ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहा जाता है ?...


play
user

Anil Yadav

Railway Employee

0:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऊंट को रेगिस्तान का जहाज इसलिए कहा जाता है क्योंकि वह बिन पानी के कई दिन तक जीवित रहता है और रेत में काफी तेज दौड़ सकता है

unth ko registan ka jahaj isliye kaha jata hai kyonki vaah bin paani ke kai din tak jeevit rehta hai aur ret mein kaafi tez daudh sakta hai

ऊंट को रेगिस्तान का जहाज इसलिए कहा जाता है क्योंकि वह बिन पानी के कई दिन तक जीवित रहता है

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  31
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Nishu Raj

Student

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऊंट का जो पैर होता है उसके पैर का निचला भाग जिसे खुद कहते हैं उतना गद्देदार होता है इसलिए ऊंट को रेगिस्तान में चलने में आसानी होती है और वह रेगिस्तान में तेज चलता है इसलिए उसे रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है

unth ka jo pair hota hai uske pair ka nichala bhag jise khud kehte hai utana gaddedar hota hai isliye unth ko registan mein chalne mein aasani hoti hai aur vaah registan mein tez chalta hai isliye use registan ka jahaj kaha jata hai

ऊंट का जो पैर होता है उसके पैर का निचला भाग जिसे खुद कहते हैं उतना गद्देदार होता है इसलिए

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  375
WhatsApp_icon
user

Rajput Paras

Traveler

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों माना जाता है क्योंकि उनका वाहन इसलिए क्योंकि ज्यादातर रेगिस्तान में चलते हैं और उनको थक आओ और चाहे चलने की मजबूत उनको वहां से वह मिट्टी से मिलती है और उठ जाए पानी में पैसा भी ले सकता है क्योंकि उठ जाए पानी जब पीता है तो पीने के बाद भी वह थोड़ा अपना गले में जो उनकी को थोड़ी होती है दिल्ली के अंदर पानी जमा करके वह बचा सकता है और उनको जब भी वह प्यास लगती है तब वह उस में से पानी पी लेता जब पानी अगर नहीं मिलता है तब वह हथेली में बचा हुआ पानी को संभाल कर रखता है उसे वह पी लेता है और ऊंट आगे आगे तक चल सकते चलने की कोई गुंजाइश नहीं है दौड़ने दौड़ भी सकता है और चल भी सकता है इसीलिए उन को रेगिस्तान का जहाज माना जाता है

unth ko registan ka jahaj kyon mana jata hai kyonki unka vaahan isliye kyonki jyadatar registan mein chalte hai aur unko thak aao aur chahen chalne ki majboot unko wahan se vaah mitti se milti hai aur uth jaaye paani mein paisa bhi le sakta hai kyonki uth jaaye paani jab pita hai toh peene ke BA ad bhi vaah thoda apna gale mein jo unki ko thodi hoti hai delhi ke andar paani jama karke vaah BA cha sakta hai aur unko jab bhi vaah pyaas lagti hai tab vaah us mein se paani p leta jab paani agar nahi milta hai tab vaah hatheli mein BA cha hua paani ko sambhaal kar rakhta hai use vaah p leta hai aur unth aage aage tak chal sakte chalne ki koi gunjaiesh nahi hai daudne daudh bhi sakta hai aur chal bhi sakta hai isliye un ko registan ka jahaj mana jata hai

ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों माना जाता है क्योंकि उनका वाहन इसलिए क्योंकि ज्यादातर रेगिस

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  238
WhatsApp_icon
user

Preetisingh

Junior Volunteer

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऊंट को रेगिस्तान का जहाज इसलिए कहा जाता है क्योंकि रेगिस्तान में जहां पर इंसान और सामान्य गाड़ियां हार जाते हैं वहीं मौत 65 किलोमीटर घंटे की रफ्तार से दौड़ता है जैसी आती धूप में हमें हर 10 मिनट में पानी चाहिए उतना नहीं मजे से अपनी पीठ पर फूल लेकर चलता रहता है इसलिए उस को रेगिस्तान का जहाज कहते हैं

unth ko registan ka jahaj isliye kaha jata hai kyonki registan mein jaha par insaan aur samanya gadiyan haar jaate hai wahi maut 65 kilometre ghante ki raftaar se daudata hai jaisi aati dhoop mein hamein har 10 minute mein paani chahiye utana nahi maje se apni peeth par fool lekar chalta rehta hai isliye us ko registan ka jahaj kehte hain

ऊंट को रेगिस्तान का जहाज इसलिए कहा जाता है क्योंकि रेगिस्तान में जहां पर इंसान और सामान्य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user
0:00
Play

हम और आप जब भी राजस्थान या रेगिस्तान की बात करतें है तो सबसे पहले जो बात ध्यान में आती है वह है ऊंट यानी रेगिस्तान के जहाज की सवारी की | रेगिस्तान जहां पर इंसान और सामान्य गाड़ियां हार जातीं है वही ऊंट ६५ घंटे की रफ्तार से दौड़ता है | चिलचलाती धुप में हमें हर १० मिनट में पानी चाहिए होता है वहीँ ऊंट मजे से अपनी पीठ पर बोझ लेकर चलता रहता है | इसलिए आज मै आपको इस तथ्य से अवगत करने का प्रयास करूँगा की आखिर ऊंट को ही रेगिस्तान का जहाज क्यों खा जाता है ?

hum aur aap jab bhi rajasthan ya registan ki BA at karte hai toh sabse pehle jo BA at dhyan mein aati hai vaah hai unth yani registan ke jahaj ki sawari ki registan jaha par insaan aur samanya gadiyan haar jaatin hai wahi unth 65 ghante ki raftaar se daudata hai chilachalati dhup mein hamein har 10 minute mein paani chahiye hota hai wahi unth maje se apni peeth par bojh lekar chalta rehta hai isliye aaj mai aapko is tathya se avgat karne ka prayas karunga ki aakhir unth ko hi registan ka jahaj kyon kha jata hai

हम और आप जब भी राजस्थान या रेगिस्तान की बात करतें है तो सबसे पहले जो बात ध्यान में आती है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  19
WhatsApp_icon
user

Munmun 🌈

Volunteer

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आंधी के चलता फिरता अजूबा है जैसे ही कोई उठ 5 वर्षों से बड़ा होने शुरू होता है तो उसके पास जो है कई आश्चर्यजनक क्षमताएं आनी शुरू हो जाते हैं इसकी वजह से हम इसे रेगिस्तान का जहाज कहते हैं

andhi ke chalta phirta ajoobaa hai jaise hi koi uth 5 varshon se BA da hone shuru hota hai toh uske paas jo hai kai aashcharyajanak kshamataen aani shuru ho jaate hai iski wajah se hum ise registan ka jahaj kehte hain

आंधी के चलता फिरता अजूबा है जैसे ही कोई उठ 5 वर्षों से बड़ा होने शुरू होता है तो उसके पास

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
user

Ajay

yes do it

0:00
Play

एक रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है। क्योंकि वह बिना पानी पिए 23 दिन तक रेगिस्तान में रह सकते हैं और उनके पांव इतने मजबूत रहते हैं। वह रेत में डूबते नहीं है और रेगिस्तान में बहुत दिनों तक रह सकते हो चल सकते हैं।

ek registan ka jahaj kaha jata hai kyonki vaah bina paani piye 23 din tak registan mein reh sakte hai aur unke paav itne majboot rehte hai vaah ret mein dubte nahi hai aur registan mein BA hut dino tak reh sakte ho chal sakte hain

एक रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है। क्योंकि वह बिना पानी पिए 23 दिन तक रेगिस्तान में रह सकते

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऊंट को देखेगा रेगिस्तान का जहाज इसलिए कहा जाता है इसके जो पैर होते हैं बहुत ज्यादा गद्देदार होता है जो हेल्प करते हैं आराम से रेगिस्तान के अंदर चलने के लिए और देखिए यह अकेला एक ओन्ली ट्रांसपोर्टेशन है इसके अलावा रिजल्ट में कुछ भी नहीं चल सकता गाड़ी और भी उतनी अच्छी तरीके से नहीं चलती है जबकि वोट बहुत आराम से चल लेता है तो इधर से उधर सामान ले जाने के लिए वोट का इस्तेमाल किया जाता है रेगिस्तान के शुरू तो इसलिए रेगिस्तान जो है उसको ऊंट को रेगिस्तान का जहाज कहा जाता है

unth ko dekhega registan ka jahaj isliye kaha jata hai iske jo pair hote hai BA hut zyada gaddedar hota hai jo help karte hai aaram se registan ke andar chalne ke liye aur dekhiye yah akela ek only transportation hai iske alava result mein kuch bhi nahi chal sakta gaadi aur bhi utani achi tarike se nahi chalti hai jabki vote BA hut aaram se chal leta hai toh idhar se udhar saamaan le jaane ke liye vote ka istemal kiya jata hai registan ke shuru toh isliye registan jo hai usko unth ko registan ka jahaj kaha jata hai

ऊंट को देखेगा रेगिस्तान का जहाज इसलिए कहा जाता है इसके जो पैर होते हैं बहुत ज्यादा गद्देदा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहते हैं ; registan ka jahaj kise kaha jata hai ; registan ka jahaj kise kahate hain ; registan ka jahaj ; ऊंट को रेगिस्तान का जहाज ; ऊंट को रेगिस्तान का जहाज क्यों कहा जाता है ; ut ko registan ka jahaj kyon kahate hain ; ut ko registan ka jahaj kyu kaha jata hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!