आज के समय में सभी न्यूज़ चैनल्स, क्या नेगेटिविटी फैलाते हैं?...


play
user

Md Shahbaz Alam

Filmmaker | Creative Director

0:21

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह भी बहुत बड़ा मुद्दा है सभी न्यूज़ चैनल चाहिए क्योंकि कि नहीं फैलाते ना वैसे आप कह देंगे न्यूज़ चैनल पर का न्यूज़ दिखाना अच्छा बुरा सभी कि आपके हाथ में रिमोट है आप चाहे तो चेंज करके दूसरे किसी और चैनल

yeh bhi bahut bada mudda hai sabhi news channel chahiye kyonki ki nahi failate na waise aap keh denge news channel par ka news dikhana accha bura sabhi ki aapke hath mein remote hai aap chahe toh change karke dusre kisi aur channel

यह भी बहुत बड़ा मुद्दा है सभी न्यूज़ चैनल चाहिए क्योंकि कि नहीं फैलाते ना वैसे आप कह देंगे

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1529
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Aditi Dutta

Creative Head

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऑडियंस ऑडियंस अरविंदंते के लिए क्योंकि आज का 10 वर्ष का हो गया है कि लोग वही होते हैं या वही देखना चाहते हैं जिसमें पॉजिटिव न्यूज़ दिखाते हैं तो कांटे क्यों लगता है कि कुछ मारपीट मारधाड़ और बिट्टू क्या अगर टीआरपी आए उस टंडन का पति कितने मुंह हैं जो मुझे लगता है कि ज्यादातर दिखा कम टू आमला ऑडियो आम जनता देखना चाहती ना कि मेरे को

odience odience aravindante ke liye kyonki aaj ka 10 varsh ka ho gaya hai ki log wahi hote hain ya wahi dekhna chahte hain jisme positive news dikhate hain toh kante kyon lagta hai ki kuch maar peet mardhad aur bittu kya agar trp aaye us tandon ka pati kitne mooh hain jo mujhe lagta hai ki jyadatar dikha kam to aamalaa audio aam janta dekhna chahti na ki mere ko

ऑडियंस ऑडियंस अरविंदंते के लिए क्योंकि आज का 10 वर्ष का हो गया है कि लोग वही होते हैं या व

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  503
WhatsApp_icon
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज हमारे पास काफी सारे न्यूज़ चैनल आ गए 24 बाय 7 ऑल न्यूज़ चैनल आ गए हैं काफी रीजनल चैनल भी अब इस न्यूज़ प्रिंट में आ रही है वह 24:00 बजे से शुरू कर रही है काफी सारे डिसटीब्यूशंस हैप्पी सई तुम मुझे लगता है कि अगर यह सवाल है कि आज के समय में सभी न्यूज़ चैनल्स क्या नेगेटिविटी फैलती है मेरा ख्याल है कि न्यूज़ चुका अभी काम कर रही है न्यूज़ चल एक सनसनीखेज खबरों को फैलाने में जुटी हुई है उनको लगता है कि सभी खबरें सनसनीखेज ही होनी चाहिए या तो फिर अगर वह खबर सनसनीखेज नहीं होती है तो जो चल वाले उस खबर को सनसनीखेज बना देते हैं क्यों क्योंकि अगर वह कोई खबर सनसनीखेज नहीं बनाएंगे तो लोग उनकी चरण को नहीं देखेंगे इसलिए आप मुझे लगता है कि न्यूज़ संस्थान नेगेटिविटी पहला तो है नहीं चलाते उस पर मैं नहीं जाऊंगा पर कहीं ना कहीं सनसनीखेज जो कंटेंट होता है भूत ज्यादा दिखाने का प्रयत्न कर रही है न्यूज़ चाहता कि आवो टीआरपी की रेस में भी आगे बनी रहे और साथ में लोगों के लोगों का टेंशन में रहें क्योंकि लोग उनके बारे में चर्चा करें उसने स्थल के बारे में और ताकि उससे उनकी रविंद्र जैन डेट हो सके बाकी मुझे लगता है कि नेगेटिविटी फैलाने की बात है तो वह तो अगर क्राइम की कोई न्यूज़ ओपन स्टंट दिखाते रहते हैं तो अपनी सोसाइटी में ड्यूटी आ ही जाएगी पर मुझे लगता है कि सनसनीखेज कंटेंट चलाने के लिए न्यूज़ चल जानी जाती है और इससे उनका टीआरपी रेट हाई जाता है उसको ऐसा लगता है

aaj hamare paas kafi saare news channel aa gaye 24 bye 7 all news channel aa gaye hain kafi regional channel bhi ab is news print mein aa rahi hai vaah 24 00 baje se shuru kar rahi hai kafi saare distibyushans happy sai tum mujhe lagta hai ki agar yah sawaal hai ki aaj ke samay mein sabhi news channels kya negativity failati hai mera khayal hai ki news chuka abhi kaam kar rahi hai news chal ek sanasaneekhej khabaro ko phailane mein jutti hui hai unko lagta hai ki sabhi khabren sanasaneekhej hi honi chahiye ya toh phir agar vaah khabar sanasaneekhej nahi hoti hai toh jo chal waale us khabar ko sanasaneekhej bana dete hain kyon kyonki agar vaah koi khabar sanasaneekhej nahi banayenge toh log unki charan ko nahi dekhenge isliye aap mujhe lagta hai ki news sansthan negativity pehla toh hai nahi chalte us par main nahi jaunga par kahin na kahin sanasaneekhej jo content hota hai bhoot zyada dikhane ka prayatn kar rahi hai news chahta ki avo trp ki race mein bhi aage bani rahe aur saath mein logon ke logon ka tension mein rahein kyonki log unke bare mein charcha karen usne sthal ke bare mein aur taki usse unki ravindra jain date ho sake baki mujhe lagta hai ki negativity phailane ki baat hai toh vaah toh agar crime ki koi news open stunt dikhate rehte hain toh apni society mein duty aa hi jayegi par mujhe lagta hai ki sanasaneekhej content chalane ke liye news chal jani jaati hai aur isse unka trp rate high jata hai usko aisa lagta hai

आज हमारे पास काफी सारे न्यूज़ चैनल आ गए 24 बाय 7 ऑल न्यूज़ चैनल आ गए हैं काफी रीजनल चैनल भ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Anjani Kumar

Actor-Director-Producer

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बाई चली क्या है कोई भी न्यूज़ चैनल या कोई भी टीवी चैनल जो बिजनेस करता है जो रंग करता है वह तभी कर सकता है जबकि उसको स्पॉन्सर मिलेगा और अगर आप अच्छी चीजें दिखाते हैं सिर्फ अच्छी चीजें दिखाएंगे तो लोगों की रूचि खत्म होती है अच्छी चीजों की तरफ झुकाव लोगों का काम होता है और जो उल्टी सीधी चीजें हैं उसको दिखाने के लिए सबको सब के कान खड़े होते हैं न्यूज़ जो है न्यूज़ क्या होता है बारिश हुई तो कोई न्यूज़ नहीं होता है और बारिश कितनी हुई कि बाहर आ गई कोई न्यूज़ बनता है तो यह चैनल को चलाने के लिए हर तरह के मसाले इस्तेमाल करते हैं और वह अपनी तरफ से भी कई न्यूज़ बनाया करते हैं जिस तरह से किस चैनल चले कहीं चैनल इसलिए इस चक्कर में बंद हो जाए और खासकर के जो अच्छी चीजें दिखाने की बात होती है आज की चीजें दिखाई जाती है

bai chali kya hai koi bhi news channel ya koi bhi TV channel jo business karta hai jo rang karta hai vaah tabhi kar sakta hai jabki usko spansar milega aur agar aap achi cheezen dikhate hain sirf achi cheezen dikhayenge toh logon ki ruchi khatam hoti hai achi chijon ki taraf jhukaav logon ka kaam hota hai aur jo ulti seedhi cheezen hain usko dikhane ke liye sabko sab ke kaan khade hote hain news jo hai news kya hota hai barish hui toh koi news nahi hota hai aur barish kitni hui ki bahar aa gayi koi news banta hai toh yah channel ko chalane ke liye har tarah ke masale istemal karte hain aur vaah apni taraf se bhi kai news banaya karte hain jis tarah se kis channel chale kahin channel isliye is chakkar mein band ho jaaye aur khaskar ke jo achi cheezen dikhane ki baat hoti hai aaj ki cheezen dikhai jaati hai

बाई चली क्या है कोई भी न्यूज़ चैनल या कोई भी टीवी चैनल जो बिजनेस करता है जो रंग करता है वह

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  404
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह बात मैं मानता हूं कहीं ना कहीं जो हमारा फोन पर लगा है जिसको मीडिया कहते हैं इसकी क्रेडिबिलिटी पर जरूर क्वेश्चन मार्क हुआ है बहुत बात हम बहुत बार ऐसी न्यूज़ 123 का कोई औचित्य नहीं होता और जो न्यूज़ डिज़र्व करती है उसको न्यूज़ पर दिखाया जाए न्यूज़ चैनल पर दिखाया जाए कि इंटरनेशनल प्रॉस्पेक्ट में जिस की बहुत ज्यादा जरूरत होती है उस न्यूज़ को आप देखेंगे कभी नहीं दिखाया जाता और आजकल जिस प्रकार की डिबेट न्यूज़ चैनल में चलती हैं आप देखिए उनके पेट का औचित्य कुछ भी नहीं होता फिर भी वह डिबेट चलाई जाती है केवल उनके पीछे टीआरपी मुझे लगता है बहुत बड़ा कारण हो सकता है तो कहीं नहीं गई आज कल मैं इस बात को जरूर मानता हूं कि मीडिया 222 हुआ है चाहे इस पर आप सरकार का 2 मिनट समझिए चाहे करंट सरकार हो चाहे कोई भी सरकार हो कहीं ना कहीं मीडिया अपना रिव्यू सरकार की तरफ से चेंज जरूर करती सरकार का प्रेशर भी रहता हूं लेकिन मैं जरूर इस बात को मानता हूं कि आजकल जिस प्रकार मीडिया बारिश हो रही है तो कहीं ना कहीं देश के लिए खतरा तो है

dekhiye yah baat main manata hoon kahin na kahin jo hamara phone par laga hai jisko media kehte hain iski credibility par zaroor question mark hua hai bahut baat hum bahut baar aisi news 123 ka koi auchitya nahi hota aur jo news dizarv karti hai usko news par dikhaya jaaye news channel par dikhaya jaaye ki international prospect mein jis ki bahut zyada zaroorat hoti hai us news ko aap dekhenge kabhi nahi dikhaya jata aur aajkal jis prakar ki debate news channel mein chalti hain aap dekhiye unke pet ka auchitya kuch bhi nahi hota phir bhi vaah debate chalai jaati hai keval unke peeche trp mujhe lagta hai bahut bada karan ho sakta hai toh kahin nahi gayi aaj kal main is baat ko zaroor manata hoon ki media 222 hua hai chahen is par aap sarkar ka 2 minute samjhiye chahen current sarkar ho chahen koi bhi sarkar ho kahin na kahin media apna review sarkar ki taraf se change zaroor karti sarkar ka pressure bhi rehta hoon lekin main zaroor is baat ko manata hoon ki aajkal jis prakar media barish ho rahi hai toh kahin na kahin desh ke liye khatra toh hai

देखिए यह बात मैं मानता हूं कहीं ना कहीं जो हमारा फोन पर लगा है जिसको मीडिया कहते हैं इसकी

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
सभी न्यूज़ चैनल ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!