निर्णय नहीं ले पाता हूँ क्या करूँ?...


user

Suresh Kumar

Motivational Speaker, Trainer, Counsellor, Handwriting Analyst

3:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रसिद्ध है निर्णय नहीं ले पाता हूं क्या करूं तो मैं आपसे सबसे पहले यही कहूंगा आपका यह विचार बहुत ही गलत विचार है आप ऑलरेडी निर्णय ले रहे हैं और निर्णय ले चुके हैं और निर्णय लेते हैं उदाहरण के लिए आपको यह क्वेश्चन वह कल ऐप पर पूछना है या अपने निर्णय नहीं आता ना इस बात का लाइट तो आप यह मत कहिए कि आप निर्णय नहीं ले पाते निर्णय आप ऑलरेडी ले रहे हैं और लेते आए हैं अब क्वेश्चन आता है कि आपको सकता है कोई बड़ा डिसीजन नाले पारियों बड़ा झरना नाले पर यह सभी के साथ होता है लेकिन क्यों होता है ऐसा हमें कहीं ना कहीं डर रहता है कि हम निर्णय लेंगे अगर निर्णय गलत हो गया तो क्या होगा यह जो तू है ना यह सब को रोक देता है तो आपको स्टोर से बाहर निकलना तो जब भी कोई निर्णय नहीं उसके ऊपर पूरा विचार-विमर्श कीजिए उसकी कोई अच्छी रणनीति बनाई है और उस पर एक्शन लीजिए शुरू में जब भी आप निर्णय लेना शुरू करेंगे कोई आपको कुछ भी कहे लेकिन मैं एक बात पर पूरी गारंटी के साथ बोल रहा हूं आपके जाता निर्णय गलत हूं हां आप इस बात को स्वीकार करना कि गलत होंगे लेकिन जब वह गलत निर्णयों से आप जो सबक सीखेंगे उससे जो आपको एक्सविदेओस मिलेगा वह पिलाई बदलेगा जैसे मैंने किसी के बारे में सुना था वह बहुत सक्सेसफुल बिजनेसमैन थे उनसे किसी ने पूछा कि भाई आप इतने कामयाब कैसे हुए तो उन्होंने कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में सही डिसीजन तो मैंने जो जो डिसीजन लिए हैं उनके कारण ही में आवाज इतना सक्सेसफुल हूं फिर उनसे पूछा गया कि आपने सही डिसीजन कैसे लिए तो उन्होंने कहा कि मैंने एक्सपीरियंस लिए अपने तजुर्बे से मैं सही डिसीजन ले पाया फिर किसी ने पूछा कि आपको तजुर्बा कैसे हुआ तो उन्होंने कहा गलत डिसीजन से गलत नैनो से तो दोस्त डिसीजन गलत हो जाएगा निर्णय गलत हो जाएगा तो कोई बड़ी बात नहीं है यह बहुत ही सौभाग्य की प्रतिक्रिया क्या बच्चा जब निर्णय करता कि मैं चलूंगा चलना शुरू करता के एक दूसरे भाग में लगता हूं कितनी बार गिरता है कितनी बार लगता है कितनी बार चोट लगती है लेकिन फिर भी चलता है ना तो बिल्कुल ऐसे बच्चे की तरह आपको अथक प्रयत्न करना अथक मेहनत करते हैं डिसीजन गलत हो जाए अपने आप को को सेना अपनी किस्मत को नाको से उससे सबक लें जो सुधार की गुंजाइश है उस सुधार कीजिए और देखिए अगर आप मेरी बातों को फॉलो किया तो आप बहुत आगे तक जाएंगे और आप अच्छा डिसीजन ले आएंगे थैंक यू

aapka prasiddh hai nirnay nahi le pata hoon kya karu toh main aapse sabse pehle yahi kahunga aapka yah vichar bahut hi galat vichar hai aap already nirnay le rahe hain aur nirnay le chuke hain aur nirnay lete hain udaharan ke liye aapko yah question vaah kal app par poochna hai ya apne nirnay nahi aata na is baat ka light toh aap yah mat kahiye ki aap nirnay nahi le paate nirnay aap already le rahe hain aur lete aaye hain ab question aata hai ki aapko sakta hai koi bada decision naale paariyon bada jharna naale par yah sabhi ke saath hota hai lekin kyon hota hai aisa hamein kahin na kahin dar rehta hai ki hum nirnay lenge agar nirnay galat ho gaya toh kya hoga yah jo tu hai na yah sab ko rok deta hai toh aapko store se bahar nikalna toh jab bhi koi nirnay nahi uske upar pura vichar vimarsh kijiye uski koi achi rananiti banai hai aur us par action lijiye shuru me jab bhi aap nirnay lena shuru karenge koi aapko kuch bhi kahe lekin main ek baat par puri guarantee ke saath bol raha hoon aapke jata nirnay galat hoon haan aap is baat ko sweekar karna ki galat honge lekin jab vaah galat nirnayon se aap jo sabak sikhenge usse jo aapko eksavideos milega vaah pilai badlega jaise maine kisi ke bare me suna tha vaah bahut successful bussinessmen the unse kisi ne poocha ki bhai aap itne kamyab kaise hue toh unhone kaha ki maine apni zindagi me sahi decision toh maine jo jo decision liye hain unke karan hi me awaaz itna successful hoon phir unse poocha gaya ki aapne sahi decision kaise liye toh unhone kaha ki maine experience liye apne tajurbe se main sahi decision le paya phir kisi ne poocha ki aapko tajurba kaise hua toh unhone kaha galat decision se galat nano se toh dost decision galat ho jaega nirnay galat ho jaega toh koi badi baat nahi hai yah bahut hi saubhagya ki pratikriya kya baccha jab nirnay karta ki main chalunga chalna shuru karta ke ek dusre bhag me lagta hoon kitni baar girta hai kitni baar lagta hai kitni baar chot lagti hai lekin phir bhi chalta hai na toh bilkul aise bacche ki tarah aapko athak prayatn karna athak mehnat karte hain decision galat ho jaaye apne aap ko ko sena apni kismat ko nako se usse sabak le jo sudhaar ki gunjaiesh hai us sudhaar kijiye aur dekhiye agar aap meri baaton ko follow kiya toh aap bahut aage tak jaenge aur aap accha decision le aayenge thank you

आपका प्रसिद्ध है निर्णय नहीं ले पाता हूं क्या करूं तो मैं आपसे सबसे पहले यही कहूंगा आपका

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  1222
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!