सलीम सिंह की हवेली के बारे में विस्तार से बताये?...


user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न सलीम सिंह की हवेली के बारे में विस्तार से बताइए आपको बताना चाहता हूं कि आप एक हवेली एक बहुत बड़ी जगह पर उपस्थित होती है जिसमें अनेक कमरे होते हैं और आप इसकी जेट देखभाल के लिए आपको पूरे स्टाफ की जरूरत होती है एक अकेला व्यक्ति इसका केयरटेकिंग को नहीं कर सकता है

aapka prashna salim Singh ki haweli ke bare me vistaar se bataiye aapko batana chahta hoon ki aap ek haweli ek bahut badi jagah par upasthit hoti hai jisme anek kamre hote hain aur aap iski Jet dekhbhal ke liye aapko poore staff ki zarurat hoti hai ek akela vyakti iska keyarateking ko nahi kar sakta hai

आपका प्रश्न सलीम सिंह की हवेली के बारे में विस्तार से बताइए आपको बताना चाहता हूं कि आप एक

Romanized Version
Likes  133  Dislikes    views  1831
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Prabhat Kumar

Teacher at Oxford English High School 7 year experience

0:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सलीम सिंह की हवेली जैसलमेर रेलवे स्टेशन के करीब स्थित है इस खूबसूरत इमारत को सलीम सिंह के द्वारा 18 सो 15 ईस्वी में बनाया गया था इसे जहाज महल भी कहा जाता है क्योंकि इसके सामने का किस्सा जहाज की तरह दिखता है इमारत की छत धनुष आकार और नीले कपड़ों के साथ ढकी हुई है पर्यटक नक्काशी दार पुस्तकों में सजी छात्र जो एक मोड़ जैसी दिखती है उसको देखते हैं सलीम सिंह की हवेली के पूरा होने के बाद मेहता परिवार इस में रहने लगा इस इमारत में 38 बालकनी है जिनका डिजाइन एक दूसरे से पूरी तरह अलग है इमारत का प्रवेश द्वार कई हाथियों द्वारा संरक्षित है पर्यटक जैसलमेर शहर से रिक्शा के द्वारा इस हवेली तक पहुंचते हैं

salim Singh ki haweli jaisalmer railway station ke kareeb sthit hai is khoobsurat imarat ko salim Singh ke dwara 18 so 15 isvi me banaya gaya tha ise jahaj mahal bhi kaha jata hai kyonki iske saamne ka kissa jahaj ki tarah dikhta hai imarat ki chhat dhanush aakaar aur neele kapdo ke saath dhaki hui hai paryatak nakkashi daar pustakon me saji chatra jo ek mod jaisi dikhti hai usko dekhte hain salim Singh ki haweli ke pura hone ke baad mehta parivar is me rehne laga is imarat me 38 balakani hai jinka design ek dusre se puri tarah alag hai imarat ka pravesh dwar kai haathiyo dwara sanrakshit hai paryatak jaisalmer shehar se riksha ke dwara is haweli tak pahunchate hain

सलीम सिंह की हवेली जैसलमेर रेलवे स्टेशन के करीब स्थित है इस खूबसूरत इमारत को सलीम सिंह के

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  1010
WhatsApp_icon
user

Yogesh Kumar

Engineer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक सवाल है सलाम सिंह की हवेली के बारे में विस्तार से बताइए तो मैं बताना चाहूंगा कि सलीम सिंह की हवेली जैसलमेर रेलवे स्टेशन के करीब स्थित है इस खूबसूरत इमारत को सलीम सिंह के द्वारा ठरका 15 ईसवी में बनाया गया था इसे जहाज महल भी कहा जाता है कि किस के सामने क्या था एक जहाज की तरह दिखता है इमारत की छत धनुष आकार और नीले कपड़ों के साथ लगी हुई है घूमने वाले नक्काशी दार कोस्टको से सजी छात्र जो एक मोर जैसी दिखती है उसको देखने आते हैं

ek sawaal hai salaam Singh ki haweli ke bare me vistaar se bataiye toh main batana chahunga ki salim Singh ki haweli jaisalmer railway station ke kareeb sthit hai is khoobsurat imarat ko salim Singh ke dwara tharaka 15 isvi me banaya gaya tha ise jahaj mahal bhi kaha jata hai ki kis ke saamne kya tha ek jahaj ki tarah dikhta hai imarat ki chhat dhanush aakaar aur neele kapdo ke saath lagi hui hai ghoomne waale nakkashi daar kostako se saji chatra jo ek mor jaisi dikhti hai usko dekhne aate hain

एक सवाल है सलाम सिंह की हवेली के बारे में विस्तार से बताइए तो मैं बताना चाहूंगा कि सलीम सि

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  564
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!