रहीम किस काल के कवि है?...


user

Vinod Prajapat

Career Counsellor

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों आपका परिचय नहीं कि रहीम किस काल के कवि है तो रहीम को रीतिकाल के प्रमुख कवि माने जाते तथा यह 15वीं शताब्दी के भी मुख्य कवि हैं धन्यवाद

hello doston aapka parichay nahi ki rahim kis kaal ke kabhi hai toh rahim ko ritikal ke pramukh kabhi maane jaate tatha yah vi shatabdi ke bhi mukhya kabhi hai dhanyavad

हेलो दोस्तों आपका परिचय नहीं कि रहीम किस काल के कवि है तो रहीम को रीतिकाल के प्रमुख कवि मा

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  708
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

कमलेश कुमार पांचाल

शिक्षक और सलाहकार

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रहीम दास जी भक्ति काल के कवि माने जाते हैं

rahim das ji bhakti kaal ke kavi maane jaate hain

रहीम दास जी भक्ति काल के कवि माने जाते हैं

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  418
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गहराई में मुगल काल के थे और और रहीम जी रहीम दास जी मुगल शासक अकबर के काल के थे उनके दरबार में थे नवरत्नों में से एक थे

gehrai mein mughal kaal ke the aur aur rahim ji rahim das ji mughal shasak akbar ke kaal ke the unke darbaar mein the navaratnon mein se ek the

गहराई में मुगल काल के थे और और रहीम जी रहीम दास जी मुगल शासक अकबर के काल के थे उनके दरबार

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  285
WhatsApp_icon
play
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रहीम बैंड का पूरा नाम अब्दुल रहीम खान है जो कि मध्ययुगीन दरबारी संस्कृति के प्रतिनिधि कवि थे जिनका के जन्म 17 दिसंबर 1556 और मृत्यु 1627 स्पीक हुई थी हिंदी के बहुत जाने-माने प्रसिद्ध कवि अकबर के दरबार में इनका बहुत महत्वपूर्ण स्थान से अकबर के दरबार में यह नवराती जो थी उनमें से एक थे और गुजरात के युद्ध में शौर्य प्रदर्शन के कारण अकबर ने ने खानखाना की उपाधि भी दी थी रहीम जो है अरबी तुर्की की फांसी संस्कृति और हिंदी के बहुत अच्छे ज्ञाता थे

rahim BA nd ka pura naam abdul rahim khan hai jo ki madhyayugin darbari sanskriti ke pratinidhi kabhi the jinka ke janam 17 december 1556 aur mrityu 1627 speak hui thi hindi ke BA hut jaane maane prasiddh kabhi akbar ke darbaar mein inka BA hut mahatvapurna sthan se akbar ke darbaar mein yah navrati jo thi unmen se ek the aur gujarat ke yudh mein shorya pradarshan ke karan akbar ne ne khankhana ki upadhi bhi di thi rahim jo hai rb turkey ki fansi sanskriti aur hindi ke BA hut acche gyaata the

रहीम बैंड का पूरा नाम अब्दुल रहीम खान है जो कि मध्ययुगीन दरबारी संस्कृति के प्रतिनिधि कवि

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  317
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब्दुल रहीम खान 17 दिसंबर 1556 को पैदा हुए थे और उनकी मदद दी थी 16 27 को हुई थी जो कि 1 पॉइंट से मुगल एंपरर अकबर के तो यह 15 15 वीं शताब्दी के कवि थे

abdul rahim khan 17 december 1556 ko paida hue the aur unki madad di thi 16 27 ko hui thi jo ki 1 point se mughal emperor akbar ke toh yah 15 15 vi shatabdi ke kavi the

अब्दुल रहीम खान 17 दिसंबर 1556 को पैदा हुए थे और उनकी मदद दी थी 16 27 को हुई थी जो कि 1 प

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  323
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रहीम है वह 15 शताब्दी ईस्वी के कभी रहे हैं उनका जन्म 15 दिसंबर 1556 में हुआ था

rahim hai vaah 15 shatabdi isvi ke kabhi rahe hai unka janam 15 december 1556 mein hua tha

रहीम है वह 15 शताब्दी ईस्वी के कभी रहे हैं उनका जन्म 15 दिसंबर 1556 में हुआ था

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रहीम जो थे वह मुगल शासन के समय की बहुत ही बड़े कवि थे और उनका जन्म भी और 16 शताब्दी के बीच में उनका कार्यकाल रहा था और उनकी मृत्यु आगरा में हुई थी

rahim jo the vaah mughal shasan ke samay ki BA hut hi BA de kabhi the aur unka janam bhi aur 16 shatabdi ke beech mein unka karyakal raha tha aur unki mrityu agra mein hui thi

रहीम जो थे वह मुगल शासन के समय की बहुत ही बड़े कवि थे और उनका जन्म भी और 16 शताब्दी के बीच

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  339
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
rahim das kis kaal ke kavi the ; rahim das kis kaal ke kavi hai ; rahim das kis kaal ke kavi hain ; रहीम दास किस काल के कवि हैं ; rahim kis kaal ke kavi hai ; रहीम किस काल के कवि हैं ; rahim kis kaal ke kavi the ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!