कौन सा बेहतर है, IBPS PO या RBI Assistant?...


play
user

Anand Kumar Sinha

Director - Atulya IAS Academy

0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी सबसे ज्यादा खराब है और यहां पर क्या होता है कि आप क्यों करके आप बैंक में काफी ऊपर तक आपका प्रमोशन से

meri sabse zyada kharab hai aur yahan par kya hota hai ki aap kyon karke aap bank mein kaafi upar tak aapka promotion se

मेरी सबसे ज्यादा खराब है और यहां पर क्या होता है कि आप क्यों करके आप बैंक में काफी ऊपर तक

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  278
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईबीपीएस पी ओ आरआरबी असिस्टेंट दोनों के अपने फायदे नुकसान है मैं आपको बताता हूं लेकिन आखिरी में मैं आपको अपना ओपिनियन भी बताऊंगा कि मेरे हिसाब से कौन बेहतर तो आईबीपीएस पीओ जो होता है बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर होता है इसके लोन ऑफीसर जिसकी शुरुआत स्केल वन होती है और इसके सेवन जनरल मैनेजर होता है उसके ऊपर एंग्री डायरेक्टर और उसके ऊपर चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर होते हैं बैंक में तो बैंक पीओ का जो कैरियर होता है वह डायनेमिक है मुश्किल बंद ज्वाइन करते हैं और उनके अलग अलग डिपार्टमेंट में जैसे कि क्रेडिट लोन देते हैं अप्रेजल बगैरा करते हैं या फॉरेन इन्वेस्टमेंट फॉरेक्स जो फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट इन्वेस्टमेंट बैंक की ट्रेजरी होती है वहां पर जरूरी लैंडिंग में भी काम करते हैं और जनरल ऑपरेशंस में भी काम करते और इसमें भी काम करते हैं हर टाइप के फंक्शन में बैंक में काम करते हैं और कैरियर में आगे बढ़ने के पूरे चांस होते हैं क्योंकि सारे बैंकों के जितने भी पब्लिक सेक्टर बैंक इन सरकारी क्षेत्र के बैंक के सब के सीएम कभी न कभी बैंक पीओ के रूप में ही ज्वाइन किए थे आरआरबी असिस्टेंट आगे में तेल के लेबल की पोजीशन है अगर में बैंकों से कम प्यार करूं तो आपको फायदा ही होगा कि आप की पोस्टिंग बड़े शहरों में रहेगी अरबिया के किस देश का सेंट्रल बैंक है वहां पर काम का प्रेशर डेफिनटली कम है आपको किसी और ग्राम की तैयारी करने के लिए टाइम मिलेगा और आपको अपने लिए अपनी फैमिली के लिए ज्यादा टाइम मिलेगा क्योंकि बैंक पीओ में काम का प्रेशर है बैंक जो है लिस्टेड कंपनी में बैंक जो है कमर्शियल और मैंने प्रॉफिट के लिए काम करती हैं तो वहां पर टारगेट रहते हैं आरबीआई में कोई टारगेट नहीं रहते इसलिए आरबीआई जॉब में प्रेशर नहीं रहता है और बैंक पीओ की जॉब में लगातार बना रहता है अब मेरा अगर निर्णय होगा तो मैं बैंक पीओ ज्वाइन करना चाहूंगा क्योंकि मुझे वहां पर कैरियर दिखता है टारगेट तो हम अजीत करे लेंगे मेहनत करके हम लाइफ में आगे बढ़ने में किन रखते हैं लेकिन अगर आपको लगता है कि फैमिली के लिए ज्यादा टाइम चाहिए तो आप आर्मी असिस्टेंट भी ले सकते

ibps p o rrb assistant dono ke apne fayde nuksan hai aapko batata hoon lekin aakhiri mein main aapko apna opinion bhi bataunga ki mere hisab se kaun behtar toh ibps po jo hota hai bank mein probationary officer hota hai iske loan officer jiski shuruat scale van hoti hai aur iske seven general manager hota hai uske upar angry director aur uske upar chairman and managing director hote hain bank mein toh bank po ka jo carrier hota hai vaah daynemik hai mushkil band join karte hain aur unke alag alag department mein jaise ki credit loan dete hain appraisal bagaira karte hain ya foreign investment forex jo foreign exchange management investment bank ki treasury hoti hai wahan par zaroori landing mein bhi kaam karte hain aur general apareshans mein bhi kaam karte aur isme bhi kaam karte hain har type ke function mein bank mein kaam karte hain aur carrier mein aage badhne ke poore chance hote hain kyonki saare bankon ke jitne bhi public sector bank in sarkari kshetra ke bank ke sab ke cm kabhi na kabhi bank po ke roop mein hi join kiye the rrb assistant aage mein tel ke lebal ki position hai agar mein bankon se kam pyar karu toh aapko fayda hi hoga ki aap ki posting bade shaharon mein rahegi arabia ke kis desh ka central bank hai wahan par kaam ka pressure definatali kam hai aapko kisi aur gram ki taiyari karne ke liye time milega aur aapko apne liye apni family ke liye zyada time milega kyonki bank po mein kaam ka pressure hai bank jo hai listed company mein bank jo hai commercial aur maine profit ke liye kaam karti hain toh wahan par target rehte hain RBI mein koi target nahi rehte isliye RBI job mein pressure nahi rehta hai aur bank po ki job mein lagatar bana rehta hai ab mera agar nirnay hoga toh main bank po join karna chahunga kyonki mujhe wahan par carrier dikhta hai target toh hum ajit kare lenge mehnat karke hum life mein aage badhne mein kin rakhte hain lekin agar aapko lagta hai ki family ke liye zyada time chahiye toh aap army assistant bhi le sakte

आईबीपीएस पी ओ आरआरबी असिस्टेंट दोनों के अपने फायदे नुकसान है मैं आपको बताता हूं लेकिन आखिर

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  1041
WhatsApp_icon
user

Vakil Ahmed

Director - Only Success Classes

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आरबीआई होता है असिस्टेंट चली के बारे सेंट्रल बैंक होता है और ibps.po जो होता है यह सभी लगभग सारे सेक्टर के बैंकों जोगी जोगी के सेक्टर के बैंकों अगर आप जॉब कहां करना चाहते हैं अगर आप आना चाहते हैं तो आज ही करना है तो आपको भी आना पड़ेगा और उसमें बेनिफिट होता है कि आप तो हो सकता है कि अपने होमस्टे जहां पर रहते हैं वही आपको खुशी मिल जाए तभी आपको ऑस्ट्रेलिया

RBI hota hai assistant chali ke bare central bank hota hai aur ibps po jo hota hai yah sabhi lagbhag saare sector ke bankon jogi jogi ke sector ke bankon agar aap job kahaan karna chahte hain agar aap aana chahte hain toh aaj hi karna hai toh aapko bhi aana padega aur usme benefit hota hai ki aap toh ho sakta hai ki apne homaste jaha par rehte hain wahi aapko khushi mil jaaye tabhi aapko austrailia

आरबीआई होता है असिस्टेंट चली के बारे सेंट्रल बैंक होता है और ibps.po जो होता है यह सभी लगभ

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  609
WhatsApp_icon
user

JITENDRA PRATAP SINGH

Educator, Career Counsellor

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डी के समय बदल रहा है तो जवाब भी बदले हुए होने चाहिए आपका जो सीधा सीधा सवाल है क्या वीबीएसपीयू यार बस स्टैंड की बात करूं तो बात भी आएगी जो पोस्ट ना उसमें आप की पोस्टिंग है आपकी जो पोस्टिंग है वह लिमिटेड जगह पर होती है और बाकी जो आरबीआई में जो भी कर्मचारी है उसके हर तरीके से किसी भी बैंक के कर्मचारी से ज्यादा अहमियत होती है ज्यादा रिस्पेक्ट होती है सोशली तो मेरा यह मानना है कि हां एसेसमेंट की पोस्ट बहुत बेटर है बट उसको पाना बाकी माता

d ke samay badal raha hai toh jawab bhi badle hue hone chahiye aapka jo seedha seedha sawaal hai kya VBSPU yaar bus stand ki baat karu toh baat bhi aayegi jo post na usme aap ki posting hai aapki jo posting hai vaah limited jagah par hoti hai aur baki jo RBI mein jo bhi karmchari hai uske har tarike se kisi bhi bank ke karmchari se zyada ahamiyat hoti hai zyada respect hoti hai socially toh mera yah manana hai ki haan assessment ki post bahut better hai but usko paana baki mata

डी के समय बदल रहा है तो जवाब भी बदले हुए होने चाहिए आपका जो सीधा सीधा सवाल है क्या वीबीएसप

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1111
WhatsApp_icon
user

Ashok Patel

Director,CreativeCareerAcademy

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब आरबीआई असिस्टेंट याेबीटी है क्योंकि अगर मैं दोनों का कंपैरिजन करो तैयारी आ सिस्टम सही है उसमें आपको कहने का मतलब है कि वर्तमान टारगेट भी नहीं रहेगा कितना है वर्क आउट किया जाएगा अपने ब्रांच को आगे ले जाने के लिए कितना वर्कआउट करके देना पड़ेगा और कई सारे दांत टूटने का मतलब आरबीएसई

ab RBI assistant yobiti hai kyonki agar main dono ka kampairijan karo taiyari aa system sahi hai usme aapko kehne ka matlab hai ki vartaman target bhi nahi rahega kitna hai work out kiya jaega apne branch ko aage le jaane ke liye kitna workout karke dena padega aur kai saare dant tutne ka matlab RBSE

अब आरबीआई असिस्टेंट याेबीटी है क्योंकि अगर मैं दोनों का कंपैरिजन करो तैयारी आ सिस्टम सही ह

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1053
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!