इंटरनेट कहाँ से आता है?...


user

Wasim Akram

Founder and Chief Editor @WTechni.com

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंटरनेट बहुत सारे कंप्यूटर को जोड़कर एक साथ मिलने पर बना हुआ है यानी बहुत सारे नेटवर्क एक दूसरे के साथ जब जुड़ते हैं और उसमें बहुत सारे कंप्यूटर कनेक्ट होते तो इस तरह से इंटरनेट बनता है हम जो वेबसाइट यू-ट्यूब की तैयारी तो देखते हैं यह सभी बड़े बड़े सरवर में स्टोर किया हुआ रहता है सरवर का मतलब होता है कि डाटा को स्टोर करने की जगह तो यह भी एक तरह का कंप्यूटर ही होता है तो इस कंप्यूटर को हमेशा 24 आवर सातों दिन 365 दिन यानी कि साल भर लगातार ऑन करके रखा जाता है जिसकी वजह से हम जब भी कभी वेबसाइट को खोलते हैं तो वह खुल जाता है इसमें भी कभी-कभी डाउन टाइम होता है लेकिन वह डाउनटाइम तो काफी कम होता है तो इस तरह के इंटरनेट को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने के लिए महासागर में लाइनें बिछाई गई है बहुत मोटे मोटे तो केवल बिछाए गए हैं और इसको फिर सेटेलाइट के माध्यम से भी छोटे-छोटे डिस्टेंस में पहुंचाया जाता है इसकी स्पीड होने की वजह यही है कि यह केवल से भी जुड़ा हुआ होता है और इसके लिए टेलीफोन लाइन का इस्तेमाल किया जाता है तो इस प्रकार पूरी दुनिया में इंटरनेट को फैलाया गया है यानी कि सभी कंप्यूटर एक दूसरे से के मां से नेटवर्क के माध्यम से जुड़े हुए होते हैं जिससे ग्लोबल नेटवर्क बोला जाता है तो इस तरह इंटरनेट को अगर सिंपल तरीके से हम समझे तो यह बहुत सारी कंप्यूटरों का एक जाल है एक दूसरे से जुड़े हुए होते हैं

internet bahut saare computer ko jodkar ek saath milne par bana hua hai yani bahut saare network ek dusre ke saath jab judte hain aur usme bahut saare computer connect hote toh is tarah se internet baata hai hum jo website you tube ki taiyari toh dekhte hain yah sabhi bade bade server mein store kiya hua rehta hai server ka matlab hota hai ki data ko store karne ki jagah toh yah bhi ek tarah ka computer hi hota hai toh is computer ko hamesha 24 hour saton din 365 din yani ki saal bhar lagatar on karke rakha jata hai jiski wajah se hum jab bhi kabhi website ko kholte hain toh vaah khul jata hai isme bhi kabhi kabhi down time hota hai lekin vaah downtime toh kaafi kam hota hai toh is tarah ke internet ko ek jagah se dusri jagah pahunchane ke liye mahasagar mein linen bichhai gayi hai bahut mote mote toh keval bichaye gaye hain aur isko phir satellite ke madhyam se bhi chote chhote distance mein pahunchaya jata hai iski speed hone ki wajah yahi hai ki yah keval se bhi juda hua hota hai aur iske liye telephone line ka istemal kiya jata hai toh is prakar puri duniya mein internet ko faelaya gaya hai yani ki sabhi computer ek dusre se ke maa se network ke madhyam se jude hue hote hain jisse global network bola jata hai toh is tarah internet ko agar simple tarike se hum samjhe toh yah bahut saree computeron ka ek jaal hai ek dusre se jude hue hote hain

इंटरनेट बहुत सारे कंप्यूटर को जोड़कर एक साथ मिलने पर बना हुआ है यानी बहुत सारे नेटवर्क एक

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  192
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!