हिंदी में लॉ करने से कोई नुकसान तो नहीं है?...


user

जसवन्त कटारिया

वकील, कानूनी सलाहकार

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल अगर आप हिंदी में लोग करते हैं इससे कोई नुकसान नहीं है अब तो आप सुप्रीम कोर्ट में भी हिंदी में एस्से और कमेंट कर सकते हैं

bilkul agar aap hindi me log karte hain isse koi nuksan nahi hai ab toh aap supreme court me bhi hindi me essay aur comment kar sakte hain

बिल्कुल अगर आप हिंदी में लोग करते हैं इससे कोई नुकसान नहीं है अब तो आप सुप्रीम कोर्ट में भ

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  211
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें मैंने आपका क्वेश्चन देखा है हिंदी में लो करने का कोई दोष नहीं है मैं आपको यहां बताना चाहूंगा कि अभी भी काफी राज्य में जो प्रोसिडिंग होती है वह हिंदी नहीं होती है जैसे कि यूपी में जो कानूनी प्रोसिडिंग होती है वह भी हिंदी में होती है राजस्थान में जो प्रो सेटिंग होती है वह भी हिंदी हिंदी में होती है मध्यप्रदेश में जो प्रोसिडिंग होती है वह भी हिंदी में होती है ऐसे काफी स्टेट हैं जिनमें हिंदी में प्रोसिडिंग होती है हिंदी में लॉक करने का कोई भी लॉस नहीं है आप हिंदी लैंग्वेज में भी लोग कर सकते हैं उसके बाद अपनी कैचिंग पॉवर इंग्लिश पावर को बढ़ाने के लिए आप कोचिंग ले सकते हैं आप सोशल ले सकते हैं हां आप अंग्रेजी आनी चाहिए कि यदि आपको हिंदी सेलो करने के बाद किसी के साथ में मैटर किसी एडवोकेट के साथ में अपना मैटर कंटेस्ट करते हैं साइड से तो लो यही होगा आप भी लोअर बनेंगे और यदि वह एडवोकेट इंग्लिश टू इंग्लिश बात करता है तो आप उसकी बात को समझ ले तो आप इंग्लिश की कोचिंग में सकते हैं उसकी बात को समझ सकते हैं और अपनी बात को अच्छी तरह से रख सकते हैं यहां मैं आपको बताना चाहूंगा कि हिंदी में लो करने का कोई भी दोस्त नहीं है धन्यवाद

dekhen maine aapka question dekha hai hindi me lo karne ka koi dosh nahi hai main aapko yahan batana chahunga ki abhi bhi kaafi rajya me jo proceeding hoti hai vaah hindi nahi hoti hai jaise ki up me jo kanooni proceeding hoti hai vaah bhi hindi me hoti hai rajasthan me jo pro setting hoti hai vaah bhi hindi hindi me hoti hai madhya pradesh me jo proceeding hoti hai vaah bhi hindi me hoti hai aise kaafi state hain jinmein hindi me proceeding hoti hai hindi me lock karne ka koi bhi loss nahi hai aap hindi language me bhi log kar sakte hain uske baad apni catching power english power ko badhane ke liye aap coaching le sakte hain aap social le sakte hain haan aap angrezi aani chahiye ki yadi aapko hindi cello karne ke baad kisi ke saath me matter kisi advocate ke saath me apna matter kantest karte hain side se toh lo yahi hoga aap bhi lower banenge aur yadi vaah advocate english to english baat karta hai toh aap uski baat ko samajh le toh aap english ki coaching me sakte hain uski baat ko samajh sakte hain aur apni baat ko achi tarah se rakh sakte hain yahan main aapko batana chahunga ki hindi me lo karne ka koi bhi dost nahi hai dhanyavad

देखें मैंने आपका क्वेश्चन देखा है हिंदी में लो करने का कोई दोष नहीं है मैं आपको यहां बताना

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  313
WhatsApp_icon
user

Vinay Modi

Advocate

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम विनय मोदी प्रोफेशन से एक वकील हूं मेरे मोबाइल नंबर 1285 026 408 है और जवाब का सवाल है कि हिंदी में आप लोगों करने से कोई नुकसान तो नया को बताना चाहूंगा कि कोर्स को करने में चाहे वह मीडियम कोई भी हो हिंदी हो इंग्लिश में डिपेंड ओं की अगर आप चाहते हैं उसकी लोकेशन हिंदी में हिंदी में किसी को फर्क नहीं पड़ता आप उसके साथ अब तक वकालत की कोर्ट में तो आराम से ही कर सकते हैं कोई प्रॉब्लम नहीं है और ऑल इन ऑल फील्ड्स बेलो यू वांट टू डू यू एल बी कोर्स फ्रॉम द वे ऑफ हिंदी और इंग्लिश

namaskar doston mera naam vinay modi profession se ek vakil hoon mere mobile number 1285 026 408 hai aur jawab ka sawaal hai ki hindi me aap logo karne se koi nuksan toh naya ko batana chahunga ki course ko karne me chahen vaah medium koi bhi ho hindi ho english me depend on ki agar aap chahte hain uski location hindi me hindi me kisi ko fark nahi padta aap uske saath ab tak vakalat ki court me toh aaram se hi kar sakte hain koi problem nahi hai aur all in all fields below you want to do you el be course from the ve of hindi aur english

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम विनय मोदी प्रोफेशन से एक वकील हूं मेरे मोबाइल नंबर 1285 026 408 ह

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  283
WhatsApp_icon
user

Ranpal Awana Advocate Noida

Advocacy, Supreme Court Of India, Ex Treasurer District Court Noida, Gautam Budh Nagar

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीमान जी आपका प्रश्न है कि हिंदी में लॉक करने का से कोई नुकसान तो नहीं बिल्कुल नहीं हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान नहीं होता हिंदी में जो आपको लगता हो जिस भाषा में लगता हो उस भाषा में आप लोग कर सकते हैं क्योंकि हर राज्य की और राज के बाद जिले की अपनी-अपनी भाषाएं होती है और उन्हीं भाषाओं के तहत है जो साइटेशन मूसली जो वकालत होती है फ्रेंड आती है आप पेडिसलेट की शान है वह सब कुछ उसी लोकल भाषा के तहत होती है और तो आप जैसे कि आपने अपना क्षेत्र यहां पर डिफाइन नहीं किया तो आप हिंदी में लॉक कर सकते हो चुकी हिंदी में लॉक करना कोई अपराध नहीं है और जो भारतीय संविधान में भारतीय कानून सुप्रीम कोर्ट हाईकोर्ट वह भी हिंदी में लॉक करने का आपको कहता है और आपको कोई बात नहीं कर सकता कि और किसी भाषा में आप करो तो आप हिंदी में ही लॉक करें धन्यवाद

shriman ji aapka prashna hai ki hindi me lock karne ka se koi nuksan toh nahi bilkul nahi hindi me lock karne se koi nuksan nahi hota hindi me jo aapko lagta ho jis bhasha me lagta ho us bhasha me aap log kar sakte hain kyonki har rajya ki aur raj ke baad jile ki apni apni bhashayen hoti hai aur unhi bhashaon ke tahat hai jo citation muesli jo vakalat hoti hai friend aati hai aap pedislet ki shan hai vaah sab kuch usi local bhasha ke tahat hoti hai aur toh aap jaise ki aapne apna kshetra yahan par define nahi kiya toh aap hindi me lock kar sakte ho chuki hindi me lock karna koi apradh nahi hai aur jo bharatiya samvidhan me bharatiya kanoon supreme court highcourt vaah bhi hindi me lock karne ka aapko kahata hai aur aapko koi baat nahi kar sakta ki aur kisi bhasha me aap karo toh aap hindi me hi lock kare dhanyavad

श्रीमान जी आपका प्रश्न है कि हिंदी में लॉक करने का से कोई नुकसान तो नहीं बिल्कुल नहीं हिं

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो आपके अपने विवेक पर निर्भर करता है कि आप भाषा कौन सा सुनते हैं किंतु एक लोहार के लिए मात्र एक ही भाषा नहीं बल्कि उसे अपने क्षेत्र की मल्टी भाषाओं को भी ज्ञान होना जरूरी है

yah toh aapke apne vivek par nirbhar karta hai ki aap bhasha kaun sa sunte hain kintu ek lohar ke liye matra ek hi bhasha nahi balki use apne kshetra ki multi bhashaon ko bhi gyaan hona zaroori hai

यह तो आपके अपने विवेक पर निर्भर करता है कि आप भाषा कौन सा सुनते हैं किंतु एक लोहार के लिए

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  527
WhatsApp_icon
user

Rajiv Chaturvedi

Lawyer | Business Man

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान तो नहीं है पर इंटरनेशनल अकादमी हिंदी तो हमारे यहां आ जाता है वकालत की पेशकश जानकारी

hindi me lock karne se koi nuksan toh nahi hai par international academy hindi toh hamare yahan aa jata hai vakalat ki peshkash jaankari

हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान तो नहीं है पर इंटरनेशनल अकादमी हिंदी तो हमारे यहां आ जात

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  449
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसने हिंदी में लोग करने से कोई नुकसान तो नहीं है इन्हीं बिल्कुल मुश्किलें अपने आप की लैंग्वेज होती है कोई करता है को इंग्लिश में करता है कैसे भी करें कि सबकी बराबर होती है वहां पर डिपेंड करता है कि आपकी कौन सी भाषा स्ट्रांग बेस आप इस बात का ध्यान रखें कि आप जिस भी लैंग्वेज में कर रहे हैं आप उस लैंग्वेज की पकड़ मजबूत करें मैंने भी लोग किया है आप कोई भी लैंग्वेज में हेलो कर सकते हो कोई दिक्कत नहीं कोई नुकसान नहीं है

kisne hindi me log karne se koi nuksan toh nahi hai inhin bilkul mushkilen apne aap ki language hoti hai koi karta hai ko english me karta hai kaise bhi kare ki sabki barabar hoti hai wahan par depend karta hai ki aapki kaun si bhasha strong base aap is baat ka dhyan rakhen ki aap jis bhi language me kar rahe hain aap us language ki pakad majboot kare maine bhi log kiya hai aap koi bhi language me hello kar sakte ho koi dikkat nahi koi nuksan nahi hai

किसने हिंदी में लोग करने से कोई नुकसान तो नहीं है इन्हीं बिल्कुल मुश्किलें अपने आप की लैंग

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  270
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं ऐसी कोई नहीं है कि कोई नुकसान है पहले की अंग्रेजी भी जरूरी है लेकिन वह आप हिंदी के बाद जब अ प्रैक्टिस में आएंगे तब धीरे-धीरे भी उसको पिक कमांड पा लेंगे ऐसा कुछ नहीं है कि हिंदी में अलग है और इंग्लिश में अलग है पढ़ाई सिर्फ एक ही है वह हिंदी पढ़ सकते आप फिर वही इंग्लिश में है तो आप धीरे-धीरे अपनी इंग्लिश भी अच्छी कमांड कीजिए हो जाएगा

nahi aisi koi nahi hai ki koi nuksan hai pehle ki angrezi bhi zaroori hai lekin vaah aap hindi ke baad jab a practice me aayenge tab dhire dhire bhi usko pic command paa lenge aisa kuch nahi hai ki hindi me alag hai aur english me alag hai padhai sirf ek hi hai vaah hindi padh sakte aap phir wahi english me hai toh aap dhire dhire apni english bhi achi command kijiye ho jaega

नहीं ऐसी कोई नहीं है कि कोई नुकसान है पहले की अंग्रेजी भी जरूरी है लेकिन वह आप हिंदी के बा

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं उसे शर्मा एडवोकेट आपका सवाल है हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान तो नहीं है देखिए हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान नहीं है मेरा खुद का लॉक हिंदी मीडियम से हैं मैं लैला में मैंने अलार्म हिंदी मीडियम से किया है और मुझे 6 साल हो गए प्रैक्टिस करते हुए लेकिन मेरा यह मानना है हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान तो नहीं है लेकिन मैंने खुद हिंदी मीडियम से हूं लेकिन इंग्लिश मीडियम में लो इजी पड़ती है और हिंदी मीडियम में लाओ तब पड़ती है क्योंकि हिंदी मीडियम की जो व्हाट्सएप लिस्ट लॉक के कानून के जोबट से बहुत ही ज्यादा ईस्ट है तुम मुझे बहुत ही बार में हिंदी मीडियम से हूं लेकिन ऐसे बॉर्डर आ जाते हैं तो मुझे इंग्लिश का बर्तन देखना पड़ता इंग्लिश में क्या बोलते हैं तो मेरा मैं खुद हिंदी मीडियम से हूं लेकिन मुझे इंग्लिश सीखनी लगती लो में हिंदी के कानून में लेकिन कोई नुकसान नहीं है क्योंकि जो अधीनस्थ न्यायालय हैं वह सब हिंदी में काम करते हैं आज राजस्थान मध्य प्रदेश उत्तर प्रदेश जहां हिंदी ज्यादा बोली जाती है झांकी कोई लोकल लैंग्वेज नहीं है तो वह हिंदी में काम होता है कोर्ट कोर्ट के अंदर जो अधीनस्थ देने वाले हैं हाईकोर्ट के नीचे आ हाई कोर्ट सुप्रीम कोर्ट में काम इंग्लिश में होता है लेकिन जो हाईकोर्ट के नीचे वाली कोर्ट उसमें काम हिंदी में होता है तो हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान नहीं है सही बात आपको जुड़ी सीने में जाना है या आपको एपीबी बनना है या लॉक के हिसाब से और कोई गवर्नमेंट जॉब चाहिए आप इन हिंदी मीडियम से तो कोई नुकसान नहीं है यदि आपके पास नॉलेज है तो आपका सिलेक्शन हो जाएगा वहां ऐसा नहीं है कोई भेदभाव नहीं है क्या आप इंग्लिश मीडियम फॉर हिंदी मीडियम ब्लूप्रिंट इंग्लिश मीडियम की जाएगी नहीं यह जो बोलते हैं यह सब फालतू की बातों पर यदि आपके पास नॉलेज है तो आप चले हो जाएगा आपका मेन बात नहीं अब आपको किसी भी मीडियम से हो आप दीदी आपके यहां से भरपूर नॉलेज है तो आप जरुर सफल होंगे लेकिन आप हिंदी में लॉक करते कोई नुकसान नहीं है लेकिन इंग्लिश में लॉक करना आसान देता है बजा हिंदी के उम्मीद करता मेरे जवाब से संतुष्ट होंगे मुझे लाइक कीजिए फॉलो कीजिए धन्यवाद

namaskar main use sharma advocate aapka sawaal hai hindi me lock karne se koi nuksan toh nahi hai dekhiye hindi me lock karne se koi nuksan nahi hai mera khud ka lock hindi medium se hain main laila me maine alarm hindi medium se kiya hai aur mujhe 6 saal ho gaye practice karte hue lekin mera yah manana hai hindi me lock karne se koi nuksan toh nahi hai lekin maine khud hindi medium se hoon lekin english medium me lo easy padti hai aur hindi medium me laao tab padti hai kyonki hindi medium ki jo whatsapp list lock ke kanoon ke jobat se bahut hi zyada east hai tum mujhe bahut hi baar me hindi medium se hoon lekin aise border aa jaate hain toh mujhe english ka bartan dekhna padta english me kya bolte hain toh mera main khud hindi medium se hoon lekin mujhe english sikhni lagti lo me hindi ke kanoon me lekin koi nuksan nahi hai kyonki jo adhinasth nyayalaya hain vaah sab hindi me kaam karte hain aaj rajasthan madhya pradesh uttar pradesh jaha hindi zyada boli jaati hai jhanki koi local language nahi hai toh vaah hindi me kaam hota hai court court ke andar jo adhinasth dene waale hain highcourt ke niche aa high court supreme court me kaam english me hota hai lekin jo highcourt ke niche wali court usme kaam hindi me hota hai toh hindi me lock karne se koi nuksan nahi hai sahi baat aapko judi seene me jana hai ya aapko APB banna hai ya lock ke hisab se aur koi government job chahiye aap in hindi medium se toh koi nuksan nahi hai yadi aapke paas knowledge hai toh aapka selection ho jaega wahan aisa nahi hai koi bhedbhav nahi hai kya aap english medium for hindi medium Blue print english medium ki jayegi nahi yah jo bolte hain yah sab faltu ki baaton par yadi aapke paas knowledge hai toh aap chale ho jaega aapka main baat nahi ab aapko kisi bhi medium se ho aap didi aapke yahan se bharpur knowledge hai toh aap zaroor safal honge lekin aap hindi me lock karte koi nuksan nahi hai lekin english me lock karna aasaan deta hai baja hindi ke ummid karta mere jawab se santusht honge mujhe like kijiye follow kijiye dhanyavad

नमस्कार मैं उसे शर्मा एडवोकेट आपका सवाल है हिंदी में लॉक करने से कोई नुकसान तो नहीं है देख

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपनी जानना चाहते हैं कि हिंदी में लाक करने से कोई नुकसान तो नहीं बिल्कुल नहीं हिंदी में ही लाभ की जरूरत है और किताबें भी उपलब्ध

apni janana chahte hain ki hindi me lock karne se koi nuksan toh nahi bilkul nahi hindi me hi labh ki zarurat hai aur kitaben bhi uplabdh

अपनी जानना चाहते हैं कि हिंदी में लाक करने से कोई नुकसान तो नहीं बिल्कुल नहीं हिंदी में ही

Romanized Version
Likes  405  Dislikes    views  6433
WhatsApp_icon
user

अमित कुमार दीक्षित "आदिदेव"

विधिवक्ता, कैरियर कॉउंसेलर एवं समाजसेवी

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें सा सब्जेक्ट है जो बहुत ही वर्सेटाइल है विश्वव्यापी है तो यदि आप लाखों विश्वस्तरीय समझना चाहते हैं तो आपको हिंदी अंग्रेजी और फ्रेंच मेरे लिए आपको लॉग सिर्फ तहसील के लिए समझना है तो आप जिस भी जिले और गांव और कस्बे में हैं आप कुछ भी भाषा में पड़ी आप नहीं मिला पड़ेंगे तभी वहां पर काला कोट पहन कर के ही बताएंगे तो मैं आपसे यही कहना चाहूंगा कि आप अपनी आवश्यकता के मुताबिक इसको विचार करिए आपको जुडिशल सर्विसेज में जाना है पढ़ने की जरूरत है आपको सिर्फ वकालत करनी है तब भी आपको ल पढ़ने की जरूरत है और अंग्रेजी में पढ़ने की जरूरत है हिंदी में भी बोलने की जरूरत है लेकिन यदि आप सिर्फ किसी स्थानीय तहसील में पढ़ना चाहते हैं बाग काम करना चाहते हैं तो वहां पर आप जिस तरह के लोग होते हैं उसी तरह से आपको अपना बोल और भाषा रखनी होती है नहीं जैसा देश वैसा भेष यह चुनाव पूरी तरह से आपका है क्योंकि मैं इतना बताना चाहूंगा बीइंग ए लॉयर हाई कोर्ट में प्रैक्टिस करता हूं लखनऊ में तो मैंने देखा है कि वही जुर्म जुर्म है और वही जुर्म जिला कोर्ट में आकर के अपराध हो जाता है और वही जिला कोर्ट से जमाई कोर्ट आता है तो क्राइम हो जाता है और आगे देश पर सजा होती तो गिल्टी हो जाती है तो सब एक ही है बात एक ही है चाहे क्राइम कहे चाहे जुर्म कहे चाहे आप अपराध के हैं बस अंतर है की जगह और स्थान का कि आप कहां पर क्या प्रेक्टिस कर रहे हैं तो बेहतर है क्या वर्सेटाइल बनी ब्लॉक का समझ विकसित करें और कुछ अच्छा करें धन्यवाद

dekhen sa subject hai jo bahut hi versatile hai vishvavyapi hai toh yadi aap laakhon vishvastariye samajhna chahte hain toh aapko hindi angrezi aur french mere liye aapko log sirf tehsil ke liye samajhna hai toh aap jis bhi jile aur gaon aur kasbe me hain aap kuch bhi bhasha me padi aap nahi mila padenge tabhi wahan par kaala coat pahan kar ke hi batayenge toh main aapse yahi kehna chahunga ki aap apni avashyakta ke mutabik isko vichar kariye aapko judicial services me jana hai padhne ki zarurat hai aapko sirf vakalat karni hai tab bhi aapko l padhne ki zarurat hai aur angrezi me padhne ki zarurat hai hindi me bhi bolne ki zarurat hai lekin yadi aap sirf kisi sthaniye tehsil me padhna chahte hain bagh kaam karna chahte hain toh wahan par aap jis tarah ke log hote hain usi tarah se aapko apna bol aur bhasha rakhni hoti hai nahi jaisa desh waisa bhesh yah chunav puri tarah se aapka hai kyonki main itna batana chahunga being a lawyer high court me practice karta hoon lucknow me toh maine dekha hai ki wahi jurm jurm hai aur wahi jurm jila court me aakar ke apradh ho jata hai aur wahi jila court se jamai court aata hai toh crime ho jata hai aur aage desh par saza hoti toh guilty ho jaati hai toh sab ek hi hai baat ek hi hai chahen crime kahe chahen jurm kahe chahen aap apradh ke hain bus antar hai ki jagah aur sthan ka ki aap kaha par kya practice kar rahe hain toh behtar hai kya versatile bani block ka samajh viksit kare aur kuch accha kare dhanyavad

देखें सा सब्जेक्ट है जो बहुत ही वर्सेटाइल है विश्वव्यापी है तो यदि आप लाखों विश्वस्तरीय सम

Romanized Version
Likes  92  Dislikes    views  2125
WhatsApp_icon
user
0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी मेला करने से कोई नुकसान तो नहीं है हिंदी में ला करने से कोई नुकसान नहीं है 99% लोग हिंदी में ही लाते रानी महिला होता है और कोर्ट करता है उसका काम ज्यादा था सब हिंदी में ही होता राजा होता है लेकिन यह है कि आपको इंग्लिश की भी नॉलेज होना चाहिए कार्रवाई इंग्लिश में अगर आपको करते हैं तो आपको हिंदी की पूरी नॉलेज होना चाहिए कि सामने वाला कल हिंदी में आपसे कोई बहस करता है तभी आप सब कुछ वही काम करेंगे जल्दी से

hindi mela karne se koi nuksan toh nahi hai hindi me la karne se koi nuksan nahi hai 99 log hindi me hi laate rani mahila hota hai aur court karta hai uska kaam zyada tha sab hindi me hi hota raja hota hai lekin yah hai ki aapko english ki bhi knowledge hona chahiye karyawahi english me agar aapko karte hain toh aapko hindi ki puri knowledge hona chahiye ki saamne vala kal hindi me aapse koi bahas karta hai tabhi aap sab kuch wahi kaam karenge jaldi se

हिंदी मेला करने से कोई नुकसान तो नहीं है हिंदी में ला करने से कोई नुकसान नहीं है 99% लोग ह

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  679
WhatsApp_icon
Likes  12  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
user

Meena

Advocate

2:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी में लव करने की कोई नुकसान है ऐसी कोई बात नहीं है इसे हिंदी में अगर आप हिंदी लैंग्वेज में ला करते हो और आपकी नुकसान होता है नहीं होता है बिल्कुल भी क्योंकि जो राजेश को पेपरों हो या फिर चाहे वकालत की फोटो वहां हिंदी भी चलती है हां यह बात सही है कि आप भी हिंदी में अगर सफर कर रहे हो अपने आपको प्रस्तुत करें तब आपको थोड़ा बहुत इंग्लिश स्पोकन जो आप एटीट्यूड थोड़ा इंग्लिश में भी आपको थोड़ा सा चेंज करना होगा क्योंकि आप अपने वार्ड को किसी ने कुछ दिया और उस को धन्यवाद किया और इस प्रकार से किसी की गलती करती हो वेडिंग बोलूं या जो लोगों को देखकर एटीट्यूड होता है वह थोड़ा सा चेंज होना चाहिए इंग्लिश हिंदी में ना करो आपकी नुकसान होती है क्योंकि आइए आपके अंडरस्टैंडिंग सिस्टम पर निर्भर करती है कि आपके समझ कितनी है इंग्लिश में लिख सके और फिर चाहे वह चीज का पेपर वह भी हिंदी माध्यम में होता है और फिर से सुप्रीम कोर्ट की भी बात करें तो राम जेठमलानी जैसे वकील भी हिंदी में ही आ जल्दी की थी उन्होंने और अच्छा साबित हुई क्योंकि इंग्लिश मीडियम शेर होते हैं होते हैं अगर आपकी अच्छी पकड़ है दोनों इंग्लिश मीडियम का टीचर हिंदी मैडम जी बच्चों को पढ़ा सकता है हिंदी मीडियम का टेशन इंग्लिश मीडियम के बच्चों को पकड़ लेता क्योंकि आपने देखा होगा कि इंग्लिश टीचर हिंदी में समझा देते हैं सोने की बात नहीं हिंदी हिंदी में ही शब्दों को समझाया जाता है फिर वह इंग्लिश में इंग्लिश मीडियम स्कूल में भी कुछ वर्षी होते हैं जिनको हम कहें एकदम सूटेबल इंग्लिश में यूज किए जाते हैं तो कोई दिक्कत नहीं हिंदी में आप लाकर आपको इंसान योगा

hindi me love karne ki koi nuksan hai aisi koi baat nahi hai ise hindi me agar aap hindi language me la karte ho aur aapki nuksan hota hai nahi hota hai bilkul bhi kyonki jo rajesh ko peparon ho ya phir chahen vakalat ki photo wahan hindi bhi chalti hai haan yah baat sahi hai ki aap bhi hindi me agar safar kar rahe ho apne aapko prastut kare tab aapko thoda bahut english spoken jo aap attitude thoda english me bhi aapko thoda sa change karna hoga kyonki aap apne ward ko kisi ne kuch diya aur us ko dhanyavad kiya aur is prakar se kisi ki galti karti ho wedding bolu ya jo logo ko dekhkar attitude hota hai vaah thoda sa change hona chahiye english hindi me na karo aapki nuksan hoti hai kyonki aaiye aapke understanding system par nirbhar karti hai ki aapke samajh kitni hai english me likh sake aur phir chahen vaah cheez ka paper vaah bhi hindi madhyam me hota hai aur phir se supreme court ki bhi baat kare toh ram jethmalani jaise vakil bhi hindi me hi aa jaldi ki thi unhone aur accha saabit hui kyonki english medium sher hote hain hote hain agar aapki achi pakad hai dono english medium ka teacher hindi madam ji baccho ko padha sakta hai hindi medium ka teshan english medium ke baccho ko pakad leta kyonki aapne dekha hoga ki english teacher hindi me samjha dete hain sone ki baat nahi hindi hindi me hi shabdon ko samjhaya jata hai phir vaah english me english medium school me bhi kuch varshi hote hain jinako hum kahein ekdam suitable english me use kiye jaate hain toh koi dikkat nahi hindi me aap lakar aapko insaan yoga

हिंदी में लव करने की कोई नुकसान है ऐसी कोई बात नहीं है इसे हिंदी में अगर आप हिंदी लैंग्वेज

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी माध्यम से लॉ की पढ़ाई करने में कोई नुकसान नहीं है परंतु मेरा यह अनुभव एवं विचार है कि आप भले परीक्षा पास करने के लिए हिंदी माध्यम से लॉ की पढ़ाई करें लेकिन आप लगातार अंग्रेजी माध्यम से लाभ पढ़ने के लिए तत्पर रहिए और लौकी जानकारी इंग्लिश के किताबों से प्राप्त करिए क्योंकि अभी भी पूरे भारतीय न्यायालय व्यवस्था में भारतीय विधायिका व्यवस्था में इंग्लिश में ही निर्णय अधिकतम पारित किए जाते हैं इंग्लिश में ही इन एक्टिवेट होता है हिंदी में भी होता है लेकिन हिंदी भी इतनी आसान नहीं होती हिंदी भी जटिल होती है तो हिंदी समझने के लिए कभी-कभी इंग्लिश का सहारा लेना पड़ता है और आप जब न्यायालय में आएंगे और जाएं बताओ प्रश्न उठाए बतौर वकील है वसीयत किसी भी रूप में आप जब प्रैक्टिस पर आएंगे तो आपको तमाम किताबें इंग्लिश में पहनी होगी और उनका इंटरप्रिटेशन करने के लिए आपको इंग्लिश की जानकारी होनी चाहिए तो परीक्षा पास करने और हिंदी माध्यम से ब्लॉक करने में कोई वैसे सामान्य रूप से कोई नुकसान नहीं है लेकिन आप लगातार विशेषज्ञता अपनी बढ़ाने के लिए आपको अंग्रेजी का सहारा लेना पड़ेगा और अंग्रेजी किताबों का अध्ययन आवश्यक

hindi madhyam se law ki padhai karne me koi nuksan nahi hai parantu mera yah anubhav evam vichar hai ki aap bhale pariksha paas karne ke liye hindi madhyam se law ki padhai kare lekin aap lagatar angrezi madhyam se labh padhne ke liye tatpar rahiye aur lauki jaankari english ke kitabon se prapt kariye kyonki abhi bhi poore bharatiya nyayalaya vyavastha me bharatiya vidhayika vyavastha me english me hi nirnay adhiktam paarit kiye jaate hain english me hi in activate hota hai hindi me bhi hota hai lekin hindi bhi itni aasaan nahi hoti hindi bhi jatil hoti hai toh hindi samjhne ke liye kabhi kabhi english ka sahara lena padta hai aur aap jab nyayalaya me aayenge aur jayen batao prashna uthye bataur vakil hai wasiyat kisi bhi roop me aap jab practice par aayenge toh aapko tamaam kitaben english me pahani hogi aur unka interpretation karne ke liye aapko english ki jaankari honi chahiye toh pariksha paas karne aur hindi madhyam se block karne me koi waise samanya roop se koi nuksan nahi hai lekin aap lagatar visheshagyata apni badhane ke liye aapko angrezi ka sahara lena padega aur angrezi kitabon ka adhyayan aavashyak

हिंदी माध्यम से लॉ की पढ़ाई करने में कोई नुकसान नहीं है परंतु मेरा यह अनुभव एवं विचार है क

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  749
WhatsApp_icon
user

Brijpal Singh Chouhan

Social Worker, journalist

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय माता की जय गुरुवर की आपका प्रश्न है हिंदी मेला करने से कोई परेशान तो नहीं है कोई नुकसान नहीं है क्योंकि अगर नुकसान होता तो ला हिंदी में करवाया ही क्यों जाता क्योंकि अगर यह व्यवस्था है कि आप चाहें तो हिंदी मीडियम से लालपुर करें या इंग्लिश मीडियम से दोनों माध्यम आपके लिए खुले हैं तो आप हिंदी से जाते तो हिंदी से बिल्कुल आ कर सकते हैं आप थोड़ा बहुत इंग्लिश का गाना चाहिए क्योंकि बहुत सी धारा 111 उसमें इंग्लिश में लिखे होते हैं तो पढ़ना तो आपको आना चाहिए और थोड़ा समझ में आने चाहिए क्योंकि नहीं तो आपने अगर डिग्री ले ही ली तो भी दिक्कतें आएंगी क्योंकि आपको प्रैक्टिस करनी होगी और अगर आपको बढ़ने की जरूरत है कि आप चाहते हैं हाइड्रो सुप्रीम कोर्ट की भी आपको अपनी बने तो वहां तो इस समय उसको ज्यादा महत्व दिया जाता है तो वैसे हिंदी को भी मात्र देते हैं तो आपको इंग्लिश भी आनी अच्छा रहेगा अगर ऐसा नहीं तब भी आप हिंदी मीडियम से आपने पूरा कोर्स कर सकते हैं और रजिस्ट्रेशन भी करवा सकते हैं धन्यवाद

jai mata ki jai guruvar ki aapka prashna hai hindi mela karne se koi pareshan toh nahi hai koi nuksan nahi hai kyonki agar nuksan hota toh la hindi me karvaya hi kyon jata kyonki agar yah vyavastha hai ki aap chahain toh hindi medium se lalpur kare ya english medium se dono madhyam aapke liye khule hain toh aap hindi se jaate toh hindi se bilkul aa kar sakte hain aap thoda bahut english ka gaana chahiye kyonki bahut si dhara 111 usme english me likhe hote hain toh padhna toh aapko aana chahiye aur thoda samajh me aane chahiye kyonki nahi toh aapne agar degree le hi li toh bhi dikkaten aayengi kyonki aapko practice karni hogi aur agar aapko badhne ki zarurat hai ki aap chahte hain hydro supreme court ki bhi aapko apni bane toh wahan toh is samay usko zyada mahatva diya jata hai toh waise hindi ko bhi matra dete hain toh aapko english bhi aani accha rahega agar aisa nahi tab bhi aap hindi medium se aapne pura course kar sakte hain aur registration bhi karva sakte hain dhanyavad

जय माता की जय गुरुवर की आपका प्रश्न है हिंदी मेला करने से कोई परेशान तो नहीं है कोई नुकसा

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  1106
WhatsApp_icon
user

Yogender Dhillon

Law Educator , Advocate Motivational Coach

0:58
Play

Likes  66  Dislikes    views  780
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी माध्यम से लॉक करने का कोई नुकसान अंग्रेजी और अगर आपको दोनों भाषा माध्यम में इतनी कठिन शब्द होते हैं कि अंग्रेजी सरल लगने लगती है हिंदी में शुद्ध हिंदी में अगर आप नहीं पढ़ पाए भी ज्यादा कठिन हो

hindi madhyam se lock karne ka koi nuksan angrezi aur agar aapko dono bhasha madhyam me itni kathin shabd hote hain ki angrezi saral lagne lagti hai hindi me shudh hindi me agar aap nahi padh paye bhi zyada kathin ho

हिंदी माध्यम से लॉक करने का कोई नुकसान अंग्रेजी और अगर आपको दोनों भाषा माध्यम में इतनी कठि

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  890
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रिय मित्र हिंदी मेला करने से कोई नुकसान नहीं है अगर आप उच्च न्यायालय में वकालत का व्यवसाय करना चाहते हैं या सुप्रीम कोर्ट में वकालत का व्यवसाय करना चाहते हैं तब ऐसी स्थिति में मेरा आपको साला है क्या इंग्लिश में ना करें क्योंकि हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में कार्यकारी भाषा अंग्रेजी है अगर आप अंग्रेजी मेला करेंगे तब आपको हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में वकालत करने में ज्यादा समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा अगर आप लोकल स्तर पर जिला स्तर पर वकालत करना चाहते तब आप हिंदी में ला कर सकते हैं कहीं कोई इसमें समस्या नहीं है धन्यवाद

priya mitra hindi mela karne se koi nuksan nahi hai agar aap ucch nyayalaya me vakalat ka vyavasaya karna chahte hain ya supreme court me vakalat ka vyavasaya karna chahte hain tab aisi sthiti me mera aapko sala hai kya english me na kare kyonki highcourt aur supreme court me kaaryakari bhasha angrezi hai agar aap angrezi mela karenge tab aapko highcourt ya supreme court me vakalat karne me zyada samasyaon ka samana nahi karna padega agar aap local sthar par jila sthar par vakalat karna chahte tab aap hindi me la kar sakte hain kahin koi isme samasya nahi hai dhanyavad

प्रिय मित्र हिंदी मेला करने से कोई नुकसान नहीं है अगर आप उच्च न्यायालय में वकालत का व्यवसा

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1155
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि आपने हिंदी मीडियम से परीक्षाएं पास की हैं और आपका इंग्लिश मीडियम कमजोर है तो आप विशेष तौर पर हिंदी मीडियम से हिला करें और यदि आपकी इंग्लिश बहुत बढ़िया है और आपको ऐसा लगता है कि मैं लेट भी कर सकता हूं तो फिर आप इंग्लिश मीडियम सैलरी करें

yadi aapne hindi medium se parikshaen paas ki hain aur aapka english medium kamjor hai toh aap vishesh taur par hindi medium se hila kare aur yadi aapki english bahut badhiya hai aur aapko aisa lagta hai ki main late bhi kar sakta hoon toh phir aap english medium salary kare

यदि आपने हिंदी मीडियम से परीक्षाएं पास की हैं और आपका इंग्लिश मीडियम कमजोर है तो आप विशेष

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  345
WhatsApp_icon
user

Rathee Suresh

READER (Rtd.)Legal Advisor, Career Counsellor, Social Services

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साथियों नमस्कार गोकुल पर आपका स्वागत है प्रश्न है हिंदी में ला करने के नुकसान तो नहीं है ना हिंदी में आप कीजिए आपकी नॉलेज बढ़ेगी आपको कानून का ज्ञान होगा और अगर आपके एरिया के अंदर हॉट न्यायालयों के अंदर हिंदी भाषा का इस्तेमाल हो सकते हैं होता है तो आपको इतनी दिक्कत नहीं आएगी लेकिन अगर आपके वहां अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल होता है न्यायालयों के अंदर तो आपको दिक्कत आने लाजमी हैं और मैं कहना चाहता हूं कि सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जजमेंट पढ़ने के लिए आपका इंग्लिश में होना जरूरी है और अच्छा है अगर इंग्लिश में हो तो लेकिन आमतौर पर अगर आप जैसी यूपी स्टेट के अंदर है हिंदी में लव चलती है न्यायालयों के अंदर तो वहां पे में घुसने लेकिन हाईकोर्ट सुप्रीम कोर्ट जजमेंट सॉलिड करने के लिए आपकी इंग्लिश में जानकारी होना बहुत जरूरी है

sathiyo namaskar gokul par aapka swaagat hai prashna hai hindi me la karne ke nuksan toh nahi hai na hindi me aap kijiye aapki knowledge badhegi aapko kanoon ka gyaan hoga aur agar aapke area ke andar hot nyayalayon ke andar hindi bhasha ka istemal ho sakte hain hota hai toh aapko itni dikkat nahi aayegi lekin agar aapke wahan angrezi bhasha ka istemal hota hai nyayalayon ke andar toh aapko dikkat aane lajmi hain aur main kehna chahta hoon ki supreme court aur high court ke judgement padhne ke liye aapka english me hona zaroori hai aur accha hai agar english me ho toh lekin aamtaur par agar aap jaisi up state ke andar hai hindi me love chalti hai nyayalayon ke andar toh wahan pe me ghusne lekin highcourt supreme court judgement solid karne ke liye aapki english me jaankari hona bahut zaroori hai

साथियों नमस्कार गोकुल पर आपका स्वागत है प्रश्न है हिंदी में ला करने के नुकसान तो नहीं है न

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

Deepak Chhikara

Criminal Lawyer

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेके हिंदी मीडियम से एलएलबी करने में कोई भी समस्या में ना कोई नुकसान होता है आप जो हैं एलएलबी हिंदी इंग्लिश दोनों में से किसी भी भाषा में कर सकते हैं

leke hindi medium se llb karne me koi bhi samasya me na koi nuksan hota hai aap jo hain llb hindi english dono me se kisi bhi bhasha me kar sakte hain

लेके हिंदी मीडियम से एलएलबी करने में कोई भी समस्या में ना कोई नुकसान होता है आप जो हैं एलए

Romanized Version
Likes  87  Dislikes    views  631
WhatsApp_icon
user

Mohit

Legal Expert/ Career Guide/ Motivational Speaker/Enterpreneur Coach

1:08
Play

Likes  54  Dislikes    views  1242
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे कोई नुकसान नहीं है बिल्कुल गुस्सा नहीं है हिंदी में करिए अंग्रेजी में करिए इसलिए बोलो सब्जेक्ट होते हैं दोनों के जब भी क्वेश्चन पेपर आता है तो दोनों भाषाओं में आता है इंग्लिश हिंदी में भुलाने को जरूरत नहीं है आपको हिंदी अच्छी

dekhe koi nuksan nahi hai bilkul gussa nahi hai hindi me kariye angrezi me kariye isliye bolo subject hote hain dono ke jab bhi question paper aata hai toh dono bhashaon me aata hai english hindi me bhulane ko zarurat nahi hai aapko hindi achi

देखे कोई नुकसान नहीं है बिल्कुल गुस्सा नहीं है हिंदी में करिए अंग्रेजी में करिए इसलिए बोलो

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  803
WhatsApp_icon
user
0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी में लव करने का कोई नुकसान तो नहीं और पड़ जाता है आप अंडरस्टैंड के लिए हिंदी में रखी है लेकिन जो उसके साथ हैं उनको आप इंग्लिश में नहीं तभी आपके लिए सरलता हो धन्यवाद

hindi me love karne ka koi nuksan toh nahi aur pad jata hai aap understand ke liye hindi me rakhi hai lekin jo uske saath hain unko aap english me nahi tabhi aapke liye saralata ho dhanyavad

हिंदी में लव करने का कोई नुकसान तो नहीं और पड़ जाता है आप अंडरस्टैंड के लिए हिंदी में रखी

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1610
WhatsApp_icon
user

डा आचार्य महेंद्र

Astroloser,Vastusastro,pravchankarta

0:44
Play

Likes  116  Dislikes    views  1045
WhatsApp_icon
user

Gaurav Vyas

Advocate High Court

3:07
Play

Likes  34  Dislikes    views  514
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

Likes  12  Dislikes    views  201
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  17  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!