मैं जो सोचता हूँ वह होता क्यों नहीं है?...


user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

2:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्त ऐसा है कि सोचने में और होने के बीच में जो फासला होता है ना अगर इसको आपने सही तरीके से सही समय में तय कर लिया तो डेफिनेटली आपको सफलता मिलेगी लेकिन होता क्या है कि हम जो सोचते हैं जिस समय सोचते हैं जिस तरीके से सोचते हैं उसके बाद जब उसको इंप्लीमेंट करने जाते हैं वो काम करने जाते हैं वो काम अगर वैसा नहीं होता तो डेफिनिटी आपको रिजल्ट नहीं मिलेगा कई बार इसलिए भी नहीं होता कि भाई अब मैं जो सोच रहा हूं वह शायद प्रैक्टिकल मैं जो सोच रहा हूं वह शायद मेरे कैपेबिलिटीज के बाहर हैं मैं कर ही नहीं सकता हो सकता है मैं शुरुआत करता हूं शुरू करता हूं लेकिन बाद में जाकर लगता है एक रीजन या कई रीजन के कारण के मैच को कंप्लीट नहीं कर पाऊंगा कई बार परिस्थिति के हिसाब से आप नहीं कर पाते हैं तो बहुत सारी चीजें जाती है कि आप सोचते क्या है उसके बाद के तरीके से अपने काम पर आप लगते हैं और फिर किस तरीके से उसको क्लोजर कहलाते हैं तो सबसे इंपॉर्टेंट बात होती है किसी भी हम जैसे एमबीए वगैरह में हम पढ़ते हैं तो क्या बोलते हैं भाई प्लान टो चेक n82 सबसे ज्यादा टाइम आपका घर लगना चाहिए तो प्लानिंग में लगना चाहिए स्टार्ट जी मेकिंग में लगना चाहिए चाहे बड़ा काम हो जाए छोटा काम प्लान कर देना और देखते हैं कि यह काम को करने के लिए क्या-क्या करना पड़ सकता है क्या-क्या चीज की जरूरत पड़ेगी इसको आगे में कैसे ले जाऊं वगैरा वगैरा तो अगर आपने प्लानिंग स्टेज पर काफी रोवर्स प्लान बना लिया तो आपको एक आईडिया मिल जाता है कि यह करने की जरूरत है ऐसे करूंगा तो यह हो जाएगा लेकिन अगर आपको प्लानिंग स्टेज पर लगता है कि नहीं यह नहीं हो सकता तो उस आईडी को ब्लॉक कर दो या फिर वह सारी चीजें इकट्ठा कर लो उसके बाद काम को शुरू करो फिर काम आपका डेफिनिटी कंप्लीट हो पाएगा तो यह होता है अब मैं प्रॉमिस मुद्दा लांडू सैटेलाइट सबसे पहले प्लान कीजिए उसके बाद उसको करिए लगन से करिए मन लगा कि करिए चेक करिए सब ठीक-ठाक हो रहा है नहीं हो रहा अगर कहीं पर ऊपर नीचे है तो उसको तुरंत फिक्स कीजिए और आगे बढ़िए आपका काम ऐसे ही होगा आपको मन लगाकर डेडीकेशन के साथ काम करना पड़ेगा तब तक नहीं छोड़ना जब तक आपका काम नहीं कंप्लीट हो जाता क्योंकि काम आपने चुनाव किया है भैया वही काम उठाएगी ना सबसे पहली बार जिसका कुछ मीनिंग हो कोई पद पर पर अगर पसंद नहीं है तो आपका मत उठाया क्या जरूरत है हर काम उठाने की मत कीजिए वह काम सिंपल

dost aisa hai ki sochne me aur hone ke beech me jo fasla hota hai na agar isko aapne sahi tarike se sahi samay me tay kar liya toh definetli aapko safalta milegi lekin hota kya hai ki hum jo sochte hain jis samay sochte hain jis tarike se sochte hain uske baad jab usko implement karne jaate hain vo kaam karne jaate hain vo kaam agar waisa nahi hota toh definiti aapko result nahi milega kai baar isliye bhi nahi hota ki bhai ab main jo soch raha hoon vaah shayad practical main jo soch raha hoon vaah shayad mere kaipebilitij ke bahar hain main kar hi nahi sakta ho sakta hai main shuruat karta hoon shuru karta hoon lekin baad me jaakar lagta hai ek reason ya kai reason ke karan ke match ko complete nahi kar paunga kai baar paristhiti ke hisab se aap nahi kar paate hain toh bahut saari cheezen jaati hai ki aap sochte kya hai uske baad ke tarike se apne kaam par aap lagte hain aur phir kis tarike se usko closure kehlate hain toh sabse important baat hoti hai kisi bhi hum jaise mba vagera me hum padhte hain toh kya bolte hain bhai plan toe check n82 sabse zyada time aapka ghar lagna chahiye toh planning me lagna chahiye start ji making me lagna chahiye chahen bada kaam ho jaaye chota kaam plan kar dena aur dekhte hain ki yah kaam ko karne ke liye kya kya karna pad sakta hai kya kya cheez ki zarurat padegi isko aage me kaise le jaaun vagera vagera toh agar aapne planning stage par kaafi Rovers plan bana liya toh aapko ek idea mil jata hai ki yah karne ki zarurat hai aise karunga toh yah ho jaega lekin agar aapko planning stage par lagta hai ki nahi yah nahi ho sakta toh us id ko block kar do ya phir vaah saari cheezen ikattha kar lo uske baad kaam ko shuru karo phir kaam aapka definiti complete ho payega toh yah hota hai ab main promise mudda landu satellite sabse pehle plan kijiye uske baad usko kariye lagan se kariye man laga ki kariye check kariye sab theek thak ho raha hai nahi ho raha agar kahin par upar niche hai toh usko turant fix kijiye aur aage badhiye aapka kaam aise hi hoga aapko man lagakar dedikeshan ke saath kaam karna padega tab tak nahi chhodna jab tak aapka kaam nahi complete ho jata kyonki kaam aapne chunav kiya hai bhaiya wahi kaam uthayegee na sabse pehli baar jiska kuch meaning ho koi pad par par agar pasand nahi hai toh aapka mat uthaya kya zarurat hai har kaam uthane ki mat kijiye vaah kaam simple

दोस्त ऐसा है कि सोचने में और होने के बीच में जो फासला होता है ना अगर इसको आपने सही तरीके स

Romanized Version
Likes  661  Dislikes    views  6246
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!