru se jo id ya kisi bhi college mein jaane ke liye vaisi hi samay baddh rananiti banai hai vaisi rananitiyon upsc ke liye bhi banate hai toh galtiya yahi hoti hai ki yojana pad ki taiyari nahi hoti yojana banana doosra kya hota hai yojana bana karke usko aatmsat karna mujhe lagta hai ki isme bahut diskanekt help log rendam padhte hai Casual padhte hai class mein kya karenge model question pichle char paanch saal ka dekhne ko uske question aayega hi nahi kahin aur se aa jaega ek do lada toh ladai nahi ladega kai baar kya hota hai coaching ghuma kar puch liya jata hai yah toh prelims ka main bata raha hoon mens mein toh aur zyada gehrai chahiye speshli usme aapko jo likhna hai answer usme bhasha shaili ke saath saath tathyatmak jo samvaad hai vaah sahi hona chahiye Contact toh saara khel bhai saheb kanseptaka hai memory power ka hai aur reasoning ka hai ki unka kyon bhai hota hai koi koi average student hota hamko mehnat karni padti hai ladna padta hai toh yah saree batein hai is aadhaar par aap send kijiye ki upsc mein aap kahaan se shuru kar rahe hai koi x why graph mein zero level se shuru karta hai toh usko time lagta hai learning karm mein koi x why group mein thoda intercept high rakhakar why x isse wahan se shuru karta hai toh kahaan par aap hai pehle aapko apna aatm chintan karna zaroori hai pehle toh aap selfie vailyueshan karo ki mere in subject mein pakad kya hai kitni hai yah koi aam graduation paas karne ka pariksha nahi hai yah bahut gyaan pratiyogita pariksha hai aur isme avval hona hai yah just like aapka mathematics samajh lijiye ek second se bhi aap winner hone se chhut sakte ho dhanyavad

यूपीएससी के जो सामान्य अध्ययन के सवाल है ना वह बड़े यूनिक किस्म के होते हैं अब इतिहास से प

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Vijai Pratap Shahi

Founder at Royale IAS Academy

0:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चे पढ़ने जाते हैं तो फिर वह ब्लाइंड में पढ़ते रहने की बॉडी

bacche padhne jaate hain toh phir vaah blind mein padhte rehne ki body

बच्चे पढ़ने जाते हैं तो फिर वह ब्लाइंड में पढ़ते रहने की बॉडी

Romanized Version
Likes  115  Dislikes    views  1498
WhatsApp_icon
user

Abhinav Awasthi

UPSC Aspirant

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्म चलती नहीं करते कि लोग जो मैं कंटेंट्स रिक्वायर्ड हो तो उसका उसका नेट की स्टडी नहीं करते पहली बार दूसरी चीज करंट अफेयर्स पर ध्यान नहीं देते हैं अगर आप यूपीसी कर रहे तो करंट अफेयर्स एनसीईआरटी से भी कहीं ना कहीं ज्यादा है क्योंकि जो क्वेश्चन आपका मेंस में आएगा और मुस्लिम फ्री फ्री में भी आता है वह करंट अफेयर्स बेस्ट होता है और जो बच्चा होता उसमें करंट अफेयर्स पर ध्यान नहीं देता है वह किस में देता है कि मुझे एनसीईआरटी पढ़ना मुझे हिस्ट्री कंप्लीट करना मुझे जो कॉपी कंप्लीट करना है करंट अफेयर्स का बहुत रोल होता है करंट अफेयर नहीं देता है दूसरा भी होता है कि आप हर सब्जेक्ट को इक्वल इक्वल टाइम दीजिए यह नहीं कि आप हिस्ट्री पढ़ रहे थे हिस्ट्री पढ़ कर रह गए जो कभी पढ़ रहे हैं जो ग्राफी पढ़कर आपको हर एक सब्जेक्ट को अपना एक-एक को टाइम देना और जो आप कहोगे तो आपको वेल प्रिपेयर्ड होने चाहिए

film chalti nahi karte ki log jo main contents required ho toh uska uska net ki study nahi karte pehli baar dusri cheez current affairs par dhyan nahi dete hain agar aap UPC kar rahe toh current affairs ncert se bhi kahin na kahin zyada hai kyonki jo question aapka mains mein aayega aur muslim free free mein bhi aata hai vaah current affairs best hota hai aur jo baccha hota usme current affairs par dhyan nahi deta hai vaah kis mein deta hai ki mujhe ncert padhna mujhe history complete karna mujhe jo copy complete karna hai current affairs ka bahut roll hota hai current affair nahi deta hai doosra bhi hota hai ki aap har subject ko equal equal time dijiye yah nahi ki aap history padh rahe the history padh kar reh gaye jo kabhi padh rahe hain jo graafi padhakar aapko har ek subject ko apna ek ek ko time dena aur jo aap kahoge toh aapko well pripeyard hone chahiye

फिल्म चलती नहीं करते कि लोग जो मैं कंटेंट्स रिक्वायर्ड हो तो उसका उसका नेट की स्टडी नहीं क

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user

Ravin Singh

Director - RAVINDRA's IAS

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तू इस में आग लग जाए तो क्या करता है तू अगर वह दूसरे की पूरी प्रॉब्लम आती है और पहले तो एक थोड़ी प्रॉब्लम रहती थी स्टडी मैटेरियल की हो गई है बहुत सारा स्टडी मैटेरियल उपलब्ध है अच्छा कर दो

tu is mein aag lag jaaye toh kya karta hai tu agar vaah dusre ki puri problem aati hai aur pehle toh ek thodi problem rehti thi study material ki ho gayi hai bahut saara study material uplabdh hai accha kar do

तू इस में आग लग जाए तो क्या करता है तू अगर वह दूसरे की पूरी प्रॉब्लम आती है और पहले तो एक

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1272
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!