सावन के व्रत की विधि हिंदी में बताये?...


user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार गुड इवनिंग प्रश्न क्या है आपने पूछा है सावन के व्रत की विधि और लड़कियां जो है वह व्रत रखती है सुबह से कुछ नहीं करती जब शाम को जब चांद निकलता है उसके बाद ही चाहे वह अन्य जलन करती है

namaskar good evening prashna kya hai aapne poocha hai sawan ke vrat ki vidhi aur ladkiya jo hai vaah vrat rakhti hai subah se kuch nahi karti jab shaam ko jab chand nikalta hai uske baad hi chahen vaah anya jalan karti hai

नमस्कार गुड इवनिंग प्रश्न क्या है आपने पूछा है सावन के व्रत की विधि और लड़कियां जो है वह व

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  959
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा कि सावन के व्रत की विधि बताइए तो दोस्तों सुबह स्नानादि नित्य कर्म करने के बाद व्रत का संकल्प करना चाहिए इसके बाद गंगाजल बेलपत्र सुपारी पुष्प धतूरा भांग आदि से पूजन करना चाहिए शिव जी की

aapne poocha ki sawan ke vrat ki vidhi bataiye toh doston subah snanadi nitya karm karne ke baad vrat ka sankalp karna chahiye iske baad gangajal bailpatra supari pushp dhatura bhang aadi se pujan karna chahiye shiv ji ki

आपने पूछा कि सावन के व्रत की विधि बताइए तो दोस्तों सुबह स्नानादि नित्य कर्म करने के बाद व्

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  1400
WhatsApp_icon
user
0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सावन सोमवार का व्रत दिन के तीसरे पहर या नहीं शाम तक रखा जाता है सुबह स्नान नित्य कर्म करने के बाद व्रत का संकल्प करना चाहिए इसके बाद गंगाजल बेलपत्र सुपारी पुष्पा धतूरा भांग आदि से पूजन करना चाहिए इसके साथ ही भगवान शंकर की विधि पूर्वक पूजा करने के बाद व्रत कथा सुनना अनिवार्य माना गया है धन्यवाद

namaskar sawan somwar ka vrat din ke teesre pahar ya nahi shaam tak rakha jata hai subah snan nitya karm karne ke baad vrat ka sankalp karna chahiye iske baad gangajal bailpatra supari pushpa dhatura bhang aadi se pujan karna chahiye iske saath hi bhagwan shankar ki vidhi purvak puja karne ke baad vrat katha sunana anivarya mana gaya hai dhanyavad

नमस्कार सावन सोमवार का व्रत दिन के तीसरे पहर या नहीं शाम तक रखा जाता है सुबह स्नान नित्य क

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  931
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!