हल्का बवासीर का मतलब क्या होता है?...


user

Dr Raj Kumar Kochar

Ayurvedic Doctors ( Researcher )

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कभी-कभी हमेशा खाद्य पदार्थ खा लेते हैं जितने मालामल सूख जाता है और यह सूखा वामल जब हमारे पूजा द्वार से बाहर निकलता है तो बड़ी तकलीफ दे करके निकलता है कुछ जगह को छील भी देता है इसको हल्का बवासीर कहते हैं यह निरंतर यदि इसी तरह आपको अगर जो मल है वह बिल्कुल कथाओं करके निकले अगर वह मल घाटों के रूप में निकले तो बवासीर को बना देता है तो हल्के बवासीर में अगर आप संभल जाएंगे तो बढ़िया रहेगा यह हल्का बवासीर कह दो या या पेट के अंदर कब्जी के दो क्या यार ऐसा पदार्थ के जो जो आप जिसके खाने से आपका जो मल है वह गानों के रूप में रह गया तो अलका बवासीर का मतलब तो साफ यह

kabhi kabhi hamesha khadya padarth kha lete hain jitne malamal sukh jata hai aur yah sukha vamal jab hamare puja dwar se bahar nikalta hai toh badi takleef de karke nikalta hai kuch jagah ko chil bhi deta hai isko halka bawasir kehte hain yah nirantar yadi isi tarah aapko agar jo mal hai vaah bilkul kathao karke nikle agar vaah mal ghato ke roop me nikle toh bawasir ko bana deta hai toh halke bawasir me agar aap sambhal jaenge toh badhiya rahega yah halka bawasir keh do ya ya pet ke andar kabji ke do kya yaar aisa padarth ke jo jo aap jiske khane se aapka jo mal hai vaah gaano ke roop me reh gaya toh alka bawasir ka matlab toh saaf yah

कभी-कभी हमेशा खाद्य पदार्थ खा लेते हैं जितने मालामल सूख जाता है और यह सूखा वामल जब हमारे प

Romanized Version
Likes  404  Dislikes    views  2940
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vaidya Navanit Bhardwaj

Ayurvedic Doctor

0:45
Play

Likes  26  Dislikes    views  191
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हल्का बवासीर हल्का बवासीर का मतलब क्या होता है देखो बवासीर दो तरह की होती है एक तो हमारी खुदा से ब्लड आता है जलन होती है और एक पानी सा आता है पर इसकी वजह यह है कि ज्यादा दिन तक कब्ज रहने की वजह है आप एक काम करें हेड पीली हेड ले ले रीठा ले ले और सफेद कत्था बराबर लेकर इन्हें पीस लें और 500 एमजी का कैप्सूल भरने रात में एक कैप्सूल सोते टाइम पानी से लेने एक महीना जो भी प्रॉब्लम है आपकी बवासीर की वह ठीक हो जाएगी

halka bawasir halka bawasir ka matlab kya hota hai dekho bawasir do tarah ki hoti hai ek toh hamari khuda se blood aata hai jalan hoti hai aur ek paani sa aata hai par iski wajah yah hai ki zyada din tak kabz rehne ki wajah hai aap ek kaam kare head pili head le le ritha le le aur safed kattha barabar lekar inhen peace le aur 500 mg ka capsule bharne raat me ek capsule sote time paani se lene ek mahina jo bhi problem hai aapki bawasir ki vaah theek ho jayegi

हल्का बवासीर हल्का बवासीर का मतलब क्या होता है देखो बवासीर दो तरह की होती है एक तो हमारी ख

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  1468
WhatsApp_icon
user
0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हल्का बवासीर का मतलब हमारी पोटिया दिल लैट्रिन के साथ खून आने लगता है जिसको बवासीर कहा जाता है जब हमारे पेट में कब निर्देशन हो जाता है तब इस तरीके का हमें देखने को मिलता है बवासीर खूनी बवासीर होती है उसमें टाइप में मस्से भी होते हैं जो बवासीर की निशानी होती है हमें अपने पेट को बिल्कुल साफ करना चाहिए कभी वासिल नहीं होगा जब कब्ज होना स्टार्ट हो जाता है जलन एसिडिटी यह सब होना स्टार्ट हो जाता है तभी बवासीर के शुरुआती लक्षण है

halka bawasir ka matlab hamari potiya dil latrine ke saath khoon aane lagta hai jisko bawasir kaha jata hai jab hamare pet me kab nirdeshan ho jata hai tab is tarike ka hamein dekhne ko milta hai bawasir khuni bawasir hoti hai usme type me masse bhi hote hain jo bawasir ki nishani hoti hai hamein apne pet ko bilkul saaf karna chahiye kabhi vasil nahi hoga jab kabz hona start ho jata hai jalan acidity yah sab hona start ho jata hai tabhi bawasir ke shuruati lakshan hai

हल्का बवासीर का मतलब हमारी पोटिया दिल लैट्रिन के साथ खून आने लगता है जिसको बवासीर कहा जात

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
play
user

Dr. M.P. Yadav

Ayurvedic Doctor. Master in Anorectal Surgery (Piles) क्षारसूत्र विधि विशेषज्ञ

3:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड जैसा कि आपने परेशान किया कि हलका बवासीर का मतलब क्या होता है तो मैं आपको और मेरे सभी सुनने वालों को जानकारी के लिए बता देना चाहता हूं कि दवा सही उत्तर मार्ग में होने वाली एक बीमारी है जिसमें गुलाम आग में मत से खुल जाते हैं मुझ से खुलने का तात्पर्य है उसमें पगली नवानिया होते ब्लड वेसल सोती हैं उसमें ब्लड भर जाता है और ऊपर से कम नहीं जा पाता है इसलिए वहां की मस्जिद खुल जाते हैं जब भी आप लैट्रिन करते हैं जो लगाते हैं कहां से हैं तो बस सिर्फ उड़ जाते हैं उसके उलट पिचकारी की तरह निकलता है या कभी-कभी बवासीर होता है जाने के लिए मस्त लगता माह के अंदर होते हैं उसे आंतरिक बवासीर से बाहर होते हैं उसमें दर्द नहीं होता उसमें केवल ब्लड आता है और रामपाल बोलचाल की भाषा में खूनी बवासीर करते हैं और जो मुझ से बाहर आ जाते हैं उसमें उंगली दर्द होता है दूध कम आता है अब उसे आम बोलचाल की भाषा में बादी बवासीर कहा जाता है और अवस्था कि यह साथ देखा जाए तो बवासीर चार प्रकार के होते हैं फर्स्ट सेकंड थर्ड फर्स्ट ऑफ सेकंड डिग्री में क्या होता है कि बवासीर मस्से होते हैं वह अंदर ही रहते हैं बाहर नहीं आते हैं थर्ड डिग्री में क्या होता है कि बवासीर के मस्से बाहर आते हैं लेकिन उनको अंदर डालना पड़ता है और डालने चले जाते हैं चौथे दिल्ली में क्या होती बहुत है कि मुझ से बाहर तो आ जाते हैं लेकिन फिर डालना मुश्किल होता है वो अंदर नहीं जाते हैं इनके ऊपर भी इसका ट्रीटमेंट निर्भर करता है जो फर्स्ट और सेकंड वार किया जाता है जो व्यवस्थाएं हैं उसमें दर्शन होता है हमारा देश प्रेमी होती है और इस बीमारी के लिए सबसे अचूक मंत्र चिकित्सा पद्धति हम आज के समय में है वह 4:00 तक हमारे यहां इस प्रकार की बहुत सारी जाते हैं और इससे उनको हंड्रेड परसेंट किस बीमारी से मुक्ति मिलती है बिना इसे कम प्लीकेशन के एक वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित चिकित्सा साबित हो चुकी है एक बार कर्म और छार सूत्र विधि इन बीमारी इस बीमारी के लिए एक तरफ से रामबाण चिकित्सा पद्धति है तो मेरा आपको और मेरे सभी सुनने वालों को यही सलाह है कि आप किसी अच्छे डॉक्टर को उसको दिखाइए जिसमें उसकी पढ़ाई की है जिसका उसमें अपना एक्सपीरियंस है अभी आपको ऐसे दाखवा नहीं मिलते हैं तो आप मुझे भी दिखा सकते हैं धन्यवाद

hello friend jaisa ki aapne pareshan kiya ki halka BA wasir ka matlab kya hota hai toh main aapko aur mere sabhi sunne walon ko jaankari ke liye BA ta dena chahta hoon ki dawa sahi uttar marg mein hone wali ek bimari hai jisme gulam aag mein mat se khul jaate hai mujhse se khulne ka tatparya hai usme pagli navaniya hote blood vessel soti hai usme blood bhar jata hai aur upar se kam nahi ja pata hai isliye wahan ki masjid khul jaate hai jab bhi aap latrine karte hai jo lagate hai kahaan se hai toh bus sirf ud jaate hai uske ulat pichkari ki tarah nikalta hai ya kabhi kabhi BA wasir hota hai jaane ke liye mast lagta mah ke andar hote hai use aantarik BA wasir se BA har hote hai usme dard nahi hota usme keval blood aata hai aur rampal bolchal ki bhasha mein khuni BA wasir karte hai aur jo mujhse se BA har aa jaate hai usme ungli dard hota hai doodh kam aata hai ab use aam bolchal ki bhasha mein BA di BA wasir kaha jata hai aur avastha ki yah saath dekha jaaye toh BA wasir char prakar ke hote hai first second third first of second degree mein kya hota hai ki BA wasir masse hote hai vaah andar hi rehte hai BA har nahi aate hai third degree mein kya hota hai ki BA wasir ke masse BA har aate hai lekin unko andar dalna padta hai aur dalne chale jaate hai chauthe delhi mein kya hoti BA hut hai ki mujhse se BA har toh aa jaate hai lekin phir dalna mushkil hota hai vo andar nahi jaate hai inke upar bhi iska treatment nirbhar karta hai jo first aur second war kiya jata hai jo vyavasthaen hai usme darshan hota hai hamara desh premi hoti hai aur is bimari ke liye sabse achuk mantra chikitsa paddhatee hum aaj ke samay mein hai vaah 4 00 tak hamare yahan is prakar ki BA hut saree jaate hai aur isse unko hundred percent kis bimari se mukti milti hai bina ise kam plikeshan ke ek vaigyanik roop se pramanit chikitsa saabit ho chuki hai ek BA ar karm aur chhaar sutra vidhi in bimari is bimari ke liye ek taraf se rambaan chikitsa paddhatee hai toh mera aapko aur mere sabhi sunne walon ko yahi salah hai ki aap kisi acche doctor ko usko dikhaaiye jisme uski padhai ki hai jiska usme apna experience hai abhi aapko aise dakhava nahi milte hai toh aap mujhe bhi dikha sakte hai dhanyavad

हेलो फ्रेंड जैसा कि आपने परेशान किया कि हलका बवासीर का मतलब क्या होता है तो मैं आपको और मे

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  260
WhatsApp_icon
user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखे बवासीर एक ऐसी बीमारी है जो आमतौर से कब्ज होने की वजह से रहती है हो जाती है जिन लोगों को कॉन्स्टिपेशन की शिकायत होती है उन लोगों में बवासीर आमतौर से हो जाए करती है इसमें कुछ लैट्रिंग के जो रास्ता होता है इसमें लैट्रिन के रास्ते की जगह से पैदा हो जाए करते हैं रेक्टम के बाहरी हिस्से में दो तरह की होती है अंदरूनी और बाहरी जो बाहर ही होती है वह मस्सों किसका है वह मुझसे जो है वह लैट्रिन के साथ बाहर आ जाते हैं कभी-कभी इसमें ब्लडी भी होती है आप इसका इलाज अगर चाहे तो डॉक्टर से जाकर कराएं या मुझे फोन करें आप मेरा नंबर है 95484 86812

dikhe bawasir ek aisi bimari hai jo aamtaur se kabz hone ki wajah se rehti hai ho jaati hai jin logo ko constipation ki shikayat hoti hai un logo me bawasir aamtaur se ho jaaye karti hai isme kuch laitring ke jo rasta hota hai isme latrine ke raste ki jagah se paida ho jaaye karte hain rektam ke bahri hisse me do tarah ki hoti hai andaruni aur bahri jo bahar hi hoti hai vaah masse kiska hai vaah mujhse jo hai vaah latrine ke saath bahar aa jaate hain kabhi kabhi isme Bloody bhi hoti hai aap iska ilaj agar chahen toh doctor se jaakar karaye ya mujhe phone kare aap mera number hai 95484 86812

दिखे बवासीर एक ऐसी बीमारी है जो आमतौर से कब्ज होने की वजह से रहती है हो जाती है जिन लोगों

Romanized Version
Likes  186  Dislikes    views  1811
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें इससे यह भी हो सकता है कि कभी-कभी पेट में गर्मी हो जाती है कुछ खराब खा लेते हम तो उस वजह से भी कभी-कभी हो जाता है तो अगर यह आपको मतलब ज्यादा समय से नहीं हो रहा है कभी कभी एकाध बार कभी हो रहा है तो इसमें चिंता करने की जरूरत नहीं है हल्का खाइए दादा पानी पीजिए और ज्यादा मसालेदार तीखा खाना खाना गरम खाना मत कहिए नॉर्मल हलदर खाना खाइए दही नहीं चाहिए जो इस पे फिदा रे और बढ़िया रपट अगर यह कुछ ज्यादा हो रहा है तो उसके कई कारण हो सकते हैं इसके लिए आपको डॉक्टर के पास जाना बहुत जरूरी है क्योंकि आगे ना की बड़ी प्रॉब्लम कर सकता है धन्यवाद

dekhen isse yah bhi ho sakta hai ki kabhi kabhi pet me garmi ho jaati hai kuch kharab kha lete hum toh us wajah se bhi kabhi kabhi ho jata hai toh agar yah aapko matlab zyada samay se nahi ho raha hai kabhi kabhi ekadh baar kabhi ho raha hai toh isme chinta karne ki zarurat nahi hai halka khaiye dada paani PGA aur zyada masaledar teekha khana khana garam khana mat kahiye normal haldar khana khaiye dahi nahi chahiye jo is pe fida ray aur badhiya rapat agar yah kuch zyada ho raha hai toh uske kai karan ho sakte hain iske liye aapko doctor ke paas jana bahut zaroori hai kyonki aage na ki badi problem kar sakta hai dhanyavad

देखें इससे यह भी हो सकता है कि कभी-कभी पेट में गर्मी हो जाती है कुछ खराब खा लेते हम तो उस

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  339
WhatsApp_icon
user

Dr.Amit Agrahari

Alopathic Ayurvedic Unani Doctor

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हल्का बॉसी का मतलब क्या होता है कि जैसे पुरुषों में बवासीर होता है पहले पेट में कब्ज होता है फिर पेट साफ नहीं होता है लैट्रिन रंधावा की खड़ी होने लगती है आपको भूख नहीं लगता है आप लैट्रिन करने जाते हैं तो पेट साफ नहीं होता है फिर थोड़ा अगर आप जबरदस्ती लैट्रिंग करते हैं तो दो-चार बहुत खून भी आज आपने हैं यह सब शुरुआत है इसको आप हल्का बवासीर के लिए या जो भी अगर आप उस समय अपने खान-पान पर ध्यान देंगे अपने रहन-सहन पर ध्यान देंगे कृष्ण भोजन नहीं करेंगे फिर से मुक्ति पा सकते हैं

halka bossy ka matlab kya hota hai ki jaise purushon mein BA wasir hota hai pehle pet mein kabz hota hai phir pet saaf nahi hota hai latrine Randhawa ki khadi hone lagti hai aapko bhukh nahi lagta hai aap latrine karne jaate hai toh pet saaf nahi hota hai phir thoda agar aap jabardasti laitring karte hai toh do char BA hut khoon bhi aaj aapne hai yah sab shuruat hai isko aap halka BA wasir ke liye ya jo bhi agar aap us samay apne khan pan par dhyan denge apne rahan sahan par dhyan denge krishna bhojan nahi karenge phir se mukti paa sakte hain

हल्का बॉसी का मतलब क्या होता है कि जैसे पुरुषों में बवासीर होता है पहले पेट में कब्ज होता

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  889
WhatsApp_icon
user

Dr Jagdish R Gadhavi

Ayurvedic Doctor

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हल्का बवासीर का मतलब है पाइल्स पाइल्स के बाद फिशर तोफ इससे पहले पहले जो पाइल्स होता है उसको हल्का बवासीर बोलते हैं जो कब्जियत के कारण होता है यह रोग है तो उसमें पेट साफ होने की दवाई लेनी चाहिए और जो भी आगे कुछ भी मेडिसिन लेना चाहिए

halka bawasir ka matlab hai piles piles ke baad Fisher tof isse pehle pehle jo piles hota hai usko halka bawasir bolte hain jo kabziyat ke karan hota hai yah rog hai toh usme pet saaf hone ki dawai leni chahiye aur jo bhi aage kuch bhi medicine lena chahiye

हल्का बवासीर का मतलब है पाइल्स पाइल्स के बाद फिशर तोफ इससे पहले पहले जो पाइल्स होता है उसक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हल्का बाबासीर का मतलब होता है कि आपको जो सोच हो रहा है उसमें थोड़ा बहुत खून हो रहा है या उस जगह पर आप को जलन हो रही हो इसको हम हल्का बवासीर बोलते हैं उस जगह पर सोच वाली जगह पर खारिश भी होती है

halka babasir ka matlab hota hai ki aapko jo soch ho raha hai usme thoda bahut khoon ho raha hai ya us jagah par aap ko jalan ho rahi ho isko hum halka bawasir bolte hain us jagah par soch wali jagah par kharish bhi hoti hai

हल्का बाबासीर का मतलब होता है कि आपको जो सोच हो रहा है उसमें थोड़ा बहुत खून हो रहा है या उ

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

DR.NIRAJ TIWARI

Ayurvedic Doctor & Astrologers . Positive Advisor

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले तो हमें समझना पड़ेगा कि बवासीर क्या है बवासीर एक्सएमटर मैं जिस सिम टर्म के थ्रू बददुआ से या मलद्वार से लटका आना या वहां पर खुजली होना जलन होना दर्द होना ऐसे लक्षण होते हैं ऐसे लक्षण हमें तभी आते हैं जब हम ऐसा बहुत जोरदार खाएं जिससे हमारा मन खराब हो जाए और जब मल खड़ा होगा वह गिरते हुए मलद्वार से निकलेगा वहां छोटे छाले पड़ जाएंगे और छाले पड़ने के कारण वहां से खून होने लगे खून देखने लगेगा और दर्द होने लगे खुजली होने लगी यह प्रारंभिक लक्षण बवासीर के गरीब पर ध्यान नहीं दिया जाए से बढ़कर मस्जिद टाइप की हो जाएंगे और जब मस्ती हो जाएंगे तो दो प्रकार के होते हैं एक इंटरनल एक्स्ट्रा चुम्मा से आंतरिक होते हैं उनको इंटरनल में बहुत ही रहते हैं और जो मन से बाहर होते हैं उसको एक्सटर्नल हो फिर कहते हैं तो हल्का होने से समझ जाइए अन्यथा आप को बहुत बड़ी परेशानी आ जाएगी धन्यवाद

pehle toh hamein samajhna padega ki bawasir kya hai bawasir eksaematar main jis sim term ke through badduaa se ya maladwar se Latka aana ya wahan par khujli hona jalan hona dard hona aise lakshan hote hain aise lakshan hamein tabhi aate hain jab hum aisa bahut jordaar khayen jisse hamara man kharab ho jaaye aur jab mal khada hoga vaah girte hue maladwar se niklega wahan chote chhale pad jaenge aur chhale padane ke karan wahan se khoon hone lage khoon dekhne lagega aur dard hone lage khujli hone lagi yah prarambhik lakshan bawasir ke garib par dhyan nahi diya jaaye se badhkar masjid type ki ho jaenge aur jab masti ho jaenge toh do prakar ke hote hain ek internal extra chumma se aantarik hote hain unko internal me bahut hi rehte hain aur jo man se bahar hote hain usko external ho phir kehte hain toh halka hone se samajh jaiye anyatha aap ko bahut badi pareshani aa jayegi dhanyavad

पहले तो हमें समझना पड़ेगा कि बवासीर क्या है बवासीर एक्सएमटर मैं जिस सिम टर्म के थ्रू बददुआ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!