हमारी ऐसी कौन सी आदतें हैं जो जाने-अनजाने में हमारे देश के विकास में बाधा डाल रही हैं?...


play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारी कौन सी आदत है जो जाने अनजाने में हमारे देश के विकास में बाधा अनजाने में हम जो भी खरीदी करते हैं जो भी हमसे लेते हैं और हम के बिल का आग्रह नहीं करते और हम कैश देकर निकल जाते हैं तो उससे जो राजस्व का जीएसटी का नुकसान हमारे देश को पता है और सब लोग ऐसा तो देश को बहुत सारा नुकसान होता है इसके अलावा जो इनकम टैक्स का प्रावधान है तो हम इनकम टैक्स की लिमिट जो है वह हम पूरी अच्छी तरीके से सही तरीके से सरकार को जिसको भी करते उससे भी हम इनकम टैक्स भरने से बचते हैं टैक्स प्लानिंग जिसको कहते हैं कि सब लोग टैक्स प्लानिंग करता है टैक्स को कैसे बचाया जाए इसे भी देश को नुकसान होता है इसके अलावा हम आरटीओ ऑफिस इसको कभी छोड़कर अगर पकड़े जाते हैं तो हम जो पुलिस वाले अधिकारियों को कुछ पैसा देकर और दंड से बच जाते हैं इससे भी देश को नुकसान होता है इसके अलावा हम बहुत से ऐसे छोटे-मोटे काम करते हैं जिससे देश की प्रगति में बाधा आती है लकी हमेशा बिल्कुल नहीं करना चाहिए क्योंकि देश समृद्ध रहेगा तभी हमारी समृद्धि हमारे कदमों तक आएगी और सभी लोगों का धन्यवाद

hamari kaun si aadat hai jo jaane anjaane mein hamare desh ke vikas mein badha anjaane mein hum jo bhi kharidi karte hain jo bhi humse lete hain aur hum ke bill ka agrah nahi karte aur hum cash dekar nikal jaate hain toh usse jo rajaswa ka gst ka nuksan hamare desh ko pata hai aur sab log aisa toh desh ko bahut saara nuksan hota hai iske alava jo income tax ka pravadhan hai toh hum income tax ki limit jo hai vaah hum puri achi tarike se sahi tarike se sarkar ko jisko bhi karte usse bhi hum income tax bharne se bachte hain tax planning jisko kehte hain ki sab log tax planning karta hai tax ko kaise bachaya jaaye ise bhi desh ko nuksan hota hai iske alava hum rto office isko kabhi chhodkar agar pakde jaate hain toh hum jo police waale adhikaariyo ko kuch paisa dekar aur dand se bach jaate hain isse bhi desh ko nuksan hota hai iske alava hum bahut se aise chhote mote kaam karte hain jisse desh ki pragati mein badha aati hai lucky hamesha bilkul nahi karna chahiye kyonki desh samriddh rahega tabhi hamari samridhi hamare kadmon tak aayegi aur sabhi logo ka dhanyavad

हमारी कौन सी आदत है जो जाने अनजाने में हमारे देश के विकास में बाधा अनजाने में हम जो भी खरी

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  1104
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!