भगवान मनुष्य से क्या चाहते हैं?...


user

En Rajendra Kumar Joshi

Life Coach, Motivator

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार भगवान मनुष्य से कुछ नहीं चाहते मनुष्य ही भगवान से सब कुछ चाहता है मनुष्य ने एक परिकल्पना की भगवान की और जो जो चीज जो जो चीजें उसको चाहिए उसको पाने के लिए उसने भगवान से याचना की कथा मनुष्य ने स्वयं ही भगवान की सृष्टि की है हम सब यही कहते हैं कि भगवान की सृष्टि भगवान दे हमारे श्रेष्ठ हमारे हम को उत्पन्न किया है लेकिन अगर दूसरे नजरिए से देखते हैं तो भगवान ने हम को उत्पन्न किया है या नहीं किया यह तो बहुत ही अलग दिशा हो जाएगा लेकिन हमने अवश्य भगवान को बनाया है और वह भी अपने फायदे के लिए साथियों निश्चित मानिए कि भगवान मनुष्य से कुछ भी नहीं चाहता मनुष्य को हमेशा यह समाज में यह संसार में लाभ पाने की कोशिश करते हो जाता है और इस कारण से वह भगवान से हमेशा याचना करता रहता है अगर भगवान का अस्तित्व मानते हैं तो मैं यह कहूंगा कि भगवान मनुष्य से अगर कुछ चाहते होंगे तो सिर्फ यह चाहते होंगे कि हे मनुष्य इस चीज को पहचान की तेरी उत्पत्ति मैंने की क्यों है और उस काम को पूरा कर और अपनी उत्पत्ति को सार्थक का धन्यवाद

namaskar bhagwan manushya se kuch nahi chahte manushya hi bhagwan se sab kuch chahta hai manushya ne ek parikalpana ki bhagwan ki aur jo jo cheez jo jo cheezen usko chahiye usko paane ke liye usne bhagwan se yachana ki katha manushya ne swayam hi bhagwan ki shrishti ki hai hum sab yahi kehte hain ki bhagwan ki shrishti bhagwan de hamare shreshtha hamare hum ko utpann kiya hai lekin agar dusre nazariye se dekhte hain toh bhagwan ne hum ko utpann kiya hai ya nahi kiya yah toh bahut hi alag disha ho jaega lekin humne avashya bhagwan ko banaya hai aur vaah bhi apne fayde ke liye sathiyo nishchit maniye ki bhagwan manushya se kuch bhi nahi chahta manushya ko hamesha yah samaj mein yah sansar mein labh paane ki koshish karte ho jata hai aur is karan se vaah bhagwan se hamesha yachana karta rehta hai agar bhagwan ka astitva maante hain toh main yah kahunga ki bhagwan manushya se agar kuch chahte honge toh sirf yah chahte honge ki hai manushya is cheez ko pehchaan ki teri utpatti maine ki kyon hai aur us kaam ko pura kar aur apni utpatti ko sarthak ka dhanyavad

नमस्कार भगवान मनुष्य से कुछ नहीं चाहते मनुष्य ही भगवान से सब कुछ चाहता है मनुष्य ने एक पर

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  616
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार गुड इवनिंग क्या है आपके भगवान मनुष्य क्या आप मेरे लिए कुछ करो ठीक है भगवान चाहते हैं मनुष्य अपने लिए ही सही मार्ग अपने लिए

namaskar good evening kya hai aapke bhagwan manushya kya aap mere liye kuch karo theek hai bhagwan chahte hain manushya apne liye hi sahi marg apne liye

नमस्कार गुड इवनिंग क्या है आपके भगवान मनुष्य क्या आप मेरे लिए कुछ करो ठीक है भगवान चाहते ह

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  1939
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!