अंजीर के फायदे इन हिंदी बताये?...


user

Prabhat Kumar

Teacher at Oxford English High School 7 year experience

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंजीर एक प्रकार का फल होता है अंग्रेजी में अंजीर को फिगर कहा जाता है और इसका वैज्ञानिक नाम फिकस कैरीका है वैज्ञानिक तौर पर माना जाता है कि यह शहतूत परिवार का सदस्य है इसके फल का रंग हल्का पीला होता है जबकि पकने के बाद गहरा सुनहरा या बैगनी हो जाता है अंजीर के पेड़ की छाल चिकनी और सफेद रंग की होती है इसका पेड़ मुख्य रूप से सूखे और धूप वाली जगह पर तेजी से उगता है और जर बेहद गाड़ी होती है साथ ही यह पहाड़ी क्षेत्र में भी आसानी से पनप सकता है अंजीर का सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर हो सकती है और पाचन तक अच्छी तरह से काम करने लगता है पाचन तंत्र को बेहतर करने के लिए दो-तीन अंजीर को रात भर के लिए पानी में भिगो कर रख दें और अगली सुबह ऐसा ही या फिर शहद के साथ खाए पाचन तंत्र को बेहतर करने और कब्ज को जड़ से मिटाने के लिए फाइबर की अंजीर में पर्याप्त मात्रा में फाइबर फाइबर पाया जाता है इसलिए जब अंजीर का सेवन किया जाता है तो इसका फाइबर गुम पेट को साफ करने में मदद कर सकता है शरीर से मल आसानी से बाहर निकल जाता है अंजीर में फाइबर होने का अंग के सेवन से दस्त भी ठीक हो सकती है इसी के साथ यह हमारे शरीर में हृदय के लिए भी फायदेमंद है इसमें टाेकरी क्लीसाइड एक प्रकार का अमल होता है जिसकी मात्रा बढ़ जाती है तो हृदय संबंधी बीमारियां होने लगती है इससे निपटने के लिए अंजीर का सेवन किया जा सकता है अंजीर खाने से रक्त में ट्राइग्लिसराइड की मात्रा कम हो सकती है और हृदय सही प्रकार से काम करने लगता है

anjir ek prakar ka fal hota hai angrezi me anjir ko figure kaha jata hai aur iska vaigyanik naam fikas kairika hai vaigyanik taur par mana jata hai ki yah shahtoot parivar ka sadasya hai iske fal ka rang halka peela hota hai jabki pakne ke baad gehra sunehra ya baigni ho jata hai anjir ke ped ki chaal chikani aur safed rang ki hoti hai iska ped mukhya roop se sukhe aur dhoop wali jagah par teji se ugata hai aur jar behad gaadi hoti hai saath hi yah pahadi kshetra me bhi aasani se panap sakta hai anjir ka seven karne se kabz ki samasya dur ho sakti hai aur pachan tak achi tarah se kaam karne lagta hai pachan tantra ko behtar karne ke liye do teen anjir ko raat bhar ke liye paani me bhigo kar rakh de aur agli subah aisa hi ya phir shehed ke saath khaye pachan tantra ko behtar karne aur kabz ko jad se mitane ke liye fiber ki anjir me paryapt matra me fiber fiber paya jata hai isliye jab anjir ka seven kiya jata hai toh iska fiber gum pet ko saaf karne me madad kar sakta hai sharir se mal aasani se bahar nikal jata hai anjir me fiber hone ka ang ke seven se dast bhi theek ho sakti hai isi ke saath yah hamare sharir me hriday ke liye bhi faydemand hai isme tokri klisaid ek prakar ka amal hota hai jiski matra badh jaati hai toh hriday sambandhi bimariyan hone lagti hai isse nipatane ke liye anjir ka seven kiya ja sakta hai anjir khane se rakt me triglyceride ki matra kam ho sakti hai aur hriday sahi prakar se kaam karne lagta hai

अंजीर एक प्रकार का फल होता है अंग्रेजी में अंजीर को फिगर कहा जाता है और इसका वैज्ञानिक नाम

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  1071
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!