क्या आने वाले कुछ सालों में भारत और पाकिस्तान में युद्ध संभव है?...


user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत और पाकिस्तान के रिश्ते आजादी के बाद से ही काफी ज्यादा तनावपूर्ण रहे हैं जिसकी वजह से कई बार भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध भी हो चुका है हर बार पाकिस्तान भारत के हाथों हारा है लेकिन फिर भी वह अपने काम से बाज नहीं आता है जम्मू कश्मीर का जो मसला है वह भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद का मुख्य मुद्दा है और यही कारण है कि हमेशा भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध की स्थिति बनी रहती है लेकिन कोई भी देश युद्ध करना नहीं चाहता है क्योंकि उससे बहुत ज्यादा जान और माल का नुकसान होता है और अगर भारत पाकिस्तान पर अटैक करता है या फिर पाकिस्तान भारत पर तो दोनों ही देशों को बहुत ज्यादा नुकसान उठाना पड़ता है तो जरूरत इसी चीज की रहती है कि कोई भी दो देश जिनके बीच किसी भी बात को लेकर विवाद है वह बातचीत के माध्यम से ही उस विवाद का निपटारा करना चाहते हैं युद्ध कोई भी नहीं चाहता है चाहे वह कितना भी पावरफुल या फिर शक्तिशाली देश क्यों ना हो और यही चीज भारत और पाकिस्तान के लिए भी लागू होती है तू अगर सिचुएशन बहुत ज्यादा खराब होती है तभी एक देश दूसरे देश पर हमला करता है और यही चीज भारत के लिए भी मुझे लगता है कि सही है और जहां तक युद्ध नहीं हो वही दोनों देशों के नागरिकों के लिए भी सही रहता है क्योंकि इससे बहुत सारे लोगों की जान चली जाती है साथ ही साथ उनके परिवार वालों को भी इसका नकारात्मक प्रभाव झेलना पड़ता है हलाकि अभी भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव काफी ज्यादा बढ़ चुका है और आए दिन पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन होता रहता है तो ऐसा बिल्कुल संभव है कि भारत पाकिस्तान पर अटैक करें और युद्ध की स्थिति बन जाए

bharat aur pakistan ke rishte azadi ke baad se hi kaafi zyada tanavapurn rahe hain jiski wajah se kai baar bharat aur pakistan ke beech yudh bhi ho chuka hai har baar pakistan bharat ke hathon hara hai lekin phir bhi vaah apne kaam se baaj nahi aata hai jammu kashmir ka jo masala hai vaah bharat aur pakistan ke beech vivaad ka mukhya mudda hai aur yahi karan hai ki hamesha bharat aur pakistan ke beech yudh ki sthiti bani rehti hai lekin koi bhi desh yudh karna nahi chahta hai kyonki usse bahut zyada jaan aur maal ka nuksan hota hai aur agar bharat pakistan par attack karta hai ya phir pakistan bharat par toh dono hi deshon ko bahut zyada nuksan uthana padta hai toh zarurat isi cheez ki rehti hai ki koi bhi do desh jinke beech kisi bhi baat ko lekar vivaad hai vaah batchit ke madhyam se hi us vivaad ka niptara karna chahte hain yudh koi bhi nahi chahta hai chahen vaah kitna bhi powerful ya phir shaktishali desh kyon na ho aur yahi cheez bharat aur pakistan ke liye bhi laagu hoti hai tu agar situation bahut zyada kharab hoti hai tabhi ek desh dusre desh par hamla karta hai aur yahi cheez bharat ke liye bhi mujhe lagta hai ki sahi hai aur jaha tak yudh nahi ho wahi dono deshon ke nagriko ke liye bhi sahi rehta hai kyonki isse bahut saare logo ki jaan chali jaati hai saath hi saath unke parivar walon ko bhi iska nakaratmak prabhav jhelna padta hai halaki abhi bharat aur pakistan ke beech tanaav kaafi zyada badh chuka hai aur aaye din pakistan ki taraf se ceasefire ka ullanghan hota rehta hai toh aisa bilkul sambhav hai ki bharat pakistan par attack kare aur yudh ki sthiti ban jaaye

भारत और पाकिस्तान के रिश्ते आजादी के बाद से ही काफी ज्यादा तनावपूर्ण रहे हैं जिसकी वजह से

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन लेकिन जो दूसरी बात है कि अगर आप हुजूर करता भी है किसी तरह से अगर हिम्मत जुटा भी लेता है वह तो और जो अमेरिका है उसे बंद कर देगा यानी कि ना कोई देश उसके साथ सामान खरीदेगा उसके नाम लिखेगा

lekin lekin jo dusri baat hai ki agar aap huzur karta bhi hai kisi tarah se agar himmat jutta bhi leta hai vaah toh aur jo america hai use band kar dega yani ki na koi desh uske saath saamaan kharidega uske naam likhega

लेकिन लेकिन जो दूसरी बात है कि अगर आप हुजूर करता भी है किसी तरह से अगर हिम्मत जुटा भी लेता

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!