क्या भारत चीन को हरा सकता है?...


play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं नहीं समझता कि ऐसी कोई भी संभावना है कि भारत व चीन को हरा सकता है चीन की जो शक्ति है वह भारत के मुकाबले में बहुत ज्यादा है और मैं नहीं समझता कि भारत जो है चीन का मुकाबला के लिए कर सकता है और ऐसी सिचुएशन होनी भी नहीं चाहिए क्योंकि बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण होगा और भारत का भी इसमें बहुत बड़ा नुकसान होगा और चीन का भी बहुत बड़ा नुकसान होगा लेकिन हां यह अगर रही है यह है कि भारत जो है वह रसिया के सपोर्ट से लड़ता है तो उसे ताकि चीन को थोड़े समय के लिए टॉप फायदा दे सके लेकिन उसके बावजूद मैं यह नहीं समझता कि भारत ने चीन को किसी भी तरीके से हरा सकता है

main nahi samajhata ki aisi koi bhi sambhavna hai ki bharat v chin ko hara sakta hai chin ki jo shakti hai wah bharat ke muqable mein bahut zyada hai aur main nahi samajhata ki bharat jo hai chin ka muqabla ke liye kar sakta hai aur aisi situation honi bhi nahi chahiye kyonki bahut hi durbhagyaporn hoga aur bharat ka bhi isme bahut bada nuksan hoga aur chin ka bhi bahut bada nuksan hoga lekin haan yeh agar rahi hai yeh hai ki bharat jo hai wah rasiya ke support se ladata hai to use taki chin ko thode samay ke liye top fayda de sake lekin uske bawajud main yeh nahi samajhata ki bharat ne chin ko kisi bhi tarike se hara sakta hai

मैं नहीं समझता कि ऐसी कोई भी संभावना है कि भारत व चीन को हरा सकता है चीन की जो शक्ति है वह

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  338
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे मित्र आज तो बोल रही है नहीं होती हैं जो प्राचीन काल में हुआ करती थी एक लड़ाई एक देश को कम से कम 125 साल भी चले जाती है उसका आर्थिक विकास को डगमगा देती है चंदन की अपार हानि होती है फिर बात को चाइना भी समझता है और बाहर भी समझता है या हारने और जीतने का सवाल नहीं होता है लेकिन यह चाइना की एक साम्राज्यवादी ताकतें हैं चना धमकियों से कब्जा करना चाहता है इस कंडीशन में अब भारत जवाब दे रहा है या माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के डेहरी के साथ में उसको चाइना को जवाब दे रहे हैं यदि काश ऐसे कदम नेहरू जी के समय होते होते तो यह चीज चाइना नेपाल 1962 में जो कब्जा कर रखा है जमीन का यह कभी नहीं जाता लेकिन उस समय शायद भेरूजी की परिस्थितियां रही थी क्योंकि भारत विकास कर रहा था भारत में बहुत पैसे की कमी थी आर्थिक तकनीकी ज्ञान प्रतिचयन को पर विचारों को पहनने के लिए धन के जूते और प्यार भी नहीं थे जो व्रत करके मुकाबला कर पाते हैं 2nd में कुछ नहीं होता है समझदारी सी को कहती है कि जो बात बैठ कर के साल हो सकती है दसवीं की नीति है तो इंसाफ लड़ना तो जब चाहिए जब अंतिम की कोई विकल्प शेष नहीं रहा है तभी लड़ाई होनी चाहिए

mere mitra aaj toh bol rahi hai nahi hoti hain jo prachin kaal mein hua karti thi ek ladai ek desh ko kam se kam 125 saal bhi chale jati hai uska aarthik vikas ko dagmaga deti hai chandan ki apaar hani hoti hai phir baat ko china bhi samajhata hai aur bahar bhi samajhata hai ya haarne aur jitne ka sawal nahi hota hai lekin yeh china ki ek samrajyavadi taakaten hain chana dhamkiyo se kabza karna chahta hai is condition mein ab bharat jawab de raha hai ya maananeey Pradhanmantri narendra modi ji ke dehri ke saath mein usko china ko jawab de rahe hain yadi kash aise kadam nehru ji ke samay hote hote toh yeh cheez china nepal 1962 mein jo kabza kar rakha hai jameen ka yeh kabhi nahi jata lekin us samay shayad bherujii ki paristhiyaann rahi thi kyonki bharat vikas kar raha tha bharat mein bahut paise ki kami thi aarthik takniki gyaan pratichayan ko par vicharon ko pahanne ke liye dhan ke joote aur pyar bhi nahi the jo vrat karke muqabla kar paate hain 2nd mein kuch nahi hota hai samajhdari si ko kehti hai ki jo baat baith kar ke saal ho sakti hai dasavi ki niti hai toh insaaf ladana toh jab chahiye jab antim ki koi vikalp shesh nahi raha hai tabhi ladai honi chahiye

मेरे मित्र आज तो बोल रही है नहीं होती हैं जो प्राचीन काल में हुआ करती थी एक लड़ाई एक देश क

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  39
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि भारत के सैनिकों को खोले मन से काम करने आदि करने दिया जाए तो भारत के सैनिक चीन को हरा सकता है

yadi bharat ke sainikon ko khole man se kaam karne aadi karne diya jaye toh bharat ke sainik china ko hara sakta hai

यदि भारत के सैनिकों को खोले मन से काम करने आदि करने दिया जाए तो भारत के सैनिक चीन को हरा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  43
WhatsApp_icon
user

Shripal Tanwar

Health and Fitness Expert

4:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या भारत चीन को हरा सकता है हां भारत चीन को हरा सकता है जरूर आ सकता है बशर्ते इसके लिए हमें अपनी पुरानी सोच और पुरानी तरीकों को दोबारा से अपनाने की जरूरत है जैसे कि स्वावलंबी बनने की जरूरत है भारत चीन को जरूर आ सकता है अगर हम अपने ही देश में बने सामान का इस्तेमाल करते हैं ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तभी तो उठा सकते हैं क्योंकि हमारा भारत आचार्य चाणक्य का भारत है हमारा भारत में बुध का भारत है हमारा भारत सुभाष चंद्र बोस भगत सिंह राजगुरु सुखदेव का कारक है हमारा भारत चंद्र मोदी जी का नारा है और हमारा भारत उन सभी इस उत्तर 30 करोड़ की आबादी से ज्यादा का भारत में ज्यादातर पूरे विश्व के से ज्यादा युवा शक्ति का भारत है हमें अपनी सोच बदलनी है एकजुट होना है हम जरूर कर सकते हैं मैंने बचपन में पढ़ा था फोर्थ क्लास के अंदर एकता में ताकत है तो मैं यह नहीं देखना है कि कौन हिंदू मुस्लिम सिख इसाई क्योंकि हम सब आपस में एक इंसान हैं जब जब दुनिया पर दिक्कत अपना नाम सही है तब तक भारत ने उसका समाधान निकाला है जहां मैं फिर से कहता हूं कि भारत चीन को हरा सकता है चाहे वो एजुकेशन का से सेक्टर 26 मेडिका का सेक्टर हो और चाहे वह कोई भी सेक्टर हो हम सभी में पूरे विश्व से चीनी तो क्या पूरे विश्व में हम सबसे आगे हैं बशर्ते हमें अपनी ताकत को पहचानना होगा अपनी चिंताओं को पहचानना होगा और उनके हिसाब से हमें काम करना होगा अपने साथ देख सब सब जानते होंगे यात्रा आप सभी को पता होगा कि पुराने समय में गुरुकुल का करते थे जिनकी शिक्षा पद्धति बहुत ही बेहतरीन बहुत ही जबरदस्त तेजी लेकिन आपके मॉडर्न एजुकेशन की वजह से बच्चे पढ़ तो रहे हैं डिग्रियां हासिल तो कर रहे हैं परंतु उनके पास में वह शिक्षा नहीं है जो जीवन को जीने की राह सिखा सके जीवन को सही रास्ते पर चलाने का मार्गदर्शन कर सके तो हमें जरूरत है सही शिक्षा पद्धति की मेडिकल साइंस की बात करें हमारे देश के अंदर आयुर्वेद पद्धति स्कोर पांचवा वेद वेद मानते हैं चार वेदों के अलावा पांचवा वेद मानते हैं जिसको आयुर्वेद इसे अपने देश के हर उत्सव बीमार व्यक्ति को का इलाज करते हैं और पूरी दुनिया का भी करा सकते हैं क्योंकि यहां पर अपनी अर्थव्यवस्था को ठीक करें समाधान दो तरीके हैं मेरे हिसाब से पहला अपने किसान को मान और सम्मान और उसकी आयुक्त को बढ़ाना बढ़ावा देना दूसरा अपनी भारत में गौ माता जिस को माता बोलते हैं गांव में का बहुत बड़ा खतरा बन सकती है अगर हम इसके बारे में सोचें और सरकार इसके लिए कानून बनाती है तो यकीनन मेल करो सा और मेरा विश्वास है कि हम एक दिन जरूर हम विश्व शक्ति पहले भी थे आज भी हैं और हमेशा रहेंगे और समय समय आने पर समय आने पर असर किसी को विश्व के अंदर अपने साबित भी किया है तो एक बार में फिर से कहता हूं कि हां हम यानी कि भारत चीन को हरा करता है और पूरी दुनिया को अपने घुटने पटक आ सकता है अगर हम अपनी क्षमताओं के हिसाब से चलें और अपनी एकजुटता होकर एकता के हिसाब से चलें अपनी अपनी क्षमताओं के हिसाब से चलें अपनी ताकत को सही दिशा में इस्तेमाल करके चलाएं तो हम जरूर चीन को चालू करा सकते हैं जय हिंद जय भारत

kya bharat china ko hara sakta hai haan bharat china ko hara sakta hai zaroor aa sakta hai basharte iske liye hamein apni purani soch aur purani trikon ko dobara se apnane ki zarurat hai jaise ki svaavlambi banne ki zarurat hai bharat china ko zaroor aa sakta hai agar hum apne hi desh me bane saamaan ka istemal karte hain zyada se zyada istemal karte hain tabhi toh utha sakte hain kyonki hamara bharat aacharya chanakya ka bharat hai hamara bharat me buddha ka bharat hai hamara bharat subhash chandra bose bhagat Singh raajguru sukhadeva ka kaarak hai hamara bharat chandra modi ji ka naara hai aur hamara bharat un sabhi is uttar 30 crore ki aabadi se zyada ka bharat me jyadatar poore vishwa ke se zyada yuva shakti ka bharat hai hamein apni soch badalni hai ekjut hona hai hum zaroor kar sakte hain maine bachpan me padha tha fourth class ke andar ekta me takat hai toh main yah nahi dekhna hai ki kaun hindu muslim sikh isai kyonki hum sab aapas me ek insaan hain jab jab duniya par dikkat apna naam sahi hai tab tak bharat ne uska samadhan nikaala hai jaha main phir se kahata hoon ki bharat china ko hara sakta hai chahen vo education ka se sector 26 medica ka sector ho aur chahen vaah koi bhi sector ho hum sabhi me poore vishwa se chini toh kya poore vishwa me hum sabse aage hain basharte hamein apni takat ko pahachanana hoga apni chintaon ko pahachanana hoga aur unke hisab se hamein kaam karna hoga apne saath dekh sab sab jante honge yatra aap sabhi ko pata hoga ki purane samay me gurukul ka karte the jinki shiksha paddhatee bahut hi behtareen bahut hi jabardast teji lekin aapke modern education ki wajah se bacche padh toh rahe hain digriyan hasil toh kar rahe hain parantu unke paas me vaah shiksha nahi hai jo jeevan ko jeene ki raah sikha sake jeevan ko sahi raste par chalane ka margdarshan kar sake toh hamein zarurat hai sahi shiksha paddhatee ki medical science ki baat kare hamare desh ke andar ayurveda paddhatee score panchava ved ved maante hain char vedo ke alava panchava ved maante hain jisko ayurveda ise apne desh ke har utsav bimar vyakti ko ka ilaj karte hain aur puri duniya ka bhi kara sakte hain kyonki yahan par apni arthavyavastha ko theek kare samadhan do tarike hain mere hisab se pehla apne kisan ko maan aur sammaan aur uski aayukt ko badhana badhawa dena doosra apni bharat me gau mata jis ko mata bolte hain gaon me ka bahut bada khatra ban sakti hai agar hum iske bare me sochen aur sarkar iske liye kanoon banati hai toh yakinan male karo sa aur mera vishwas hai ki hum ek din zaroor hum vishwa shakti pehle bhi the aaj bhi hain aur hamesha rahenge aur samay samay aane par samay aane par asar kisi ko vishwa ke andar apne saabit bhi kiya hai toh ek baar me phir se kahata hoon ki haan hum yani ki bharat china ko hara karta hai aur puri duniya ko apne ghutne patak aa sakta hai agar hum apni kshamataon ke hisab se chalen aur apni ekjutata hokar ekta ke hisab se chalen apni apni kshamataon ke hisab se chalen apni takat ko sahi disha me istemal karke chalaye toh hum zaroor china ko chaalu kara sakte hain jai hind jai bharat

क्या भारत चीन को हरा सकता है हां भारत चीन को हरा सकता है जरूर आ सकता है बशर्ते इसके लिए हम

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user
0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चीन की जीडीपी भारत की जीडीपी से 6 गुना ज्यादा है और चीन का रक्षा बजट भारत के रक्षा बजट से 3 गुना ज्यादा है तो भारत को भी चीन को हराने के लिए अपने अर्थव्यवस्था को काफी हद तक मजबूत करना पड़ेगा तब हम लोग चीन को हरा सकते हैं

china ki gdp bharat ki gdp se 6 guna zyada hai aur china ka raksha budget bharat ke raksha budget se 3 guna zyada hai toh bharat ko bhi china ko harane ke liye apne arthavyavastha ko kafi had tak mazboot karna padega tab hum log china ko hara sakte hain

चीन की जीडीपी भारत की जीडीपी से 6 गुना ज्यादा है और चीन का रक्षा बजट भारत के रक्षा बजट से

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  63
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

25 आपने महकी कभी कोई है क्या भारत चीन को आ रहा था तब मैं आपको बता दूं हमें दोनों देशों को रुलाना नहीं है बल्कि 153 एकजुट बनाने दो ना देखे हो क्योंकि कल को भारत के साथ चीन सीवी रमन बाकी है कि हमारी भारत की टेक्नोलॉजी पहले से बहुत ज्यादा छतिया रही है जब से हमारे देश के पास है घटना नया कमांडर की वैकेंसी

25 aapne mehki kabhi koi hai kya bharat china ko aa raha tha tab main aapko bata doon humein dono deshon ko rulaana nahi hai balki 153 ekjoot banane do na dekhe ho kyonki kal ko bharat ke saath china cv raman baki hai ki hamari bharat ki technology pehle se bahut zyada chatiya rahi hai jab se hamare desh ke paas hai ghatna naya commander ki vacancy

25 आपने महकी कभी कोई है क्या भारत चीन को आ रहा था तब मैं आपको बता दूं हमें दोनों देशों को

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
user

Kuvar Singh Gautam

IAS aspirant

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर भारत और चीन के बीच दो उसमें यह तूने कहा जब से कौन जीते लेकिन अगर भारत चाहे तो अपनी आत्मा आत्मा शक्ति के बल पर चीन को मोहिनी की पहचान सकता है

agar bharat aur china ke beech do usmein yeh tune kaha jab se kaun jeete lekin agar bharat chahe toh apni aatma aatma shakti ke bal par china ko mahina ki pehchaan sakta hai

अगर भारत और चीन के बीच दो उसमें यह तूने कहा जब से कौन जीते लेकिन अगर भारत चाहे तो अपनी आत्

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  48
WhatsApp_icon
user
0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी भारत और चीन का मुकाबला जो एक चक्कर का है कि कि चीन के पास भी उतनी ही सैन्य अधिकार या फिर सैन्य ताकत है जितनी भारत के पास है लेकिन चाइना की सैन्य ताकत है वह बहुत ही ज्यादा है और उनके पास नई-नई टेक्नोलोजी और हमारे देश के पास भीख नहीं टेक्नोलॉजी है लेकिन चाइना के मुकाबले हमारे पास थोड़े कम है और चाइना देश की आवाज भी बहुत ही ज्यादा है उसकी जो सैनिक की संख्या बहुत ज्यादा है क्या कर युद्ध होता है कि हमारे या फिर चाइना के बीच में तो ज्यादातर चांस होंगे वह जीतने की बात तो दूर की है लेकिन यहां पर दोनों देशों को बहुत काफी ज्यादा नुकसान पहुंचा जिससे दोनों देशों को खत्म होने का खतरा हमेशा बना रहेगा कि जो भी कुछ लड़ाई होती है तो इसे शिवसेना का नुकसान नहीं है सारे दोनों देशों का नुकसान होती तो वहां की जनता मारी जा सकती है या फिर किसी भी खतरनाक हथियार से उस जगह को खत्म किया जा सकता है

vikee bharat aur china ka muqabla jo ek chakkar ka hai ki ki china ke paas bhi utani hi sainya adhikaar ya phir sainya takat hai jitni bharat ke paas hai lekin china ki sainya takat hai wah bahut hi zyada hai aur unke paas nayi nayi technology aur hamare desh ke paas bhik nahi technology hai lekin china ke muqable hamare paas thode kam hai aur china desh ki awaaz bhi bahut hi zyada hai uski jo sainik ki sankhya bahut zyada hai kya kar yudh hota hai ki hamare ya phir china ke beech mein toh jyadatar chance honge wah jitne ki baat toh dur ki hai lekin yahan par dono deshon ko bahut kafi zyada nuksan pahuncha jisse dono deshon ko khatam hone ka khatra hamesha bana rahega ki jo bhi kuch ladai hoti hai toh ise shivsena ka nuksan nahi hai saare dono deshon ka nuksan hoti toh wahan ki janta mari ja sakti hai ya phir kisi bhi khataranaak hathiyar se us jagah ko khatam kiya ja sakta hai

विकी भारत और चीन का मुकाबला जो एक चक्कर का है कि कि चीन के पास भी उतनी ही सैन्य अधिकार या

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  19
WhatsApp_icon
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों भारत में भी बहुत पीछे चीन पिछले 10 सालों में इतनी प्रगति की है कि उनकी अर्थव्यवस्था उनकी टिप्पणी कमाल गुरु कपिल भी आने वाले 20 बरस बरस नहीं इंडिया

doston bharat mein bhi bahut peeche china pichhle 10 salon mein itni pragati ki hai ki unki arthavyavastha unki tippani kamaal guru kapil bhi aane wale 20 baras baras nahi india

दोस्तों भारत में भी बहुत पीछे चीन पिछले 10 सालों में इतनी प्रगति की है कि उनकी अर्थव्यवस्थ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  61
WhatsApp_icon
user

PiNkI SiNgH

Ise graduate(BE)

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या भारत चीन को बदल सकती है कि नहीं यह आप सभी को जानना चाहता है बताना चाहूंगी भारत चीन की सेना उसे मजबूत नहीं है पर यह बात करें तो बिल्कुल बढ़ा सकते हैं क्योंकि 7:00 बजे से चीन जो है बहुत ही ज्यादा आगे निकलते हैं चाहे वह तकनीकी में हो चाहे वह अपनी सेना में हो या फिर फाइल्स गोइंग तुरंत ठीक करने में अगर आप देखिए कि जी नागर भारत में आया सब ठीक है तू बता भारत और चीन को हराकर फाइनल में भारत के आगे बाराती पीछे की और चीज़ जरा देखेंगे और नई तकनीकी कुछ नहीं अपनाएंगे तो नहीं हरा पाएंगे भारत की सोच विचार जरूर से बंद नाक बदलना है और जिस तरीके से हम लोग जो है अपने हर एक चीज को पूर्ण कर रहे हैं अपने देश के लिए अपने देश के विजय कान्वेंट है वह जल्दी से काम करेंगे तो जल्दी से हमारे कमेंट ज्यादा काम करेंगे जिस तरीके से प्रेग्नेंट हो सकते ह भारत दिल को चैन का रास्ता

kya bharat chin ko badal sakti hai ki nahi yeh aap sabhi ko janana chahta hai batana chahungi bharat chin ki sena use mazboot nahi hai par yeh baat karen to bilkul badha sakte hain kyonki 7:00 baje se chin jo hai bahut hi jyada aage nikalte hain chahe wah takniki mein ho chahe wah apni sena mein ho ya phir files going turant theek karne mein agar aap dekhie ki ji nagar bharat mein aaya sab theek hai tu bata bharat aur chin ko harakar final mein bharat ke aage barati piche ki aur cheese jara dekhenge aur nayi takniki kuch nahi apanaenge to nahi hara paenge bharat ki soch vichar jarur se band nak badalna hai aur jis tarike se hum log jo hai apne har ek cheez ko poorn kar rahe hain apne desh ke liye apne desh ke vijay kanwent hai wah jaldi se kaam karenge to jaldi se hamare comment jyada kaam karenge jis tarike se pregnant ho sakte h bharat dil ko chain ka rasta

क्या भारत चीन को बदल सकती है कि नहीं यह आप सभी को जानना चाहता है बताना चाहूंगी भारत चीन की

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!