मुंडन के फायदे क्या हैं बताये?...


user
2:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान में बच्चों के जन्म के बाद एक बार मुंडन करवाना अनिवार्य माना जाता है इसीलिए आज हम अपने बच्चों को पुणे से जुड़ी महत्वपूर्ण बातों को बताने जा रहे हैं मुंडन सभी धर्म और जाति के अलग-अलग परंपरा है रीति रिवाज है जिन्हें मुंडन जिन्हें सभी बड़ी श्रद्धा के साथ पूरा करते हैं इसी प्रकार हिंदू धर्म में कुछ परंपरा है जिसे सब हिंदुओं बड़े श्रद्धा और विश्वास के साथ पूरी करती है इन्होंने परंपरा से एक मुंडन मुंडन संस्कार जो हिंदू धर्म के महत्वपूर्ण 16 संस्कारों में से एक माना जाता है अपनी रीति के अनुसार जन्म और मृत्यु के समय इस संस्कार को करते हैं मुंडन करवाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है मुन्ना नवजात बच्चों को मुंडन धार्मिक कार्यों की वजह से किया जाता है जब शिशु जन्म देता है तब उसके शरीर पर भारत के समय जो भी केस पाए जाते हैं वह शुभ माने जाते हैं हिंदू धर्म में अनुसार मानव जीवन में 84 लाख योनि उसके बाद मिलता है पिछले सभी जनों में रिंकू उतारने और बाप को बाप को कर्म से मुक्ति दिलाने के उद्देश्य जन्म काल में किस करते जाते हैं ऐसा ना करने पर दोष रखता है धार्मिक मान्यता के साथ वैज्ञानिक कारक भी माने जाते हैं इनमें साथ-साथ शास्त्री पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक शिशु के मस्तक के दुरुस्त करने और वृद्धि को बढ़ाने के लिए गर्भपात के सुधिया को दूर करने के लिए मानव वादी आदर्शों को प्रतिस्थापित करने के लिए मुंडन संस्कार करवाया जाता है मुंडन के मुंडन अपनी-अपनी मान्यता के अनुसार करवाया जाता है आमतौर पर मुंडन किसी तीर्थ स्थल पर ही कराया जाता है जैसे तिरुपति बालाजी गंगाजी या किसी देवी देवता के मंदिर वातावरण का लाभ नवजात को मिले और उसे मंकी सुविचार उत्पन्न हो मुंडा से लाभ होने वाले से मां के घर में होते उसके शरीर पर कुछ बाल होते हैं जिससे कीटाणु बैक्ट्रिया लगे होते हैं या बैक्टीरिया साधारण तरीके से ना लाने से धोने से नहीं निकलता है इसलिए जन्म के बाद एक बार बच्चे को मुंडन करवाना आवश्यक है अच्छे बालों के लिए भी मुंडन कराया जाता है मुंडन करवाने से सिर्फ सिर के बिल्कुल खुला हो जाता है जिससे बच्चे सिर और शरीर के विटामिन डी यानी धूप की रोशनी सीधी पड़ती है इसके कुछ गांव में जागरूक होती है नसों में खून और परिचालन अच्छे से हो इसलिए भविष्य आने वाले बाल भी अच्छे आते हैं

Hindustan me baccho ke janam ke baad ek baar mundan karwana anivarya mana jata hai isliye aaj hum apne baccho ko pune se judi mahatvapurna baaton ko batane ja rahe hain mundan sabhi dharm aur jati ke alag alag parampara hai riti rivaaj hai jinhen mundan jinhen sabhi badi shraddha ke saath pura karte hain isi prakar hindu dharm me kuch parampara hai jise sab hinduon bade shraddha aur vishwas ke saath puri karti hai inhone parampara se ek mundan mundan sanskar jo hindu dharm ke mahatvapurna 16 sanskaron me se ek mana jata hai apni riti ke anusaar janam aur mrityu ke samay is sanskar ko karte hain mundan karwane ki parampara sadiyon se chali aa rahi hai munna navjat baccho ko mundan dharmik karyo ki wajah se kiya jata hai jab shishu janam deta hai tab uske sharir par bharat ke samay jo bhi case paye jaate hain vaah shubha maane jaate hain hindu dharm me anusaar manav jeevan me 84 lakh yoni uske baad milta hai pichle sabhi jano me rinku utarane aur baap ko baap ko karm se mukti dilaane ke uddeshya janam kaal me kis karte jaate hain aisa na karne par dosh rakhta hai dharmik manyata ke saath vaigyanik kaarak bhi maane jaate hain inmein saath saath shastri pouranik manyataon ke mutabik shishu ke mastak ke durast karne aur vriddhi ko badhane ke liye garbhpaat ke sudhiya ko dur karne ke liye manav wadi aadarshon ko pratisthapit karne ke liye mundan sanskar karvaya jata hai mundan ke mundan apni apni manyata ke anusaar karvaya jata hai aamtaur par mundan kisi tirth sthal par hi karaya jata hai jaise tirupati balaji gangaji ya kisi devi devta ke mandir vatavaran ka labh navjat ko mile aur use monkey suvichar utpann ho munda se labh hone waale se maa ke ghar me hote uske sharir par kuch baal hote hain jisse kitanu baiktriya lage hote hain ya bacteria sadhaaran tarike se na lane se dhone se nahi nikalta hai isliye janam ke baad ek baar bacche ko mundan karwana aavashyak hai acche balon ke liye bhi mundan karaya jata hai mundan karwane se sirf sir ke bilkul khula ho jata hai jisse bacche sir aur sharir ke vitamin d yani dhoop ki roshni seedhi padti hai iske kuch gaon me jagruk hoti hai nason me khoon aur parichalan acche se ho isliye bhavishya aane waale baal bhi acche aate hain

हिंदुस्तान में बच्चों के जन्म के बाद एक बार मुंडन करवाना अनिवार्य माना जाता है इसीलिए आज ह

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  556
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!