संगीत का स्वर ज्ञान कैसे करें?...


user

Rajat Kumar Dixit

Musician ,Singer

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आप ने प्रश्न किया है कि संगीत का स्वर ज्ञान कैसे करें तो सर ज्ञान के लिए आपको शास्त्री संगीता आवश्यक है आपको सोनू का स्थान अवसरों की जगह पर आ कर सकते हैं जैसे कि अगर मैं तेरा आरोप हूं दूसरों में तो यस होता है शरीर में शहर में गांव सा कमल लगाया तो हमें तुरंत अपनी लग रहे हैं आपकी इंग्लिश में अल्फाबेट होते हैं वैसे म्यूजिक में भी यह सब अच्छे हैं सर गामिनी कहते हैं कोमल स्वर शुद्ध परिषद ने पड़ेगा तभी आप संगीत ज्ञान हो पाएगा आशा करता हूं आप समझेंगे चीज को ध्यान

namaskar doston aap ne prashna kiya hai ki sangeet ka swar gyaan kaise kare toh sir gyaan ke liye aapko shastri sangeeta aavashyak hai aapko sonu ka sthan avasaron ki jagah par aa kar sakte hain jaise ki agar main tera aarop hoon dusro me toh Yes hota hai sharir me shehar me gaon sa kamal lagaya toh hamein turant apni lag rahe hain aapki english me alphabet hote hain waise music me bhi yah sab acche hain sir gamini kehte hain komal swar shudh parishad ne padega tabhi aap sangeet gyaan ho payega asha karta hoon aap samjhenge cheez ko dhyan

नमस्कार दोस्तों आप ने प्रश्न किया है कि संगीत का स्वर ज्ञान कैसे करें तो सर ज्ञान के लिए आ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

Likes  4  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user

Adarsh

Singer

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संगीत का जो स्वर ज्ञान होता है किंतु बेसिकली संगीत का स्वर ज्ञान प्राप्त करने के लिए हमें पहले सबसे जो हारमोनियम के जूते संगीत की मतलब हारमोनियम से शुरू करना चाहिए गिटार से शुरू करना चाहिए 241 यहां से नॉलेज होता है

sangeet ka jo swar gyaan hota hai kintu basically sangeet ka swar gyaan prapt karne ke liye hamein pehle sabse jo Harmonium ke joote sangeet ki matlab Harmonium se shuru karna chahiye guitar se shuru karna chahiye 241 yahan se knowledge hota hai

संगीत का जो स्वर ज्ञान होता है किंतु बेसिकली संगीत का स्वर ज्ञान प्राप्त करने के लिए हमें

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संगीत के स्वर ज्ञान के लिए सबसे पहले आपको अलग का शुरू को समझना है रे ग म प ध नि सा सा स्वर को समझना उसमें फिर कोमल सरपंच तीव्र होता है उसको भी समझना हम जो हैं बिना गुरु के सरगम नहीं हो सकता

sangeet ke swar gyaan ke liye sabse pehle aapko alag ka shuru ko samajhna hai ray ga main pa dh ni sa sa swar ko samajhna usme phir komal sarpanch tivra hota hai usko bhi samajhna hum jo hain bina guru ke sargam nahi ho sakta

संगीत के स्वर ज्ञान के लिए सबसे पहले आपको अलग का शुरू को समझना है रे ग म प ध नि सा सा स्वर

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
user

Babin Mukherjee Arup Kumar Mukherjee

Artist (Vocal Music) And IT professional

10:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं भाविन मुखर्जी उर्फ अनूप कुमार मुखर्जी इंडिया पश्चिम बंगाल दुर्गापुर से बोल रहा हूं संगीत के साथ स्वर हैं जैसा कि आप का सवाल है संगीत का स्वर का ज्ञान कैसे होता है लिखिए जब से यह सृष्टि हुई उसमें भी ओम ओम सबसे सबका किसकी हुई है यह बिगबेन एक्सप्लोजन से हमारे जो ग्रह नक्षत्र जो सृष्टि हुई है मिल्की वे एंड्रोमेडा ट्रेन गुलाम अभी तो हम लोग मिल्की वे के बारे में ही जान नहीं पाया है देखिए जो सिर्फ की हुई है यह ओमकार से हुई है सबसे पहले शब्द और धानी बना है सबसे पहले संगीत को समझने से पहले हम लोग को पहले धोनी का ज्ञान होना चाहिए धोनी का स्कोर सुपर सोनिक धोनी से ज्यादा स्पीड स्वर सुनाई देता है उसके सुपर सोनिक कहा जाता है उसको मापदंड है डेसिमल 80 देश देसीमल स्टैंडर्ड मापदंड है जो हमारे कानों तक पहुंचता है धोनी जो शुरू होता है वह कई मीडिया के साथ वह प्रबल करके हमारे कामुक तक पहुंचता है जैसे कि मैं अभी बोल रहा हूं यह आप लोग के कानों तक पहुंचने से पहले कई मीडिया कई तरह के माध्यम के अनुसार यह स्वर यह ध्वनि पहुंचेगी इसमें डिपेंड करता है कि यह टेंपरेचर कितना है टेंपरेचर अगर 20 डिग्री है मान लेते हैं सब कुछ देख सब कुछ देख मान लेते हैं कि 20 डिग्री टेंपरेचर है तो धोनी का पेड़ होगा 3435 9 किलो मीटर पर सेकंड इतना ठंडा होगा परिवेश जितना ठंडा होगा कोल्ड होगा कूल होगा शीतकाल में हवा में प्रकृति में ध्वनि में पार्टिकल्स ज्यादा होता है उसका मीडिया में पार्टी क्यों ज्यादा होता है इसके लिए शीतकाल में धोनी के गति कम होता है वही उसका उल्टा गरम काल में गर्मी के मौसम में धोनी का गति फ्रीक्वेंसी ज्यादा होती है यह तो हुआ हवा की बात अब आते हैं पानी पर पानी में समुद्र के पानी में ऑलमोस्ट 3.5 से 4% नमक रहता है तो समुद्र का पानी में धोनी का जो स्पीड होता है वह ज्यादा होता है और वह मीठा पानी में ऐसे नदी का पानी में या कोई झील का पानी में इसका पार्टिकल्स ज्यादा होता है h2o हाइड्रोजन ऑक्सीजन का 2 भाग 12 का पार्टिकल उसका घनत्व होता है डेंसिटी यह ज्यादा होता है तो मीठा पानी में यह कम स्पीड से हम लोग के कानों तक पहुंचता है समुद्र के पानी से ज्यादा स्पीड में हमारे कानों तक पहुंचता है उसी प्रकार कई तत्व है कई मीडिया के माध्यम से एक ध्वनि जहां से निकल रहा है और जहां तक पहुंच रहा है यह डिपेंड करता है उसके माध्यम के अनुसार ठीक है अब आते हैं संगीत पर सृष्टि का आरंभ संगीत सही हुआ है संगीत के प्रथम गुरु भगवान शिव को माना जाता है अकॉर्डिंग टू हिंदू माइथोलॉजी भगवान नारद पुराण में नाड़ा संगीत के महागुरु थे मां सरस्वती थी अकॉर्डिंग टू हिंदू माइथोलॉजी संगीत का आरंभ होता है इसके साथ स्वर हैं ठीक है सर आज विश्व गंधार मध्यम पंचम दैवत निषाद और सरल सा रे गा मा पा धा नि सा इसका जैसा कि मैंने पहले कहा सा क्वेश्चन्नर्स कहा जाता है रेपको ऋषभ कहा जाता है इसी प्रकार से यह संगीत का जो सात स्वर है इसको पे मैट्रिक्स में हम लोग पढ़े थे प्रमोशन कंबीनेशन सात स्वरों को जोड़ घटाव करके कंबीनेशन करके अफसरों को एक संगीत का रूप दिया जाता है कंपोजिशन बनाया जाता है ठीक है संगीत का जो एक्टिव है एक होता है ओके मतलब इसका जो है सबसे पहले एक होता है तब तक उक्त पुस्तक तक कहा जाता है मंद सप्तक जो नीचे का स्वर है ब्राह्मण आदि ब्रह्म से जो नाभि से उत्पन्न होता है उसे है मंद सप्तक मिनी लैपटॉप को कहा जाता है मध्य सप्तक और अपर डॉक्टर को कहा जाता है तार सप्तक मंद सप्तक मध्य सप्तक तार सप्तक ठीक है अब जो है संगीत की स्वर का कई प्रकार के भाग्य इसमें से कई तरह का विचार है अकॉर्डिंग टू मी संगीत इसमें जो है स्वर जो है एक होता है शुद्ध स्वर एक होता है विकृत स्वर एक होता है अचल स्वर सा और पा सा और पारस और पंचम होता है अचल स्वर रामपुरा में जो स्वर बाबा जाता है या तो सपा में बांधा जाता है या तो शाम मां में बांधा जाता है मालकोश जैसे रात को गांव निकाले में इसका प्रधान स्वर वादी संवादी वादी संवादी प्रधान स्वर जो होता है उसमें मां को बांधा जाता है जो प्रधान पंचम प्रधान जुड़ा है हिंदुस्तानी संगीत में उसमें पार्क को बांधा जाता है तो पापा को अटल सेवा कार्य आता है और आता है विकृत स्वर विकृत विकृत स्वर में दो प्रकार के स्वर आता है एक होता है तीव्र एक होता है कोमल विभूते हायर फ्रीक्वेंसी शुद्ध स्वर से हायर सिक्योरिटी को तीव्र स्वर कहा जाता है वह यमन कल्याण में यूज होता है यमन कल्याण में मां को कहा जाता है मां से बड़ा होता है वह high-frequency में होता है और भैरव भैरवी बसंत मुखारी या इस प्रकार के रोग होते हैं सोहिनी रात का राग है आपका मारवा पुरिया पूरिया धनश्री कोमल स्वर का जो यूज़ होता है वह लोअर सिक्योरिटी में होता है ठीक है तो कोमल तीन प्रकार के स्वर हम लोगों ने जाना एक होता अचल स्वर एक होता है कोमल स्वर एक होता है तीव्र स्वर अचल स्वर जो जो अपने स्थान से हिलता नहीं है अचल है पापा और रज्जो है कुमकुम अल्सर है अलवर से कौन सी है और और तीव्र स्वर है हर चिकन सी सी के शब्दों को जोड़कर संगीत का निर्माण होता है संगीत बनाया जाता है और जो है संगीत को मामू टेशन कंबीनेशन भी कहा जाता है इसके साथ जो कंपोजीशन होता है इसी से कई प्रकार के दाग हमारे बॉलीवुड हॉलीवुड के कई प्रकार के राग जो है यह संगीत के माध्यम से होता है यह विस्तार और भी विस्तार में जाना होता है लेकिन समय कम है अभी तक हम लोग ने यह जाना इस वर्ग के तीनों में और स्वर्ग के तीन प्रकार अचल स्वर कॉल सर्वेश्वर लूडो

namaskar main bhavin mukherjee urf anup kumar mukherjee india paschim bengal durgapur se bol raha hoon sangeet ke saath swar hain jaisa ki aap ka sawaal hai sangeet ka swar ka gyaan kaise hota hai likhiye jab se yah shrishti hui usme bhi om om sabse sabka kiski hui hai yah bigben explosion se hamare jo grah nakshtra jo shrishti hui hai milki ve andromeda train gulam abhi toh hum log milki ve ke bare me hi jaan nahi paya hai dekhiye jo sirf ki hui hai yah omkar se hui hai sabse pehle shabd aur dhaani bana hai sabse pehle sangeet ko samjhne se pehle hum log ko pehle dhoni ka gyaan hona chahiye dhoni ka score super sonic dhoni se zyada speed swar sunayi deta hai uske super sonic kaha jata hai usko maapdand hai decimal 80 desh desimal standard maapdand hai jo hamare kanon tak pahuchta hai dhoni jo shuru hota hai vaah kai media ke saath vaah prabal karke hamare kaamuk tak pahuchta hai jaise ki main abhi bol raha hoon yah aap log ke kanon tak pahuchne se pehle kai media kai tarah ke madhyam ke anusaar yah swar yah dhwani pahunchegi isme depend karta hai ki yah temperature kitna hai temperature agar 20 degree hai maan lete hain sab kuch dekh sab kuch dekh maan lete hain ki 20 degree temperature hai toh dhoni ka ped hoga 3435 9 kilo meter par second itna thanda hoga parivesh jitna thanda hoga cold hoga cool hoga sheetkal me hawa me prakriti me dhwani me particles zyada hota hai uska media me party kyon zyada hota hai iske liye sheetkal me dhoni ke gati kam hota hai wahi uska ulta garam kaal me garmi ke mausam me dhoni ka gati frequency zyada hoti hai yah toh hua hawa ki baat ab aate hain paani par paani me samudra ke paani me alamost 3 5 se 4 namak rehta hai toh samudra ka paani me dhoni ka jo speed hota hai vaah zyada hota hai aur vaah meetha paani me aise nadi ka paani me ya koi jheel ka paani me iska particles zyada hota hai h2o hydrogen oxygen ka 2 bhag 12 ka particle uska ghanatva hota hai density yah zyada hota hai toh meetha paani me yah kam speed se hum log ke kanon tak pahuchta hai samudra ke paani se zyada speed me hamare kanon tak pahuchta hai usi prakar kai tatva hai kai media ke madhyam se ek dhwani jaha se nikal raha hai aur jaha tak pohch raha hai yah depend karta hai uske madhyam ke anusaar theek hai ab aate hain sangeet par shrishti ka aarambh sangeet sahi hua hai sangeet ke pratham guru bhagwan shiv ko mana jata hai according to hindu mythologies bhagwan narad puran me nada sangeet ke mahaguru the maa saraswati thi according to hindu mythologies sangeet ka aarambh hota hai iske saath swar hain theek hai sir aaj vishwa gandhar madhyam pancham daivat nishad aur saral sa ray jaayega ma paa dha ni sa iska jaisa ki maine pehle kaha sa kweshchannars kaha jata hai repko rishabh kaha jata hai isi prakar se yah sangeet ka jo saat swar hai isko pe matrix me hum log padhe the promotion combination saat swaron ko jod ghatav karke combination karke afsaron ko ek sangeet ka roop diya jata hai composition banaya jata hai theek hai sangeet ka jo active hai ek hota hai ok matlab iska jo hai sabse pehle ek hota hai tab tak ukth pustak tak kaha jata hai mand saptak jo niche ka swar hai brahman aadi Brahma se jo nabhi se utpann hota hai use hai mand saptak mini laptop ko kaha jata hai madhya saptak aur upper doctor ko kaha jata hai taar saptak mand saptak madhya saptak taar saptak theek hai ab jo hai sangeet ki swar ka kai prakar ke bhagya isme se kai tarah ka vichar hai according to me sangeet isme jo hai swar jo hai ek hota hai shudh swar ek hota hai vikrit swar ek hota hai achal swar sa aur paa sa aur paras aur pancham hota hai achal swar rampura me jo swar baba jata hai ya toh sapa me bandha jata hai ya toh shaam maa me bandha jata hai malkosh jaise raat ko gaon nikale me iska pradhan swar wadi sanvadi wadi sanvadi pradhan swar jo hota hai usme maa ko bandha jata hai jo pradhan pancham pradhan juda hai hindustani sangeet me usme park ko bandha jata hai toh papa ko atal seva karya aata hai aur aata hai vikrit swar vikrit vikrit swar me do prakar ke swar aata hai ek hota hai tivra ek hota hai komal vibhute hire frequency shudh swar se hire Security ko tivra swar kaha jata hai vaah yemen kalyan me use hota hai yemen kalyan me maa ko kaha jata hai maa se bada hota hai vaah high frequency me hota hai aur bhairav bhairavi basant mukhari ya is prakar ke rog hote hain sohini raat ka raag hai aapka maarva puriya puriya dhanshree komal swar ka jo use hota hai vaah lower Security me hota hai theek hai toh komal teen prakar ke swar hum logo ne jana ek hota achal swar ek hota hai komal swar ek hota hai tivra swar achal swar jo jo apne sthan se hilata nahi hai achal hai papa aur ragzo hai kumkum Ulcer hai alwar se kaun si hai aur aur tivra swar hai har chicken si si ke shabdon ko jodkar sangeet ka nirmaan hota hai sangeet banaya jata hai aur jo hai sangeet ko mamu teshan combination bhi kaha jata hai iske saath jo composition hota hai isi se kai prakar ke daag hamare bollywood hollywood ke kai prakar ke raag jo hai yah sangeet ke madhyam se hota hai yah vistaar aur bhi vistaar me jana hota hai lekin samay kam hai abhi tak hum log ne yah jana is varg ke tatvo me aur swarg ke teen prakar achal swar call sarveshwar ludo

नमस्कार मैं भाविन मुखर्जी उर्फ अनूप कुमार मुखर्जी इंडिया पश्चिम बंगाल दुर्गापुर से बोल रहा

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user

Poonam

Youtuber

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संगीत का ज्ञान आप किसी गुरु से भी ले सकते हैं जो म्यूजिक सिखाओ या फिर आजकल यूट्यूब पर भी बहुत सारे ऑनलाइन आपको वीडियोस ऑनलाइन वीडियोस मिल जाएंगी या ऑनलाइन क्लासेज भी है आप कुछ भी करके आप ले सकते हैं संगीत का ज्ञान

sangeet ka gyaan aap kisi guru se bhi le sakte hain jo music sikhao ya phir aajkal youtube par bhi bahut saare online aapko videos online videos mil jayegi ya online classes bhi hai aap kuch bhi karke aap le sakte hain sangeet ka gyaan

संगीत का ज्ञान आप किसी गुरु से भी ले सकते हैं जो म्यूजिक सिखाओ या फिर आजकल यूट्यूब पर भी ब

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
play
user
0:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछा गया प्रश्न इस संगीत का स्वर ज्ञान कैसे करें जी तो इसका उत्तर मैं आपको बताना चाहता हूं दोस्तों संगीत का जो स्वर होता है वह साथ होते हैं और इसकी ज्ञान अगर आपको लेने हैं तो आप कोई भी संगीतकार जो छोटे-मोटे है उनसे आप यह ज्ञान धीरे-धीरे ले सकते हैं और पुस्तकें भी आप खरीद के लिए ज्ञान ले सकते हैं संगीत की पुस्तकें

aapka poocha gaya prashna is sangeet ka swar gyaan kaise kare ji toh iska uttar main aapko bataana chahta hoon doston sangeet ka jo swar hota hai vaah saath hote hain aur iski gyaan agar aapko lene hain toh aap koi bhi sangeetkar jo chhote mote hai unse aap yah gyaan dhire dhire le sakte hain aur pustakein bhi aap kharid ke liye gyaan le sakte hain sangeet ki pustakein

आपका पूछा गया प्रश्न इस संगीत का स्वर ज्ञान कैसे करें जी तो इसका उत्तर मैं आपको बताना चाहत

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  329
WhatsApp_icon
user

NIDHI RANA nikki

Singer ,Youtuber, Vloger, Camposer, Lyricist

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संगीत का स्वर ज्ञान करने के लिए सबसे पहले आपको गुरु की आवश्यकता है उसके बाद हारमोनियम पर आप कोरिया की जरूरत है क्योंकि स्वर का ज्ञान बिना हारमोनियम के आप नहीं कर सकते क्योंकि हारमोनियम का जो स्वर है वह पहले से ही अपने निश्चित स्थान पर है वहां से आप अपने स्वर को सेट कर सकते हैं तो इस प्रकार आपको अगर अपना स्वर ज्ञान बढ़ाना है तो वह संगीत में अब हारमोनियम के द्वारा ही सर्वप्रथम कर सकते हैं

sangeet ka swar gyaan karne ke liye sabse pehle aapko guru ki avashyakta hai uske baad Harmonium par aap korea ki zarurat hai kyonki swar ka gyaan bina Harmonium ke aap nahi kar sakte kyonki Harmonium ka jo swar hai vaah pehle se hi apne nishchit sthan par hai wahan se aap apne swar ko set kar sakte hain toh is prakar aapko agar apna swar gyaan badhana hai toh vaah sangeet me ab Harmonium ke dwara hi sarvapratham kar sakte hain

संगीत का स्वर ज्ञान करने के लिए सबसे पहले आपको गुरु की आवश्यकता है उसके बाद हारमोनियम पर आ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राधे सभी संगीत भाइयों को संगीत संगीत स्वर ज्ञान कैसे करें संगीत के सुर ज्ञान करने के लिए हमें संगीत के सभी इनकी सातों स्वरों का हमें अच्छे से प्रयास करना है उसे के साथ में डांट और रात को भी आरोह अवरोह में गाना बजाना है उसके साथ इंस्ट्रूमेंट किसानों ने उसे प्ले करना है उसके साथ में अच्छे से प्रिपेयर हो जाना चाहिए हमारे सातों स्वर हमारे दिमाग में एक अच्छे से बैठ जाना चाहिए और हमारा गला स्पीक स्टूडेंट के साथ बजा रहे तो उस कॉमेंट के साथ में में गले से आवाज निकल रही स्टूमेंट जैसे कि साहब आज दिमाग में बैठा है उनसे मित्रता करनी है अच्छे से प्रिपेयर करना है ऐसा तो सोच दिमाग बच्ची से हो जाएंगे तो उसके बाद भी ऊपर कोई सा भी म्यूजिक कोई सा भी गाना निकाल सकते हैं राधे राधे

jai shri radhe sabhi sangeet bhaiyo ko sangeet sangeet swar gyaan kaise kare sangeet ke sur gyaan karne ke liye hamein sangeet ke sabhi inki saton swaron ka hamein acche se prayas karna hai use ke saath me dant aur raat ko bhi aroha avaroh me gaana bajana hai uske saath instrument kisano ne use play karna hai uske saath me acche se prepare ho jana chahiye hamare saton swar hamare dimag me ek acche se baith jana chahiye aur hamara gala speak student ke saath baja rahe toh us comment ke saath me me gale se awaaz nikal rahi stument jaise ki saheb aaj dimag me baitha hai unse mitrata karni hai acche se prepare karna hai aisa toh soch dimag bachi se ho jaenge toh uske baad bhi upar koi sa bhi music koi sa bhi gaana nikaal sakte hain radhe radhe

जय श्री राधे सभी संगीत भाइयों को संगीत संगीत स्वर ज्ञान कैसे करें संगीत के सुर ज्ञान करने

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!