ध्यान के फायदे क्या हैं बताये?...


user

Norang sharma

Social Worker

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल है ध्यान के क्या फायदे हैं या बेनिफिट ऑफ मैडिटेशन क्या है तो दोस्तों आज की जो भागमभाग की जिंदगी है उसमें किसी को भी दो पल रुकने का समय नहीं है और आज हमारा माइंड है वह तमाम तरीके की चिंताओं से बहुत जल्दी परेशान हो जाता है हमें छोटी-छोटी बातों की चिंताएं हो जाती है क्योंकि हमारा अपने विचारों पर कोई कंट्रोल नहीं होता हमारे अपने विचार और हमारी अपनी भावनाएं हमारी ही अगेंस्ट काम करने लगते हैं तो ध्यान के दोस्तों हमें कब जरुरत पड़ती है जब हमारे मन में चलने वाले विचार उन्हें खुद हम ही नियंत्रित नहीं कर पाती तो दोस्तों ध्यान के बहुत फायदे हैं बहुत सारी रिसर्च हुई हैं विश्व स्तर पर भी और राष्ट्रीय स्तर पर भी बताने के लिए काफी है कि जो लोग ध्यान करते हैं वह लोग बाकी लोगों की तुलना में कम बीमार पड़ते हैं इसके अलावा ध्यान हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए भी एक कारगर अस्त्र की तरह माना जाता है इसके अलावा ध्यान करने वालों का जो दिमाग है वह भी तेज और कुशाग्र होता है क्योंकि दोस्तों इससे मस्तिष्क के ग्रेमैटर की सघनता भी कायम रहती है जिसकी वजह से आपका दिमाग अच्छे से काम करता है आप चीजों को लंबे समय तक याद रखने में भी खुद को अक्षम पाते हैं फितरत तमाम तरीके की शारीरिक और मानसिक लाभ आपको ध्यान की बदौलत होते हैं निरंतर आपके जीवन का ध्यान को एक अंग होना चाहिए जिससे कि आप जीवन की चुनौतियों का एक प्रभावी तरीके से सामना कर सकें धन्यवाद

namaskar doston kal par sun rahe mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera pyar bhara namaskar aaj ka sawaal hai dhyan ke kya fayde hain ya benefit of meditation kya hai toh doston aaj ki jo bhagamabhag ki zindagi hai usme kisi ko bhi do pal rukne ka samay nahi hai aur aaj hamara mind hai vaah tamaam tarike ki chintaon se bahut jaldi pareshan ho jata hai hamein choti choti baaton ki chintaen ho jaati hai kyonki hamara apne vicharon par koi control nahi hota hamare apne vichar aur hamari apni bhaavnaye hamari hi against kaam karne lagte hain toh dhyan ke doston hamein kab zaroorat padti hai jab hamare man me chalne waale vichar unhe khud hum hi niyantrit nahi kar pati toh doston dhyan ke bahut fayde hain bahut saari research hui hain vishwa sthar par bhi aur rashtriya sthar par bhi batane ke liye kaafi hai ki jo log dhyan karte hain vaah log baki logo ki tulna me kam bimar padate hain iske alava dhyan hamari pratiraksha pranali ke liye bhi ek kargar astra ki tarah mana jata hai iske alava dhyan karne walon ka jo dimag hai vaah bhi tez aur kushagra hota hai kyonki doston isse mastishk ke gremaitar ki saghnata bhi kayam rehti hai jiski wajah se aapka dimag acche se kaam karta hai aap chijon ko lambe samay tak yaad rakhne me bhi khud ko aksham paate hain phitarat tamaam tarike ki sharirik aur mansik labh aapko dhyan ki badaulat hote hain nirantar aapke jeevan ka dhyan ko ek ang hona chahiye jisse ki aap jeevan ki chunautiyon ka ek prabhavi tarike se samana kar sake dhanyavad

नमस्कार दोस्तों कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का

Romanized Version
Likes  81  Dislikes    views  2402
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Girija

Teacher

0:32
Play

Likes  23  Dislikes    views  813
WhatsApp_icon
user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ध्यान के फायदे क्या दवा को बताना चाहता हूं ध्यान अभ्यास करने से हमेशा होता है जैसे कि बेहतर नींद आना में कमी आना रोग प्रतिरोधक क्षमता का बढ़ना प्रणाली में सुधार आना दर्द के अहसास में कमी आना यह सभी लाभ हमें ध्यान में अपने आप ही मिलने लगते हैं

dhyan ke fayde kya dawa ko batana chahta hoon dhyan abhyas karne se hamesha hota hai jaise ki behtar neend aana me kami aana rog pratirodhak kshamta ka badhana pranali me sudhaar aana dard ke ehsaas me kami aana yah sabhi labh hamein dhyan me apne aap hi milne lagte hain

ध्यान के फायदे क्या दवा को बताना चाहता हूं ध्यान अभ्यास करने से हमेशा होता है जैसे कि बेहत

Romanized Version
Likes  141  Dislikes    views  1125
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

Likes  31  Dislikes    views  508
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

Likes  27  Dislikes    views  661
WhatsApp_icon
user
0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ध्यान का फायदा बहुत है कोई भी कार्य करें आप अगर आपका पॉजिटिव ध्यान रहेगा तो ऑटोमेटिक लिए आकर्षक से सभा बहुत नजदीक आ गया और अभी भी कोई भी कार्य कर पाएंगे

dhyan ka fayda bahut hai koi bhi karya kare aap agar aapka positive dhyan rahega toh Automatic liye aakarshak se sabha bahut nazdeek aa gaya aur abhi bhi koi bhi karya kar payenge

ध्यान का फायदा बहुत है कोई भी कार्य करें आप अगर आपका पॉजिटिव ध्यान रहेगा तो ऑटोमेटिक लिए आ

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  658
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  23  Dislikes    views  583
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!