कामयाब व्यक्ति के अंदर कौन-कौन से गुण पाए जाते हैं वह किस तरह से हो?...


user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker || Career Coach || Business Coach || Marketing & Management Expert's

2:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर कैरियर कोच और कॉरपोरेट ट्रेनर आज हम ऐसे क्वेश्चन पर बात करने वाले हैं जो है कि कामयाब व्यक्ति के अंदर ऐसे कौन से गुण पाए जाते हैं वह किस तरह से हो देखिए मैं एक चीज आपको बताना चाहूंगा कि अगर कोई भी इंसान लाइफ में अगर कामयाब होना ही चाहिए तो अगर किसी भी लक्ष्य को बनाकर उसे पूरी ताकत और शिद्दत से अगर वहां काम करता है तो ना तो उसमें उसकी बुद्धिमत्ता की जरूरत है उसको होती है ना उसके माइंड की उसको जरूरत होती है सिर्फ और सिर्फ पूरी लगन और शिद्दत के साथ रेगुलर काम करने से ही उसकी सच्चाई डिपेंड करती है और शख्सियत का मूलमंत्र यही है जितने भी कामयाब लोग होते हैं उनके अंदर यही गुण होता है कई बार लोग हार जाते हैं और हारने के बाद भी उसी हार को सफलता में बदल जाते हैं सक्सेज में बदलते हैं माय डियर फ्रेंड जब देखी एग्जाम चल रहा था जब बल्ब के आविष्कार के लिए प्रयास किए जा रहे थे और जब वह बल्ब का आविष्कार बनाया जा रहा था उसके लिए काम किए जा रहे थे तो वह बन नहीं पा रहा था लेकिन कहीं बाहर उसमें फेल हुए और होने के बाद जब वह फेल होते गए फेल होते गए और उन्होंने 9999 बार फेल होने का रिकॉर्ड बनाया और 9999 बार तक बल्ब नहीं बनाता माय डियर फ्रेंड लेकिन उसी असफलता ने उसी असफलता ने उसी हारने दसवीं हजार बार में बल्ब का रूप लेकर और बल्ब को बना दिया था माय डियर फ्रेंड तो सफलता जो है वह रेगुलर कर्म पर होती आपको बार-बार सफलता मिल रही है कोई दिक्कत नहीं है आप काम करते रहिए कर्म करते रहिए एक ना एक दिन आपको सफलता जरूर मिलेगी और जिस दिन सफलता मिलती है जिस दिन बल्ब का आविष्कार हुआ माय डिअर फ्रेंड 9999 जो अविष्कार किए थे उनमें से बहुत सारे आविष्कार ऐसे हो गए थे जिनका पता तक नहीं था बल को बनाते बनाते कुछ और चीजें ऐसी बन गई थी जो आविष्कार हो गया था इसलिए कहते हैं ना कि जब कुदरत और प्रकृति परीक्षा लेती है किसी इंसान की तो असफलता ही उसके हाथ लगती है लेकिन जब कुदरत और प्रकृति उसके साथ खड़ी हो जाती है तो वह असफलता ही सफलता में बदल जाती है इसलिए आप जो है पूरी ताकत और शिद्दत से कर्म करते रहिए सफलता एक ना एक दिन आपके कदम जरूर चूमेगी और अगर इस टॉपिक पर आप ज्यादा डिस्कशन करना चाहते हैं तो मुझे कॉल कर सकते हैं मेरा कांटेक्ट नंबर है 76 11805 300 बात कर सकते हैं जय हिंद जय भारत

hello friends main yogendra sharma Motivational speaker carrier coach aur corporate trainer aaj hum aise question par baat karne waale hain jo hai ki kamyab vyakti ke andar aise kaunsi gun paye jaate hain vaah kis tarah se ho dekhiye main ek cheez aapko bataana chahunga ki agar koi bhi insaan life mein agar kamyab hona hi chahiye toh agar kisi bhi lakshya ko banakar use puri takat aur shiddat se agar wahan kaam karta hai toh na toh usme uski buddhimatta ki zarurat hai usko hoti hai na uske mind ki usko zarurat hoti hai sirf aur sirf puri lagan aur shiddat ke saath regular kaam karne se hi uski sacchai depend karti hai aur shakhsiyat ka mulamantra yahi hai jitne bhi kamyab log hote hain unke andar yahi gun hota hai kai baar log haar jaate hain aur haarne ke baad bhi usi haar ko safalta mein badal jaate hain succsej mein badalte hain my dear friend jab dekhi exam chal raha tha jab bulb ke avishkar ke liye prayas kiye ja rahe the aur jab vaah bulb ka avishkar banaya ja raha tha uske liye kaam kiye ja rahe the toh vaah ban nahi paa raha tha lekin kahin bahar usme fail hue aur hone ke baad jab vaah fail hote gaye fail hote gaye aur unhone 9999 baar fail hone ka record banaya aur 9999 baar tak bulb nahi banata my dear friend lekin usi asafaltaa ne usi asafaltaa ne usi haarne dasavi hazaar baar mein bulb ka roop lekar aur bulb ko bana diya tha my dear friend toh safalta jo hai vaah regular karm par hoti aapko baar baar safalta mil rahi hai koi dikkat nahi hai aap kaam karte rahiye karm karte rahiye ek na ek din aapko safalta zaroor milegi aur jis din safalta milti hai jis din bulb ka avishkar hua my dear friend 9999 jo avishkar kiye the unmen se bahut saare avishkar aise ho gaye the jinka pata tak nahi tha bal ko banate banate kuch aur cheezen aisi ban gayi thi jo avishkar ho gaya tha isliye kehte hain na ki jab kudrat aur prakriti pariksha leti hai kisi insaan ki toh asafaltaa hi uske hath lagti hai lekin jab kudrat aur prakriti uske saath khadi ho jaati hai toh vaah asafaltaa hi safalta mein badal jaati hai isliye aap jo hai puri takat aur shiddat se karm karte rahiye safalta ek na ek din aapke kadam zaroor choomegi aur agar is topic par aap zyada discussion karna chahte hain toh mujhe call kar sakte hain mera Contact number hai 76 11805 300 baat kar sakte hain jai hind jai bharat

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर कैरियर कोच और कॉरपोरेट ट्रेनर आज हम ऐसे

Romanized Version
Likes  244  Dislikes    views  2443
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!