सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठा रही है?...


play
user

RAM NIWAS

Politician

0:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वीडियो कदम उठा रही है क्या कुछ कदम उठा रही है कुछ नहीं उठा रहे धरातल पर ऑनलाइन पर दिन आएगी रेप रेप होते छोटी बच्ची का बलात्कार दिन महिला के साथियों घर हो या बाहर हो कहीं ना कि आज तक बलात्कार करके आदमी बच्चा है क्या के बीच में कोई कदम नहीं सबसे ज्यादा पीड़ित

video kadam utha rahi hai kya kuch kadam utha rahi hai kuch nahi utha rahe dharatal par online par din aayegi rape rape hote choti bachi ka balatkar din mahila ke sathiyo ghar ho ya bahar ho kahin na ki aaj tak balatkar karke aadmi baccha hai kya ke beech mein koi kadam nahi sabse zyada peedit

वीडियो कदम उठा रही है क्या कुछ कदम उठा रही है कुछ नहीं उठा रहे धरातल पर ऑनलाइन पर दिन आएगी

Romanized Version
Likes  143  Dislikes    views  2802
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिट्टू सरकार तू अति संवेदनशील है सरकार चाहती है कि महिलाओं का सम्मान हो महिलाएं सुरक्षित रहें लेकिन सबसे अधिक तुम महिलाओं को कुछ सचेत होना होगा यह अपनी सुरक्षा चाहते हैं तो उनको खुश सचेत होना होगा जो आधुनिकता के बाद में असुरक्षा का मातम भी कुत्ते का कर रही हैं आप देखते हैं किस तरह के जैकेट चल रहे हैं इस तरह की आप आद्रता के नाम पर गंदगी बढ़ रही है तो उसका जिम्मेदार कौन है उसकी जिम्मेदारी इसलिए महिलाएं आद्रता के नाम पर खुद लक्ष्मण रेखाओं को पार कर रही हैं खुद इस पर से गिर रही है तो बताइए सरकार क्या करें जब तुम शिक्षा समर्पण कर रहे हो शिक्षा से सब आप लक्ष्मण रेखा को पार कर रहे हो और माता-पिता की परिजनों को नहीं मान माता पिता को धोखा देकर के कॉलेज के नाम पर आप इधर उधर भटक रही हूं सारी सीमा रेखाओं को तुम पार कर रहे हो फिर कहते महिला संरक्षण महिला सुरक्षा के लिए सरकार बहुत प्रयास करती है लेकिन महिलाओं को खुद को जानना होगा कि किसी भी हालात में विवाह से पहले लक्ष्मणरेखा को नहीं लाना जाए ऐसी वॉइस ट्रेन जो लक्ष्मण रेखा को पार करने का प्रयास करते हैं तुरंत मेला कोटा देना चाहिए कि मिस्टर तुम मुझसे प्रेम करती हो तो मेरे शरीर से प्रेम करते हो शरीर से प्रेम करने वाला प्रेमी कभी सच्चा प्रेमी नहीं हुआ करता यह सब इस विवाह के बाद उचित होता है विवाह से पहले की का उचित प्राकृतिक महिला सुरक्षा सरकार जोड़ दो बत्ती पर रोक सकती है लेकिन जो शिक्षा से समर्पण जो हो रहा है उसको सरकार नहीं रोक सकती है

bittu sarkar tu ati samvedansheel hai sarkar chahti hai ki mahilaon ka sammaan ho mahilaye surakshit rahein lekin sabse adhik tum mahilaon ko kuch sachet hona hoga yah apni suraksha chahte hain toh unko khush sachet hona hoga jo adhunikata ke baad mein asuraksha ka maatam bhi kutte ka kar rahi hain aap dekhte hain kis tarah ke jacket chal rahe hain is tarah ki aap aadrata ke naam par gandagi badh rahi hai toh uska zimmedar kaun hai uski jimmedari isliye mahilaye aadrata ke naam par khud lakshman rekhaon ko par kar rahi hain khud is par se gir rahi hai toh bataye sarkar kya kare jab tum shiksha samarpan kar rahe ho shiksha se sab aap lakshman rekha ko par kar rahe ho aur mata pita ki parijanon ko nahi maan mata pita ko dhokha dekar ke college ke naam par aap idhar udhar bhatak rahi hoon saree seema rekhaon ko tum par kar rahe ho phir kehte mahila sanrakshan mahila suraksha ke liye sarkar bahut prayas karti hai lekin mahilaon ko khud ko janana hoga ki kisi bhi haalaat mein vivah se pehle lakshmanrekha ko nahi lana jaaye aisi voice train jo lakshman rekha ko par karne ka prayas karte hain turant mela quota dena chahiye ki mister tum mujhse prem karti ho toh mere sharir se prem karte ho sharir se prem karne vala premi kabhi saccha premi nahi hua karta yah sab is vivah ke baad uchit hota hai vivah se pehle ki ka uchit prakirtik mahila suraksha sarkar jod do batti par rok sakti hai lekin jo shiksha se samarpan jo ho raha hai usko sarkar nahi rok sakti hai

बिट्टू सरकार तू अति संवेदनशील है सरकार चाहती है कि महिलाओं का सम्मान हो महिलाएं सुरक्षित र

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  362
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता कि केंद्र सरकार महिलाओं की सुरक्षा के प्रति गंभीर है क्योंकि अगर ऐसा होता तो सरकार कानून में जरूरी बदलाव करती और महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने की कोशिश करती अभी हाल में ही हमने देखा कि किस प्रकार से पूरे देश में रेप और महिलाओं से छेड़छाड़ की घटनाएं कितनी ज्यादा बढ़ गई थी और इसी को मद्देनजर रखते हुए केंद्रीय सरकार ने पॉक्सो एक्ट में कुछ बदलाव किया यानी कि अगर किसी लड़की की उम्र 12 वर्ष या फिर उससे कम है और उसके साथ बलात्कार की घटना को अंजाम देता है कोई व्यक्ति तो उसे फांसी की सजा हो सकती है लेकिन सरकार की यह नीति मुझे कुछ समझ नहीं आई क्योंकि उन्होंने ऐसा रूल बनाया है कि अगर लड़की की उम्र या महिला की उम्र 12 वर्ष से अधिक है और उसके साथ बलात्कार घटना होती है तो फिर इन केसेस में दोषियों को फांसी की सजा नहीं होगी यानी की अधिकतम जो सजा रखी गई है वह है उम्र के सरकार द्वारा इस तरह का कैटेगरी बनाया जाना एक ही जीवन के लिए मुझे नहीं लगता कि सही है और यह दिखाता है कि सरकार महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कितनी गंभीर है तू मोदी सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के प्रति जरूरी ध्यान नहीं दिया है जिसकी वजह से आज जो आपराधिक मानसिकता वाले लोग हैं वह समाज में खुले घूम रहे हैं और लड़कियों के साथ महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करते रहते हैं क्योंकि उन्हें पता है कि उनके खिलाफ स्ट्रिक्ट एक्शन नहीं लिया जाएगा तो जरूरत इस बात की है कि हमारे देश में ही महिलाओं के प्रति अगर कोई भी अपराध होता है तो उसकी दोषी को कठोर सजा दी जाए तभी जाकर समाज से इस तरह के अपराध को कम किया जा सकता है

mujhe nahi lagta ki kendra sarkar mahilaon ki suraksha ke prati gambhir hai kyonki agar aisa hota toh sarkar kanoon mein zaroori badlav karti aur mahilaon ko suraksha pradan karne ki koshish karti abhi haal mein hi humne dekha ki kis prakar se poore desh mein rape aur mahilaon se chedchad ki ghatnaye kitni zyada badh gayi thi aur isi ko maddenajar rakhte hue kendriya sarkar ne pakso act mein kuch badlav kiya yani ki agar kisi ladki ki umr 12 varsh ya phir usse kam hai aur uske saath balatkar ki ghatna ko anjaam deta hai koi vyakti toh use fansi ki saza ho sakti hai lekin sarkar ki yah niti mujhe kuch samajh nahi I kyonki unhone aisa rule banaya hai ki agar ladki ki umr ya mahila ki umr 12 varsh se adhik hai aur uske saath balatkar ghatna hoti hai toh phir in cases mein doshiyon ko fansi ki saza nahi hogi yani ki adhiktam jo saza rakhi gayi hai vaah hai umr ke sarkar dwara is tarah ka category banaya jana ek hi jeevan ke liye mujhe nahi lagta ki sahi hai aur yah dikhaata hai ki sarkar mahilaon ki suraksha ko lekar kitni gambhir hai tu modi sarkar ne mahilaon ki suraksha ke prati zaroori dhyan nahi diya hai jiski wajah se aaj jo apradhik mansikta waale log hain vaah samaj mein khule ghum rahe hain aur ladkiyon ke saath mahilaon ke saath chedchad karte rehte hain kyonki unhe pata hai ki unke khilaf strict action nahi liya jaega toh zarurat is baat ki hai ki hamare desh mein hi mahilaon ke prati agar koi bhi apradh hota hai toh uski doshi ko kathor saza di jaaye tabhi jaakar samaj se is tarah ke apradh ko kam kiya ja sakta hai

मुझे नहीं लगता कि केंद्र सरकार महिलाओं की सुरक्षा के प्रति गंभीर है क्योंकि अगर ऐसा होता त

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!