किस प्रकार मनोवैज्ञानिक बुद्धि का लक्षण वर्णन और उसके परिभाषित करते हैं?...


user

Abhishek Kumar

मनोविज्ञान

4:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों मैं जी आपके द्वारा पूछा गया प्रश्न है किस प्रकार मनोवैज्ञानिक बुद्धि का लक्षण वर्णन और उसके परिभाषा करते हैं या देते तो दोस्तों मैं आपको बताता हूं कि मनोविज्ञान को भी लोग अलग-अलग तरीकों से देखा है जाना है और समझाएं कोई मन का भी हर कोई चेतना का विज्ञान कोई आत्मा का व्यवहार कोई बिहार का विज्ञान अलग-अलग तरीकों और अलग-अलग देश को बताया गया है टिकट किया गया लेकिन जहां तक बुद्धि की बात करते हैं तो बुद्धि एक सोचने समझने की शक्ति होती है तर्क करने की शक्ति होती है इसको अलग अलग अलग अलग तरीके से कहा है किसी ने कहा कि बुद्धि सीखने की योग्यता है किसी ने कहा कि बुद्धि बुद्धि नवीन परिस्थितियों में सामंजस्य करने की योग्यता है यह सारी भाषाओं को देख लीजिए औरतों को देख लीजिए एक बात सामने निकलकर आती है कि बुद्धि नई जगहों के नए लोगों के या फिर नई परिस्थिति में या नए वस्तुओं के साथ या कहीं भी हो आप कहीं भी जाते हैं आते हैं कुछ भी करते हैं उसमें अपने आप को किस तरह डाल रहे हैं उस प्रश्न का उत्तर किस प्रकार दे रहे हैं किसी चीज को आप किस प्रकार हैंडल कर रहे हैं यह सारी चीजों का उपयोग ही बुद्धि है इन पर भाषाओं के आधार पर थी यहीं निकलता है लेकिन अब सवाल यह उठता है कि मनोवैज्ञानिक बुद्धि का लक्षण क्या बताते हैं तो सबसे पहले जो नहीं जानता है मैं उसको बताना चाहूंगा दोस्तों ध्यान देना कुछ लोग ऐसे होते हैं जो उम्र में जाते हो जाते हैं लेकिन उनकी बुद्धि बहुत कम हो रहती है तो अक्सर गांव में और शहरों में सुनने को मिल जाता है वही गईल बाटे लेकिन बुद्धि अभिनव हलवा मतलब उनकी उम्र हो गई है लेकिन अभी उनकी बुद्धि नहीं बढ़ी है या उनका शारीरिक विकास हो गया है लंबाई चौड़ाई और उनकी बुद्धि से भी बड़ी है और बहुत लोगों कहने में सुनने को आ जाता है गांव और शहरों में छोटी-छोटी बातें अब बुद्दीन कर कितना हुआ इसका मतलब यह हुआ कि उनकी उम्र बहुत कम है या उनका शारीरिक विकास कम हुआ है और मानसिक विकास जाते हो गया मतलब उनकी उम्र 6 वर्ष की है और मूल का जो शारीरिक विकास वह 6 वर्ष का है और उनका जो मानसिक विकास है वह 10 वर्ष या 15 वर्ष के बालक के समान है इस प्रकार बुद्धि को एक i.q. के अकॉर्डिंग मापा जाता है इसका सूत्र भी होता है आई क्यू बराबर ma5ch ऑफ मतलब आई क्यू का मतलब बुद्धि लब्धि बराबर मानसी काए गुण वास्तविक जन्मतिथि गाय कहते हैं बुरे तो मतलब अगर क्लास सिक्स का बच्चा हाई स्कूल का सवाल लगा लेता मतलब इसका ही हुआ उसकी मानसिक आयु ज्यादा तो वह अपने बड़ों का सवाल हैंडल कर सकता लगा सकता है और उसकी उम्र अभी कम है यानी उसकी मांगती का एक साथी और रियल एज कम कभी-कभी ऐसा होता है कि हाई स्कूल में पढ़ने वाला बच्चा क्लास सिक्स का सवाल है नहीं कर पाता नहीं लगा पाता नहीं बता पाता उसका अर्थ नहीं समझा पाता है तो उसमें यह देखा जाता है इसकी उम्र बढ़ गई है मतलब उसकी तिथि क्या है रियल है उसकी जो रियल है लेकिन उसकी जो मांगती का है वह कम है मतलब है इस प्रकार हम देख सकते हैं कि मनोविज्ञान में बुद्धि जो है इसी प्रकार से नापा जाता है कि उसकी रियल है और मानसी के क्या है मतलब उसकी रियल में उम्र क्या है और उसकी बुद्धि का विकास कितना हुआ है या फिर बुद्धि का विकास कितना हुआ है और उसकी रियल ऐज क्या है तो हर व्यक्ति में यह अलग अलग दिखाई देता है किसी की मानसिक आयु शादी होती है और रियल इसका किसी की रियल ऐज कम होती है और मांग की कायदा दें इस प्रकार से और कुछ लोगों में दोनों सामान्य होता है इस प्रकार से मनोवैज्ञानिक बुद्धि को डिवाइड किया है i.q. बुक सबसे पहले खुद भी न और टर्मन ने किया था 1905 1998 और 1916 में पहले खोज हुई थी उसका संशोधन हुआ था अगर मेरी बात आपको पसंद है

hello doston main ji aapke dwara poocha gaya prashna hai kis prakar manovaigyanik buddhi ka lakshan varnan aur uske paribhasha karte hain ya dete toh doston main aapko batata hoon ki manovigyan ko bhi log alag alag trikon se dekha hai jana hai aur samjhaye koi man ka bhi har koi chetna ka vigyan koi aatma ka vyavhar koi bihar ka vigyan alag alag trikon aur alag alag desh ko bataya gaya hai ticket kiya gaya lekin jaha tak buddhi ki baat karte hain toh buddhi ek sochne samjhne ki shakti hoti hai tark karne ki shakti hoti hai isko alag alag alag alag tarike se kaha hai kisi ne kaha ki buddhi sikhne ki yogyata hai kisi ne kaha ki buddhi buddhi naveen paristhitiyon me samanjasya karne ki yogyata hai yah saari bhashaon ko dekh lijiye auraton ko dekh lijiye ek baat saamne nikalkar aati hai ki buddhi nayi jagaho ke naye logo ke ya phir nayi paristhiti me ya naye vastuon ke saath ya kahin bhi ho aap kahin bhi jaate hain aate hain kuch bhi karte hain usme apne aap ko kis tarah daal rahe hain us prashna ka uttar kis prakar de rahe hain kisi cheez ko aap kis prakar handle kar rahe hain yah saari chijon ka upyog hi buddhi hai in par bhashaon ke aadhar par thi yahin nikalta hai lekin ab sawaal yah uthata hai ki manovaigyanik buddhi ka lakshan kya batatey hain toh sabse pehle jo nahi jaanta hai main usko batana chahunga doston dhyan dena kuch log aise hote hain jo umar me jaate ho jaate hain lekin unki buddhi bahut kam ho rehti hai toh aksar gaon me aur shaharon me sunne ko mil jata hai wahi gail baate lekin buddhi abhinav halwa matlab unki umar ho gayi hai lekin abhi unki buddhi nahi badhi hai ya unka sharirik vikas ho gaya hai lambai chaudai aur unki buddhi se bhi badi hai aur bahut logo kehne me sunne ko aa jata hai gaon aur shaharon me choti choti batein ab buddin kar kitna hua iska matlab yah hua ki unki umar bahut kam hai ya unka sharirik vikas kam hua hai aur mansik vikas jaate ho gaya matlab unki umar 6 varsh ki hai aur mul ka jo sharirik vikas vaah 6 varsh ka hai aur unka jo mansik vikas hai vaah 10 varsh ya 15 varsh ke balak ke saman hai is prakar buddhi ko ek i q ke according mapa jata hai iska sutra bhi hota hai I kyun barabar ma5ch of matlab I kyun ka matlab buddhi labdhi barabar mansi kae gun vastavik janmtithi gaay kehte hain bure toh matlab agar class six ka baccha high school ka sawaal laga leta matlab iska hi hua uski mansik aayu zyada toh vaah apne badon ka sawaal handle kar sakta laga sakta hai aur uski umar abhi kam hai yani uski mangati ka ek sathi aur real age kam kabhi kabhi aisa hota hai ki high school me padhne vala baccha class six ka sawaal hai nahi kar pata nahi laga pata nahi bata pata uska arth nahi samjha pata hai toh usme yah dekha jata hai iski umar badh gayi hai matlab uski tithi kya hai real hai uski jo real hai lekin uski jo mangati ka hai vaah kam hai matlab hai is prakar hum dekh sakte hain ki manovigyan me buddhi jo hai isi prakar se napa jata hai ki uski real hai aur mansi ke kya hai matlab uski real me umar kya hai aur uski buddhi ka vikas kitna hua hai ya phir buddhi ka vikas kitna hua hai aur uski real age kya hai toh har vyakti me yah alag alag dikhai deta hai kisi ki mansik aayu shaadi hoti hai aur real iska kisi ki real age kam hoti hai aur maang ki kayada de is prakar se aur kuch logo me dono samanya hota hai is prakar se manovaigyanik buddhi ko divide kiya hai i q book sabse pehle khud bhi na aur tarman ne kiya tha 1905 1998 aur 1916 me pehle khoj hui thi uska sanshodhan hua tha agar meri baat aapko pasand hai

हेलो दोस्तों मैं जी आपके द्वारा पूछा गया प्रश्न है किस प्रकार मनोवैज्ञानिक बुद्धि का लक्षण

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है किस प्रकार मनोविज्ञान बुद्धि का लक्षण वर्णन और उसके परिभाषित आकर देखिए सवाल का जवाब है जान को स्टार्ट कर दे उसको कैसे सोच रहे हैं कैसे चल रहा है कैसे बैठ राज मतलब सब कुछ उल्टा टीचर दृष्टि करने के बाद पता चला कि उसका माइंड किस तरह चल रहा है वह क्या सोच रहा है क्या लक्षण है तो सब कुछ उसके मतलब आ जाता है

aapka sawaal hai kis prakar manovigyan buddhi ka lakshan varnan aur uske paribhashit aakar dekhiye sawaal ka jawab hai jaan ko start kar de usko kaise soch rahe hain kaise chal raha hai kaise baith raj matlab sab kuch ulta teacher drishti karne ke baad pata chala ki uska mind kis tarah chal raha hai vaah kya soch raha hai kya lakshan hai toh sab kuch uske matlab aa jata hai

आपका सवाल है किस प्रकार मनोविज्ञान बुद्धि का लक्षण वर्णन और उसके परिभाषित आकर देखिए सवाल क

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  1004
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!