योग का महत्व क्या है?...


user

Umesh Bandoliya

Yoga Expert

2:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अच्छी भौतिकवादी जो जीवन शैली है उसमें योग का महत्व बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है और योग्यता हमारे प्राचीन ऋषि-मुनियों ने जब नायक विद्या है उसमें बहुत अच्छी चीजें हैं जिनका हम समावेश अपने जीवन में कर सकते हैं और उसके माध्यम से हम अपने उच्चतम जीवनशैली को रख सकते हैं जिसमें स्वास्थ्य से लेकर के और अपने जीवन में जो पॉजिटिव विचारधारा है उसको भी हम बहुत अच्छी कर सकते हैं योग का जो मेन महत्व है वह अपने स्वास्थ्य और स्वास्थ्य के साथ-साथ स्पीड चल इन्वायरमेंट को अच्छा करना है इसमें एक ही योग में हम योग के आसन जब हम करते हैं तो उसे शरीर बहुत अच्छा हो जाता है हमारे शरीर के सभी अंग बहुत हष्ट पुष्ट हो जाते हैं और इसके साथ-साथ जब हम यू यह क्रिया करते हैं तो हमारा मस्तिष्क भी बहुत अच्छा होता है पर नाम की जो हम करते हैं तो उसे मस्तिष्क भी हमारा बहुत अच्छा हो जाता है कि शासक जब ध्यान करते हैं उस टाइम पर ध्यान और प्रणाम के माध्यम से हमारा मन और मस्तिष्क और शरीर के सभी अंग में जो हमारे जीवन को चलाते हैं स्वास्थ्य स्वास्थ्य लेकर के अच्छे विचारधारा जो हमारे मन मस्तिष्क में आती है तो वह हम युग ऋषि यों की वाणी सुनते हैं या उनका नारा जोन के गाए हुए नाग है उनको सुनते हैं तो उनसे हमारा मन पॉजिटिविटी होता है हमारे क्वालिटी हो रहा है पूरा डिवेलप होता है और हम एक अच्छा जीवन शैली प्राप्त करते हैं और वे इसके लिए जब हम अच्छे जीवन शैली के लिए आज मनुष्य बहुत सारे प्रयत्न करता रहता है तो यह सब चीजे हमारे जीवन के लिए योग के माध्यम से जब मिली ऋषि मुनियों की धरोहर को हमारे जीवन के लिए बहुत ही अच्छी होती है और हम इसको अपने जीवन में निरंतर अपना ही तो हमारा स्वास्थ्य लेकर गए और सभी चीजें अच्छी रहती है और हम एक पॉजिटिव उर्जा के साथ में नया काम करते हैं

achi bhautikvadi jo jeevan shaili hai usme yog ka mahatva bahut hi zyada badh jata hai aur yogyata hamare prachin rishi muniyon ne jab nayak vidya hai usme bahut achi cheezen hain jinka hum samavesh apne jeevan me kar sakte hain aur uske madhyam se hum apne ucchatam jeevan shaili ko rakh sakte hain jisme swasthya se lekar ke aur apne jeevan me jo positive vichardhara hai usko bhi hum bahut achi kar sakte hain yog ka jo main mahatva hai vaah apne swasthya aur swasthya ke saath saath speed chal environment ko accha karna hai isme ek hi yog me hum yog ke aasan jab hum karte hain toh use sharir bahut accha ho jata hai hamare sharir ke sabhi ang bahut hasth pusht ho jaate hain aur iske saath saath jab hum you yah kriya karte hain toh hamara mastishk bhi bahut accha hota hai par naam ki jo hum karte hain toh use mastishk bhi hamara bahut accha ho jata hai ki shasak jab dhyan karte hain us time par dhyan aur pranam ke madhyam se hamara man aur mastishk aur sharir ke sabhi ang me jo hamare jeevan ko chalte hain swasthya swasthya lekar ke acche vichardhara jo hamare man mastishk me aati hai toh vaah hum yug rishi yo ki vani sunte hain ya unka naara zone ke gaayen hue nag hai unko sunte hain toh unse hamara man positivity hota hai hamare quality ho raha hai pura develop hota hai aur hum ek accha jeevan shaili prapt karte hain aur ve iske liye jab hum acche jeevan shaili ke liye aaj manushya bahut saare prayatn karta rehta hai toh yah sab chije hamare jeevan ke liye yog ke madhyam se jab mili rishi muniyon ki dharohar ko hamare jeevan ke liye bahut hi achi hoti hai aur hum isko apne jeevan me nirantar apna hi toh hamara swasthya lekar gaye aur sabhi cheezen achi rehti hai aur hum ek positive urja ke saath me naya kaam karte hain

अच्छी भौतिकवादी जो जीवन शैली है उसमें योग का महत्व बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है और योग्यता ह

Romanized Version
Likes  207  Dislikes    views  2335
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rajiv Kumar

Yoga Instructor Nation Player

1:54
Play

Likes  38  Dislikes    views  351
WhatsApp_icon
play
user
0:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें योग मतलब का यूनियन होता है जो आत्मा का आयोजन होता है उसी को योग्यताएं मुझे लगता है युवक से आपका दिमाग का शरीर बहुत ही विश्वास रहता है तो आप उसी सबसे कुलदीप कार्य कर पाएंगे

dekhen yog matlab ka union hota hai jo aatma ka aayojan hota hai usi ko yogyataen mujhe lagta hai yuvak se aapka dimag ka sharir bahut hi vishwas rehta hai toh aap usi sabse kuldeep karya kar payenge

देखें योग मतलब का यूनियन होता है जो आत्मा का आयोजन होता है उसी को योग्यताएं मुझे लगता है य

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  832
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

को पूछा गया प्रश्न है कि युवा का महत्व क्या है तो मैं बता दूं बात करें योगा की तो इंपॉर्टेंस ऑफ योगा बहुत ज्यादा है क्योंकि योग से बहुत सारी ऐसी बीमारी है जो डायरेक्टली अगर आप योग करते हैं रेगुलर बेसिस बहुत ज्यादा लाभकारी होते हैं और इसके लिए आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है आप अपने घरों में रहकर आराम से सुबह सुबह के टाइम में एक डेढ़ घंटे योग कर सकते हैं

ko poocha gaya prashna hai ki yuva ka mahatva kya hai toh main bata doon baat kare yoga ki toh importance of yoga bahut zyada hai kyonki yog se bahut saari aisi bimari hai jo directly agar aap yog karte hain regular basis bahut zyada labhakari hote hain aur iske liye aapko zyada pareshan hone ki zarurat nahi hai aap apne gharon me rahkar aaram se subah subah ke time me ek dedh ghante yog kar sakte hain

को पूछा गया प्रश्न है कि युवा का महत्व क्या है तो मैं बता दूं बात करें योगा की तो इंपॉर्टे

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  2209
WhatsApp_icon
user

saurav

Teacher

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों जो आपका प्रश्न है योग का महत्व क्या है तो मैं आपको एक भाषा में बता देना चाहता हूं कि योग है तभी हम लोग भी हैं योग हमारे पूरे शरीर की प्रक्रिया बदल देती है दोस्तों अगर हम लोग अनुलोम-विलोम अगर करते हैं तो हमारे शरीर पर इसका बहुत प्रभाव पड़ता है अगर हम लोग जितना ज्यादा योग करेंगे उससे हमारा सर इतना ही ज्यादा फिट एंड फाइन रहेगा योग की प्रक्रिया करने से हम लोग का मन भी शांत होता है हम लोग ध्यान भी लगा सकते हैं योग के द्वारा योग करने से हर वह समस्या दूर हो सकती है जिससे आज आप ग्रसित हैं धन्यवाद

doston jo aapka prashna hai yog ka mahatva kya hai toh main aapko ek bhasha me bata dena chahta hoon ki yog hai tabhi hum log bhi hain yog hamare poore sharir ki prakriya badal deti hai doston agar hum log anulom vilom agar karte hain toh hamare sharir par iska bahut prabhav padta hai agar hum log jitna zyada yog karenge usse hamara sir itna hi zyada fit and fine rahega yog ki prakriya karne se hum log ka man bhi shaant hota hai hum log dhyan bhi laga sakte hain yog ke dwara yog karne se har vaah samasya dur ho sakti hai jisse aaj aap grasit hain dhanyavad

दोस्तों जो आपका प्रश्न है योग का महत्व क्या है तो मैं आपको एक भाषा में बता देना चाहता हूं

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!